Her Special Stories

महिलाओं से जुड़े संवेदनशील मुुद्दे डोमेस्टिक वॉयलेंस (Domestic Violence), दहेज (Dowry) , मैरिटल रेप (Marital Rape), तलाक़ (Divorce), एब्यूज़ (Abuse) आदि. जो महिलाओं की ज़िंदगी पर गहरा असर डालते हैं और कई बार उनका अस्तित्व ही संकट में पड़ जाता है. इन्हीं मुद्दों की गंभीर पड़ताल करती है मेरी सहेली (Meri Saheli) इस सेक्शन में.

क्यों पुरुषों के मुक़ाबले महिला ऑर्गन डोनर्स की संख्या है ज़्यादा? (Why Do More Women Donate Organs Than Men?)

जब किडनी ख़राब होने से बेटे की जान ख़तरे में थी, तो उसके सिरहाने उसकी मां खड़ी थी, जब उसे…

हर महिला को पता होना चाहिए रिप्रोडक्टिव राइट्स (मातृत्व अधिकार)(Every Woman Must Know These Reproductive Rights)

मेरी कोख मेरी नहीं, मेरा अस्तित्व मेरा नहीं, मेरे जज़्बात की कदर है क्या किसी को? मेरी उम्मीदों को क्या…

हर वर्किंग वुमन को पता होना चाहिए ये क़ानूनी अधिकार (Every Working Woman Must Know These Right)

    आज शायद ही ऐसी कोई कंपनी, कारखाना, दफ़्तर या फिर दुकान हो, जहां महिलाएं काम न करती हों.…

संपत्ति में हक़ मांगनेवाली लड़कियों को नहीं मिलता आज भी सम्मान… (Property For Her… Give Her Property Not Dowry)

संपत्ति में हक़ मांगनेवाली लड़कियों को नहीं मिलता आज भी सम्मान... (Property For Her... Give Her Property Not Dowry) उसका…

Women’s Day Special: हमें नाज़ है इन पर! (Inspiring Women Achievers You Must Know About)

निगाहों से छलके वो क़तरे अब नहीं हैं उसकी पहचान... ख़ामोशी को छोड़ उसने छू लिया है आसमान... पथरीली राहों…

महिलाएं डर को कहें नाः अपनाएं ये सेल्फ डिफेंस रूल्स (Safety Rules: Women’s Self Defence Tips)

तमाम एहतियात और शोर-शराबे के बावजूद महिलाओं के साथ अपराध और यौन शोषण की घटनाएं कम नहीं हो रहीं. लेकिन…

सोशल मीडिया पर एक्टिव लड़कियों को बहू बनाने से क्यों कतराते हैं लोग? (How Social Media Affects Girls Marriage)

सोशल मीडिया के साइड इफेक्ट्स का असर न स़िर्फ बच्चों की पढ़ाई, लोगों के काम के परफॉर्मेंस, फैमिली लाइफ आदि…

हम योगी नहीं बन सकते, पर समाज के लिए उपयोगी तो बन सकते हैं… भारती त्रिवेदी! (Exclusive Interview: Bharti Trivedi)

हमें बहुत-सी शिकायतें रहती हैं... अपनी ज़िंदगी से, अपने आसपास के लोगों से और ऊपरवाले से भी... न हम किसी…

गोरी लड़कियां आज भी हैं शादी के बाज़ार की पहली पसंद… (Why Indians Want Fair Skin Bride?)

पश्‍चिमी देशों में हम रंगभेद के ख़िलाफ़ कड़ा रवैया अपनाते हैं, लेकिन हम ख़ुद इस मानसिकता से उबरे नहीं हैं.…

लेडी लक के बहाने महिलाओं को निशाना बनाना कितना सही? (Targeting Women In Name Of Lady Luck)

मैं ख़्वाब नहीं, हक़ीक़त हूं... मैं ख़्वाहिश नहीं, एक मुकम्मल जहां हूं... किसी की बेटी, बहन या अर्द्धांगिनी बनने से…

फीमेल सेक्सुअलिटी को लेकर कितने मैच्योर हैं हम? (Female Sexuality And Indian Society)

हम सोचते हैं कि व़क्त तेज़ी से बदल रहा है, लेकिन क्या सचमुच ऐसा है? अगर हम यह मान भी…

आज़ाद भारत की आधी आबादी का सच(Women’s Place In Indian Society Today)

भारत को पुरुष प्रधान और महिलाओं के लिए असुरक्षित देश कहा जाता है और भारतीय महिलाओं को अबला-असहाय, लेकिन क्या…

© Merisaheli