एसिडिटी से हैं परेशान? तो अपनाएं ये उपाय (Home Remedies To Get Rid Of Acidity)

एसिडिटी (Acidity) की समस्या (Problem) बहुत आम होती जा रही है. गलत खानपान और अनियमित दिनचर्या के कारण अक्सर लोगों को एसिडिटी की समस्या से दोचार होना पड़ता है. इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम आपको एसिडिटी दूर करने के आसान घरेलू उपाय (Easy Home Remedies) बता रहे हैं. - जब भी एसिडिटी का अटैक हो, तो सबसे बेहतर उपाय है एक पका केला खा लें. केला थोड़ा ज़्यादा पका होगा, तो असर अच्छा होगा. केले में मौजूद पोटैशियम के कारण इसमें पीएच अधिक होता है, जो एसिडिटी को ख़त्म करता है. - तुलसी के कुछ पत्ते चबा लें. तुलसी पेट में पेप्टिक एसिड के प्रभाव को कम करके एसिडिटी को कम करती है. यह पाचन क्रिया को भी बेहतर बनाती है. - ठंडा दूध पीने से भी एसिडिटी कम होती है. इसमें मौजूद कैल्शियम एसिडिटी को कम करता है. ठंडा होने के कारण यह जलन को कम करता है. ध्यान रहे कि इसमें शक्कर न मिलाएं. अगर अधिक एसिडिटी है, तो इसमें 1 चम्मच देसी घी मिलाकर लें. - सौंफ न स़िर्फ पाचक होती है, बल्कि ठंडक देकर एसिडिटी और कब्ज़ को भी दूर करती है. इसके अलावा यह मुंह के छालों में भी लाभदायक है. - एसिडिटी होने पर जीरा चबा-चबाकर खाएं या फिर उसे पानी में उबालें और ठंडा होने पर यह पानी पिएं. - लौंग भी बहुत फ़ायदेमंद है. जब भी एसिडिटी हो, तो एक लौंग को चबाकर उसका तेल मुंह में ही कुछ देर रखें. इससे एसिडिटी भी दूर होती है, सलाइवा बढ़ता…

एसिडिटी (Acidity) की समस्या (Problem) बहुत आम होती जा रही है. गलत खानपान और अनियमित दिनचर्या के कारण अक्सर लोगों को एसिडिटी की समस्या से दोचार होना पड़ता है. इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम आपको एसिडिटी दूर करने के आसान घरेलू उपाय (Easy Home Remedies) बता रहे हैं.

– जब भी एसिडिटी का अटैक हो, तो सबसे बेहतर उपाय है एक पका केला खा लें. केला थोड़ा ज़्यादा पका होगा, तो असर अच्छा होगा. केले में मौजूद पोटैशियम के कारण इसमें पीएच अधिक होता है, जो एसिडिटी को ख़त्म करता है.
– तुलसी के कुछ पत्ते चबा लें. तुलसी पेट में पेप्टिक एसिड के प्रभाव को कम करके एसिडिटी को कम करती है. यह पाचन क्रिया को भी बेहतर बनाती है.
– ठंडा दूध पीने से भी एसिडिटी कम होती है. इसमें मौजूद कैल्शियम एसिडिटी को कम करता है. ठंडा होने के कारण यह जलन को कम करता है. ध्यान रहे कि इसमें शक्कर न मिलाएं. अगर अधिक एसिडिटी है, तो इसमें 1 चम्मच देसी घी मिलाकर लें.
– सौंफ न स़िर्फ पाचक होती है, बल्कि ठंडक देकर एसिडिटी और कब्ज़ को भी दूर करती है. इसके अलावा यह मुंह के छालों में भी लाभदायक है.


– एसिडिटी होने पर जीरा चबा-चबाकर खाएं या फिर उसे पानी में उबालें और ठंडा होने पर यह पानी पिएं.
– लौंग भी बहुत फ़ायदेमंद है. जब भी एसिडिटी हो, तो एक लौंग को चबाकर उसका तेल मुंह में ही कुछ देर रखें. इससे एसिडिटी भी दूर होती है, सलाइवा बढ़ता है, जिससे पाचन क्रिया भी बेहतर होती है.
– इलायची के लिए वर्षों से आयुर्वेद में भी यह माना जाता रहा है कि इसमें तीनों दोषों- वात, पित्त और कफ़ को संतुलित करने के गुण हैं. एसिडिटी होने पर दो इलायची चबाकर खाएं (छिलके के साथ भी खा सकते हैं) या फिर फ़ौरन राहत के लिए इलायची के दानों का पाउडर पानी में मिलाकर उबालें और इस जूस को ठंडा होने पर पिएं.


– पुदीने के पत्तों को काटकर पानी में उबालें और ठंडा करके इस पानी को पिएं. यह एसिडिटी के कारण होनेवाले दर्द व जलन को भी कम करता है.
– अदरक न स़िर्फ पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है, बल्कि पेट को एसिड के प्रभाव से भी बचाता है. अदरक के टुकड़े को चबाने से एसिडिटी से राहत मिलती है. अगर आपके लिए उसे चबाना संभव नहीं, तो उसे पानी के साथ उबालकर पिएं या फिर क्रश करके गुड़ के साथ चूसें.
– आंवला कफ़ और पित्त से राहत देता है. एसिडिटी को दूर रखने का सबसे अच्छा उपाय है कि रोज़ाना 1 टीस्पून आंवला पाउडर लें.

ये भी पढ़ेंः मिनटों में कब्ज़ से छुटकारा पाने के असरदार उपाय (Say No To Constipation)

Share
Published by
Shilpi Sharma

Recent Posts

#HBD: एस. पी. बालसुब्रमण्यम.. सुरों के जादूगर… (Happy Birthday To S. P. Balasubramaniam)

बेहतरीन गायक एस. पी. बालसुब्रमण्यम का आज जन्मदिन है. उन्होंने न जाने कितने सुमधुर कर्णप्रिय…

इन अजीबो-ग़रीब ड्रेसेस से एक्ट्रेसेस ने बनाया ख़ुद अपना मज़ाक़, लोगों की छूट गई हंसी (Fashion Disasters Of Bollywood Hotties)

फ़िल्म इंडस्ट्री फैशन के लिए मशहूर है लेकिन जब फेमस स्टार्स ही कुछ ऐसा अजीब…

© Merisaheli