शादी से पहले ज़रूरी है इन 17 बातों पर सहमति (17 Things Every Couple Must Talk About Before Getting Marriage)

हमारे समाज में शादी (Wedding) को सबसे अधिक महत्व दिया जाता है, लेकिन शादी को लेकर ज़रूरी बातें, सतर्कता व…

हमारे समाज में शादी (Wedding) को सबसे अधिक महत्व दिया जाता है, लेकिन शादी को लेकर ज़रूरी बातें, सतर्कता व रिश्तों (Relationships) की मज़बूती के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लेने की सीख को ज़रा भी महत्व नहीं दिया जाता, क्योंकि हम शादी का अर्थ शायद अब तक समझ ही नहीं पाए. पैरेंट्स को लगता है कि बस ‘किसी तरह’ बच्चों की शादी हो जाए… ये जो ‘किसी तरह’ वाली सोच है, यही समस्या की जड़ है. किसी तरह… जैसे-तैसे… ये तमाम भाव निपटानेवाले हैं, इनमें गंभीरता कहां है?

पैरेंट्स को लगता है कि बात पक्की हो गई है, तो अब शादी होने तक बच्चों को भी ऐसी किसी भी बात से बचना चाहिए, जिससे शादी में अड़चन आए. लेकिन आजकल लोगों की सोच बदल रही है और यह ज़रूरी भी है कि शादी जैसे रिश्ते की गंभीरता को समझकर उससे जुड़े हर पहलू पर विचार किया जाए. यही वजह है कि शादी से पहले ही कुछ बातों पर सहमति अनिवार्य है, ताकि रिश्ते में आगे चलकर समस्या न हो.

1. करियर

दोनों अपने करियर को लेकर क्या सोचते हैं, एक-दूसरे से किस तरह का सहयोग चाहते हैं, किस तरह से शादी के बाद करियर को आगे बढ़ाना है… इन बातों पर आपसी सलाह-मशविरा ज़रूरी है.

2. कंट्रासेप्शन

किस तरह का कंट्रासेप्शन यूज़ करना है, किसे यूज़ करना है, कब तक यूज़ करना है आदि बातें कपल्स पहले ही डिसाइड कर लें, वरना अनचाही प्रेग्नेंसी बहुत से प्लान्स चेंज करवा सकती है.

3. फैमिली प्लानिंग

जैसा कि हमने कहा कि एक्सिडेंटल प्रेग्नेंसी या अनचाहा गर्भ बहुत से अहम् फैसले बदलने को मजबूर कर सकता है, जिसमें करियर से लेकर फाइनेंशियल प्लानिंग तक शामिल है. तो बेहतर होगा कि बच्चा शादी के कितने समय बाद प्लान करना है, इस पर सहमति बना लें.

4. फाइनेंशियल प्लानिंग

आपके जॉइंट अकाउंट्स, इंडिपेंडेंट अकाउंट्स, आपकी सैलरी, सेविंग्स, घर के ख़र्च व ज़िम्मेदारियां किस तरह से पूरी करनी हैं, किसके हिस्से कौन-सी ड्यूटी आएगी, किसको कितना ख़र्च करने के लिए तैयार रहना होगा आदि बातों पर चर्चा करना बेहतर होगा, क्योंकि आगे चलकर यही बातें विवाद का कारण बनती हैं.

5. घर का काम

यदि आप दोनों वर्किंग हैं, तो घर का काम भी मिल-जुलकर करना ज़रूरी है. इससे एक ही व्यक्ति पर ज़्यादा बोझ नहीं पड़ता. इन पहलुओं पर भी चर्चा करें.

6. लड़की अपने मायके की ज़िम्मेदारियों पर बात करे

शादी के बाद भी अपने मायके को किस तरह से आप सपोर्ट करना चाहती हैं और यह कितना ज़रूरी है, यह बात पार्टनर को बताएं, ताकि बाद में कोई विवाद न हो. पार्टनर आपको कितना सहयोग देगा, इस पर भी बात करें.

7. लड़का भी घर की ज़िम्मेदारियों की बात साफ़-साफ़ करे

कोई लोन है या फ्यूचर में आपको लोन लेकर घर या कोई ऑफिस खोलना है, सगे-संबंधियों, भाई-बहनों, माता-पिता से जुड़ी तमाम ज़िम्मेदारियों के बारे में पार्टनर को पहले ही अवगत करा दें, ताकि वो मानसिक रूप से आपका साथ देने को तैयार रहे. ऐसा न हो कि वो फिल्मी सोच के साथ किसी अलग ही दुनिया का सपना संजोकर आए और यथार्थ के धरातल पर आकर उसकी आंखें खुलें.

8. मानसिक-शारीरिक समस्या या बीमारी

यदि आपको किसी तरह की कोई समस्या रही हो या इलाज चल रहा हो, तो इस बात को छिपाएं नहीं. किसी और से पता चलने से विश्‍वास टूट जाता है, बेहतर होगा आप ख़ुद खुलकर बता दें, ताकि आपका पार्टनर निर्णय ले सके कि उसको किस तरह आपका साथ देना है.

9. सेक्स

यह ज़रूरी नहीं कि शादी की पहली रात ही सेक्स किया जाए. आप दोनों कितने सहज हैं, यह इस बात पर निर्भर करता है. अगर आपके मन में सेक्स को लेकर डर, शंका या संकोच जैसी बात है, तो आप दोनों काउंसलर के पास भी जा सकते हैं.

10. वर्जिनिटी

आपका पार्टनर इस पर क्या सोच रखता है. क्या वो भी इसी के इंतज़ार में है कि शादी की पहली रात सेक्स करने पर आपकी वर्जिनिटी का पता चल जाएगा… अगर उसकी सोच इस तरह की है, तो अलर्ट हो जाएं. आप बातों ही बातों में, किसी सहेली या किसी मूवी का उदाहरण देकर सामनेवाले की सोच को जांच-परख सकती हैं. यह बहुत ज़रूरी है, वरना ये बातें तलाक़ का कारण भी बन जाती हैं.

यह भी पढ़ें: किस राशिवाले किससे करें विवाह? (Perfect Life Partner According To Your Zodiac Sign)

 
11. एक-दूसरे के विचार

यह ज़रूरी नहीं कि आप दोनों के विचार एक जैसे हों और यह संभव भी नहीं, क्योंकि हर इंसान की सोच अलग होती है, लेकिन क्या आप उसकी सोच के साथ निबाह सकते हैं? कहीं होनेवाला पार्टनर बहुत ज़्यादा ईगोइस्ट तो नहीं, कहीं बहुत ज़िद्दी तो नहीं, कहीं बहुत पिछड़े विचारों का तो नहीं, कहीं बहुत ख़र्चीला या बहुत कंजूस तो नहीं आदि बातों पर चर्चा ज़रूरी है.

12. आदतें

बेहतर होगा एक-दूसरे को इंप्रेस करने की बजाय अपनी रियल साइड दिखाएं, ताकि भ्रम की स्थिति न रहे. आप दोनों की आदतें, जैसे- ईटिंग हैबिट्स, हाइजीन से जुड़ी आदतें, पैसों से जुड़ी, सिगरेट-शराब, वर्किंग हैबिट्स कैसी हैं, यह भी ज़रूर पूछें.

13. शौक़

बाद में पता चला कि एक को मूवीज़ का बेहद शौक़ है, तो दूसरा किताबी कीड़ा निकला. एक को बाहर घूमने में मज़ा आता है, तो दूसरे को घर बैठकर टीवी देखने में… ये बातें पहले ही पता चल जाएं, तो एडजेस्ट करने में आसानी होती है. एक-दूसरे के लिए ख़ुद को बदलने का प्रयास भी किया जा सकता है, वरना ज़िंदगीभर ताने सुनते रहना पड़ेगा कि ये कहीं घुमाने नहीं लेकर जाते.

14. ज़िम्मेदार

होनेवाला पार्टनर कितना ज़िम्मेदार है, कितना गंभीर है किसी भी बात या रिश्ते को लेकर. इस पर भी बात करनी ज़रूरी है. लापरवाही भरा रवैया हर रिश्ते में समस्या खड़ी करता है, चाहे यह लापरवाही लड़के की तरफ़ से हो या लड़की की तरफ़ से.

15. दहेज

लड़का या उसके परिवारवाले कुछ ज़्यादा तो एक्सपेक्ट नहीं कर रहे आपके घरवालों से? यह आप बातों ही बातों में पता कर सकती हैं. शादी के बाद क्या फाइनेंशियल प्लानिंग है, कहीं सामनेवाला करियर छोड़कर बिज़नेस की प्लानिंग तो नहीं कर रहा, कहीं किसी बड़ी गाड़ी या बाइक का सपना तो नहीं पाल रहा… आदि.

16. रेस्पेक्ट

एक-दूसरे को ही नहीं, एक-दूसरे की फैमिली को भी आप दोनों कितना सम्मान देंगे, किस तरह एक-दूसरे के परिवारों में किसी समस्या के समय साथ खड़े रहेंगे, एक-दूसरे के बुरे व़क्त में कितना साथ निभाएंगे, शादी स़िर्फ हसीन सपना ही नहीं, बहुत बड़ी ज़िम्मेदारी का नाम भी है. आप दोनों मानसिक व शारीरिक तौर पर कितने तैयार हैं इस ज़िम्मेदारी के लिए, इस पर ग़ौर करें.

17. बदलाव

शादी के बाद सब कुछ बदल जाता है. बैचलर लाइफ से मैरिड लाइफ में आना आसान नहीं है. आज़ादी कम हो जाती है, ज़िम्मेदारियां बदलती व बढ़ती हैं, लापरवाही छोड़कर गंभीर होना पड़ता है. ताने देने की बजाय त्याग करके साथ निभाना पड़ता है. अपने शौक़ हो सकता है बदलने पड़ जाएं, हो सकता है कई बार शौक़ पूरे भी न हो पाएं… तो क्या इन बदलावों को आप दोनों सहर्ष स्वीकार करेंगे? इन पहलुओं पर चर्चा व सलाह करना ज़रूरी है.

इन बातों पर चर्चा करते समय यह न सोचें कि कहीं सामनेवाले को बुरा न लग जाए या शादी टूट न जाए. ग़लत रिश्ते, ग़लत लोगों से रिश्ते या ग़लत जगह रिश्ते जुड़ने से बेहतर है थोड़ा और इंतज़ार कर लिया जाए.

– ब्रह्मानंद शर्मा

यह भी पढ़ें: कैसे जीतें पति का दिल? (How To Win Your Husband’s Heart?)

Aneeta Singh

Recent Posts

बॉलीवुड की 10 सुपरमॉम्स प्रेग्नेंसी के बाद फिर हो गईं पहले की तरह फिट और स्लिम (10 Bollywood Actresses Who Look Amazing Post Pregnancy)

बॉलीवुड एक्ट्रेसेज के लिए अपने फिगर और फिटनेस का ध्यान रखना बहुत ज़रूरी है. शादी और प्रेग्नेंसी के बाद बॉलीवुड…

कहानी- मोह माया मायका (Short Story- Moh Maya Mayka)

मूंदी हुई पलकों के पीछे मायके में कुछ दिन पूर्व बिताया समय साकार हो उठा. कैसे उसे देखते ही मम्मी-पापा…

पहला अफेयर: ख़ूबसूरत फरेब (Pahla Affair: Khoobsurat Fareb)

पहला अफेयर: ख़ूबसूरत फरेब (Pahla Affair: Khoobsurat Fareb) घर में आर्थिक तंगी से मेरी पढ़ाई छूट गई थी. बस, गुज़र-बसर…

तलाक़ के बाद महिलाएं कैसे करें अपना भविष्य सुरक्षित? (Financial Planning After Divorce)

सुखी वैवाहिक जीवन में कई बार ऐसे हालात बन जाते हैं कि दो लोगों का एक साथ रहना संभव नहीं…

बॉलीवुड की टॉप एक्ट्रेसेज़ के बेहतरीन मेकअप लुक्स (Best Makeup looks Of Top Actresses)

बॉलीवुड एक्ट्रेसेज़ की फ्लॉलेस स्किन और परफेक्ट मेकअप का हर कोई दीवाना है. हर कोई इनकी तरह खूबसूरत नजर आना…

कनाडा के पासपोर्ट पर अक्षय कुमार ने किया खुलासा (Akshay Kumar on Canadian citizenship)

अक्षय कुमार (Akshay Kumar) बॉलीवुड के सबसे लोकप्रिय कलाकारों में से एक हैं. अक्षय कुमार ने इंडस्ट्री में अपनी पहचान…

© Merisaheli