भावनाएं भी चुराती हैं ख़ूबसूरती (Who Stole Your Beauty?)

ईश्‍वर ने हर इंसान को ख़ास तौर से बनाया है इसलिए हर व्यक्ति अपने आप में ख़ूबसूरत होता है, लेकिन कई बार हमारी भावनाएं हमारी ख़ूबसूरती चुरा लेती हैं. क्यों और कैसे चुराती हैं भावनाएं हमारी ख़ूबसूरती? आइए, जानते हैं.

भावनाएं क्यों चुराती हैं ख़ूबसूरती?
शारीरिक गतिविधियों के साथ-साथ अपनी भावनाओं पर भी ध्यान देना ज़रूरी है, क्योंकि हमारी ख़ुशी, दुख, ग़ुस्से आदि के भाव हमारे चेहरे पर झलकते हैं और हमारे रूप-रंग को प्रभावित करते हैं. चिंता, दुख, नफ़रत, अहंकार ख़ूबसूरती को कम करते हैं. यदि मन में चिंता के भाव होंगे, तो त्वचा पर उसके कारण ड्राइनेस आएगी ही, क्योंकि इससे शरीर में एसिड की मात्रा ़ज़्यादा प्रोड्यूस हो जाती है. इसी तरह नकारात्मक विचारों से शरीर में हाइड्रोक्लोरिक एसिड ़ज़्यादा बनने लगता है, सारे हार्मोन्स का संतुलन बिगड़ जाता है. इससे बॉडी एसिडिक होने लगती है, जिससे त्वचा खुश्क होने लगती है. अतः स्वस्थ और सुंदर नज़र आने के लिए अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखें.

मस्त रहें
यदि हम बुद्ध, महावीर, नानक, ज्ञानेश्‍वर की तस्वीर देखें, तो ये सब हमें ख़ूबसूरत ही नज़र आते हैं, क्योंकि उन्हें किसी से कोई लेना-देना नहीं होता, वे अपनी ही दुनिया में मस्त रहते हैं. इसी तरह जो भी इंसान अपने आनंद में मस्त रहता है, जिसकी विचारधारा हमेशा सकारात्मक रहती है, जो व्यक्ति खुलकर हंस सकता है, दूसरों पर नहीं, अपने आप पर, वो ख़ूबसूरत ही होता है.

यह भी पढ़ें: दिशा वाकाणी, सरगुन मेहता, अनूप सोनी, रवि दुबे की तरह आप भी साकार करें अपने सपने

ख़ुद से प्यार करें
यदि आप ख़ुद से प्यार करते हैं तो अपने लिए व़क़्त निकल ही लेते हैं, लेकिन इस समय का सही उपयोग करना भी उतना ही ज़रूरी है. अतः स्वस्थ और सुंदर नज़र आने के लिए सुबह जल्दी उठकर सूरत की गर्मी सेंकें, सुबह की सैर करें, नियमित रूप से योग व एक्सरसाइज़ करें. हम कितने स्वस्थ व सुंदर दिखना चाहते हैं, ये हमारे अपने हाथ में है. हम अपने शरीर से जितना प्यार करेंगे, उसकी देखभाल के लिए जितना समय निकालेंगे, हमारा शरीर भी हमें उतनी ही ऊर्जा, सेहत और ख़ूबसूरती देगा.

सही आहार लें
हम जो खाते हैं, उसका असर हमारी त्वचा पर दिखता ही है. अतः अच्छी सेहत व ख़ूबसूरती के लिए संतुलित व पौष्टिक आहार लेना बहुत ज़रूरी है. नियम-संयम से खाया गया भोजन ही शरीर को स्वस्थ और निरोगी रखता है.अतः शरीर की ज़रूरत व अच्छे स्वास्थ्य के लिए खाएं, स्वाद के लिए नहीं.

सोएं चैन की नींद
सुंदर दिखना है, तो अच्छी नींद को नज़रअंदाज़ न करें, क्योंकि कंप्लीट नींद के बिना ख़ूबसूरती निखर ही नहीं सकती. और हां, रात की नींद ही ़ज़्यादा फ़ायदेमंद होती है. जो लोग रात को जागकर काम करते हैं उन पर बुढ़ापा जल्दी आता है. उनके बाल जल्दी स़फेद होते हैं और झुर्रियां भी जल्दी आती हैं.

यह भी पढ़ें: हम क्यों पहनते हैं इतने मुखौटे?

 

 

Kamla Badoni :
© Merisaheli