लघुकथा- साथ… (Short Story- Sath…)

"आप मेरे पति नहीं होते, तो मेरा भी एक प्यारा-सा परिवार होता. हम कभी साथ फिल्म देखने जाते, कभी सब्ज़ी ख़रीदने, तो कभी घर का…

“आप मेरे पति नहीं होते, तो मेरा भी एक प्यारा-सा परिवार होता. हम कभी साथ फिल्म देखने जाते, कभी सब्ज़ी ख़रीदने, तो कभी घर का सामान लाने, कभी यूं ही पार्क में जाकर बैठे रहते. हर काम साथ रहकर करते…”

सुमन ने बैग पैक करके रखा था. एयरपोर्ट निकलने में अभी पंद्रह मिनट थे. संजय चाय लेकर सुमन के पास बैठ गया. अपने बिज़ेनस के कारण वह हर समय दौड़ता ही रहता है. कभी शहर में तो कभी देश-विदेश.
“सच में सुमन तुम मेरी पत्नी नहीं होती, तो मैं कभी जीवन में इतनी ऊंचाई पर नहीं पहुंच पाता. तुम्हारे सामंजस्य की वजह से ही मैं पूरा समय अपनी महत्वाकांक्षाओं को दे पाता हूं.” हर बार की तरह उसने आज फिर सुमन की प्रशंसा की और करे भी क्यों नहीं. व्यस्तता के चलते वह विवाह के बाद के छह सालों में भी अपना परिवार आगे नहीं बढ़ा पाए, तब भी सुमन ने कभी शिकायत नहीं की.
संजय की बात सुन हर बार की तरह आज भी सुमन हौले से मुस्कुराई.

यह भी पढ़ें: हैप्पी रिश्तों के लिए बनें इमोशनली इंटेलिजेंट कपल, अपनाएं ये 7 आदतें (7 Habits Of Emotionally Intelligent Couple Which Will Make You Happy Couple)

“अच्छा सुमन, मैंने तो अपने दिल की बात बहुत बार कही है. आज तुम भी अपने दिल की बात बताओ न. अगर मैं तुम्हारा पति नहीं होता तो?” आज संजय का मन किया सुमन से अपनी प्रशंसा सुनने का. वह उत्सुक होकर सुमन का चेहरा ताकने लगा.
कुछ देर सुमन सोचती रही फिर सहजता से बोली, “आप मेरे पति नहीं होते, तो मेरा भी एक प्यारा-सा परिवार होता. हम कभी साथ फिल्म देखने जाते, कभी सब्ज़ी ख़रीदने, तो कभी घर का सामान लाने, कभी यूं ही पार्क में जाकर बैठे रहते. हर काम साथ रहकर करते.
आप मेरे पति नहीं होते, तो भले ही मेरे पास पैसा कम होता, लेकिन छोटी-छोटी हज़ारों ख़ुशियां होती. सिरदर्द में कोई प्यार से सिर सहला देता, बुखार में पास बैठकर दवाई देता.”
संजय स्तब्ध रह कर सुनता रह गया.
“मैं भी अपने बच्चों का टिफिन बनाकर उन्हें स्कूल भेजती. आप मेरे पति नहीं होते, तो मैं भले ही थोड़े छोटे घर में रहती, लेकिन खाली दीवारों की बजाय जीते-जागते इंसान मेरा परिवार होते.” सुमन के चेहरे पर कोई उलाहना नहीं था, लेकिन इस सपने के प्रति अजीब-सी ललक और ख़्वाहिश का रोमांच था, जो उसके चेहरे पर चौड़ी मुस्कुराहट में झलक रहा था.

यह भी पढ़ें: 10 उम्मीदें जो रिश्तों में कपल्स को एक- दूसरे से होती हैं, जो उन्हें बनाती हैं परफेक्ट कपल (10 Things Couples Expect In Relationship Which Make Them Perfect Couple)

संजय सन्न-सा उसे देखता रह गया था. हाथ में पकड़े कप में चाय ठंडी हो चुकी थी और फ्लाइट का समय बीत चुका था.

डॉ. विनीता राहुरीकर

अधिक कहानियां/शॉर्ट स्टोरीज़ के लिए यहां क्लिक करें – SHORT STORIES

Photo Courtesy: Freepik

डाउनलोड करें हमारा मोबाइल एप्लीकेशन https://merisaheli1.page.link/pb5Z और रु. 999 में हमारे सब्सक्रिप्शन प्लान का लाभ उठाएं व पाएं रु. 2600 का फ्री गिफ्ट.

Recent Posts

गुडबाय में काम करने के लिए रश्मिका मंदाना ने ली इतनी फीस, जानकर रह जाएंगे दंग (Rashmika Mandana Took Such A Fee For Working In Goodbye, You Will Be Stunned To Know)

साउथ फिल्म इंडस्ट्री की सुपरस्टार एक्ट्रेस रश्मिका मंदाना बॉलीवुड के मेगास्टार अमिताभ बच्चन के साथ…

ज़रूरत से ज़्यादा एक्सरसाइज करने के होते हैं ये नुक़सान (Side Effects Of Over Workout)

रोज़ाना एक्सरसाइज से आप फिट और एक्टिव तो रहते ही हैं, साथ ही कई तरह…

© Merisaheli