Suspence

कहानी- चाभी 3 (Story Series- Chabhi 3)

“अच्छा हुआ मम्मी नहीं हैं यहां पर, वरना उनका तो बहू की आरती तक उतारने का प्लान रहा होगा. इस…

कहानी- चाभी 2 (Story Series- Chabhi 2)

“आप और आपकी रिपोर्टर कम्मो.कॉलोनीभर की ख़बरें आपको देती रहती है. आपको तो किसी एनजीओ में होना चाहिए था. कितनी…

कहानी- चाभी 1 (Story Series- Chabhi 1)

“कैसी औरत है आपकी लतिका! आज भी नहीं आई!! आप बेकार ही उसका इंतज़ार करते हैं. वो नहीं आनेवाली. गांठ…

कहानी- स्वांग 3 (Story Series- Swang 3)

उसे दम घुटता जान पड़ा. उसने खुली हवा का स्पर्श पाने के लिए आंगन में खुलनेवाली खिड़की खोल दी. सामने…

कहानी- स्वांग 2 (Story Series- Swang 2)

“मानस का हंस, छोटी ने बताया आप पढ़ नहीं पाई थीं.” वह नहीं समझ सका, उसे स्थिति का खुलासा करना…

कहानी- स्वांग 1 (Story Series- Swang 1)

जब कभी लड़कियों की उंगलियों का स्पर्श हो जाता, उसे अच्छा लगता. फिर वह पुस्तक पढ़ते हुए सो जाता. वह…

कहानी- बुद्धिबली 5 (Story Series- Budhibali 5)

“अरे मेरी झांसी की रानी, तुमने तो कमाल कर दिया.” नीरज भी ठहाका लगाकर हंस पड़ा. “इन बाहुबलियों से हम…

कहानी- बुद्धिबली 4 (Story Series- Budhibali 4)

“सर, आप शिक्षा के इस मंदिर के मुखिया हैं. आप ग़लत आदर्श मत प्रस्तुत कीजिए. उस लड़के को अपने कर्मों…

कहानी- बुद्धिबली 3 (Story Series- Budhibali 3)

इस बीच मौक़ा देख गरिमा ने नीरज को फोन मिलाया और फुसफुसाते हुए बोली, “अगर मुझसे प्यार करते हो, तो…

कहानी- बुद्धिबली 2 (Story Series- Budhibali 2)

गरिमा का चेहरा तमतमा उठा. वह थोड़ी देर वहीं बैठी उस लड़के की हरक़तों को रिकॉर्ड करती रही, फिर सधे…

कहानी- बुद्धिबली 1 (Story Series- Budhibali 1)

“क्या करती हो? कोई देख लेगा तो क्या कहेगा?” नीरज ने टोका. “क्या कहेगा? ” गरिमा ने मोटरसाइकल से उतर…

© Merisaheli