कविता- दिवाली की शुभकामनाएं… (Poetry- Diwali Ki Shubhkamnayen…)

प्रभु इतनी सद्बुद्धि देना हमें उज्जवल सबकी दिवाली हो कोई न घायल या बीमार पड़े कल भी घर में ख़ुशहाली…

कहानी- आओ दीये जलाएं… (Story- Aao Diye Jalayen)

अगले दिन, दिन चढ़ने पर रंगोली के रंग एक-दूसरे पर चढ़े हुए कुछ बदरंग से दिखे. दीयों से तेल सूख…

लघुकथा- समस्या का हल (Short Story- Samsyaa Ka Hal)

चित्रकारों के सामने समस्या यह थी कि एक आंख न होने पर चित्र सुन्दर नहीं लगेगा और ग़ुस्से में राजा…

लघुकथा- इंकलाब (Short Story- Inklab)

आप हर वक़्त मुझे मेरे फर्ज़ और कर्तव्य की याद दिलाते रहे, लेकिन कभी यह जानने की ज़रूरत नहीं समझी…

कहानी- नैनीताल अब नहीं… (Short Story- Nainital Ab Nahi…)

उस पहाड़ी नज़र ने उसके इश्क़िया अंदाज़ को भांप लिया और उस चाय बेचनेवाले युवक से उसको संदेश भिजवाया और…

कविता- स्वदेशी अपनाओ… (Poetry- Swadeshi Apnao…)

सुनो-सुनो मज़े की एक कहानी उस दुनिया की जो हुई सयानी है कुछ साल पहले की बात दिवाली के कुछ…

लघुकथा- मां का प्रेम (Short Story- Maa Ka Prem)

पक्षी को देख कर साफ़ लग रहा था कि उसने उड़कर जान बचाने की कोशिश नही की थी. यह देखकर…

कविता- भूख (Poem- Bhukh)

सामने दलिया या खिचड़ी के आते ही तलाशने लगती उसकी सूखी आंखें अचार के किसी मर्तबान या स्टोर रूम के…

कविता- करवा चौथ (Poetry- Karwa Chauth)

जीवन की आपाधापी में शौक सिंगार का सोया सा फिर पुलक उठा, मुस्काया सखी फिर करवा चौथ आया दीवान के…

रंग तरंग- भूखे इश्क़ न होत सजना… (Satire- Bhukhe Ishq Na Hot Sajna…)

''सिया उठो, सरगी का टाइम हो गया, मां बुला रही हैं.'' मैंने जान-बूझकर करवट ले ली. मन ही मन भगवान…

कहानी- बेड़ियां (Short Story- Bediyan)

"घर नहीं मां, मकान! और आप प्लीज़ इतना भावुक मत हुआ करिए पुरानी चीज़ों को लेकर… यादें कभी-कभी बेड़ियां हो…

लघुकथा- प्रतीक्षा (Short Story- Pratiksha)

पहले करवा चौथ में मां ने उसकी हर भाभी को फलाहार करने की प्रेरणा दी थी. पर एक दिन भूख…

© Merisaheli