Categories: Skin CareBeauty

ड्राई और ऑयली स्किन के लिए 30+ बेस्ट ब्यूटी टिप्स, अपनी स्किन को पहचानें और उसी के अनुसार करें उसकी देखभाल! (30+ Best Beauty & Skin Care Tips For Dry And Oily Skin)

हेल्दी, जवां त्वचा के लिए स़िर्फ ऊपरी देखभाल ही नहीं, इंटरनल केयर भी ज़रूरी है. आप जो खाएंगे, वही आपकी स्किन पर नज़र आएगा. इसीलिए…

हेल्दी, जवां त्वचा के लिए स़िर्फ ऊपरी देखभाल ही नहीं, इंटरनल केयर भी ज़रूरी है. आप जो खाएंगे, वही आपकी स्किन पर नज़र आएगा. इसीलिए बहुत ज़रूरी है कि हेल्दी स्किन के लिए हेल्दी खाया जाए. इसका पहला स्टेप यह है कि अपनी स्किन को पहचानें और उसकी ज़रूरत के अनुसार अपना स्किन केयर रूटीन और डायट सिलेक्ट करें. स्किन को भीतर से रिस्टोर और रिपेयर करें, ताकि आप पाएं खिली-खिली हेल्दी त्वचा

ड्राई स्किन: ड्राई स्किन से परेशान हैं तो ये टिप्स आज़माएं…

  • अगर ड्राई स्किन की देखभाल ना की जाए तो वो और भी ड्राई हो जाएगी.
  • दरअसल मॉइश्‍चर की कमी के चलते ड्राई स्किन पर मौसम का असर भी जल्दी होता है. त्वचा हमेशा खिंची-खिंची रहती है और लिप्स भी ड्राई रहते हैं.
  • स्किन की ड्राईनेस दूर करने के लिए ना सिर्फ़ उसको बाहर से मॉइश्चराइज़ करना ज़रूरी है बल्कि भीतर से भी देखभाल ज़रूरी है जिसके लिए आपको सिलेक्ट करनी होगी सही डायट.
  • मैंने ब्यूटी रूटीन को भी बदलें. ख़ुशबू और केमिकल रहित कलींजर यूज़ करें.
  • नारियल का तेल बेहतरीन मॉइश्चराइज़र है, उससे मालिश करें.
  • एवोकैडो और एलोवीरा मास्क यूज़ करें.
  • एंटीएजिंग प्रोडक्ट्स का ज़्यादा इस्तेमाल ना करें.
  • ओटमील क्रीम्स काफ़ी अच्छा काम करती हैं ड्राई स्किन पर.
  • बहुत ज़्यादा गर्म पानी से भी नहाने से बचें.
  • स्किन को नियमित रूप से मॉइश्चराइज़ करते रहें.

अब बात आती है इंटरनल केयर की

  • सबसे ज़रूरी है पानी, जी हां, भरपूर पानी पीने से आप हाइड्रेटेड रहेंगी, जिसका सीधा असर आपकी स्किन पर नज़र आएगा.
  • ऐसे फल और सब्ज़ियां खाएं, जिनमें पानी की मात्रा अधिक हो, जैसे- ककड़ी, तरबूज़, सेलरी, सलाद के पत्ते, टमाटर आदि. इनके नियमित सेवन से आपको ज़रूरी मिनरल्स और विटामिन्स भी मिलेंगे और आप अंदर से हाईड्रेटेड रहेंगे.
  • सुबह की शुरुआत करें गुनगुने पानी में आधे नींबू के रस से. इससे शरीर के टॉक्सिंस निकल जाएंगे और स्किन बनेगी हेल्दी.
  • ओमेगा-3 फैटी एसिड्स मॉइश्‍चर प्रदान करता है. इसके लिए आप ऑयली फिश, एवोकैडोज़, फ्लैक्ससीड्स, नारियल का तेल और नट्स ले सकती हैं यानी आपको लेना है गुड फैट्स वो भी भरपूर मात्रा में.
  • स्किन को रिपेयर करनेवाले फूड्स लें, ज़िंक से भरपूर डायट त्वचा को हील और टिश्यूज़ को रिपेयर करते हैं, जैसे- ऑयस्टर, कद्दू के बीज, सी फूड, बीन्स और दालें. ये क्रैक्ड और फ्लेकी स्किन के लिए बेहतरीन स्किन फूड है.
  • अल्कोहल, कैफीन और शुगर, क्योंकि ये स्किन को डीहाइड्रेट करते हैं जिससे स्किन aur भी ड्राई होती है.

ऑयली स्किन: अगर आपकी स्किन है बहुत ही ऑयली तो ये टिप्स आज़माएं…

  • ऑयली स्किनवालों को मुंहासों की भी समस्या अधिक होती है. सीबम के अधिक रिसाव के कारण त्वचा पर ऑयल और शाइन नज़र आता है, ख़ासतौस से टी-ज़ोन पर. इस वजह से पिम्पल और ब्लैक-वाइट हेड्स की प्रॉब्लम भी होने लगती है.
  • आप दिन में दो से तीन बार फेस को वाश करें.
  • हमेशा ब्लॉटिंग पेपर साथ रखें, एक्स्ट्रा ऑयल आने पर उसे टैप करें.
  • नींबू, अंडे और शहद के फ़ेस पैक्स नियमित रूप से ट्राई करें.
  • मुलतानी मिट्टी और चंदन का पैक गुलाबजल मिलाकर अप्लाई करें.
  • क्ले मास्क बेहतरीन होता है.
  • नहाने से पहले नींबू को आधा काटकर चेहरे पर रगड़ें.
    अल्कोहोल युक्त टोनर और अस्ट्रिंजेंट यूज़ करें.
  • ऑयली स्किन का ये मतलब नहीं कि आपको मॉइश्चरॉइज़ करने की ज़रूरत नहीं.
    ककड़ी, टमाटर, बेसन के उपयोग से मास्क बनायें या फिर टमाटर या ककड़ी को सीधे रगड़ें.
  • बेसन में पानी या गुलबजल मिलाकर अप्लाई करें.
  • बर्फ़ का टुकड़ा लेकर रगड़ें, इससे पिम्पल की समस्या भी कम होगी और स्किन को ताज़गी मिलेगी.

अब बात करते हैं इंटरनल केयर की…

  • विटामिन बी6 से भरपूर डायट लें, क्योंकि यह सीबम को कंट्रोल करता है यानी सीबम के निर्माण को कम करता है, जिससे स्किन का चिपचिपापन कम होता है.
  • विटामिन बी6 के मुख्य स्रोत हैं- साबूत अनाज, असपैरागस, नट्स और लहसुन, टूना, सालमन मछली, पालक, शिमला, ब्रोकोली.
  • लैसिथिन भी फैट सेल्स को ब्रेक करके रोमछिद्रों में जमा तेल और ऑयल के अतिरिक्त निर्माण को भी नियंत्रित करता है. लैसिथिन के प्रमुख स्रोत हैं- फूल गोभी, सोयाबीन्स, अंडा, बीज, फलियां.
  • अपने डायट में इन चीज़ों को अवॉइड करें- रेड मीट, कैफीन, सॉफ्ट ड्रिंक्स, अल्कोहल और स्पाइसी फूड.
  • बेहतर होगा कि आप फ्राइड और फास्ट फूड्स कम कर दें क्योंकि अधिकतर फास्ट फूड्स हाइड्रोजनेटेड वेजीटेबल ऑयल का इस्तेमाल करते हैं, जो रोमछिद्रों को क्लॉग करके फ्री रेडिकल्स को बढ़ाते हैं.
  • मोनोसोडियम ग्लूटामेट और इसके रिप्लेसमेंट्स, कलर्स, फ्लेवर्स और प्रिज़र्वेटिव्स को भी अवॉइड करें.
  • इसके अलावा प्रोसेस्ड फूड भी अवॉइड करें, क्योंकि इनमें प्रिज़र्वेटिव्स और शुगर की अधिक मात्रा होती है. ये स्किन में प्रॉब्लम क्रीएट करके पिंपल और रैशेज को बढ़ावा दे सकते हैं.

गुड्डू शर्मा

Recent Posts

लघुकथा- कमला की पहल (Short Story- Kamala Ki Pahal)

"अरे वाह कमला, ये तो बहुत अच्छा किया तूने. तुझे तो 'सुपर मां' का ख़िताब…

© Merisaheli