Beauty

कम्प्लीट हेयर केयर गाइड (Beauty: Complete Hair Care Guide)

हेयर केयर… यूं रखें अपने बालों का ख़्याल!
ये रेशमी एहसास, ये मखमली राहें, खो गया हूं इन्हीं में मैं, मुझे भा गईर्ं इन गेसुओं की पनाहें… ताउम्र कैद रहना चाहता हूं मैं इनकी ख़ुशबू में, जीना चाहता हूं अब मैं बस इनकी जुस्तजू में… आरज़ू तो यही है कि इनमें सिमटकर महक जाए मेरा वजूद भी, कभी न ख़त्म हो इनके अक्स का सुरूर भी… जब भी खुलकर ये बिखरें फ़िज़ाओं में कहीं, घटाएं बरस जाएं हवाओं में कहीं… लिपटा रहूं मैं भी इनसे, करता रहूं अपने ख़्वाबों को मुकम्मल, जगाकर अरमान सारे, करता रहूं अपनी हसरतों को हासिल!

 

काले, घने, मज़बूत बाल, रेशमी एहसास… मखमली ज़ुल़्फें… आपकी भी तो यही ख़्वाहिश होगी न. तो देर किस बात की, इन हेयर केयर टिप्स को आज़माएं और अपने बालों को हेल्दी बनाएं.

स्काल्प मसाज

  1. एक भाग नींबू के रस को पांच भाग नारियल के तेल में मिला लें. इससे स्काल्प में मसाज करें और आधे घंटे बाद हेयर वॉश करें. नींबू के रस में जो एसिड होता है, वो डैंड्रफ को दूर रखता है और नारियल तेल के साथ मिलाने पर लाभ कई गुना बढ़ जाता है. डैंड्रफ होने का एक बड़ा कारण होता है स्काल्प के पीएच बैलेंस का असंतुलित होना. नींबू स्काल्प का पीएच बैलेंस बनाए रखने में मदद करता है और नारियल तेल में कंडीशनिंग और एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज़ होती हैं.
  1. सोने से पहले रोज़ाना ऑलिव ऑयल को हल्का गर्म करके उससे स्काल्प मसाज करें. बालों को कवर करके सोएं, ताकि धूल-मिट्टी चिपके नहीं. सुबह शैंपू कर लें. ऑलिव ऑयल को गर्म करने पर उसकी कंसिस्टेंसी बेहतर हो जाती है, जिससे वो ड्राई हिस्से को आसानी से ठीक कर सकता है. ऑलिव ऑयल दो तरी़के से डैंड्रफ को ठीक करता है. पहला, यह स्काल्प के ड्राई हिस्से को मॉइश्‍चराइज़ करके पपड़ी नहीं जमने देता. दूसरा, ऑलिव ऑयल पपड़ी की मोटी परत में भी एब्ज़ॉर्ब हो जाता है, जिससे डैंड्रफ की समस्या धीरे-धीरे ख़त्म होने लगती है.
  1. बालों को मॉइश्‍चराइज़ करना भी ज़रूरी है. इसके लिए पांच तेलों का इस्तेमाल करें- ऑलिव ऑयल, आल्मंड ऑयल, कैस्टर ऑयल, कोकोनट ऑयल और लैवेंडर ऑयल. सभी को समान मात्रा में लेकर मिक्स करें. हेयर वॉश करने से पहले मसाज करें और 4-5 घंटे तक लगाकर रखें. यह हफ़्ते में दो बार करें.
  1. एक शोध में यह पाया गया कि जिन लोगों ने 4 हफ़्तों तक 5% टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल किया, उनकी डैंड्रफ की समस्या 41% तक कम हो गई. शैंपू करने से पहले स्काल्प में ऑयल से मसाज करें. यह हर दूसरे दिन करें. यह डैंड्रफ की नेचुरल रेमेडी है. इसे आप तेल की तरह इस्तेमाल करने की बजाय शैंपू के तौर पर भी यूज़ कर सकते हैं.
  2. कोकोनट, आंवला, ऑलिव, आल्मंड या कैस्टरऑयल- चाहे जो भी ऑयल आप यूज़ करें, उसमें कुछ बूंदें रोज़मेरी एसेंशियल ऑयल की भी मिक्स कर लें. इससे जल्दी फ़ायदा होगा. हफ़्ते में एक बार इनमें से किसी भी ऑयल से स्काल्प मसाज करें. बालों को मसाज करने से स्काल्प में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और बाल भी कंडीशन होते हैं, जिससे बालों का झड़ना और टूटना कम होता है.
  3. एक टेबलस्पून कोकोनट ऑयल को गीले बालों के सिरों पर अप्लाई करें. अगर बाल बहुत ज़्यादा ड्राई हैं, तो तेल को रातभर रहने दें और सुबह शैंपू करें. नारियल का तेल बालों की भीतरी परत को पोषण देता है.
  4. बालों में बटर से मसाज करें. आधे घंटे तक शावर कैप से कवर करें, फिर शैंपू कर लें. बटर विटामिन्स और मिनरल्स से भरपूर होता है. यह बालों को हेल्दी शाइन देता है.
  5. आधा कप दही से बालों को मसाज करें और 20 मिनट बाद पहले गुनगुने पानी से, फिर ठंडे पानी से रिंस करके शैंपू कर लें. दही में मौजूद लैक्टिक एसिड बालों को क्लीन करता है, जबकि उसमें मौजूद फैट्स बालों को मॉइश्‍चराइज़ करता है.
  6. विनेगर से स्काल्प मसाज करें. मसाज अच्छी तरह से होनी चाहिए, ताकि स्काल्प में विनेगर एब्ज़ॉर्ब हो सके. आप चाहें, तो एक टेबलस्पून विनेगर को पानी के मग में मिलाकर फाइनल रिंस के लिए इस्तेमाल कर सकती हैं. सबसे बेहतर तरीक़ा है कि पहले दो कप विनेगर को बॉइल कर लें. ठंडा होने पर उसका आठवां भाग 1 कप पानी में मिलाकर शैंपू से पहले बालों में डालें. विनेगर में स्काल्प के फंगस और बैक्टीरिया को ख़त्म करने की क्षमता होती है. इसके अलावा यह ड्राईस्किन को भी ठीक करता है, इसलिए जो डैंड्रफ फंगस के कारण नहीं होते, उन्हें भी ट्रीट करता है. इसमें मौजूद एसिड खुजली को कम करता है और स्काल्प फ्लेकी स्किन को ठीक करता है.
  1. अदरक को छीलकर कद्दूकस कर लें. 8 टेबलस्पून तिल का तेल लें. मलमल के कपड़े में अदरक को रखकर निचोड़ लें और उसके तेल को तिल के तेल में मिला लें. इससे स्काल्प मसाज करें और कुछ देर बाद हेयर वॉश कर लें. अदरक में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं और वो हेयर ग्रोथ में भी कारगर है. अदरक में मौजूद एक्टिव कंपोनेंट-वोलेटॉइल ऑयल डैंड्रफ को दूर करता है. अदरक के तेल को जब तिल के तेल जैसे नेचुरल ऑयल में मिलाकर लगाया जाता है, तो डैंड्रफ को दूर करने में वो बहुत कारगर होता है.

अगर डैंड्रफ है, तो ये हेयर मास्क आज़माएं
  1. अपने शैंपू में 1 टीस्पून बेकिंग सोडा मिलाकर हेयर वॉश करें. सिंगल वॉश से ही डेड स्किन और फ्लेक्स निकल जाएंगे. बेकिंग सोडा डैंड्रफ पैदा करनेवाले फंगस की क्रियाशीलता को कम करता है. यह माइल्ड स्क्रब भी है, जो स्काल्प की डेड स्किन और अतिरिक्त ऑयल को निकाल देता है. चूंकि यह डेड स्किन को निकाल देता है, तो स्काल्प नेचुरल ऑयल्स का निर्माण सामान्य रूप से करने लगता है, जिससे बाल व स्काल्प हेल्दी रहते हैं.
  1. एलोवीरा जेल को स्काल्प में अप्लाई करें. 15 मिनट बाद शैंपू कर लें. यह नियमित रूप से करें, काफ़ी फ़ायदा होगा. एलोवीरा में एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज़ होती हैं. यह डेड स्किन सेल्स को भी निकालने में काफ़ी कारगर है. एलोवीरा में हीलिंग प्रॉपर्टीज़ भी होती हैं, तो यह न स़िर्फ स्काल्प को क्लीन करता है, बल्कि उसको हील और सूद भी करता है, जो डैंड्रफ को दूर रखने के लिए परफेक्ट है.
  1. दो टेबलस्पून कालीमिर्च को पीसकर एक कप दही में मिला लें. इस मिश्रण को स्काल्प पर लगाएं. ध्यान रहे कि यह स्काल्प पर ही लगे, बालों पर नहीं. एक घंटे बाद रिंस करके माइल्ड शैंपू से वॉश करें. बॉडी में यीस्ट की मात्रा जब बढ़ जाती है, तो उससे इंफ्लेमेशन बढ़ जाता है. ऐसे में फ्रेंडली बैक्टीरिया इंफ्लेमेशन से लड़ने में सहायक होते हैं. दही इन्हीं हेल्दी बैक्टीरिया को बढ़ाने में मदद करता है, जिससे स्काल्प पर यीस्ट की परत नहीं जमती और डैंड्रफ से छुटकारा मिलता है. जबकि कालीमिर्च एंटीफंगल होती है. दही और कालीमिर्च का मिश्रण डैंड्रफ के लिए बहुत ही प्रभावी उपाय है, लेकिन ध्यान रखें कि दही और कालीमिर्च ताज़ा हो.
  1. नीम के पत्तों को आधा घंटा उबालें. इसका पेस्ट बना लें और स्काल्प पर लगाएं. आधे घंटे बाद बाल धो लें. नीम में एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं. वो स्काल्प को हेल्दी रखकर डैंड्रफ की समस्या दूर करने में काफ़ी फ़ायदेमंद है.
  2. दो टेबलस्पून सेब के रस में समान मात्रा में पानी मिलाकर स्काल्प में मसाज करें. 15 मिनट बाद बाल धो लें. डैंड्रफ से हेयर फॉल की समस्या भी होती है, ऐसे में इस प्रयोग का नियमित इस्तेमाल बालों को हेल्दी रखने में बहुत कारगर है. यह ध्यान रहे, कि जूस में पानी बहुत ज़्यादा न मिलाया जाए.
  3. बेसिल लीव्स को पीसकर आंवला पाउडर में मिला लें. इस पेस्ट को बालों में लगाएं. आधे घंटे बाद शैंपू कर लें. यह स्काल्प को हेल्दी बनाकर उसका स्ट्रेंथ बढ़ाते हैं और अपने एंटी फंगल व एंटी बैक्टीरियल गुणों के लिए जाने जाते हैं. आंवला पाउडर और बेसिल लीव्स डैंड्रफ को दूर करने के साथ-साथ स्काल्प को भी हेल्दी रखते हैं.

यह भी पढ़ें: शिल्पा शेट्टी, कंगना रनौत, सोनम कपूर… जानें इनके ख़ूबसूरत बालों का राज़

अगर हेयर फॉल हो, तो ये मास्क आज़माएं
  1. एक प्याज़ का रस निकालकर स्काल्प में लगाएं. आधे घंटे बाद शैंपू कर लें.
  • 3 टेबलस्पून प्याज़ के रस में 2 टेबलस्पून एलोवीरा जेल और 1 टेबलस्पून ऑलिव ऑयल मिलाएं. इसे स्काल्प में लगाकर आधे घंटे बाद शैंपू कर लें. प्याज़ के रस में सल्फर होता है, जो बालों का झड़ना कम करता है, क्योंकि यह हेयर फॉलिकल्स में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाता है, हेयर फॉलिकल्स का पुनर्निर्माण भी करता है और इंफ्लेमेशन को भी कम करता है. प्याज़ के रस में मौजूद एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज़ के चलते यह कीटाणु और जीवाणुओं को ख़त्म करके स्काल्प को इंफेक्शन से बचाता है.
  1. एलोवीरा जूस या पल्प को स्काल्प पर कुछ घंटों तक लगाकर रखें. गुनगुने पानी से बाल धो लें. यह हफ़्ते में 3-4 बार करें.
  •  रोज़ाना सुबह खाली पेट 1 टेबलस्पून एलोवीरा जूस पीने से भी बाल हेल्दी रहते हैं. एलोवीरा में जो एंज़ाइम्स होती हैं, वो हेल्दी हेयर ग्रोथ के लिए बहुत फ़ायदेमंद हैं. साथ ही यह स्काल्प का पीएच बैलेंस भी बनाए रखता है, जिससे बालों का झड़ना कम होता है.
  1. कोकोनट मिल्क से स्काल्प मसाज करके 20 मिनट बाद बाल धो लें. चाहें, तो इसमें कालीमिर्च पाउडर और मेथी पाउडर भी मिला सकते हैं. कोकोनट मिल्क प्रोटीन और एसेंशियल फैट्स से भरपूर होता है, जो बालों का झड़ना कम करके बालों को मज़बूत बनाता है.
  2. हेयर फॉल और हेयर लॉस से निपटने के लिए रोज़ सुबह 1 टेबलस्पून फ्लैक्ससीड पाउडर को पानी के साथ लें. आप चाहें, तो फ्लैक्ससीड को सलाद, दही या किसी भी चीज़ में मिलाकर ले सकते हैं.
  •  फ्लैक्ससीड ऑयल से बालों में मसाज करने से भी बालों का झड़ना कम होता है. फ्लैक्ससीड्स ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर होती हैं. ओमेगा-3 फैटी एसिड्स हेयर फॉल को रोककर हेयर ग्रोथ में मददगार होते हैं.
  1. एक कप मेथी के बीज को रातभर पानी में भिगोकर रखें. सुबह पीसकर पेस्ट बना लें. बालों में लगाकर शावर कैप से कवर कर लें. 40 मिनट बाद बाल धो लें. यह उपाय रोज़ाना 1 महीने तक करें. मेथी में एंटीसीडेंट्स नाम का हार्मोन होता है, जो हेयर फॉलिकल्स के निर्माण में मदद करता है और बालों को स्ट्रॉन्ग बनाता है. मेथी में प्रोटीन और निकोटिनिक एसिड भी होता है, जो हेयर ग्रोथ की प्रक्रिया को तेज़ करते हैं.

अगर ड्राई हेयर की समस्या है, तो ये उपाय आज़माएं
  1. एक एस्पिरिन टैबलेट को पाउडर करके थोड़े-से शैंपू में मिक्स कर लें और फिर शैंपू करें. यह उपाय दो हफ़्ते में एक बार कर सकते हैं. एस्पिरिन में मौजूद सैलिसिलिक एसिड बालों से गंदगी हटाकर शाइन वापस लाता है.
  2. थोड़े-से शैंपू में एक अंडा मिलाकर बालों में लगाएं. 5 मिनट बाद धो लें. अंडे में मौजूद प्रोटीन बालों को हेल्दी व शाइनी बनाता है.
  3. एवोकैडो को मैश करके एक अंडे में मिक्स करके गीले बालों में लगाएं. 20 मिनट बाद धो लें. यह उपाय हफ़्ते में एक बार करें. एवोकैडो विटामिन्स, मिनरल्स और एसेंशियल फैटी एसिड्स से भरपूर होता है, जो बालों की खोई चमक लौटाने में मदद करते हैं.
  4. आधा कप पानी में 1 टेबलस्पून विनेगर मिक्स करके गीले बालों पर डालें. बालों को कोम्ब करें और 5 मिनट बाद रिंस कर लें. विनेगर में मौजूद एसिड बालों की बाहरी परत को सील कर देता है. यह हेयर क्यूटिकल्स को क्लीन करके बालों को स्मूद करता है.
  5. एक टीस्पून मेहंदी में समान मात्रा में आंवला पाउडर, टी पाउडर, नींबू का रस और हेयर ऑयल मिलाएं. स्काल्प में इसे अप्लाई करें और कुछ देर बाद शैंपू कर लें. मेहंदी में केराटीन को बाइंड करने की क्षमता होती है, जिससे वो बालों पर एक सुरक्षा कवच चढ़ा देती है. यह स्काल्प के चिपचिपेपन को ख़त्म करने कंडीशनर का काम करती है और डैंड्रफ को दूर करती है. बालों को कंडीशन करके उनमें शाइन और बाउंस भी लाती है.यह भी पढ़ें: घर पर शैम्पू कैसे बनाएं: सीखें 10 प्रकार के घरेलू हर्बल शैम्पू बनाने की विधि 

जनरल टिप्स…
  • स्ट्रॉन्ग व हार्श केमिकल्स के प्रयोग से बचें. इनसे बाल कमज़ोर होकर टूटने-झड़ने लगते हैं.
  • बालों को नेचुरली सूखने दें. हेयर ड्रायर का इस्तेमाल कम करें. इससे भी बाल कमज़ोर होते हैं
  • बालों की स्टाइलिंग ऐसी न हो, जिससे वो टूटें या कमज़ोर हों.
  • बहुत ज़्यादा स्टाइलिंग प्रोडक्ट्स का भी प्रयोग न करें.
  • अच्छा शैंपू यूज़ करें. अपने बालों के टाइप के अनुसार शैंपू सिलेक्ट करें.
  • शैंपू करना ही काफ़ी नहीं, कंडीशनर का प्रयोग भी करें.
  • बाहर जाते समय बालों को धूप से बचाने के लिए स्कार्फ बांधें या छतरी लें.
  • रेग्युलर ऑयल मसाज करें. स्काल्प मसाज से ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और बाल हेल्दी होते हैं.
  • बीटरूट के पत्तों को उबालकर पीस लें और मेहंदी के साथ मिक्स करके पेस्ट बना लें. 15-20 मिनट तक बालों में लगाकर रखें, फिर धो लें. यह उपाय हफ़्ते में 3-4 बार करें.
  • बीटरूट जूस को अपने डायट में शामिल करें. बीटरूट के अलावा आप गाजर व पालक का जूस भी अपने डायट में शामिल करें. बीटरूट जूस में कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन, फॉसफोरस, कैल्शियम और विटामिन बी व सी होता है, जो बालों के हेल्दी ग्रोथ के लिए ज़रूरी है.
  • बालों को नियमित रूप से ट्रिम करवाती रहें, ताकि दोमुंहे बालों की समस्या से बचा जा सके.
  • अगर बालों से संबंधित कोई भी समस्या हो, तो एक्सपर्ट से सलाह लें.
  • हेल्दी डायट भी हेल्दी बालों के लिए बहुत ज़रूरी है. प्रोटीनयुक्त डायट लें.

– कमलेश शर्मा

[amazon_link asins=’B074MJ3VX8,B00JHN0OMU,B00S850C5C,B008DY631U,B00CBRILZQ’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’57f1ccb3-1873-11e8-a252-b7dd5acce5ab’]

 

Geeta Sharma

Share
Published by
Geeta Sharma

Recent Posts

विद्युत जामवालकडे मागितली लाच, सिनेमाला चांगलं रेटिंग देण्याच्या बदल्यात लाचखोरी (Film critic demands bribe from Vidyut Jammwal For Good Movie Rating)

 विद्युत जामवालने एका मोठ्या चित्रपट समीक्षकावर लाच मागितल्याचा गंभीर आरोप केला आहे. विद्युत जामवालने त्याच्या…

February 27, 2024

वेडिंग स्ट्रेस मैनेजमेंट: चिंता छोड़ें और शादी के स्ट्रेस को ऐसे मैनेज करें…  (Wedding Stress Management: Smart Tricks To Handle Pre-Wedding Stress)

शादी ज़िंदगी का सबसे ख़ास और बड़ा दिन होता है और यही वजह है कि इसे लेकर स्ट्रेस होना भी सामान्य है. शादी से पहले और शादीके दौरान तनाव एक नॉर्मल सी बात है और सभी इससे जूझते हैं, लेकिन आप इसे मैनेज कर सकते हैं, आइए जानें कैसे मैनेज करना हैप्री-वेडिंग और वेडिंग स्ट्रेस को…  सब सोचते होंगे कि ख़ुशी के मौक़े पर स्ट्रेस कैसा? लेकिन ऐसा नहीं है. ख़ुशियों के बीच शादी की तैयारियों और ज़िंदगी में हो रहेबदलावों को लेकर भी स्ट्रेस होता है…  1 सबसे पहले तो शादी की तैयारियों और ज़िम्मेदारियों के चलते तनाव होना लाज़मी है. 2 बजट को लेकर भी एक चिंता बनी रहती है. 3 लेकिन होनेवाली दुल्हन की जो चिंताएं होती हैं वो अलग ही हैं, उनको अपने लुक्स को लेकर स्ट्रेस होता है. 4 नए घर, नए रिश्तों को लेकर भी तनाव होता है कि क्या और कैसे होगा सब. 5 शादी के बाद ज़िंदगी में होनेवाले बदलावों को लेकर भी स्ट्रेस होता है. 6 इसके अलावा अगर अरेंज मैरिज है तो होनेवाले पार्टनर को लेकर भी स्ट्रेस रहता है कि कैसा नेचर होगा, जो परिकल्पनाजीवनसाथी की थी क्या वो उस पर खरा उतरेगा… आदि…  7…

February 27, 2024

मेकओव्हर (Short Story: Makeover 1)

शैली माथुर“तू पण कमाल करतोस हं. अरे, मेकओव्हर तर मी सहा महिन्यांपूर्वीच केला होता.” “पण…

February 27, 2024

मुलीच्या जन्मानंतर शाहिद कपूरने सासऱ्यांची फोनवर मागितलेली माफी, काय घडलेलं नेमकं ? ( Shahid Kapoor Say Sorry To Mira Kapoor Father After His Daughter Misha Birth)

शाहिद कपूर सध्या त्याच्या तेरी बातों में ऐसा उल्झा जिया या चित्रपटाच्या यशाचा आनंद घेत…

February 27, 2024
© Merisaheli