तरबूज़ के 13 अमेज़िंग हेल्थ बेनिफिट्स (13 Amazing Health Benefits Of Watermelon)

तरबूज़ शीतल, बलकारक व तृप्तिकारक होता है. इसका रस पीने से शरीर को ठंडक मिलती है. तरबूज़ में विटामिन ए, बी, सी और आयरन प्रचुर मात्रा में होता है. यह रोगप्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है. डॉक्टरों के अनुसार गर्मी की तेज़ धूप में राहत देनेवाले तरबूज़ के रस से श्रेष्ठ और कुछ नहीं है. इसका रस पेट संबंधी विकारों में आरामदायक है व पेट की जलन को शांत करता है, क्योंकि इसमें पानी व फाइबर की अच्छी मात्रा होती है, जो रक्त से लेकर मूत्र तक को साफ़ करता है. तरबूज़ के सेवन से शरीर में पोषक तत्वों का संतुलन बना रहता है. Health Benefits Of Watermelon * यदि अपच की शिकायत हो, तो भोजन के बाद तरबूज़ का रस पीएं. इससे भोजन शीघ्र पच जाएगा. * मानसिक तनाव को दूर करने का अद्भुत गुण है तरबूज़ में. तरबूज़ और खरबूजा के बीजों की गिरी सममात्रा में लेकर रात को पानी में भिगो दें और सुबह उसी पानी में पीसकर व उसमें थोड़ा-सा मक्खन व मिश्री मिलाकर सेवन करने से मानसिक तनाव दूर होता है. * सनबर्न की वजह से त्वचा के झुलस जाने से वहां जलन होती है. ऐसी स्थिति में तरबूज़ का रस फ्रिज में रखकर ठंडा करके रूई के फाहे से झुलसी त्वचा पर लगाएं, आराम मिलेगा. * यूरिन में रुकावट या खुलकर यूरिन पास न होने की स्थिति में 250 मि.ली. तरबूज़ का रस पीना लाभदायक होता है. इससे मूत्र त्याग के समय होनेवाली जलन भी दूर होती है. * जिन लोगों को गर्मियों में…

तरबूज़ शीतल, बलकारक व तृप्तिकारक होता है. इसका रस पीने से शरीर को ठंडक मिलती है. तरबूज़ में विटामिन ए, बी, सी और आयरन प्रचुर मात्रा में होता है. यह रोगप्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है. डॉक्टरों के अनुसार गर्मी की तेज़ धूप में राहत देनेवाले तरबूज़ के रस से श्रेष्ठ और कुछ नहीं है. इसका रस पेट संबंधी विकारों में आरामदायक है व पेट की जलन को शांत करता है, क्योंकि इसमें पानी व फाइबर की अच्छी मात्रा होती है, जो रक्त से लेकर मूत्र तक को साफ़ करता है. तरबूज़ के सेवन से शरीर में पोषक तत्वों का संतुलन बना रहता है.

Health Benefits Of Watermelon

* यदि अपच की शिकायत हो, तो भोजन के बाद तरबूज़ का रस पीएं. इससे भोजन शीघ्र पच जाएगा.
* मानसिक तनाव को दूर करने का अद्भुत गुण है तरबूज़ में. तरबूज़ और खरबूजा के बीजों की गिरी सममात्रा में लेकर रात को पानी में भिगो दें और सुबह उसी पानी में पीसकर व उसमें थोड़ा-सा मक्खन व मिश्री मिलाकर सेवन करने से मानसिक तनाव दूर होता है.
* सनबर्न की वजह से त्वचा के झुलस जाने से वहां जलन होती है. ऐसी स्थिति में तरबूज़ का रस फ्रिज में रखकर ठंडा करके रूई के फाहे से झुलसी त्वचा पर लगाएं, आराम मिलेगा.
* यूरिन में रुकावट या खुलकर यूरिन पास न होने की स्थिति में 250 मि.ली. तरबूज़ का रस पीना लाभदायक होता है. इससे मूत्र त्याग के समय होनेवाली जलन भी दूर होती है.
* जिन लोगों को गर्मियों में बार-बार प्यास लगती हो, उनके लिए तरबूज़ के गूदे व रस में काला नमक मिलाकर सेवन करना लाभदायक होता है.
* पीलिया की बीमारी में भी तरबूज़ लाभकारी है. इसलिए पीलिया होने पर इसे खाना चाहिए और इसका रस पीना चाहिए.

यह भी पढ़े: सेहत से भरपूर पत्तागोभी का रस

यह भी पढ़े: जलने पर इन 21 घरेलू उपायों को आज़माएं

* दिमाग़ी गर्मी, हिस्टीरिया, अनिद्रा की परेशानी होने पर तरबूज़ का गूदा सिर पर कम से कम 40 मिनट तक रखने से फ़ायदा होता है.
* तरबूज़ के फांकों पर कालीमिर्च पाउडर, सेंधा या काला नमक बुरककर खाने से खट्टी डकारें आना बंद हो जाती हैं.
* जिन लोगों को अक्सर कब्ज़ की शिकायत रहती है, उन्हें तरबूज़ का सेवन नियमित रूप से करते रहना चाहिए, क्योंकि तरबूज़ रेशा प्रधान फल है, इसलिए तरबूज़ खाने से कब्ज़ की परेशानी दूर हो जाती है. इसके सेवन से आंतों में फंसा मल भी बाहर निकल जाता है. यह आंतों को एक प्रकार की चिकनाई प्रदान करता है.
* यदि आप अपने हृदय को स्वस्थ व मज़बूत रखना चाहते हैं, तो मौसम में हर रोज़ तरबूज़ ज़रूर खाएं. यह आपके शरीर में हानिकारक कोलेस्ट्रॉल नहीं बनने देता.
* तरबूज़ का सेवन मोटापा भी दूर करता है, क्योंकि इसमें अधिकांश भाग पानी का होता है, जिसके सेवन से पेट भरा-भरा-सा रहता है व व्यक्ति भोजन कम करता है, जिससे मोटापा कम होता है.
* तरबूज़ में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होती है, इसलिए यह स्कर्वी बीमारी से बचाव करता है.
* पथरी होने पर तरबूज़ का नियमित सेवन करना लाभदायक होता है और गुर्दे के मरीज़ों के लिए भी तरबूज़ खाना फ़ायदेमंद होता है.

यह भी पढ़े: सिरदर्द से छुटकारा पाने के 19 अचूक घरेलू उपाय

सावधानियां: खाली पेट तरबूज़ का सेवन नहीं करें. धूप में रखा हुआ तरबूज़ तुरंत नहीं खाएं, उसे ठंडा करके खाएं. तरबूज़ को सीमित मात्रा में खाएं. बाज़ार से कटा हुआ तरबूज़ लेकर न खाएं. अस्थमा व खांसी से पीड़ित व्यक्तियों को तरबूज़ नहीं खाना चाहिए.

 – रागिनी गुप्ता

 दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें-  Dadi Ma Ka Khazana

 

Share
Published by
Usha Gupta

Recent Posts

उम्र को मात देतीं ये एक्ट्रेसेस, 40 में भी लगती हैं 20 की! (Actresses Who Look Younger Than Their Age)

मलाइका अरोड़ा आज भी सूपर हॉट हैं. उनकी उम्र तो मानो बढ़ ही नहीं रही.…

#विश्‍व पर्यावरण दिवस: कविता- वन संरक्षण (#WorldEnvironmentDay: Kavita- Van Sarakshan)

वृक्षों से ही वन बनते हैं, धरती हरी-भरी करते हैं। वर्षा के कारण हैं जंगल,…

© Merisaheli