Vyangy

व्यंग्य- खांसते रहो… (Satire Story- Khaste Raho…)

खांसी से पीड़ित लोग अमूमन उतना नहीं घबराते, जितना सुननेवाला घबराता है. क्या पता टीबी ना हो. खांसी की वैरायटी…

व्यंग्य- निंदा में रस बहुत है… (Satire- Ninda Mein Ras Bahut Hai…)

सारे रसों के लिए महाबली निंदा रस कोरोना साबित हुआ है. ये एक ऐसा रस है, जिसका ज्ञान जेनेटिक होता…

रंग तरंग- ‘मास्क’ है तो मुमकिन है… (Rang Tarang- Mask Hai To Mumkin Hai…)

कान के रास्ते अंदर जाने में कोरोना को क्या प्रॉब्लम है, इस पर रिसर्च की ज़रूरत है. मेरे ख़्याल से,…

व्यंग्य- एक्ट ऑफ गॉड (Satire- Act Of God)

"जैसे बाढ़, सूखा, भूकंप, कोरोना आदि सब एक्ट ऑफ गॉड की सूची में है. जैसे मेरे ऊपर आठ महीने से…

व्यंग्य- बाई डिफाॅल्ट बनाम बाई चॉइस (Satire- By Default Banam By Choice…)

बाई चॉइस और बाई डिफाॅल्ट की एनालिसिस से ज़िंदगी बदलने लगती है और एहसास होता है कि वाकई जिसे हम…

व्यंग्य- एक शायर की ‘मी टू’ पीड़ा… (Satire- Ek Shayar Ki ‘Me Too’ Peeda…)

इतिहास गवाह है कि किसी भी जेनुईन शायर ने अपनी प्रजाति बदलने की कोशिश नहीं की. न ही उसने अपनी…

© Merisaheli