Personal Problems: क्या कम उम्र की महिलाओं के बच्चों में भी हो सकता है डाउन्स सिंड्रोम? (What Makes You High Risk For Down’s Syndrome Baby?)

मेरी 26 वर्षीया पड़ोसन पहली बार मां बनी है, पर डॉक्टरों ने जांच करके बताया है कि उसके बच्चे को…

मेरी 26 वर्षीया पड़ोसन पहली बार मां बनी है, पर डॉक्टरों ने जांच करके बताया है कि उसके बच्चे को डाउन्स सिंड्रोम (Down’s Syndrome) है. मैं अब तक यही समझती थी कि 40 साल की उम्र के बाद जो महिलाएं मां बनती हैं, उनके ही बच्चों को डाउन्स सिंड्रोम हो सकता है. क्या ऐसा भी होता है?
– आरती सोलंकी, पुणे.

जो महिलाएं 40 साल की उम्र के बाद मां बनती हैं, उनके बच्चों में डाउन्स सिंड्रोम का ख़तरा ज़्यादा होता है, लेकिन कम उम्र की महिलाओं के साथ भी यह ख़तरा बना रहता है. डाउन्स का अर्थ है, शरीर में दो की बजाय एक एक्स्ट्रा यानी तीसरे क्रोमोज़ोम का होना. जिन बच्चों में ये एक्स्ट्रा क्रोमोज़ोम होता है, उन्हें कई गंभीर मानसिक समस्याएं हो सकती हैं, जिनमें से मंदबुद्धि होना एक है. आपको बता दें कि जहां 20-25 साल की महिलाओं के डेढ़ हज़ार बच्चों में से एक बच्चा डाउन्स सिंड्रोम का शिकार हो सकता है, वहीं 40-45 साल की महिलाओं के 130 में से एक बच्चे को यह गंभीर समस्या हो सकती है.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: क्या कभी मां नहीं बन सकूंगी? (How Can I Find Out If I Can Get Pregnant?)

मैं 22 वर्षीया कॉलेज स्टूडेंट हूं. मैं यह जानना चाहती हूं कि क्या टॉयलेट सीट से भी एचपीवी इंफेक्शन फैल सकता है? इस डर से मैं पब्लिक टॉयलेट इस्तेमाल नहीं करती. कृपया, मेरी मदद करें.
– सरोजनी रॉय, गुवाहटी. 

एचपीवी यानी ह्यूमन पैपिलोमा वायरस एक तरह का सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन है, जो टॉयलेट सीट इस्तेमाल करने से नहीं फैल सकता. एचपीवी इंफेक्शन के लिए त्वचा का त्वचा से संपर्क होना ज़रूरी है, जो टॉयलेट सीट से मुमकिन नहीं. अगर आपके पार्टनर के गुप्तांगों में किसी तरह की गांठ या मस्सा है या फिर कुछ समय पहले उन्हें एचपीवी हुआ था, तो शारीरिक संबंध न बनाएं. कंडोम भी इससे आपको सौ फ़ीसदी सुरक्षा नहीं दे पाएगा. याद रखें, एचपीवी पब्लिक टॉयलेट से नहीं फैलता.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
rajshree.gynoncology@gmail.com

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Aneeta Singh

Recent Posts

कहानी- अचीवमेंट (Short Story- Achievement)

रमा को आज दिन की पार्टी की कुछ बातें याद आ रही थीं. मां की सहेलियों ने जब उमा दी…

पंचतंत्र की कहानी: चूहा और संन्यासी (Panchtantra Ki Kahani: The Hermit And The Mouse)

Image Credit: KWStoryTime.com पंचतंत्र की कहानी: चूहा और संन्यासी (The Hermit And The Mouse) बहुत समय पहले की बात है.…

क्या होता है पैनिक अटैक और कैसे करें हैंडल? (How to Deal With Panic Attacks?)

ब्रेकअप, तलाक़, अकेलापन, दिनोंदिन बढ़ता तनाव और नौकरी छूटने का डर आदि पैनिक अटैक (Panic Attack) के ऐसे कारण हैं,…

पहला अफेयर: इतना-सा झूठ (Pahla Affair: Itna Sa Jhooth)

पहला अफेयर: इतना-सा झूठ (Pahla Affair: Itna Sa Jhooth) प्यार करने की भी भला कोई उम्र होती है क्या? पंद्रह…

महिलाओं को होते हैं 4 तरह के ऑर्गैज़्म (4 Kinds Of Female Orgasm Every Woman Should Have)

शादीशुदा ज़िंदगी में सेक्स टॉनिक की तरह काम करता है, पर आज भी बहुत-सी महिलाएं सेक्स को अपने पार्टनर के…

बॉलीवुड सेलेब्स, जिनके भाई-बहन बिल्कुल उन्हीं के जैसे दिखते हैं (Bollywood Celebs Who Have Lookalike Siblings)

बॉलीवुड (Bollywood) में कुछ ऐसे भी एक्टस-एक्ट्रेसेस हैं, जिनके भाई-बहन बिल्कुल उन्हीं के जैसे दिखते हैं. और ज़्यादातर मामलों में…

© Merisaheli