जूनियर हॉकी वर्ल्ड कप: कंगारुओं का शिकार कर फाइनल में पहुंचे इंडियन टाइगर (Junior Hockey world cup: one step away from crown)

junior hockey world cup

राष्ट्रीय खेल हॉकी को शिखर पर पहुंचाने के लिए भारतीय टाइगर तैयार हैं. हर दिन जूनियर हॉकी वर्ल्ड कप में भारतीय टीम कमाल कर रही है. क्वाटर फाइनल में स्पेन और फाइनल में कंगारुओं को शिकस्त देकर भारतीय खिलाड़ियों ने साबित कर दिया है कि उनकेआगे कोई टिकने वाला नहीं.

लखनऊ में चल रहे जूनियर हॉकी वर्ल्ड कप में शुरुआत से ही भारतीय खिलाड़ियों का दबदबा नज़र आ रहा है. सेमीफाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया को 4-2 से हराकर फाइनल में पहुंचने वाली टीम का जज़्बा सांतवें आसमान पर है.

स्टेडियम में घरेलू दर्शकों के सामने खेलने और मैच जीतने का एहसास स़िर्फ खिलाड़ी ही कर सकते हैं. दर्शकों ने भी हर मैच में टीम का साथ दिया और हर पल उनका मनोबल बढ़ाते दिखे. गोलकीपर विकास दहिया ने अपने शानदार प्रदर्शन से भारत को जूनियर हॉकी वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचाकर पूरे देश को जश्‍न मनाने का मौक़ा दिया है. यह तीसरी बार है, जब भारत ने जूनियर वर्ल्ड कप के फाइनल में जगह बनाई है. ऑस्ट्रेलिया को भारत ने शूटआउट में 4-2 से शिकस्त देकर शानदार खेल का प्रदर्शन किया.

फाइनल में भारत का मुक़ाबला जर्मनी को हराकर फाइनल में पहुंचनेवाली बेल्जियम से होगा. 18 दिसंबर को फाइनल में दोनों टीमें एक-दूसरे के आमने-सामने होंगी. मैच बहुत ही दिलचस्प होगा. दोनों ही बराबर की टीमें हैं. फाइनल मैच के लिए भारतीय टाइगर्स को मेरी सहेली (Meri Saheli)की तरफ से बहुत-बहुत शुभकामनाएं!

 श्वेता सिंह