जानें आलूबुखारा खाने के फ़ायदे (Know the amazing benefits of eating plums)

आलूबुखारा यानी प्लम (Benefits of plums) सेहत के लिए बेहद फ़ायदेमंद है. इसमें फाइबर, मिनरल्स, एंटीऑक्सीडेंट्स व विटामिंस भरपूर मात्रा में होती है. इसका इस्तेमाल…

आलूबुखारा यानी प्लम (Benefits of plums) सेहत के लिए बेहद फ़ायदेमंद है. इसमें फाइबर, मिनरल्स, एंटीऑक्सीडेंट्स व विटामिंस भरपूर मात्रा में होती है. इसका इस्तेमाल औषधि के रूप में भी किया जाता है.

घरेलू नुस्ख़े

  • यदि कब्ज़ की शिकायत है, तो रात को सोने से पहले 5-6 सूखा आलूबुखारा पानी में भिगो दें. सुबह उठकर खाली पेट इन्हें खाएं और बचा हुआ पानी पी लें. इससे कब्ज़ की समस्या दूर हो जाएगी.
  • सूखे आलूबुखारे में मौजूद बायोएक्टिव कंपाउंड डायबिटीज़ के ख़तरे को कम करने में सहायता करते हैं. स्वाद में मीठा होने के बावजूद सूखा आलूबुखारा ब्लड शुगर को कंट्रोल करता है.
  • आलूबुखारे में सोल्यूबल फाइबर होता है, जो कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद करता है. इसलिए कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए आलूबुखारा खाना फ़ायदेमंद है.
  • आलूबुखारे को लेकर किए गए एक शोध के अनुसार, आलूबुखारा में अधिक फिनोलेक्स कंपाउंड होते हैं. इसका जूस बढ़ती उम्र के साथ मस्तिष्क कार्यप्रणाली में आनेवाली समस्याओं को दूर करने में सहायक होता है.
  • आलूबुखारा हाई ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करता है, जिससे हृदय की सुरक्षा होती है. रिसर्च के मुताबिक़, आलूबुखारा का सेवन हृदय संबंधी बीमारियों से बचाव में मददगार है.

यह भी पढ़ें: वेट लॉस, शुगर कंट्रोल से लेकर कई बीमारियों में फ़ायदेमंद है जिमीकंद/सूरन (9 Health and Nutrition Benefits of Jimikand)

  • क्या आप जानते हैं कि महिलाओं में होनेवाले ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने में आलूबुखारा उपयोगी है. यदि मेनोपॉज़ के बाद स्त्रियां आलूबुखारे का नियमित सेवन करें, तो ऑस्टियोपोरोसिस से बच सकती हैं.
  • हर रोज़ 100 ग्राम सूखा आलूबुखारा खाने से हड्डियां मज़बूत होती हैं.
  • आलूबुखारा में प्रचुर मात्रा में विटामिन सी और विटामिन ई होता है, जो आंखों की रोशनी की समस्या दूर करने के साथ आंखों की सेहत का भी ख़्याल रखता है.
  • यदि आप हर दिन आलूबुखारा खाते हैं व इसका पल्प चेहरे पर लगाते हैं, तो चेहरे पर नेचुरल ग्लो आता है. त्वचा को सभी पोषक तत्व भी मिलते हैं, जिससे स्किन हेल्दी बनती है.
  • आलूबुखारे को ओटमील, सलाद, दही, स्मूदी व पुडिंग में मिलाकर खा सकते हैं. आलूबुखारा का उपयोग मफिन, ब्रेड और अन्य डेजर्ट में भी कर सकते हैं.

सेहत और स्वाद से भरपूर आलूबुखारे की खट्टी-मीठी चटनी ऐसे बनाएं
सामग्री
250 ग्राम कटा हुआ आलूबुखारा, 4 टेबलस्पून कटे हुए बादाम, आधा टीस्पून लाल मिर्च पाउडर, 20 ग्राम पिसा हुई अदरक, 1 टीस्पून नींबू का रस, नमक स्वादानुसार, कुछ पुदीने के पत्ते गार्निशिंग के लिए.
विधि
आलूबुखारे को अच्छी तरह से धोकर कुछ घंटे पानी में भिगोकर रखें. इसकी गुठली निकालकर टुकड़ों में काट लें. पैन में आलूबुखारा, नमक व अदरक डालकर गाढ़ा पेस्ट बनने तक पकाएं. फिर नींबू का रस डालकर अच्छे से मिक्स करें. ठंडा होने पर पुदीने के पत्तों से सजाकर सर्व करें.

यह भी पढ़ें: गजक खाने के 11 बेहतरीन फ़ायदे… (11 Health Benefits Of Eating Gajak)

सुपर टिप
आलूबुखारे का नियमित सेवन अपच से राहत दिलाने में मदद करता है. साथ ही इसे खाने से पेट भी साफ़ रहता है. इसे सुबह या शाम के समय खाना अधिक लाभदायक रहता है.

अभी सबस्क्राइब करें मेरी सहेली का एक साल का डिजिटल एडिशन सिर्फ़ ₹599 और पाएं ₹1000 का कलरएसेंस कॉस्मेटिक्स का गिफ्ट वाउचर.

Recent Posts

कविता- हर बार मेरा आंचल तुम बनो… (Poetry- Har Baar Mera Aanchal Tum Bano…)

हूं बूंद या बदली या चाहे पतंग आसमान तुम बनो हूं ग़ज़ल या कविता या…

कहानी- जीवन की वर्तनी (Short Story- Jeevan Ki Vartani)

उस दिन देर रात जब मैं शादी से लौट रही थी, मुझे यही लग रहा…

© Merisaheli