Categories: FILMEntertainment

राजपाल यादव ने अब तक क्यों बना कर रखी थी ओटीटी से दूरी, एक्टर ने किया चौंकाने वाली वजह का खुलासा (Why Did Rajpal Yadav keep Distance From OTT Till Now, actor Reveals the Shocking Reason)

राजपाल यादव (Rajpal Yadav) बॉलीवुड इंडस्ट्री की एक ऐसी शख्सियत हैं, जो लाखों-करोड़ों दिलों पर राज करते हैं. साल 1999 में 'मुंगेरी लाल के भाई…

राजपाल यादव (Rajpal Yadav) बॉलीवुड इंडस्ट्री की एक ऐसी शख्सियत हैं, जो लाखों-करोड़ों दिलों पर राज करते हैं. साल 1999 में ‘मुंगेरी लाल के भाई नौरंगीलाल’ नाम के नाटक में अपने जबरदस्त परफॉर्मेंस से राजपाल ने हर किसी को दीवाना कर दिया था. दरअसल,  राजपाल जब दिल्ली में एनएसडी कर रहे थे, तभी  उन्होंने रंगमंच पर अपने जीवंत अभिनय से सबको अपना मुरीद बना लिया था. रंगमंच पर अपना जलवा बिखेरने के बाद उन्होंने ग्लैमर इंडस्ट्री का रुख किया. बॉलीवुड इंडस्ट्री में कदम रखने के बाद उन्होंने राम गोपाल वर्मा की फिल्म ‘जंगल’ में खलनायक की भूमिका निभाई थी, फिल्म में उनके किरदार को दर्शकों ने खूब पसंद किया था. इस फिल्म के लिए उन्हें बेस्ट विलन का अवार्ड भी मिला था. बेशक राजपाल यादव ने कई फिल्मों में अपने जबरदस्त अभिनय का लोहा मनवाया है, बावजूद इसके वे ओटीटी प्लेटफॉर्म पर आने से अब तक हिचक रहे थे.

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

एक तरफ जहां बॉलीवुड से लेकर टीवी तक के कलाकार ओटीटी की ओर तेज़ी से रुख कर रहे हैं तो वहीं राजपाल यादव ने करीब पांच सालों तक ओटीटी से दूरी बनाकर रखी थी. फिल्मों में अपनी कॉमेडी से फैन्स को एंटरटेन करने वाले राजपाल यादव ने हाल ही में फिल्म ‘अर्ध’ से ओटीटी की दुनिया में कदम रखा है. आखिर इतने साल तक एक्टर ओटीटी से दूर क्यों थे, हाल ही में उन्होंने इसकी वजह का खुलासा किया है. यह भी पढ़ें: इस एक फिल्म ने राजपाल यादव की बदल दी थी किस्मत, झटके में किया था 16 फिल्मों को साइन (This One Film Changed The Fate Of Rajpal Yadav, Signed16 Films In A jiffy)

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

एक इंटरव्यू में एक्टर ने बताया कि उन्होंने हाल ही में एक वेब सीरीज़ की है और दूसरे की शूटिंग में बिज़ी हैं. इसके साथ ही उनके पास तीन और प्रोजेक्ट लाइनअप हैं. ओटीटी से दूरी बनाकर रखने की वजह का खुलासा करते हुए एक्टर ने कहा कि वो अच्छी स्क्रिप्ट और अच्छे किरदार का इंतज़ार कर रहे थे. उन्होंने बताया कि वो उस तरह की फिल्मों या शो में काम नहीं करना चाहते, जिनमें न्यूडिटी हो या गाली-गलौच का इस्तेमाल किया गया हो.  हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि मैं उनका विरोधी नहीं हूं, क्योंकि उसके भी अपने ऑडियंस हैं.

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

उनका मानना है कि वेब प्रोजेक्ट एंटरटेनिंग होने के साथ-साथ मीनिंगफुल भी होना चाहिए. कॉन्सेप्ट ऐसे होने चाहिए, जिसे परिवार के सभी लोग साथ बैठकर देख सकें और वो अपने दर्शकों को एंटरटेन कर सकें. उन्होंने बताया कि इन्ही वजहों से वो पिछले 5 साल से ओटीटी से दूर रहे. अपने हास्य अभिनय से लोहा मनवा चुके अभिनेता ने कहा कि मैं जिस काम मे सहज हूं उसे बखूबी करने की कोशिश करता हूं. मैं जिस किरदार को करने में असहज महसूस करता हूं, उसे नहीं करता.

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

राजपाल यादव ने बताया कि उन्हें फिल्म ‘अर्ध’ से ओटीटी का सफर शुरु कर दिया है. फिल्म में उन्हें अपना किरदार और फिल्म का सब्जेक्ट काफी पसंद आया था, इसलिए उन्होंने इस किरदार को पूरे दिल से निभाया और उनके किरदार की दर्शकों ने काफी सराहना भी की है. यह भी पढ़ें: रणबीर कपूर ठुकरा चुके हैं इन फिल्मों के ऑफर्स, बॉलीवुड के चॉकलेटी हीरो को आज होता है मलाल (Ranbir Kapoor has Rejected Offer of These Film, Actor Feels Regret for This)

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

इसके अलावा ‘भूल भुलैया 2’ में भी राजपाल के किरदार को दर्शकों का भरपूर प्यार मिला है. यहां तक कि अभी तक इस फिल्म का जलवा बरकरार है. बहरहाल, उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में जन्में राजपाल जिस तरह से फिल्मों में अपने अलग-अलग किरदारों और कॉमेडी से लोगों को हंसाते-गुदगुदाते आए हैं, उम्मीद है कि उनका ओटीटी का सफर भी उतना ही शानदार होगा.  

Recent Posts

फिल्म समीक्षा- रक्षाबंधन/लाल सिंह चड्ढा: भावनाओं और भोलेपन की आंख-मिचोली खेलती… (Movie Review- Rakshabandhan / Lal Singh Chaddha…)

अक्षय कुमार की फिल्मों से अक्सर मनोरंजन, देशभक्ति, इमोशन की अपेक्षा की जाती है और…

तो इस वजह से भारत छोड़कर कनाडा जाना चाहते थे अक्षय कुमार, खुद किया खुलासा (So Because Of This, Akshay Kumar Wanted To Leave India And Go To Canada, Disclosed Himself)

बॉलीवुड सुपरस्टार अक्षय कुमार इन दिनों अपनी मच अवेटेड फिल्म 'रक्षा बंधन' को लेकर चर्चा…

कहानी- डिस्काउंट (Short Story- Discount)

अपनी पत्नी का जोश और उसका विश्वास देखकर रघुवर ने सोचा, 'इसमें बुराई ही क्या…

© Merisaheli