ग़ज़ल (Shayari: Gazal)

दग़ाबाज़ दुनिया हसीं दिख रही है बता साकिया तूने क्या दे दिया है दराज़-ए-उमर की दुआ देने वालों न दो बद्दुआएं, बहुत जी लिया है क़यामत बने या 1 हशर वो बला से हमें क्या, गिरेबान को सी लिया है   बहुत देख ली है फ़रेबों की दुनिया उठा ले ख़ुदाया, बहुत जी लिया है निगाहों में 2 वहशत, ज़बां बहकी-बहकी न जाने ‘कंवल’ ने ये क्या पी लिया है वेद प्रकाश पाहवा ‘कंवल’ मुसीबत  पागलपन यह भी पढ़े: Shayeri

दग़ाबाज़ दुनिया हसीं दिख रही है

बता साकिया तूने क्या दे दिया है

दराज़-ए-उमर की दुआ देने वालों

न दो बद्दुआएं, बहुत जी लिया है

क़यामत बने या 1 हशर वो बला से

हमें क्या, गिरेबान को सी लिया है

 

बहुत देख ली है फ़रेबों की दुनिया

उठा ले ख़ुदाया, बहुत जी लिया है

निगाहों में 2 वहशत, ज़बां बहकी-बहकी

न जाने ‘कंवल’ ने ये क्या पी लिया है

वेद प्रकाश पाहवा ‘कंवल’

  1. मुसीबत 
  2. पागलपन

यह भी पढ़े: Shayeri

Share
Published by
Usha Gupta

Recent Posts

कहानी- यशोदा का सच (Short Story- Yashoda Ka Sach)

“संस्कार ख़ून से नहीं, परवरिश से ज़िंदा होते हैं. यशोदा क्या जानती थी कि कृष्ण…

नहीं रहे सूरमा भोपाली, अभिनेता जगदीप का 81 की उम्र में निधन (Veteran actor-comedian Jagdeep ‘Soorma Bhopali’ of ‘Sholay’ passes away)

फिल्म जगत को एक और बड़ा झटका लगा है. बॉलीवुड के लेजेंडरी एक्टर- कॉमेडियन जगदीप…

युवा टैलेंटेड स्टार सुशील गौड़ा ने आत्महत्या की… (Actor Suicide In His Home Town Mandya)

सुशील गौड़ा कन्नड़ फिल्म इंडस्ट्री का उभरता सितारा थे. उन्होंने कई टीवी शो किए थे.…

© Merisaheli