Categories: Top Stories

Numerology: कितनी लकी है आपकी बर्थ डेट? (Numerology: Is Your Birth Date Lucky?)

क्या वाकई नंबर्स हमारी ज़िंदगी से इस क़दर जुड़े होते हैं कि उनकी संख्या का बढ़ना या घटना हमें सफल या असफल बना सकता है?…

क्या वाकई नंबर्स हमारी ज़िंदगी से इस क़दर जुड़े होते हैं कि उनकी संख्या का बढ़ना या घटना हमें सफल या असफल बना सकता है? क्या 1 तारीख़ को पैदा हुए लोग वाकई हमेशा नंबर 1 बने रहते हैं और 8 नंबर वालों को बहुत मेहनत के बाद सफलता मिलती है? क्या है अंकशास्त्र यानी न्यूमेरोलॉजी का रहस्य और अंक हमारे जीवन को किस तरह प्रभावित करते हैं? आइए, जानते हैं.


नंबर 1
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 1 का स्वामी सूर्य है. 1 नंबर वाले लोग अपने फील्ड में भी नंबर वन होते हैं. इन्हें लीडर भी कहा जा सकता है. 1, 10, 19, 28 तारीख़ को जन्मे लोगों का रूलिंग नंबर 1 होता है. ऐश्‍वर्या राय, धीरूभाई अंबानी, मुकेश अंबानी, रतन टाटा, लता मंगेशकर आदि का रूलिंग नंबर 1 है.
नंबर 2
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 2 का स्वामी चंद्र है. 2, 11, 20,29 तारीख़ को जन्मे लोगों का रूलिंग नंबर 2 होता है. अमिताभ बच्चन, शाहरुख ख़ान आदि इसके अंतर्गत आते हैं. इस नंबर वाले लोग अपने फ़ील्ड के सुपर स्टार होते हैं और ये काफ़ी पॉप्युलर भी होते हैं.
नंबर 3
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 3 का स्वामी गुरु है. इस नंबर वाले लोग ख़ूब पैसा कमाते हैं. ये अपना काम ज़ीरो से शुरू करते हैं और उसमें काफ़ी नाम और पैसा कमाते हैं. 3, 12, 21, 30 तारीख़ को जन्मे लोग इस कैटेगरी में आते हैं. गोविंदा, रजनीकांत, करीना, रानी आदि का रूलिंग नंबर 3 है.

न्यूमेरोलॉजिस्ट श्‍वेता जुमानी के अनुसार, “9 ग्रहों के 9 नंबर्स हमारे व्यक्तित्व, व्यवहार को रूल करते हैं और हमारी सफलता या असफलता का कारण भी बनते हैं. अपने डेट ऑफ़ बर्थ यानी जन्म तारीख़ पर तो हमारा कंट्रोल होता नहीं, लेकिन नाम को लकी बनाकर काफ़ी हद तक हम अपना भाग्य बदल सकते हैं. आज अनिल कपूर, इमरान हाशमी, सुनील शेट्टी, इरफ़ान ख़ान, अनु मलिक, अजय देवगन से लेकर स्मृति ईरानी, पूनम ढिल्लन, तनुश्री दत्ता, श्‍वेता साल्वे, सेलीना जेटली जैसे कई सेलिब्रिटीज़ हमसे कंसल्ट करने यूं ही नहीं चले आते. न्यूमेरोलॉजी के सही प्रेडिक्शन ही इसकी लोकप्रियता का सबसे बड़ा कारण हैं.”

नंबर 4
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 4 का स्वामी राहू है. इस अंक वाले लोग काफ़ी बुद्धिमान और स्पिरिचुअल होते हैं. इनका एक माइनस प्वाइंट है कि ये एडजस्ट नहीं कर पाते. तब्बू, जूही, उर्मिला मातोंडकर आदि का रूलिंग नंबर 4 है.
नंबर 5
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 5 का स्वामी बुध है. ये बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते हैं इसलिए किसी भी काम से बहुत जल्दी बोर हो जाते हैं और अलग-अलग फील्ड में काम करना पसंद करते हैं. 5, 14, 23 तारीख़ को जन्मे लोग 5 अंक की श्रेणी में आते हैं. हिमेश रेशमिया, आमिर ख़ान का रूलिंग नंबर 5 है.
नंबर 6
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 6 का स्वामी शुक्र है. इस फील्ड के लोग फिल्म, मीडिया, स्पोर्ट्स आदि से जुड़ना पसंद करते हैं और उसमें ख़ूब नाम कमाते हैं. 6, 15, 24 तारीख़ को जन्मे लोगों का रूलिंग नंबर 6 है. माधुरी दीक्षित, आलिया भट्ट, सचिन तेंदुलकर, सुभाष घई, कपिल देव, सानिया मिर्ज़ा, संजय लीला भंसाली आदि इस श्रेणी में आते हैं.

न्यूमेरोलॉजिस्ट भाविक सांघवी मानते हैं कि अंकशास्त्र तभी सही रिज़ल्ट दे सकता है, जब उसे पूरी तरह फॉलो किया जाए. उनके अनुसार, ⁛ज़्यादातर लोग समझते हैं कि न्यूमेरोलॉजी में स़िर्फ नाम बदलना होता है और आपकी क़ामयाबी पक्की समझो, पर असल में ऐसा है नहीं. स़िर्फ नाम बदलने से ज़िंदगी नहीं बदलती, इसके साथ-साथ मंत्र, दान, उपवास, लकी जेम स्टोन्स, नंबर, कलर आदि का भी ध्यान रखना होता है. आपके बर्थ और कंपाउंड नंबर्स किसके साथ मैच करते हैं और किस समय पर कौन-सा काम आपको शुभ फल देगा, इसके अनुसार यदि कार्य किए जाएं तो ही सही रिज़ल्ट मिल पाते हैं. मेरे पास गोविंदा, सुष्मिता सेन, पूजा बेदी, अपरा मेहता जैसे कई सेलिब्रिटीज़ के अलावा कई कॉमन लोग भी आते हैं और उन्हें इस साइंस का फ़ायदा भी मिला है. फ़िल्म इंडस्ट्री में ही नहीं, आम लोगों में भी न्यूमेरोलॉजी का चलन बढ़ रहा है. फिल्म स्टार्स की कोई भी बात छुपी नहीं रहती इसलिए लोगों इसकी जानकारी तुरंत मिल जाती है.”


नंबर 7
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 7 का स्वामी केतु है. इस अंक वाले लोग काफ़ी भावुक और मूडी होते हैं, यही वजह है कि ये क्रिएटिव भी होते हैं. आर्ट से जुड़ना इन्हें पसंद होता है. 7, 16, 25 तारीख़ को जन्मे लोगों का रूलिंग नंबर 7 होता है. एकता कपूर, महेन्द्र सिंह धोनी, सैफ़ अली ख़ान, करण जौहर, कैटरीना कैफ़, विपाशा बसु, शोभा डे आदि इस श्रेणी में आते हैं.
नंबर 8
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 8 का स्वामी शनि है. इस नंबर को अमूमन अनलकी माना जाता है, लेकिन ये लोग यदि स्पिरिचुअल हों तो ये इनके लिए फ़ायदेमंद होता है. इस राशि के लोगों को इनकी क़ाबिलियत के अनुसार सफलता नहीं मिल पाती. 8, 17, 26 तारीख़ को जन्मे लोग इस कैटेगरी में आते हैं. मदर टैरेसा, आसाराम बापू, सौरव गांगुली, शबाना आज़मी, आशा भोसले, शिल्पा शेट्टी आदि का रूलिंग नंबर 8 है.
नंबर 9
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 9 का स्वामी मंगल है. ये तेज़ ग्रह है इसलिए इस अंक वाले लोग बहुत ग़ुस्से वाले होते हैं. आर्मी के ़ज़्यादातर ऑफ़िसर्स भी 9 अंक वाले ही पाए जाते हैं. 9, 18, 27 तारीख़ को जन्मे लोग इस श्रेणी में आते हैं. सलमान ख़ान, सुनिल शेट्टी, अक्षय कुमार, जैकी चैन, ब्रूसली आदि का रूलिंग नंबर 9 है.

न्यूमरोलॉजिस्ट श्‍वेता बरड़िया किसी भी विज्ञान को 100% सही नहीं मानतीं. उनके अनुसार, “कोई भी शास्त्र किसी के भी भविष्य की सौ फीसदी गारंटी नहीं दे सकता और न ही किसी की तक़दीर बदल सकता है. हां, अन्य शास्त्रों की तरह न्यूमेरोलॉजी भी बारिश में छाते का काम ज़रूर करती है. लेकिन तेज़ बारिश में जाने पर जिस तरह छाता साथ होते हुए भी शरीर पर बारिश के कुछ छींटे पड़ते ही हैं, उसी तरह कर्मों का फल तो भुगतना ही होता है, न्यूमेरोलॉजी कुछ हद तक आपकी राह आसान कर सकता है. आप अपने अच्छे समय में किसी अंक या ज्योतिषशास्त्री के पास जाते हैं और आपका सब कुछ अच्छा होता चला जाता है तो आपका इस पर विश्‍वास बढ़ने लगता है. लेकिन बुरे समय में जब यही शास्त्र असर नहीं दिखा पाता तो यक़ीन करना थोड़ा मुश्क़िल हो जाता है. कोई भी शास्त्र रात को दिन या दिन को रात में नहीं बदल सकता, ये स़िर्फ बता सकता है कि आगे खाई मिलेगी, लेकिन उसे पार तो आपको ही करना होगा. लोग कहते हैं कि अमिताभ बच्चन ने जब से नीलम की अंगूठी पहनी है, तब से उनका अच्छा समय शुरू हो गया, लेकिन तब हम ये सोचना क्यों भूल जाते हैं कि आज वे जादूगर, अजूबा, तू़फ़ान जैसी फ़िल्में नहीं साइन कर रहे हैं.”


न्यूमेरोलॉजी में 1, 3, 5, 6 को पॉजीटिव नंबर कहा जाता है, इन नंबर्स के लोगों को क़ामयाबी पाने के लिए अन्य नंबर्स के मुक़ाबले कम मेहनत करनी पड़ती है. 2 और 7 क्रिएटिव नंबर माने जाते हैं, इन नंबर्स के लोग ज़्यादातर क्रिएटिव फ़ील्ड में क़ामयाबी हासिल करते हैं. न्यूमेरोलॉजी के सबसे टफ़ नंबर हैं 4, 8 और 9, इन नंबर्स के लोगों को क़ामयाबी पाने के लिए ज़्यादा मेहनत करनी पड़ती है. 8 नंबर वालों को तो ज़्यादातर 35 साल के बाद ही क़ामयाबी मिल पाती है.

– कमला बडोनी 

Share
Published by
Kamla Badoni

Recent Posts

लघुकथा- बाबूजी (Short Story- Babuji)

मुझे और भी बहुत कुछ ध्यान आ रहा था. औरतों की बाबूजी से एक-दो रुपए…

नवजोत सिंह सिद्धू को SC का बड़ा झटका, 34 साल पुराने केस में एक साल सश्रम कैद की सजा (SC’s Big Blow To Navjot Singh Sidhu, One Year Rigorous Imprisonment In 34-Year-Old Case)

जाने माने क्रिकेटर और राजनेता नवजोत सिंह सिद्धू को सुप्रीम कोर्ट से गुरुवार को बड़ा…

कभी छोटे से चॉल में रहती थी विक्की कौशल की फैमिली, बॉलीवुड में ऐसे हुई करियर की शुरुआत (Vicky Kaushal’s Family Once Lived in a Small Chawl, This is How His Career Started in Bollywood)

बॉलीवुड एक्टर विक्की कौशल आज किसी पहचान के मोहताज नहीं है. अपने दमदार एक्टिंग स्किल…

© Merisaheli