सेहत से भरपूर पत्तागोभी का रस (Effective Health Benefits Of Cabbage Juice)

  पत्तागोभी मधुर, शीतल, पाचक, वातकारक और पित्तनाशक है. यूं तो पत्तागोभी का अधिकतर इस्तेमाल सलाद-सब्ज़ी के रूप में किया जाता है, पर इसका रस…

 

पत्तागोभी मधुर, शीतल, पाचक, वातकारक और पित्तनाशक है. यूं तो पत्तागोभी का अधिकतर इस्तेमाल सलाद-सब्ज़ी के रूप में किया जाता है, पर इसका रस सबसे अधिक फ़ायदेमंद होता है. इसका रस शरीर के विषाक्त कीटाणुओं का नाश करके शरीर को रोगमुक्त रखता है. पत्तागोभी का रस सेवन करने से अनेक बीमारियां दूर होती हैं और शरीर भी स्वस्थ रहता है. गोभी का रस पेट के अल्सर व कब्ज़ के लिए रामबाण औषधि है. गोभी के रस में विटामिन बी होता है, जो पेट और आंतों की क्रिया पर लाभकारी प्रभाव डालता है. गोभी के रस में विटामिन बी कॉम्प्लेक्स, विटामिन सी, पोटैशियम व कैल्शियम अधिक मात्रा में होते हैं.

* गोभी में एक ऐसा विटामिन (विटामिन यू) पाया जाता है, जो पेट और आंतों की बीमारियों को दूर करता है. इसके लिए मरीज़ को हर रोज़ थोड़ा-थोड़ा करके कुल 450 मि.ली. गोभी का रस पीना चाहिए.
* गोभी और गाजर का रस मिलाकर पीने से एसिडिटी में आराम मिलता है. इसके लिए 100 मि.ली. गोभी का रस और 50 मि.ली. गाजर का रस मिलाकर पीना चाहिए. इसके अलावा तीखे, तले हुए खाद्य पदार्थों से परहेज़ रखें.
* पेशाब रुक-रुक कर आती हो या रुक गई हो, तो गोभी के पत्तों को उबालकर उसे मसलकर दिन में 3-4 बार पीने से मूत्र विकार ठीक हो जाता है.
* दमा रोग में भी गोभी, गाजर और बीट का रस मिलाकर पीने से दमे के दौरे में आराम मिलता है.

यह भी पढ़े: हल्दी के 19 चमत्कारी हेल्थ बेनिफिट्स
* पीलिया में गोभी फ़ायदेमंद है. चूंकि आयरन की कमी से यह बीमारी होती है और गोभी में प्रचुर मात्रा में आयरन होता है, जो पीलिया के लिए उपयोगी है. इसके लिए कुछ दिनों तक नियमित रूप से 300 से 400 मि.ली. की मात्रा में गोभी का रस पीएं.
* गोभी, पपीता और अनन्नास का रस मिलाकर पीने से अपच की समस्या दूर हो जाती है.
* पत्तागोभी का रस नियमित रूप से पीने से रक्त की शुद्धि होती है यानी ख़ून साफ़ होता है.
* बवासीर होने पर पत्तागोभी में कालीमिर्च और मिश्री मिलाकर पीने से ख़ून निकलना बंद हो जाता है.
* गले में सूजन होने पर गोभी के रस में दो चम्मच पानी मिलाकर पीने से लाभ मिलता है.

यह भी पढ़े: ख़रबूजा के 10 अमेजिंग न्यूट्रीशियस हेल्थ बेनेफिट्स
* घाव होने पर आधा कप पत्तागोभी के रस में पांच गुना पानी मिलाकर पीने से घाव ठीक होता है. इसके अलावा घाव पर गोभी के पत्ते का रस निकालकर लगाने से भी लाभ मिलता है.
* नींद की समस्या होने पर पत्तागोभी की सब्ज़ी बनाकर खाने और रात को सोने से एक घंटे पहले 5 चम्मच गोभी का रस पीने से अच्छी नींद आती है.
* हड्डियों में दर्द होने पर गोभी के रस में गाजर का रस बराबर मात्रा में मिलाकर पीएं. इससे दर्द दूर होता है. साथ ही गैस नहीं होती और पायरिया में भी लाभ मिलता है.
* हर रोज़ भोजन करने से 20 मिनट पहले गोभी का रस पीएं. इससे पाचन क्रिया अच्छी रहती है.
इन सब के अलावा कमरदर्द, पीठदर्द, जोड़ों का दर्द, रक्त विकार, हड्डियों की पीड़ा, अजीर्ण, आंखों की रोशनी की कमी, मोटापा आदि से छुटकारा पाने के लिए गोभी के रस का विभिन्न तरी़के से सेवन किया जा सकता है. गोभी का रस पीने से चर्म रोग, नाख़ून और बालों से संबंधित समस्याएं भी दूर हो जाती हैं. इससे शरीर के विषाक्त तत्व दूर हो जाते हैं, जिससे शरीर शुद्ध हो जाता है.

– दीपक गुप्ता

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें-  Dadi Ma Ka Khazana

 

Recent Posts

यामी गौतम और विक्रांत मेसी की धमाकेदार जुगलबंदी ‘लोल’ गाने में, देखें वीडियो… (Ginny Weds Sunny Song Lol Released, See Video)

गिन्नी वेड्स सनी फिल्म का लोल गाना आज रिलीज़ हुआ, जो सभी को काफ़ी पसंद…

शकुंतला देवी से लेकर गुंजन सक्सेना, दंगल, संजू… बॉलीवुड बायोपिक फिल्में जिनमें नहीं दिखाया गया पूरा सच (Bollywood Biopics That Twisted Facts For Creative Liberty)

बायोपिक फिल्मों में दर्शकों की दिलचस्पी बनाए रखने के लिए उसमें क्रिएटिव लिबर्टी के नाम…

ब्यूटी प्रॉब्लम्स: क्या कंप्यूटर के सामने ज़्यादा बैठने से आंखों को नुकसान हो रहा है? (Beauty Problems: Protect Your Eyes While Working On Computer)

मैं वर्किंग वुमन हूं. ऑफ़िस में कंप्यूटर पर ज़्यादा देर काम करने के कारण मेरी…

© Merisaheli