Categories: Top Stories

पिता की मौत के 4 दिन बाद कोविड ने ली मां की जान, जब कोई नहीं आया साथ तो बेटी ने PPE किट पहनकर खुद किया अंतिम संस्कार (4 Days After Father’s Death Mother Dies Of Coronavirus, Due To No Help Daughter Wears PPE Kit And Buries Her Body, Picture Viral)

कोरोना के बढ़ते मामलों से पूरा देश दहशत में है. इस भयावह माहौल में सोशल मीडिया पर एक दर्दनाक तस्वीर वायरल हो रही है. इस…

कोरोना के बढ़ते मामलों से पूरा देश दहशत में है. इस भयावह माहौल में सोशल मीडिया पर एक दर्दनाक तस्वीर वायरल हो रही है. इस तस्वीर में एक बेटी PPE किट पहनकर अंतिम संस्कार करती नज़र आ रही है. जब किसी ने साथ नहीं दिया, तो इस बेटी ने खुद किया अंतिम संस्कार.

कहते हैं, इंसान की परख बुरे वक़्त में होती है और इस वक़्त तो हमारा पूरा देश ही बुरे वक़्त से जूझ रहा है. ऐसे में सोशल मीडिया पर एक दर्दनाक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसने इंसानियत को शर्मसार कर दिया है.

ये मामला है अररिया, बिहार का है, जहां कोरोना ने 4 दिन के अंतराल एक दंपति की जान ले ली, लेकिन बात सिर्फ यहीं खत्म नहीं होती, इनके जाने के बाद इनके बच्चों पर क्या बीती है, ये जानकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे. पिता की मौत के 4 दिन बाद जब कोविड से ही मां का भी निधन हो गया, तो अंतिम संस्कार के लिए कोई भी आगे नहीं आया. इस मुश्किल घड़ी में इन बच्चों पर क्या बीत रही होगी, इसका भी किसी को ख्याल नहीं आया. जब किसी ने इनका साथ नहीं दिया, तो इस दंपति की दो बेटियों और एक बेटे खुद इस काम को पूरा किया. बड़ी बेटी ने खुद पीपीई किट पहनकर बेटे का फर्ज निभाया और मां का अंतिम संस्कार किया. इस घटना ने ये साबित कर दिया है कि कोरोना काल की संकट की घड़ी में कुछ लोग कितने संवेदनाहीन हो गए हैं.

यह भी पढ़ें: कोरोना से संक्रमित डॉक्टर ने फेसबुक पर लिखा, शायद ये आखिरी गुड़ मॉर्निंग हो, 36 घंटे बाद दुनिया को कहा अलविदा (Mumbai Doctor Dies Of Covid 19 After Saying Goodbye On Facebook)

ख़बरों के अनुसार, ये परिवार बिशनपुर पंचायत में रहता था, जहां 28 अप्रैल को उन्होंने फॉरबिसगंज में कोरोना टेस्ट कराया, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई. इसके बाद इस दंपति का पूर्णिया के प्राइवेट हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था, लेकिन इलाज के दौरान पहले पति की मौत हो गई और उसके चार दिन बाद कोरोना से ही पत्नी का भी निधन हो गया. पति का अंतिम संस्कार पूर्णिया में ही किया गया, लेकिन पति की मौत के बाद जब पत्नी की भी हालत बिगड़ने लगी, तो उनकी आर्थिक स्थिति भी खराब होने लगी. पति की मौत के 4 दिन बाद ही जब पत्नी का भी निधन हो गया, तो उनके शव को उनके गांव लाया गया. कोरोना से मौत होने के कारण गांव और समाज के लोग उनके अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हुए. ऐसे में इन तीनों बच्चों ने साहस दिखाया और अपनी मां का अंतिम संस्कार खुद किया.

श्रावणी मिश्रा का यह ट्वीट तेज़ी से वायरल हो रहा है और इस बेटी का दर्द बयां कर रहा है. श्रावणी मिश्रा ने ये तस्वीर शेयर करते हुए ट्वीट किया है, ‘PPE किट में दिख रहा शख्स कोई नगर निगमकर्मी नहीं बल्कि मृतका की बेटी है. चार दिन पहले पिता को खोने के बाद मां के अंतिम संस्कार के लिए पैसे नहीं थे. ऐसे में खुद ही मां के शव को दफन कर दिया. घटना बिहार के अररिया जिले की है.’ आप भी देखिए श्रावणी मिश्रा का यह ट्वीट:

मां का अंतिम संस्कार करती इस बेटी की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है और हमें ये संदेश भी दे रही है कि वक़्त चाहे कितना भी बुरा क्यों न हो, इंसानियत हर हाल में ज़िंदा रहनी चाहिए, वरना हम इंसान कहलाने के लायक नहीं रहेंगे.

Share
Published by
Kamla Badoni

Recent Posts

अकबर-बीरबल की कहानी: मुर्गी पहले आई या अंडा? (Akbar-Birbal Story: What Came First Into The World, The Egg Or The Chicken?)

एक समय की बात है बादशाह अकबर के दरबार में एक ज्ञानी पंडित आए, वो…

पलक ने श्वेता तिवारी के लिए लिखा स्पेशल नोट, इस बात के लिए अपनी मां को दिया धन्यवाद (Palak Pens a special note for Mother Shweta Tiwari, Says Thank You For This Thing)

टीवी एक्ट्रेस श्वेता तिवारी और एक्स-हसबैंड अभिनव कोहली के बीच कुछ समय पहले ही सार्वजनिक…

योग- आईवीएफ के दौरान तनाव से लड़ने का कारगर साधन… (Yoga To Reduce Stress And Enhance Fertility)

दुनियाभर के लाखों दम्पति अनेक कारणों से प्रजनन की बढ़ती समस्याओं से जूझ रहे हैं…

© Merisaheli