लघुकथा- चेहरा (Laghukatha- Chehra)

“अरे, नहीं मैडम क्यों चलें, आप तो यहां पर आराम से बैठो और अब कुछ देर में आपके शैक्षणिक योगदान पर आपका सम्मान होगा उसके बाद ही वापस चलेंगे.”
“पर वो..?” अभी तक घबरा रही थीं, बोलीं, “पर स्कूल में मीडिया.”

उनका कितना पुराना सपना सच हो गया था. आमंत्रण पत्र देखकर वो फूली न समा रहीं थीं. उनको शिक्षा-दीक्षा संस्थान ने एक वक्तव्य के लिए सादर आमंत्रित किया था. वो जानती थीं कि यहां से पूरी दुनिया मे समाचार जाएगा और उनका नाम होगा. तो वो नियत दिन, समय पर पहुंच गईं.
शहर के उस प्रतिष्ठित शैक्षिक मंच पर अपने गंभीर विचार रखकर प्राचार्या अपनी सीट पर बैठी ही थीं कि उनके स्टाफ से किसी ने पास आकर कान में कुछ कहा और वो सुनते ही एकदम विचलित हो गईं और उसके बाद वो माफी मांगकर कार्यक्रम स्थल से जल्दी बाहर आ गईं.
घबराते हुए वे बोलीं, “अरे, ये कैसे हो गया स्कूल में. मीडिया तक पहुंच गया. चतुर्थ श्रेणी तथा शिक्षकों मे इतनी बहस हो गई. उफ, ये क्या हुआ, चलो, अब तुरंत स्कूल चलो?”
“अरे, नहीं मैडम क्यों चलें, आप तो यहां पर आराम से बैठो और अब कुछ देर में आपके शैक्षणिक योगदान पर आपका सम्मान होगा उसके बाद ही वापस चलेंगे.”

यह भी पढ़ें: 10 बुरी आदतें बिगाड़ सकती हैं आपका करियर (10 Negative Work Habits That Can Ruin Your Career)

“पर वो..?” अभी तक घबरा रही थीं, बोलीं, “पर स्कूल में मीडिया.”
“अरे, मैम वो तो प्रयोगशाला में तीन शिक्षकों को कई बार मांगने पर भी पीने का पानी नहीं पहुंचाया गया और इसी बात पर झड़प हो गई.”
“आप आराम से बैठो. आप पर कोई आंच नहीं आएगी. मैंने स्कूल के प्रबंधन दल में सबको सूचना दे दी है.”
वो जैसे तनावमुक्त ही हो गईं.
“अच्छा! ओह तो ये मामला है, चलो जाने दो मैं भीतर जा रही हूं. विचारों का आदान-प्रदान चल रहा है.” यह कहकर वो पुनः अपनी कुर्सी पर विराजमान हो गईं.


अब कुछ देर बाद उनका नाम पुकारा जाने वाला था. यह सम्मान दर्जनों चैनल दिखानेवाले हैं. यह विचार उन्हें रोमांचित कर रहा था.
अब वो अपने आप से कहने लगीं कि ‘मैं तो बेकार ही घबरा गई थी…’ दरअसल, उन्हें लगा कि कहीं उनकी पोल न खुल गई हो कि वो चतुर्थ श्रेणी स्टाफ से निजी काम कराती हैं, जैसे- सिलिंडर लाना, कपड़े ड्राइक्लीन कराना, राशन की खरीद आदि. पर अब वो बिलकुल चिंतामुक्त थीं.

– पूनम पांडे


यह भी पढ़ें: उत्तम संतान के लिए माता-पिता करें इन मंत्रों का जाप (Chanting Of These Mantras Can Make Your Child Intelligent And Spiritual)

अधिक शॉर्ट स्टोरीज के लिए यहाँ क्लिक करें – SHORT STORIES

Usha Gupta

Share
Published by
Usha Gupta

Recent Posts

‘घरोघरी मातीच्या चुली’ या नव्या मालिकेत आशुतोष पत्कीची महत्त्वाची भूमिका (Ashutosh Patki To Play Lead Role In New Series  ‘Gharoghari Matichya Chuli’)

१८ मार्चपासून स्टार प्रवाहच्या परिवारात दाखल होतेय नवी मालिका घरोघरी मातीच्या चुली. नात्यांचं महत्त्व सांगणाऱ्या…

February 24, 2024

अखेर प्रथमेश आणि क्षितिजा विवाहबंधनात अडकले, नऊवारी साडी अन् नथमध्ये खुलून आलाय नववधूचं रुप (prathamesh parab and kshitija ghosalkar tied the knot wedding photo viral on social media)

प्रथमेश परब आणि क्षितिजा घोसाळकर आज २४ फेब्रुवारी रोजी विवाहबंधनात अडकले आहेत. त्यांच्या लग्नाचे फोटो…

February 24, 2024
© Merisaheli