Categories: FILMEntertainment

‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ की एक्ट्रेस फ्रीडा पिंटो ने शेयर की अपनी गोद भराई की फोटोज़, बेबी बंप फ्लॉन्ट करती आईं नज़र (‘Slumdog Millionaire’ Actress Freida Pinto Shares Her Baby Shower Photos Flaunting Baby Bump)

बॉलीवुड की ऑस्कर विनिंग फिल्म 'स्लमडॉग मिलियनेयर' की एक्ट्रेस फ्रीडा पिंटो के घर जल्द ही नन्हे मेहमान की किलकारी गूंजने वाली है. जी हां, फ्रीडा…

बॉलीवुड की ऑस्कर विनिंग फिल्म ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ की एक्ट्रेस फ्रीडा पिंटो के घर जल्द ही नन्हे मेहमान की किलकारी गूंजने वाली है. जी हां, फ्रीडा पिंटो जल्द ही मां बनने वाली हैं. एक्ट्रेस ने करीब 3 महीने पहले 29 जून 2021 को अपने मंगेतर कॉरी ट्रान संग फोटो शेयर कर मां बनने की खुशखबरी को अपने फैन्स के साथ सोशल मीडिया के ज़रिए शेयर किया था. फ्रीडा अपनी प्रेग्नेंसी के आखिरी महीने में हैं और वो कभी भी खुशखबरी सुना सकती हैं. इससे पहले एक्ट्रेस की गोद भराई की रस्म अदा की गई, जिसकी खूबसूरत झलकियां सामने आई हैं. हाल ही में उनके घर में बेबी शॉवर सेरेमनी का आयोजन किया गया, जिसकी तस्वीरें एक्ट्रेस ने शेयर की हैं और वो अपना बेबी बंप फ्लॉन्ट करती नज़र आ रही हैं.

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

हाल ही में फ्रीडा पिंटो ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम हैंडल पर अपने बेबी शॉवर की फोटोज़ शेयर की हैं. तस्वीरों में फ्रीडा व्हाइट कलर की ड्रेस में नज़र आ रही हैं. उन्होंने अपने लुक को कंप्लीट करने के लिए गोल्डन बैंगल्स, डुअल नेकलेस और इंयररिंग्स कैरी किया है. बैकग्राउंड में बलून्स से खूबसूरत डेकोरेशन किया हुआ है और बेबी लिखा हुआ दिखाई दे रहा है. तस्वीरों में एक्ट्रेस अपने बेबी बंप को फ्लॉन्ट कर रही हैं. यह भी पढ़ें: श्रेया सरन पिछले साल ही बन गई थीं एक बेटी की मां, एक साल तक ‘छिपाने’ के बाद अब शेयर की गुड न्यूज़ (Shriya Saran Welcome A Baby Girl, Announces The Arrival Of Her baby After A Year)

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम
फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

तीन तस्वीरों वाले इस पोस्ट को शेयर करते हुए फ्रीडा ने कैप्शन लिखा है- ‘गोद भराई की याद दिला रही हूं. मेरी बहनों का शुक्रिया, जिन्होंने मेरे इस दिन को स्पेशल बनाया @mssonumb और @preetidesai. मैं खुद को धन्य और भाग्यशाली महसूस कर रही हूं. फ्रीडा पिंटो के इस पोस्ट को फैन्स खूब पसंद कर रहे हैं और एक्ट्रेस को बधाई दे रहे हैं. बता दें कि इससे पहले भी जून महीने में फ्रीडा ने अपने मंगेतर कॉरी ट्रान के साथ बेबी बंप फ्लॉन्ट करते हुए अपनी फोटोज़ शेयर की थीं. तस्वीरों में उनके चेहरे पर प्रेग्नेंसी ग्लो साफ झलक रहा था.

फ्रीडा पिंटों के लव अफेयर की बात करें तो उन्होंने साल 2019 में मंगेतर कॉरी ट्रान से सगाई का ऐलान किया था. हालांकि इससे पहले फ्रीडा ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ के को-एक्टर देव पटेल को डेट किया था. फिल्म की शूटिंग के दौरान ही दोनों के बीच नज़दीकियां बढ़ी थीं और दोनों करीब 6 साल तक रिलेशनशिप में रहे. हालांकि फ्रीडा और देव पटेल का रिश्ता आगे बढ़ नहीं पाया और दोनों को ब्रेकअप हो गया. देव के बाद फ्रीडा का नाम पोलो प्लेयर रॉनी बकार्डी के साथ भी जुड़ा. यह भी पढ़ें: नेहा धूपिया ने पहली बार दिखाया न्यू बॉर्न बेटे का चेहरा, साथ दिखे अंगद बेदी और बेटी मेहर, एक्ट्रेस ने भावुक पोस्ट लिख डॉक्टर्स को कहा शुक्रिया! (Neha Dhupia Reveals New Born Son’s Face For The First Time, Thanks Doctors For Her Delivery)

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम
फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम
फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

बहरहाल, फ्रीडा के करियर की बात करें तो उन्होंने बतौर मॉडल साल 2007 में अपने करियर की शुरुआत की थी, इसके बाद एक्ट्रेस को फिल्म ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ में देखा गया. फिल्म में फ्रीडा ने लतिका नाम की लड़की का किरदार निभाया था और देव पटेल ने उनके प्रेमी का रोल प्ले किया था. इस फिल्म को 8 ऑस्कर अवॉर्ड मिले थे. अपनी डेब्यू फिल्म की जबरदस्त कामयाबी के बाद फ्रीडा ने ‘तृष्णा’, ‘ब्लैक गोल्ड’, ‘नाइट ऑफ कप्स’, ‘डेजर्ट डांसर’, ‘लव सोनिया’, ‘मोगली’ जैसी कई फिल्मों में काम किया.

Recent Posts

कहानी- दृष्टिकोण (Short Story- Drishtikon)

सदा खिलखिलाती, मुस्कुराती उपासना अब तनाव में रहने लगी थी. बात-बात में झुंझला जाती कभी…

वक्त के साथ रिश्ते कमज़ोर न पड़ें, इसलिए अपने रिश्तों को दें वक्त… (Invest In Your Relationship: Spend Some Quality Time With Your Partner)

समय के साथ रिश्ते (relationship) मज़बूत होने चाहिए लेकिन अक्सर होता उल्टा है, वक्त बीतने के साथ-साथ हमारे रिश्ते कमज़ोर पड़ने लगते हैं और जब तक हमें एहसास होता है तब तक देर हो चुकी होती है. बेहतर होगा समय रहते अपने रिश्तों को समय (quality time) दें ताकि वो मज़बूत बने रहें.  वक्त देने का मतलब ये नहीं कि बस आप हाथों में हाथ डाले दिन-रात चिपके रहें, बल्कि जब भी ज़रूरत हो तो सामनेवाले को येभरोसा रहे कि आप उनके साथ हो. रिश्ते में अकेलापन महसूस न हो. अक्सर ऐसा होता है कि किसी के साथ रहते हुए भी हम अकेलापन महसूस करते हैं, क्योंकिरिश्तों से हम जिस सहारे की उम्मीद करते हैं वो नहीं मिलता. ऐसे में मन में यही ख़याल आता है कि ऐसे रिश्ते से तो हम अकेले हीअच्छे थे. इसलिए बेहतर होगा अपने रिश्तों में ऐसा अकेलापन और ठंडापन न आने दें.साथ-साथ होकर भी दूर-दूर न हों. हो सकता है आप शारीरिक रूप से साथ हों लेकिन अगर मन कहीं और है, ख़याल कहीं और हैतो ऐसे साथ का कोई मतलब नहीं. इसलिए जब भी साथ हों पूरी तरह से साथ हों,पास-पास बैठे होने पर भी एक-दूसरे के बीच खामोशी न पसरी हो. क्या आपका रिश्ता उस हालत में आ चुका है जहां आपकेबीच कहने-सुनने को कुछ बचा ही नहीं? ये ख़ामोशी दस्तक है कि आप अपने रिश्तों को अब समय दें और इस ख़ामोशी को तोड़ें.अपनी-अपनी अलग ही दुनिया में मशगूल न हों. आप अपने-अपने कामों और दोस्तों में व्यस्त हैं लेकिन अपनों के लिए ही अपनेसमय का एक छोटा सा हिस्सा भी न हो आपके पास तो दूरियां आनी लाज़मी है. इससे बचें. अपनी दुनिया में अपनों को भीशामिल रखें और उनके लिए हमेशा आपकी दुनिया में एक ख़ास जगह होनी ही चाहिए.अपने कामों में इतना मसरूफ न हों कि रिश्तों के लिए वक्त ही न हो.माना आज की लाइफ़ स्टाइल आपको बिज़ी रखती हैलेकिन क्या आप इतने बिज़ी हैं कि अपने रिश्तों तक के लिए समय नहीं बचता आपके पास? जी नहीं, ऐसा नहीं होता बस हमारीप्राथमिकताएं बदल गई होती हैं. लेकिन ध्यान रखें कि अपने रिश्तों को अपनी प्राथमिकता की सूची में सबसे ऊपर की जगह दें वरना हर तरफ़ से अकेले हो जाएंगे.अपनी डिजिटल दुनिया में अलग सी अपनी दुनिया न बसा लें. सोशल मीडिया पर आपके दोस्त होंगे, उनसे चैटिंग भी होती होगीलेकिन ध्यान रखें कि ये दुनिया एक छलावा है और हक़ीक़त से कोसों दूर. यहां धोखा खाने की गुंजाइश सबसे ज़्यादा होती है. आपको जब ज़रूरत होगी या जब आप मुसीबत में होंगे तो आपके अपने रियल लाइफ़ के रिश्ते ही आपके साथ होंगे न किडिजिटल दुनिया के रिश्ते. इसलिए एक सीमित तक ही डिजिटल दुनिया से जुड़ें.रिश्तों को क्वांटिटी की बजाय क्वालिटी टाइम दें. दिन-रात साथ रहने को साथ होना नहीं कहा जा सकता बल्कि जब भी साथ होंतो पूरी तरह से साथ हों. एक-दूसरे को स्पेशल फ़ील कराएं. कुछ स्पेशल करें. यूं ही बैठकर कभी पुरानी बातें याद करें, कभीएक-दूसरे को रोमांटिक गाना गाकर सुनाएं या कभी कोई अपनी सीक्रेट फैंटसीज़ के बारे में बताएं. साथी की फ़िक्र हो, ज़िम्मेदारीका एहसास हो, दूर रहने पर भी कनेक्शन फ़ील हो, हाल-चाल जानों- यही मतलब है क्वालिटी का.दूर होकर भी पास होने का एहसास जगाएं. ऑफ़िस में हों या टूर पर रोमांस और कम्यूनिकेशन कम न हो. आप कैसे और कितनाएक-दूसरे को मिस करते हो ये बताएं. आपकी दोनों एक-दूसरे की लाइफ़ में कितना महत्व रखते हैं ये फ़ील कराएं.फ़ोन पर बात करें या मैसेज करें. माना आप काम में बिज़ी हैं पर फ़ोन करके तो हाई-हेलो कर ही सकते हैं. लंच टाइम में तो कॉलकर ही सकते हैं. फ़ोन नहीं तो मैसेज ही करें पर कनेक्टेड रहें.रात को साथ बैठकर खाना खाएं. दिनभर तो वक्त नहीं मिलता लेकिन रात का खाना तो साथ खाया ही जा सकता है. और खानाखाते वक्त मूड हल्का रखें, पॉज़िटिव मूड के साथ पॉज़िटिव बातें करें. दिनभर की बातें बताएं, शेयर करें. सोने से पहले रोज़ दस-पंद्रह मिनट का वक्त दिनभर की बातें करने, बताने और शेयरिंग के लिए रखें.केयरिंग की भावना जगाएं. प्यार और रोमांस अपनी जगह है लेकिन केयर की अपनी अलग ही जगह होती है रिश्तों में. बीमारी मेंडॉक्टर के पास खुद ले जाना, घर का काम करना, अपने हाथों से खाना खिलाना- ये तमाम छोटी-छोटी चीजें रिश्तों को मज़बूतबनाती हैं.तबीयत का हाल पूछें, कोई परेशानी हो तो उसका सबब जानें. ज़रूरी नहीं कि बीमारी में ही हाल पूछा जाए, कभी यूं ही हल्कासिर दर्द होने पर भी पूछा जा सकता है कि आराम आया या नहीं… फ़िक्रमंद होना ठीक है पर इस फ़िक्र को दर्शाना भी ज़रूरी है.काम और ज़िम्मेदारियां बांटें. रिश्तों में एक-दूसरे का बोझ हल्का करना बेहद ज़रूरी है. वीकेंड को स्पेशल बनाएं. बाहर से खाना मंगावाएं या डिनर पर जाएं. मूवी प्लान करें या यूं ही वॉक पर जाएं. फैमिली हॉलिडेज़ प्लान करें. ये आपको ही नहीं आपके रिश्तों को भी रिफ़्रेश कर देती हैं. ज़रूरी नहीं किसी बड़ी या महंगी जगहपर ही जाया जाए. आसपास के किसी रिज़ॉर्ट या हॉलिडे होम में भी क्वालिटी वक्त बिताया जा सकता है.बात करें, परेशनियां बांटें, राय लें. सामनेवाला परेशान लग रहा है तो खुद अंदाज़ा लगाने से बेहतर है बात करें और उनकी परेशानीया मन में क्या चल रहा है ये जानें और उसे दूर करने में मदद करें.काम की ही तरह अपने रिश्तों को भी अहमियत दें और उनके लिए भी अलग से समय निकालें. धोखा न दें और रिश्तों में झूठ न बोलें. सम्मान दें और ईर्ष्या व ईगो से दूर रहें. सेक्स लाइफ़ को इग्नोर न करें. इसे स्पाइसी बनाए रखने के लिए कुछ नया ज़रूर ट्राई करते रहें. लेकिन सेक्स मशीनी क्रिया नहो, उसमें प्यार और भावनाओं का होना सबसे ज़रूरी है. भोलू शर्मा 

© Merisaheli