कोरोना से संक्रमित डॉक्टर न...

कोरोना से संक्रमित डॉक्टर ने फेसबुक पर लिखा, शायद ये आखिरी गुड़ मॉर्निंग हो, 36 घंटे बाद दुनिया को कहा अलविदा (Mumbai Doctor Dies Of Covid 19 After Saying Goodbye On Facebook)

कोरोना के कहर से पूरा देश दहशत में हैं. आम लोगों के साथ ही डॉक्टर, नर्स और स्वास्थ्यकर्मी, पुलिस भी अब तेज़ी से कोरोना की चपेट में आ रहे हैं. मुंबई के सेवरी टीबी अस्पताल की 51 साल की सीनियर डॉक्टर मनीषा जाधव की भी कोरोना से मौत हो गई. कोरोना से संक्रमित डॉक्टर मनीषा जाधव ने फेसबुक पर लिखा, शायद ये आखिरी गुड़ मॉर्निंग हो और इसके 36 घंटे बाद उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया.

Manisha Jadhav

डॉक्टर मनीषा जाधव ने फेसबुक पर लिखा ये इमोशनल पोस्ट
मुंबई के सेवरी टीबी अस्पताल की 51 साल की सीनियर डॉक्टर मनीषा जाधव का फेसबुक पर लिखा हुआ इमोशनल पोस्ट पढ़कर हज़ारों लोगों की आंखें नम हो रही हैं. डॉक्टर मनीषा जाधव ने रविवार को फेसबुक पर पोस्ट करते हुए अपनी स्थिति के बारे में बता दिया था.

Manisha Jadhav

डॉक्टर मनीषा जाधव ने रविवार को फेसबुक पर लिखा, ‘हो सकता है ये आखिरी गुड मॉर्निंग हो. हो सकता है मैं इस प्लेटफॉर्म पर अब आपसे फिर न मिलूं. सब अपना ध्यान रखें. शरीर मर जाता है. आत्मा नहीं मरती. आत्मा अमर है.’ बता दें कि रविवार को फेसबुक पर यह पोस्ट लिखने के 36 घंटे बात मंगलवार को डॉक्टर मनीषा जाधव ने कोविड-19 की वजह से दम तोड़ दिया.

Manisha Jadhav

महाराष्ट्र में तेज़ी से बढ़ रहे है कोरोना के केसेस
डॉक्टर मनीषा जाधव टीबी के इलाज की स्पेशलिस्ट थीं और सेवरी टीबी अस्पताल में नौकरी करती थीं. डॉक्टर मनीषा जाधव का ये फेसबुक पोस्ट पढ़कर लोग अपने आंसुओं को रोक नहीं पा रहे हैं. लोगों की जान बचाने वाले डॉक्टर अब कोरोना के कारण अपनी जान गवां रहे हैं. इस समय देशभर में सबसे ज्यादा कोरोना के केसेस महाराष्ट्र में हैं और ये स्थिति ज्यादा भयावह होती जा रही है. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के मुताबिक, महाराष्ट्र में 18,000 डॉक्टर कोरोना की चपेट में आ गए हैं, वहीं 168 डॉक्टरों की मौत हो गई है.

Covid Vaccine

डॉ. तृप्ति गिलाडा ने नम आंखों से लोगों से की ये अपील
यदि आपने अभी तक मुंबई की डॉ तृप्ति गिलाडा का वायरल वीडियो नहीं देखा है, तो आपको बता दें कि डॉ तृप्ति गिलाडा ने नम आंखों से बताया कि स्थिति बहुत भयावह होती जा रही है. मुंबई के अस्पतालों में आईसीयू में जगह नहीं है, हम लोगों ने इससे पहले ऐसी स्थिति नहीं देखी है. इस भयानक स्थिति में हम खुद को असहाय महसूस कर रहे हैं. धीरे-धीरे कई राज्यों और शहरों की हालत बहुत खराब होती जा रही है. उन्होंने अपने आंसुओं को रोकने की कोशिश करते हुए भावुक होकर कहा, ”ऐसे हालात में हम सभी डॉक्टरों में भी कहीं ना कहीं इमोशनल ब्रेकडाउन की स्थिति हो रही है. कृपया आप सब अपना ध्यान रखें और खुद को सुरक्षित रखें.”

यह भी पढ़ें: मंदिर, मस्जिद के साथ ही कोरोना से जंग में मदद के लिए आगे आए ये सामाजिक संस्थान, आप मदद के लिए यहां संपर्क कर सकते हैं (Along With Religious Bodies Lots Of Social Organizations Coming Forward To Help In The War Against The Corona, Emergency Helpline Numbers For Covid Patients)

कृपया आप सभी कोरोना को हल्के में न लें और कोरोना के सभी नियमों का पालन करते हुए सुरक्षित रहें.