ग़ज़ल- याद तुम आए बहुत (Gazal- Yaad Tum Aaye Bahut)

जब ज़िक्र फूलों का आया याद तुम आए बहुत चांद जब बदली से निकला, याद तुम आए बहुत कुछ न पूछो किस तरह परदेस में…

जब ज़िक्र फूलों का आया याद तुम आए बहुत

चांद जब बदली से निकला, याद तुम आए बहुत

कुछ न पूछो किस तरह परदेस में जीते हैं हम

ख़त तो आया है किसी का, याद तुम आए बहुत

यार आए थे वतन से प्यार के क़िस्से लिए

दिल है धड़का बेतहाशा, याद तुम आए बहुत

मैं हूं कोसों दूर तुम से उड़ के आ सकता नहीं

जब भी चाहा है भुलाना, याद तुम आए बहुत

जब हवा पूरब से आ सरगोशियां करने लगी

दिल में एक तूफ़ां उठा था, याद तुम आए बहुत

वेद प्रकाश पाहवा ‘कंवल’

यह भी पढ़ेShayeri

Share
Published by
Usha Gupta

Recent Posts

इन बेहतरीन प्रोडक्ट्स से पाएं गर्मी में ठंडक का एहसास (Best Cool Products To Help You Beat The Heat Wave)

गर्मी के मौसम में ठंडक की ख़्वाहिश हर किसी की होती है. समर में कूलिंग…

17 बेस्ट फेस वॉश जो देंगे आपको सॉफ्ट, क्लीन और हेल्दी-ग्लोइंग स्किन! (17 Best Face Wash For Soft, Clean And Healthy-Glowing Skin)

अगर आपकी ढेर सारी स्किन प्रॉब्लम्स को आपका फ़ेस वॉश ही दूर कर दे तो…

अली गोनी ने अपनी लव लेडी के साथ शेयर की खूबसूरत तस्वीर, किया प्यार का इज़हार (Aly Goni Shares Adorable Photo With His Love Lady Jasmin Bhasin)

बिग बॉस 14 के कंटेस्टेंट अली गोनी ने सोशल मीडिया पर अपनी लव लेडी जैस्मिन…

© Merisaheli