ग़ज़ल- अब मैं अकेला हूं, कितनी बड़ी राहत है… (Gazal- Ab Main Akela Hun, Kitni Badi Rahat Hai…)

अब मुझे किसी से शिकवा ना शिकायत है अब मैं अकेला हूं, कितनी बड़ी राहत है थी चोट लगी उनको और अश्क बहे मेरे ऐ…

अब मुझे किसी से शिकवा ना शिकायत है

अब मैं अकेला हूं, कितनी बड़ी राहत है

थी चोट लगी उनको और अश्क बहे मेरे

ऐ दिल तू ही बतला दे क्या यही चाहत है

प्यार में था उनके इंतज़ार का ये आलम

हर वक़्त गुमां होता जैसे कोई आहट है

खत का जवाब मेरे आता ज़रूर

पर कलम न उठी उनसे हाय कैसी नज़ाकत है

मुझको मुकाबिल पाकर उनका नकाब उठाना

क़यामत से पहले हाय ये कैसी क़यामत है

जनाज़े को मेरे वो न कांधा देने आए

दोस्तों से मुझको बस इतनी शिकायत है

अब मैं अकेला हूं, कितनी बड़ी राहत है…

दिनेश खन्ना

यह भी पढ़े: Shayeri

Photo Courtesy: Freepik

Share
Published by
Usha Gupta

Recent Posts

कोरियोग्राफर तुषार कालिया ने की गर्लफ्रेंड संग सगाई, शेयर की खूबसूरत तस्वीरें (Choreographer Tushar Kalia gets engaged to girlfriend Triveni Barman, shares beautiful pics)

‘डांस दीवाने 3’(Dance Deewane 3) के जज और बॉलीवुड के जाने माने कोरियोग्राफर तुषार कालिया…

कहानी- कशमकश (Short Story- Kashmkash)

विवाह के बाद पहला अवसर था, जब सुनील ने मुझसे ऐसा व्यवहार किया था. करवट…

हेमा मालिनी ने शिकागो के इस्कॉन मंदिर के शिलालेख का किया अनावरण (Hema Malini Unveils Inscription Of Chicago’s Iskcon Temple)

हर कोई जानता है कि हेमा मालिनी (Hema Malini) कितनी कृष्ण भक्त हैं. अक्सर मुंबई…

© Merisaheli