Categories: Skin CareMakeupBeauty

मेकअप सिलेक्शन गाइड: स्किन टाइप के अनुसार करें मेकअप, ताकि आप लगें पिक्चर परफेक्ट… (Makeup Selection Guide: How To Choose The Right Makeup For Your Skin)

परफेक्ट मेकअप के लिए सही मेकअप सिलेक्शन की जानकारी होना बहुत ज़रूरी है और उतना ही ज़रूरी है अपनी स्किन टाइप कोपहचानना. हम अक्सर ऐसे लोगों को देखते हैं, जिनका मेकअप इतना परफेक्ट होता है कि वो नेचुरल ही लगता है और ऐसी भी बहुत-सीमहिलाएं होती हैं, जिनका मेकअप मास्क जैसा लगता है. आपका भी मेकअप परफेक्ट लगे इसलिए हम कर रहे हैं आपको गाइड…

फाउंडेशन सिलेक्शन

नॉर्मल स्किन के लिए

– आपके लिए पाउडर फाउंडेशन ही परफेक्ट चॉइस है.

– यह अप्लाई करने में आसान होता है और त्वचा में आसानी से अच्छी तरह ब्लेंड हो जाता है.

– इसके बाद अगर कोई बेहतर ऑप्शन है, तो वो है कॉम्पैक्ट में क्रीम फाउंडेशन. यह स्किन में लिक्विड की तरह ब्लेंड हो जाता है.

ड्राई स्किन के लिए 

– लिक्विड, स्टिक या हाइड्रेटिंग पाउडर फाउंडेशन सिलेक्ट करें.

– लिक्विड और स्टिक की कंसिस्टेंसी क्रीमी होती है और हाइड्रेटिंग पाउडर में त्वचा को मॉइश्‍चराइज़ करनेवाले तत्व होते हैं और वोस्किन को अच्छा कवरेज भी देते हैं.

– जब भी मेकअप ख़रीदें, तो यह देखें कि कॉम्पैक्ट मेकअप या फाउंडेशन का लेबल लगा हो.

ऑयली स्किन के लिए 

– ऑयल फ्री लिक्विड या पाउडर फाउंडेशन सिलेक्ट करें.

– इनमें तेल सोखनेवाले तत्व होते हैं, जो त्वचा के अतिरिक्त तेल को सोखकर मैट, स्मूद फिनिश देते हैं.

– ऑयली स्किन पर मिनरल मेकअप भी अच्छा इफेक्ट देता है.

– अगर ऑयली स्किन की वजह से आपको पिंपल्स भी आते हैं, तो सैलिसिलिक एसिड युक्त फाउंडेशन लें, क्योंकि ये तेल का निर्माणकरनेवाले ग्लांड्स को तेल बनाने से रोकते हैं, जिससे पिंपल्स रोकने में मदद मिलती है.

कॉम्बीनेशन स्किन के लिए

– पाउडर फाउंडेशन इस तरह यूज़ करें कि जहां ऑयल ज़्यादा आता हो, वहां इसका अधिक इस्तेमाल करें और जहां कम आता है, वहांकम.

– इसका सबसे बड़ा फ़ायदा यह है कि चेहरे के अलग-अलग हिस्सों पर अलग-अलग मात्रा में लगाने पर भी यह पैची लुक नहीं देता है.

मेकअप टिप: फाउंडेशन अप्लाई करने के बाद बिना मेकअप लगे पफ को चेहरे पर थपथपा लें, क्योंकि मेकअप के बाद अक्सर आपनेदेखा होगा कि अगर आप चेहरे पर नैपकीन यूज़ करती हैं या किसी से गले मिलती हैं, तो आपके चेहरे का फाउंडेशन कपड़े पर लग जाताहै, तो इससे बचने के लिए ये टिप आज़माएं.

स्किन टोन के अनुसार मेकअप सिलेक्शन

आपके अक्सर यलो बेस्ड और पिंक बेस्ड फाउंडेशन के बारे में सुना होगा, अधिकतर महिलाएं यलो बेस्ड फाउंडेशन सिलेक्ट करती हैं, क्योंकि वो ज़्यादातर स्किन टाइप को सूट करता है. पिंक बेस्ड फाउंडेशन बहुत ही ज़्यादा गोरी रंगत पर ठीक लगता है. हालांकि उसकेबेस से कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता, आप बिना उसका बेस जाने भी अच्छा फाउंडेशन सिलेक्ट कर सकती हैं.

– आप फाउंडेशन का डॉट अपने जॉलाइन के सेंटर में अप्लाई करें और उसे ऊपर व नीचे, दोनों तरफ़ ब्लेंड करें. अगर वो स्किन में पूरीतरह ब्लेंड हो गया, तो समझिए आपका शेड मिल गया.

– इसके अलावा आप अपने स्किन टोन को ध्यान में रखते हुए भी इसे सिलेक्ट कर सकती हैं, जैसे- अगर आपका स्किन टोन कूल हैयानी अगर आपकी कलाई की नसों का कलर ब्लू है, तो आपको रोज़ी, रेडिश या ब्लू बेस के फाउंडेशन सिलेक्ट करने चाहिए.

– इसी तरह अगर आपकी कलाई की नसों का कलर ग्रीन है, तो आपका स्किन टोन वॉर्म है. आपको गोल्डन या यलो बेसवाले फाउंडेशनलेने चाहिए.

लिप कलर सिलेक्शन

– अपने लिप कलर से दो शेड डीप कलर की लिपस्टिक सिलेक्ट करें.

– पिंक और रेड के शेड्स से एक्सपेरिमेंट करें, क्योंकि ये कलर्स सभी स्किन टोन्स पर अच्छे लगते हैं और हर तरह के आउटफिट व हेयरस्टाइल पर सूट करते हैं.

– दिन के समय लिप कलर हल्का ही रखें, बशर्ते आप किसी शादी वगैरह में न जा रही हों.

– अपनी स्किन टोन के अनुसार शेड्स सिलेक्ट करें.

– फेयर स्किन के लिए पिंक अंडरटोन्स के, जैसे- कोरल रेड या डार्क रेड कलर्स अच्छे लगते हैं.

– मीडियम या ऑलिव स्किन टोन पर क्रैनबेरी और ब्रिक रेड कलर्स अच्छे लगते हैं.

– डार्क कॉम्प्लेक्शन पर बरगंडी व ब्राउन टोन्स के रेड शेड्स अच्छे लगते हैं.

– हमेशा लिपस्टिक ख़रीदने से पहले टेस्टर्स से ट्राई ज़रूर करें.

– ट्राई करने से पहले लिप पर लगा पहलेवाला लिप कलर पूरी तरह से हटा लें, वरना कलर मिक्स हो जाएगा और सही शेड का पतानहीं चलेगा.

– कलर देखते व़क्त सही रोशनी होनी चाहिए.

– जब भी लिप कलर ट्राई करें यह ध्यान में रखें कि फेस मेकअप या तो न हो या बहुत ही हल्का हो, वरना कलर का सही इफेक्ट पतानहीं चलेगा.

– अगर आपके साथ कोई फ्रेंड नहीं है, तो काउंटर के लोगों से पूछ लें कि कौन-सा कलर आप पर ज़्यादा अच्छा लग रहा है.

– अपने आउटफिट से लिप कलर एकदम मैच न करें, वो लाउड लगेगा.

– आंखों और लिप्स दोनों में से एक को ही हाईलाइट करें.

स्किन टाइप के अनुसार स्पेशल मेकअप टिप्स 

नॉर्मल स्किन

– अगर आपकी स्किन नॉर्मल है, तो आप बहुत लकी हैं. आप जैसा चाहे वैसा मेकअप कर सकती हैं, जैसे- अपने स्किन टोन से मैच करता क्रीमी, पाउडर या लिक्विड फाउंडेशन लगा सकती हैं.

– अपनी चॉइस का फेस पाउडर, ब्लश ऑन लगाएं.

– इसी तरह आंखों को अट्रैक्टिव लुक देने के लिए चाहें तो लिक्विड या पेंसिल आई लाइनर भी चुन सकती हैं.

ड्राई स्किन 

– ड्राई स्किन वालों को मेकअप की शुरुआत मॉइश्‍चराइज़र से करनी चाहिए. इसके लिए मॉइश्‍चराइज़र से चेहरे को 4 से 5 मिनटतक मॉइश्‍चराइज़ करें ताकि स्किन सॉफ़्ट बन जाए.

– लिक्विड या क्रीमी कंसीलर यूज़ करें और फ़ाउंडेशन से लाइट शेड का कंसीलर लगाएं.

– ग्लोइंग इफ़ेक्ट के लिए क्रीमी या ऑयल बेस्ड फाउंडेशन यूज़ करें.

– क्रीमी आईशैडो यूज़ करें, ये पाउडर बेस्ड से कई ज़्यादा अच्छा लुक देते हैं.

-पेंसिल आई लाइनर या काजल की बजाय लिक्विड आई लाइनर लगाएं. ये ज़्यादा अट्रैक्टिव लगते हैं. 

– शाइनी इ़फेक्ट के लिए क्रीमी या जेली ब्लशर अप्लाई करें.

– ग्लॉसी या मॉइश्‍चराइज़िंग लिपस्टिक लगाएं. इससे लिप को सॉफ़्ट लुक मिलेगा.

– वॉटर बेस्ड या ऑयल बेस्ड मेकअप प्रॉडक्ट यूज़ करें.

– मैट, पाउडर व ऑयल फ्री मेकअप प्रॉडक्ट से परहेज करें. इससे त्वचा और भी रूखी नज़र आ सकती है.

– फेस पाउडर का इस्तेमाल न करें. ये आपकी स्किन को और भी ड्राई बना सकता है.

ऑयली स्किन

  • प्राइमर का इस्तेमाल करें. चेहरे के ऑयली ज़ोन में ऑयल फ्री, शाइन फ्री प्राइमर लगाएं. चेहरा क्लीन करने के बाद पहले प्राइमरलगाएं, फिर मेकअप शुरू करें.
  • टोनर का इस्तेमाल भी एक्सेस ऑयल से छुटकारा दिलाता है.
  • ऑयल फ्री, मैट फिनिश या पाउडर बेस्ड फाउंडेशन का प्रयोग करें. ये चेहरे के ऑयली इफेक्ट को कम करके उसे सॉफ्ट लुक देताहै. अगर नेचुरल लुक चाहती हैं तो टिंटेड मॉइश्‍चराइज़र यूज़ करें.
  • अपने स्किन टोन से एक शेड लाइट फाउंडेशन ख़रीदें, क्योंकि ऑयली फेस पर फाउंडेशन का इ़फेक्ट एक शेड डार्क हो जाता है.
  • हल्का फाउंडेशन ही ऑयली स्किन के लिए काफ़ी होता है. फाउंडेशन की लेयर लगाएंगी तो बाद में वो पैची नज़र आने लगेगा.
  • फेस पाउडर का इस्तेमाल भी कम करें. आमतौर पर लोग सोचते हैं कि पाउडर से ऑयल को कंट्रोल में किया जा सकता है, जबकि ऐसा नहीं है. मेकअप के बाद थोड़ी देर तक तो चेहरा अच्छा लगता है, लेकिन जब ऑयल निकलने लगता है तो चेहरा पैचीनज़र आने लगता है.
  • क्रीमी या लिक्विड ब्लशर के इस्तेमाल से बचें. पाउडर बेस्ड ब्लशर अप्लाई करें. जो शेड आप चाहती हैं, उससे एक शेड लाइटब्लशर लें, क्योंकि ऑयली स्किन पर फाउंडेशन की तरह ब्लशर का शेड भी डार्क हो जाता है.
  • ब्लशर को ब्रश से ही अप्लाई करें. उंगलियों से ब्लशर लगाने से चेहरे व उंगली के तैलीयपन के कारण ब्लशर फैल सकता है.
  • लिक्विड या क्रीमी आईशैडो की बजाय पाउडर बेस्ड आई शैडो यूज़ करें. इसी तरह लिक्विड आई लाइनर की बजायकाजलपेंसिल का इस्तेमाल करें.
  • मैट लिपस्टिक ऑयली स्किन वालों के लिए बेस्ट होती है. ग्लॉस का इस्तेमाल भी कम से कम करे.
  • मेकअप के इफेक्ट को बरकरार रखने के लिए कुछ घंटे के अंतराल पर मेकअप को टच अप करती रहें.
  • अपने पर्स में ब्लॉटिंग पेपर रखें. इससे चेहरे पर थपथपा देने से ऑयल कम हो जाता है और चेहरे को इंस्टेंट फ्रेश लुक मिलता है.
  • फाउंडेशन नहीं लगाना चाहतीं, तो चेहरे के ऑयली इफेक्ट को कम करने के लिए मैट फिनिश पाउडर लगा सकती हैं.
  • अच्छे क्वालिटी के ऑयल फ्री मेकअप प्रोडक्ट्स पर इंवेस्ट करें.
  • डार्क की बजाय लाइट शेड का मेकअप अप्लाई करें, क्योंकि ऑयली फेस पर मेकअप का एक शेड डार्क इफेक्ट आता है.

सेंसिटिव स्किन

  • जितना संभव हो मेकअप कम से कम करें. बहुत ज़रूरी हो तभी मेकअप करें.
  • सेसिटिव स्किन पर जल्दी रैशेज आ जाते हैं. ऐसी स्किन के लिए हाइपो एलर्जेनिक और फ्रेगनेंस फ्री प्रोडक्ट्स सिलेक्ट करें.
  • फेस पर सबसे पहले फ्रेगरेंस फ्री मॉइश्‍चराइर अप्लाई करें. फिर क्रीम लगाएं और कुछ मिनट तक स्किन को यूं ही छोड़ दें, ताकिक्रीम एब्ज़ॉर्ब हो सके.
  • सेंसिटिव स्किन के लिए मिनरल मेकअप बेस्ट होता है. पर याद रखें कि कभी भी मेकअप उंगलियों से अप्लाई न करें. इससे स्किनपर एलर्जी हो सकती है. मेकअप अप्लाई करने के लिए ब्रश का ही इस्तेमाल करें.
  • मिनरल बेस्ड पाउडर ब्रॉन्ज़र लगाएं और अच्छी क्वालिटी की काजल, आई लाइनर, लिपस्टिक और लिपग्लॉस लगाएं.

आईलाइनर सिलेक्शन

– आईलाइनर आपकी आंखों की ख़ूबसूरती बढ़ाकर उन्हें आकर्षक बना सकता है, लेकिन यदि आपने ग़लत रंग के आईलाइनर काचुनाव किया, तो आंखों को डल लुक भी दे सकता है.

– हमेशा यह ध्यान में रखें कि अपर आईलिड के लिए गहरे रंगों का प्रयोग करें और लोअर के लिए सॉफ्ट व हल्के रंगों का प्रयोग करें.

– कलर सिलेक्शन के व़क्त आपका स्किन टोन, बालों का रंग और आंखों का कलर सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.

– जिनकी आंखों का रंग ग्रीन हो, उन पर लगभग सभी कलर्स अच्छे लगते हैं, जैसे- ब्राउन, गोल्ड, पर्पल आदि. ग्रीन आईज़वाले लोगों मेंपर्पल का क्रेज़ बढ़ता जा रहा है, क्योंकि पर्पल ग्रीन कलर का कॉन्ट्रास्ट है, जिससे आंखें ख़ूबसूरत लगती हैं.

– भूरे रंग की आंखों पर न्यूट्रल कलर्स, जैसे- ब्राउन और गोल्डन अच्छे लगते हैं.

– ब्राउन यानी कत्थई रंग की आंखों के लिए ब्लैक आईलाइनर बेस्ट ऑप्शन है. ब्लैक कलर ब्राउन को कॉन्ट्रास्ट करते हुए आंखों कोडिफाइन करता है और उन्हें सेक्सी लुक देता है. ब्लैक के अलावा नेवी ब्लू भी ब्राउन आंखोंवालों पर बहुत अच्छा लगता है.

स्पेशल टिप्स:

– अपनी थकी व डल आंखों को इंस्टेंट ब्राइटनेस देने के लिए व्हाइट आईलाइनर्स बहुत ही अच्छा ऑप्शन है.

– पेंसिल आईलाइनर्स सबसे सेफ और आसान होते हैं.

– अपर लिड्स के लिए आप जेल या लिक्विड लाइनर का इस्तेमाल कर सकती हैं, क्योंकि ये आंखों को ड्रामैटिक लुक देते हैं.

– अगर सटल लुक चाहिए, तो पाउडर आईलाइनर अच्छा ऑप्शन है.

मस्कारा सिलेक्शन

– ब्लैक-ब्राउन या फिर ब्राउन मस्कारा आप दिन के व़क्त कैज़ुअल लुक के लिए यूज़ कर सकती हैं.

– ये दोनों ही मस्कारा वॉर्म आईशैडोज़, जैसे- प्लम, गोल्ड और ऑलिव के साथ अच्छी तरह से मैच करते हैं.

– अगर आपको ड्रामैटिक लुक चाहिए, तो डार्क ब्लैक मस्कारा यूज़ करें. ईवनिंग लुक के लिए ब्लैक शेड्स परफेक्ट होते हैं, क्योंकि येसभी कलर्स के आईशैडोज़ को कॉम्प्लीमेंट करते हैं.

– आप आंखों को डिफाइन भी करना चाहती हैं, पर नेचुरल शाइन लुक भी चाहती हैं, तो क्लीयर मस्कारा बेस्ट ऑप्शन है. यह आपकोअर्टिफिशियल लुक न देकर नेचुरल शाइन देता है.

ब्लश सिलेक्शन

– अगर वॉर्म स्किन टोन है, तो पीच, एप्रिकॉट, ऑरेंज या कोरल शेड्स आपके लिए परफेक्ट हैं.

– दरअसल पीच और ये तमाम शेड्स आपकी स्किन टोन में अच्छी तरह ब्लेंड होंगे, जबकि रेडिश या पिंकिश शेड्स आर्टिफिशियल लुकदेंगे.

– अगर आपका स्किन टोन कूल है, तो पिंक, रेड और बेरी शेड्स यूज़ करें.

– आपके गाल राउंड और भरे हुए हैं, तो आप ज़्यादा यंग और इनोसेंट लगेंगी. ऐसे में आपके इस इनोसेंट लुक को ब्लश से और भी हेल्दीबनाया जा सकता है. अपनी नाक के पास से दो उंगली की दूरी पर ब्लश अप्लाई करें.

– अगर आपके चीकबोन्स उभरे हुए हैं, तो स्माइल करें और उभरे हुए हिस्से पर ब्लश लगाएं.

  • सिल्की शर्मा 
Geeta Sharma

Share
Published by
Geeta Sharma

Recent Posts

गरोदरपणात दीपिका पादुकोणला काय खावंसं वाटतंय? तिच्या मते डाएट म्हणजे काय? (Pregnant Deepika Padukone Is Eating This In Seventh Month Of Pregnancy)

बॉलिवूड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण लवकरच आई होणार आहे. तिच्या प्रेग्नेंसीमुळे सध्या ती चांगलीच चर्चेत आहे.…

July 19, 2024

रवीना टंडनच्या सवतीने तिच्याबद्दल काय म्हटलेलं? (When Raveena Tandon’s Soutan Said This for Her, Actress Reacted Like This)

बॉलीवूडची हॉट गर्ल रवीना टंडन 90 च्या दशकातील सर्वात यशस्वी अभिनेत्रींपैकी एक होती, परंतु आजही…

July 19, 2024

कहानी- वनस्थली (Short Story- Vanasthali)

''इस वनस्थली का ध्यान रखना लल्ला!'' सुधा काकी के वे शब्द कानों में फिर से…

July 19, 2024
© Merisaheli