Family Drama

कहानी- कुछ बात है उसमें (Short Story- Kuch Baat Hai Usme)

उसने ख़ुद नोट किया है कि वह सबको बहुत प्यार करती है. बहुत ध्यान रखती है हर बात का. वह कहां इन बातों ...

कहानी- समझौता नहीं समर्पण (Short Story- Samjhota Nahi Samarpan)

“रिश्ते बैंक की तरह होते हैं. बैंक में स़िर्फ डिमांड करने से काम नहीं चलता, पहले वहां उतना ही ...

कहानी- पिघलती सिल्लियां (Short Story- Pighalti Silliyaan)

काश सुजीत, तुम कहकर जाते, यूं ही बिना कुछ कहे अचानक चले गए. बेटे के आने का इंतज़ार तो कर लेते… उसे ...

कहानी- लहर (Short Story- Lehar)

“वैसे भी अभी तुम्हारी उम्र ही क्या है? कभी फिर से घर बसाने का ख़्याल नहीं आता?” “कोई उचित पात्र ...

कहानी- अब समझी हूं (Short Story- Ab Samjhi Hun)

क्या मांएं एक ही मिट्टी की बनी होती हैं? क्या हर मां एक जैसा ही सोचती है? आज जब हर बात अपने पर बीत ...

कहानी- विराम (Short Story- Viram)

कौशल को भी धक्का लगा था. जैसे-तैसे उन्होंने विहान को जगाया. घर का माहौल तनाव से भर गया. पूरे घर ...

कहानी- क्यूटनेस ओवरलोडेड (Short Story- Cuteness Overloaded)

स्मिता ने वीडियो देखने आरंभ किए, तो देखती ही रह गई. मॉल में हिचकिचाती मां को हाथ पकड़कर ...

कहानी- टूटे खिलौने (Short Story- Toote Khilone)

इतना सुनते ही उसका हाथ फिसला और वायलिन का तार टूट गया. उसके बाद वायलिन बजना बंद हो गया. ऐसी कितनी ...

कहानी- अचीवमेंट (Short Story- Achievement)

रमा को आज दिन की पार्टी की कुछ बातें याद आ रही थीं. मां की सहेलियों ने जब उमा दी और उससे पूछा था कि ...

कहानी- तुम्हारी मां (Short Story- Tumhari Maa)

विरह के बाद का प्रेम और तीव्र होता है. आज यह कहने में मुझे तनिक भी संकोच नहीं कि वे दस दिन मेरे ...

कहानी- झूले हिंडोले (Short Story- Jhoole Hindole)

अटैचमेंट नाम की चीज़ उमेश में नहीं है. जब से शादी हुई, उसने उसके अंदर एक अलग ही एटीट्यूड देखा है. ...

कहानी- नॉमिनी (Short Story- Nominee)

“मैंने पुनीत और नूपुर को आड़े हाथों लिया कि उनके पापा को कितना दुख होगा कि उनकी वजह से नूपुर का ...

1 2 3 19