Hindi Kahaniya

कहानी- तीसरा पड़ाव (Story- Teesra Padav)

  कमरे में एक विधवा, एक सधवा और एक कुंआरी विचारमग्न बैठी हैं. तीनों उम्र के इस तीसरे पड़ाव पर…

कहानी- सौग़ात (Story- Saugat)

उसकी तोतली बोली पहली बार साम्या के कानों में मिश्री घोल रही थी. उसकी उजली हंसी साम्या की आत्मा पर…

कहानी- आव नहीं, आदर नहीं (Story- Aav nahi, aadar nahi)

उनका दृढ़ विश्‍वास था- माता-पिता की सेवा स्वयं की इच्छाशक्ति से होती है. यह पुत्र का कर्त्तव्य है, याद दिलाने…

हिंदी कहानी- लविंग मेमोरी (Hindi Short Story- Loving Memory)

मैं सोचने लगी- यह एकदम कैसा बदलाव आ गया विजय पाल में. प्रायश्‍चित के किस क्षण ने उनकी आंखों पर…

कहानी- पासवाले घर की बहू (Story- Paswale Ghar Ki Bahu)

                  पमा मलिक वह आराम से आठ बजे सोकर उठती, चाय पीती,…

© Merisaheli