Tag Archives: female health

Personal Problems: 10-15 दिन में पीरियड्स आने के क्या कारण हो सकते हैं? (Possible Reasons For Periods In 10-15 Days?)

Reasons For Periods
Personal Problems: 10-15 दिन में पीरियड्स आने के क्या कारण हो सकते हैं? (Possible Reasons For Periods In 10-15 Days?)

महिलाओं की कई व्यक्तिगत समस्याएं होती हैं, जिनके बारे में वो मेरी सहेली के Personal Problems में जान सकती हैं. हो सकता है आपकी समस्या, किसी और की भी समस्या हो. तो महिलाओं की ऐसी ही पर्सनल प्रॉब्लम्स के बारे में जानने के लिए यहाँ पढ़ें.

मेरी उम्र 22 साल है. मेरी समस्या यह है कि हर 10 से 15 दिन में मेरे पीरियड्स आ जाते हैं. ऐसा क्यों होता है? कृपया बताएं मुझे क्या करना चाहिए?
– कुसुम कुमारी, नागपुर.

ये समस्या ज़्यादातर हार्मोनल असंतुलन या थायरॉइड की वजह से होती है. अगर महिला मेनोपॉज़ की ओर बढ़ रही है, तो ये लक्षण सामान्य हैं, क्योंकि इस दौरान पीरियड्स अनियमित हो जाते हैं. लेकिन आप 22 साल की हैं, तो मेनोपॉज़ नहीं हो सकता है. कुछ हार्मोनल टेस्ट्स और अल्ट्रासोनोग्राफी के ज़रिए इसके कारण का पता लगाया जा सकता है. आपको अपने हीमोग्लोबिन पर भी नज़र बनाए रखनी होगी, क्योंकि बार-बार पीरियड्स होने की वजह से एनीमिया और कमज़ोरी हो सकती है. कुछ घरेलू उपचार, जैसे- गुड़, खजूर, फल व हरी पत्तेदार सब्ज़ियों का सेवन करने से आपकी समस्या काफ़ी हद तक कम हो सकती है.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: ओवरी के सिस्ट को लेकर परेशान हूं

Reasons For Periods

मेरी शादी को डेढ़ साल हो गए हैं. इस साल फरवरी में मेरा मिसकैरेज हो गया था. अब मैं दोबारा कंसीव करना चाहती हूं, लेकिन कंसीव नहीं हो पा रहा है. क्या इसकी वजह मिसकैरेज है? कृपया बताएं मुझे क्या करना चाहिए?
– रेखा यादव, इलाहाबाद. 

गर्भपात या ऐब्नॉर्मल प्रेगनेंसी को नेचर्स लॉ कह सकते हैं, क्योंकि यह हमारे हाथ में नहीं होता. आप दोबारा प्रेगनेंसी की कोशिश कर सकती हैं.
किसी इंफर्टिलिटी स्पेशलिस्ट से मिलें. किसी तरह की मेडिकल प्रॉब्लम, दवाई रोज़ाना लेती हैं, तो वो भी हमें बताएं. अगर पिछली बार आपने नेचुरली कंसीव किया था तो इस बार भी नेचुरली कंसीव करने की संभावना है. फिर भी ओवेरियन रिज़र्व, ट्यूब की पोटेंसी, थाइरॉइड आदि के बारे में चेक करना होगा.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: ओवरी के सिस्ट को लेकर परेशान हूं (Worried About Cyst In Ovary)

Cyst In Ovary

Personal Problems: ओवरी के सिस्ट को लेकर परेशान हूं (Worried About Cyst In Ovary) 

मैं 27 वर्षीया वर्किंग वु.मन हूं. पिछले दिनों पेट के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत के कारण डॉक्टर की सलाह पर सोनोग्राफी करवाई. रिपोर्ट में मेरी ओवरीज़ में 5 से.मी. का सिस्ट दिखा है. मेरे गायनाकोलॉजिस्ट ने कहा है कि घबराने की कोई बात नहीं और 3 महीने बाद फॉलोअप करने की सलाह दी है. मैं बहुत परेशान हूं, कृपया मार्गदर्शन करें
– रेणु वर्मा 

आपकी रिपोर्ट में जिस सिस्ट के बारे में लिखा गया है, उसे फिज़ियोलॉजिकल सिस्ट कहते हैं. महिलाओं की रिप्रोडक्टिव एज में यह आम बात है. अगर घबराने की कोई बात होती, तो डॉक्टर आपको ब्लड टेस्ट्स करने की सलाह देतीं, क्योंकि आपको 3 महीने बाद फॉलोअप के लिए बुलाया गया है, इससे पता चलता है कि कोई गंभीर बात नहीं है. सिस्ट के आकार में कोई बदलाव आया या नहीं, यह जानने के लिए फॉलोअप बहुत ज़रूरी है.

यह भी पढ़ें: वेजाइनल डिस्चार्ज का क्या कारण हो सकता है?

Cyst In Ovary

मैं 23 वर्षीय स्त्री हूं. छह माह पूर्व ही मेरा विवाह हुआ है. हम अगले दो सालों तक बच्चा नहीं चाहते, इसलिए कंडोम इस्तेमाल करते हैं. लेकिन मुझे इससे असहजता महसूस होती है और दर्द भी होता है. किसी ने मुझे बताया कि कंडोम या उसके जेल से मुझे एलर्जी हो सकती है. क्या वाकई मुझे इससे एलर्जी हो रही है? कृपया मेरी समस्या का समाधान बताएं.
 – अर्चना ढढवाल, देहरादून.

आपको कंडोम के रबर या फिर इसके जेल से एलर्जी होने की संभावना है. चूंकि अभी आपकी उम्र भी काफ़ी कम है और अगले दो साल तक आप परिवार बढ़ाना नहीं चाहतीं, तो ऐसे में आप गर्भनिरोधक दवाइयों का इस्तेमाल कर सकती हैं. बेहतर होगा कि आप किसी गायनाकोलॉजिस्ट से संपर्क करें, जो आपको बताएंगे कि आपके लिए कौन–सा गर्भनिरोधक उपयुक्त होगा.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

Personal Problems: सिर्फ़ 2 दिन पीरियड्स आना क्या मेनोपॉज़ की निशानी है? (Can Periods For 2 Days Mark Sign Of Menopause?)

Periods, Sign Of Menopause
Personal Problems: सिर्फ़ 2 दिन पीरियड्स आना क्या मेनोपॉज़ की निशानी है? (Can Periods For 2 Days Mark Sign Of Menopause?)
मेरी उम्र 39 साल है. 1 साल पहले मैं डिप्रेशन में थी और पिछले 7 महीनों से मेरे पीरियड्स सिर्फ़ 2 दिन ही रहते हैं और ब्लीडिंग भी बहुत कम होती है. क्या यह मेनोपॉज़ की निशानी है या फिर मुझे किसी तरह का ट्रीटमेंट लेना होगा?      
– विमला चंदेला, देहरादून.    

पीरियड्स के दौरान कम ब्लीडिंग के कई कारण हो सकते हैं, जैसे- हार्मोंस का असंतुलन, पोषण की कमी, पीसीओएस, थायरॉइड प्रॉब्लम्स आदि. अपनी मां से इस बारे में पूछें कि आपके परिवार में अर्ली मेनोपॉज़ की हिस्ट्री तो नहीं. आपको कुछ ब्लड टेस्ट भी कराने होंगे. साथ ही अपना ओवेरियन रिज़र्व भी चेक कराएं और सोनोग्राफी करवाएं, ताकि पता चल सके कि कितने साल और रुक सकते हैं. इसके अलावा अगर आपको किसी तरह की तकलीफ़ हो रही है, तो आप अपने गायनाकोलॉजिस्ट से मिलें, वो आपको इस बारे में बेहतर बता पाएंगे.

Periods, Sign Of Menopause
पिछले एक साल से हर पीरियड्स के बाद मुझे यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन हो जाता है, जिसके लिए मुझे एंटीबायोटिक्स लेनी पड़ती हैं और पीरियड्स भी समय पर नहीं आते. मैं बहुत परेशान हो गई हूं, कृपया, मेरी मदद करें. 
– सुहानी बत्रा, चंडीगढ़.  

यह बहुत ही कॉमन हेल्थ प्रॉब्लम है.  ज़्यादातर यूरिन इंफेक्शन्स का कारण बैक्टीरिया होते हैं, जो हमारी ही आंतों से आते हैं. ये आंतों को तो कोई नुक़सान नहीं पहुंचाते, लेकिन जब शरीर के दूसरे हिस्सों में पहुंच जाते हैं, तब इंफेक्शन का कारण बनते हैं. कुछ बैक्टीरिया आपके गुदा द्वार में रहते हैं, जो ब्लैडर तक पहुंचकर यूरिन इंफेक्शन का कारण बनते हैं. सेक्सुअल एक्टिविटी और अनहाइजीनिक पब्लिक टॉयलेट इस्तेमाल करने के कारण भी महिलाओं को इंफेक्शन हो सकता है. भरपूर पानी पीएं और साथ ही क्रैनबेरी का जूस और नींबू पानी लें. और हां, पीरियड्स का यूटीआई से कोई कनेक्शन नहीं है. इस बारे में अपने गायनाकोलॉजिस्ट को बताएं.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

घुटनों के दर्द से राहत दिलाएगा ये घरेलू नुस्ख़ा, देखें वीडियो:

 

 

 

Personal Problems: फायब्रॉइड्स होने पर क्या गर्भाशय निकलवाना पड़ेगा? (Do I Need To Remove Uterus For Fibroids?)

Remove Uterus, Fibroids, female health
Personal Problems: फायब्रॉइड्स होने पर क्या गर्भाशय निकलवाना पड़ेगा? (Do I Need To Remove Uterus For Fibroids?)

पीरियड्स की समस्या हो या किसी तरह का इन्फेक्शन, प्रेगनेंसी से जुडी कोई समस्या या फिर फैमिली प्लानिंग से जुड़ा कोई सवाल, जानें मेरी सहेली के पर्सनल प्रॉब्लम्स में नारी स्वास्थ्य से जुड़ी हर समस्या का समाधान. 

मैं 38 वर्षीया गृहिणी हूं. अभी-अभी मुझे पता चला है कि मेरे गर्भाशय में फायब्रॉइड्स हैं. क्या इसका यह मतलब है कि मुझे गर्भाशय निकलवाना होगा या फिर कोई और विकल्प भी है?
– दीप्ति गिल, अमृतसर.

सबसे पहली बात यह कि आप अभी स़िर्फ 38 साल की हैं, इसलिए गर्भाशय निकलवाने के बारे में भूल जाइए, क्योंकि मेडिकल साइंस ने बहुत तऱक्क़ी कर ली है और इसके अलावा कई और विकल्प भी हैं. आप मायओमेक्टमी के लिए जा सकती हैं, जिसमें सर्जरी के ज़रिए फायब्रॉइड्स निकाले जाते हैं. इसके अलावा कई छोटी-छोटी सर्जरीज़, जैसे- लैप्रोस्कोपी, हिस्टेरोस्कोपी, द विंसी रोबोटिक मायओमेक्टमी, यूटेराइन आर्टरी इंबोलाइज़ेशन आदि हैं, जिनके ज़रिए फायब्रॉइड्स निकाले जा सकते हैं. पर सबसे पहले दवाइयां लें. अगर यह दवाइयों से ठीक नहीं हो रहा है, तभी बाकी के विकल्प चुनें.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है? 

Remove Uterus, Fibroids, female health

मैं 28 वर्षीया महिला हूं और कुछ महीने पहले ही मेरी नॉर्मल डिलीवरी हुई है, पर उसके कुछ हफ़्तों बाद से ही मुझे प्रोलैप्स जैसे लक्षण महसूस हो रहे हैं. क्या मुझे तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए?
– इशिता शुक्ला, जबलपुर.

कभी-कभी महिलाओं को प्रोलैप्स जैसा महसूस होता है, पर वैसा होता नहीं. हो सकता है कि गर्भाशय अपनी जगह से हल्का-सा खिसक गया हो, पर यह तो कीगल एक्सरसाइज़ से भी ठीक हो जाएगा. सबसे पहले आप किसी गायनाकोलॉजिस्ट से मिलकर ज़रूरी टेस्ट्स करवा लें, ताकि पता चल सके कि प्रोलैप्स है या नहीं. फ़िलहाल के लिए डॉक्टर आपको दवाएं देकर 6 हफ़्तों तक ऑब्ज़र्व कर सकते हैं. दरअसल, डिलीवरी के बाद आयरन पिल्स लेने के कारण महिलाओं को कब्ज़ की शिकायत हो जाती है और इंट्रा एब्डॉमिनल प्रेशर से पेल्विक मसल्स कमज़ोर हो जाती हैं, जिसके कारण ऐसा महसूस होता है. आप हेल्दी डायट लें और कुछ पेल्विक एक्सरसाइज़ेज़ करें.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 
हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: मेनोपॉज़ के बाद कभी-कभी ब्लीडिंग होती है (Bleeding After Menopause: Causes & Treatment)

मैं 55 साल की हूं और 3 साल पहले मेरा मेनोपॉज़ हुआ है. लेकिन मेरी समस्या यह है कि पिछले 2 महीनों से मुझे कभी-कभी ब्लीडिंग हो रही है, जिसके कारण मैं बहुत चिंतित हूं. ऐसा क्यों हो रहा है?

– ज्योति छाया, हरियाणा.

मेनोपॉज़ के बाद रक्तस्राव को साधारण नहीं समझना चाहिए और आपको फ़ौरन गायनाकोलॉजिस्ट से परामर्श लेना चाहिए. ऐसा निम्न कारणों से हो सकता है– अगर आप हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी का इस्तेमाल कर रही हों, आपको फायब्रॉयड या गर्भाशय कैंसर की शिकायत हो, योनि कैंसर हो, सर्वाइकल कैंसर या यूटेरियन कैंसर की शिकायत हो. ऐसा सर्वाइकल या योनि में इंफेक्शन के कारण भी हो सकता है. बेहतर होगा कि आप अपना पूरा चेकअप करवाएं.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: बच्चे को कितने समय तक ब्रेस्टफीडिंग करानी चाहिए?

Bleeding After Menopause, Causes, Treatment

मुझे दो महीने का गर्भ है. ये मेरा पहला बच्चा है. मुझे सुबह बहुत चक्कर आता है और उल्टियां भी होती हैं. मुझे क्या करना चाहिए?

– कार्तिका, नासिक.

गर्भावस्था में सुबह के समय नॉसिया या उल्टी होना सामान्य बात है. अगर आप खाली पेट हैं तो आपकी समस्या और भी बढ़ सकती है. सुबह उठने के बाद बिस्किट और चाय या दूध लें. खाली पेट कभी न रहें. दिन के समय भी कार्बोहाइड्रेड से युक्त आहार लें. फैटी फूड से परहेज़ करें. ये शिकायत सामान्यत: तीसरे महीने के बाद दूर हो जाती है. अगर ऊपर बताए गए निर्देशों का पालन करने के बाद भी आराम नहीं मिलता है, तो डॉक्टर से मिलें जो आपको उल्टियां बंद करने के लिए कोई गोलियां देंगे.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

क्या सी सेक्शन के बाद आईयूसीडी इस्तेमाल कर सकते हैं? (Can I Use IUD After Cesarean Delivery?)

Can I Use IUD After Cesarean Delivery
मैं 29 वर्षीया महिला हूं और मेरा छह महीने का एक बच्चा भी है. मेरी सीज़ेरियन डिलीवरी हुई थी, पर मैं 3-4 साल तक दूसरा बच्चा नहीं चाहती. मेरी दोस्त के मुताबिक सीज़ेरियन डिलीवरी वाले इंट्रा यूटेराइन कॉन्ट्रासेप्टिव डिवाइस (आईयूसीडी) का इस्तेमाल नहीं कर सकते. क्या यह सच है?
– नैना जैन, राजकोट.

ऐसा बिल्कुल भी नहीं है. बहुत से लोगों को इस तरह की ग़लतफ़हमी हो जाती है, पर अगर आपको हैवी ब्लीडिंग नहीं होती, आपके यूटेरस का शेप नॉर्मल है और कभी पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिसीज़ की हिस्ट्री नहीं है, तो आप इसे बिना किसी परेशानी के इस्तेमाल कर सकती हैं. ये कुछ 2-3 सालों के लिए होते हैं, तो कुछ 10 सालों के लिए. यह एक इफेक्टिव व बेहतरीन गर्भनिरोधक है.

 

 Can I Use IUD After Cesarean Delivery

 

मेरी 14 वर्षीया बेटी को हर महीने पीरियड्स के 14-16वें दिन तक दर्द होता है, जबकि उसके पीरियड्स नियमित हैं और रक्तस्राव के दौरान उसे बिल्कुल भी दर्द नहीं होता. जबकि 14-16वें दिनवाला दर्द कभी-कभी इतना ज़्यादा बढ़ जाता है कि उसे पेनकिलर लेना पड़ता है. क्या उसे कोई प्रॉब्लम है? कृपया, मार्गदर्शन करें.
– प्रेरणा आचार्य, गोरखपुर.

जैसा कि आपने बताया है कि आपकी बेटी को महीने के 14-16वें दिन दर्द हो रहा है, जो मिड साइकल में होता है. यह एक सामान्य दर्द है, जिसे मितल्समर्ज़ कहते हैं. यह शरीर में ओवम रिलीज़ होने के कारण होता है. यह एक सामान्य अवस्था है, इसलिए आपको डरने की कोई ज़रूरत नहीं. आमतौर पर पेनकिलर लेने से यह दर्द चला जाता है. धीरे-धीरे कुछ समय बाद यह अपने आप ठीक हो जाता है.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या 38 साल की उम्र में मेनोपॉज़ हो सकता है? (Can Menopause Start At 38?)

Can Menopause Start At 38
मैं 38 वर्षीया महिला हूं और मेरी 8 साल की एक बेटी भी है. पिछले 7-8 महीने से मेरे पीरियड्स नहीं आ रहे हैं. डॉक्टर ने मेरा ब्लड टेस्ट करवाया, ताकि प्रीमैच्योर ओवेरियन फेलियर की जांच हो सके. उनके मुताबिक मुझे मेनोपॉज़ हो गया है, पर क्या 38 साल की उम्र में भी मेनोपॉज़ हो सकता है?
– जया राजपूत, आगरा.

40 साल के पहले अगर किसी महिला को मेनोपॉज़ होता है, तो उसे प्रीमैच्योर ओवेरियन फेलियर कहते हैं. इसके कई कारण हो सकते हैं, जैसे- आनुवांशिक, कीमो थेरेपी, रेडियो थेरेपी, धूम्रपान आदि. दरअसल, ब्लड टेस्ट की रिपोटर्र् देखने के बाद ही आपकी डॉक्टर ने प्रीमैच्योर ओवेरियन फेलियर की बात कंफर्म की है. चूंकि आपको जल्दी मेनोपॉज़ हुआ है, इसलिए आपको अपने डायट का ख़ास ख़्याल रखना होगा. विटामिन डी और कैल्शियम टैबलेट्स के साथ-साथ एक्सरसाइज़ पर भी विशेष ध्यान दें.

Can Menopause Start At 38

मैं 31 वर्षीया महिला हूं और मेरी दाहिनी छाती में एक गांठ है. डायग्नॉसिस के लिए डॉक्टर ने मैमोग्राफी की बजाय अल्ट्रासोनोग्राफी करवाई. सही नतीजे पर पहुंचने के लिए बायोप्सी भी करवाई, जिसमें पता चला कि मुझे फाइब्रोइडोनोमा है. डॉक्टर ने मुझे कुछ भी न करने की सलाह दी है. क्या यह सही है?
– मेघा वर्मा, लुधियाना.

यह बहुत अच्छी बात है कि आपने बायोप्सी करवा ली है और रिपोर्ट में महज़ फाइब्रोइडोनोमा पाया गया है. इस उम्र में यह बहुत-सी महिलाओं को होता है, इसमें घबरानेवाली कोई बात नहीं. आपको मैमोग्राफी की बजाय अल्ट्रासोनोग्राफी कराने के लिए इसलिए कहा गया, क्योंकि आप 35 साल से कम उम्र की हैं. कम उम्र में मैमोग्राफी की बजाय सोनोग्राफी से ज़्यादा अच्छी तरह से जांच होती है और इसमें रेडिएशन का असर भी कम होता है, इसलिए डॉक्टर ने यह टेस्ट करवाया. एक बात का ख़ास ख़्याल रखें कि महीने में एक बार सेल्फ एक्ज़ामिनेशन ज़रूर करें.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या प्रेग्नेंसी प्लान करने से पहले मेडिकल चेकअप करवाना चाहिए? (Do I Need Pre Pregnancy Checkups?)

Need Pre Pregnancy Checkups
मैं 35 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं और मुझे बेटा भी है. मैं एक स्वस्थ महिला हूं और मुझे कोई बुरी आदत भी नहीं है. अगर मुझे दूसरा बच्चा चाहिए, तो क्या मुझे कंप्लीट मेडिकल चेकअप की ज़रूरत है?
– रंजना शिंदे, पुणे.

प्रेग्नेंसी के दौरान मां व बच्चे दोनों की अच्छी सेहत के लिए मां का स्वस्थ होना बहुत ज़रूरी है. प्रेग्नेंसी प्लान करने से पहले सभी ज़रूरी टेस्ट्स करवाएं. रेग्युलर हेल्थ चेकअप में ब्लड टेस्ट ज़रूर करवाएं. इससे थायरॉइड, डायबिटीज़ और ओबेसिटी जैसी बीमारियों का पता उनके शुरुआती दौर में ही चल जाता है. थायरॉइड के कारण जहां कंसीव करने में परेशानी होती है, वहीं डायबिटीज़ व ओबेसिटी से प्रेग्नेंसी के दौरान द़िक्क़तें आ सकती हैं. अगर कंसीव करने से पहले इनका पता चल जाए, तो सही तरी़के से इलाज किया जा सकता है और प्रेग्नेंसी में कोई प्रॉब्लम नहीं आती. प्रेग्नेंसी प्लान करने से पहले किसी अच्छे गायनाकोलॉजिस्ट को मिलें.

 Need Pre Pregnancy Checkups
मेरी बेटी की उम्र 15 साल है. पीरियड्स के दौरान उसे बहुत दर्द होता है. क्या उसे इलाज की ज़रूरत है? क्या उसे किसी डॉक्टर को दिखाना चाहिए?
– ममता शाह, सूरत.

दर्दयुक्त माहवारी आपकी बेटी की सेहत के साथ-साथ उसकी पढ़ाई-लिखाई व पर्सनल लाइफ को भी प्रभावित कर सकती है. अगर इसके कारण वह अपनी लाइफ नॉर्मल तरी़के से जी नहीं पा रही है, तो आपको ज़रूर उसका इलाज कराना चाहिए. यह कई कारणों से हो सकता है, इसलिए सबसे पहले किसी एक्सपर्ट डॉक्टर से उसका चेकअप कराएं. वो उसे सोनोग्राफी करवाने की सलाह दे सकते हैं. पूरा चेकअप हो जाने के बाद डॉक्टर आपको कुछ पेनकिलर्स या ओरल कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेने की सलाह दे सकते हैं.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: पीरियड्स के दौरान असहनीय दर्द होता है (Possible Reasons For Painful Periods)

Reasons For Painful Periods
मैं 24 वर्षीया अविवाहित युवती हूं. हर महीने पीरियड्स के दौरान मुझे असहनीय दर्द होता है और मेरी रूटीन एकदम से बिगड़ जाती है. कृपया, कोई उचित मार्गदर्शन करें.
– नूपुर सेन, दिल्ली.

पीरियड्स के शुरुआती दिनों में दर्द नहीं होता, लेकिन कुछ सालों बाद दर्द शुरू हो जाता है. यह ओव्यूलेशन के कारण होता है. पीरियड्स के पहले दिन ज़्यादा दर्द होता है, पर धीरे-धीरे दर्द कम होने लगता है. आपके दर्द का कारण एंडोमेट्रियोसिस भी हो सकता है. सामान्य एंडोमेट्रियोसिस की स्थिति में दवा से आसानी से इलाज हो जाता है, लेकिन गंभीर एंडोमेट्रियोसिस के मामले में आपको लैप्रोस्कोपिक सर्जरी करवानी पड़ सकती है.

यह भी पढ़ें: शारीरिक संबंध के बाद १-२ दिन तक ब्लीडिंग क्यों होती है?

Reasons For Painful Periods

कई सालों पहले फायब्रॉइड्स के कारण मुझे अपना यूटरस निकलवाना पड़ा था. अब जब भी खांसती हूं या किसी काम के लिए ज़ोर लगाती हूं, तो वेजाइना बाहर की तरफ़ आ जाता है. मुझे क्या करना चाहिए?
 – रचना जाधव, पुणे.

आपके द्वारा बताए गए लक्षणों से लगता है कि आपको वॉल्ट प्रोलैप्स है. यूटरस निकलवाने के बाद कभी-कभी इस तरह की समस्या सामने आ जाती है. इसके लिए आपको वेजाइनल या लैप्रोस्कोपिक सर्जरी करवानी पड़ेगी. इस विषय में अधिक जानकारी के लिए जल्द से जल्द अपने डॉक्टर से संपर्क करें.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: लैप्रोस्कोपिक सर्जरी के कितने दिनों बाद प्रेग्नेंसी प्लान करूं? (Pregnancy After Laproscopy)

Pregnancy After Laproscopy
मैं 39 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं. दो साल पहले ही मेरी शादी हुई थी. कुछ दिनों बाद ही मेरी एंडोमिट्रियोटिक सिस्ट की लैप्रोस्कोपिक सर्जरी हुई थी. मैं जल्द से जल्द मां बनना चाहती हूं. मुझे कब प्रेग्नेंसी प्लान करनी चाहिए.                  
– कंचन देसाई, चेन्नई.

आजकल बहुत-से लोग लेट शादी करते हैं, पर अगर आप 39 साल की हो चुकी हैं, तो आपको ध्यान रखना होगा कि हर ओवरी में सीमित संख्या में ही ओवम होते हैं. 40-41 साल की उम्र तक महिलाओं में प्रजनन क्षमता घट जाती है. इसके अलावा 41 साल की उम्र में होनेवाली प्रेग्नेंसीज़ में कई बार गर्भपात या बच्चे में कोई शारीरिक विकृति होने की भी संभावना रहती है. आपने पहले ही लैप्रोस्कोपिक सर्जरी करवाई है, इसलिए किसी अच्छे इंफर्टिलिटी कंसल्टेंट से मिलें, ताकि जल्द से जल्द आप प्रेग्नेंसी प्लान कर सकें.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: पीरियड्स पोस्टपोन कैसे करूं?

Pregnancy After Laproscopy

मैं 45 वर्षीया महिला हूं. मुझे अक्सर योनिमार्ग से स़फेद स्राव निकलता है और कभी-कभी बहुत खुजली भी होती है. मुझे क्या करना चाहिए?
– करिश्मा यादव, पटना. 

कई बार योनिमार्ग से स़फेद स्राव निकलता है, पर अगर आपको उससे कोई समस्या नहीं है, तोउसके इलाज की कोई ज़रूरत नहीं होती है, वो अपने आप ठीक हो जाता है. योनि में खुजली होना और यूरिन पास करते समय जलन होना किसी इंफेक्शन के कारण हो सकता है और इसके कारण भी स़फेद स्राव होता है. अगर आपको डायबिटीज़ आदि कोई समस्या है, तो काफ़ी हद तक मुमकिन है कि यह फंगल इंफेक्शन हो. सबसे पहले फंगल इंफेक्शन का इलाज कराएं, इसके लिए आप अपने डॉक्टर से सलाह ले सकती हैं. इसके बाद आपको अपने डायबिटीज़ पर नियंत्रण करना होगा. योनि से होनेवाले स्राव के कई कारण हो सकते हैं, इसलिए जल्द से जल्द किसी अच्छे गायनाकोलॉजिस्ट से मिलें.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: एग फ्रीज़िंग की प्रक्रिया में कितना वक्त लगता है?

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: पीरियड्स पोस्टपोन कैसे करूं? (How Can I Postpone My Periods?)

How Can I Postpone My Periods
मैं ट्रैवेलिंग पर जानेवाली हूं, इसलिए अपने पीरियड्स प्रीपोन या पोस्टपोन करना चाहती हूं. पिछले 4 सालों से मैं बर्थ कंट्रोल पिल्स ले रही हूं और मेरा पीरियड साइकल 30-32 दिनों का है. ऐसे में मुझे क्या करना चाहिए?
– रंजना कुमार, नई दिल्ली.

पीरियड्स प्रीपोन करने की बजाय पोस्टपोन करना ज़्यादा अच्छा होगा. जैसा कि आपने बताया कि आप बर्थ कंट्रोल पिल्स लेती हैं, तो 7 दिन का जो पिल फ्री वीक का ब्रेक होता है, उसे नज़रअंदाज़ करें और बिना किसी ब्रेक के आप अपनी पिल्स लगातार लेती रहें. पिल्स बंद करते ही कुछ ही दिनों में आपके पीरियड्स आ जाएंगे. बेहतर होगा कि अपने गायनाकोलॉजिस्ट सेे मिलें, वो आपको बेहतर गाइड कर पाएंगे.

यह भी पढ़ें: शारीरिक संबंध के बाद १-२ दिन तक ब्लीडिंग क्यों होती है?

How Can I Postpone My Periods

मैं 16 वर्षीया लड़की हूं. मेरी बाकी सहेलियों की तरह मुझे पीरियड्स नहीं आते, जबकि 14 साल की उम्र से ही हर महीने मुझे पेटदर्द होता है. अल्ट्रासाउंड से पता चला है कि मेरे गर्भाशय और योनि में खून जमा है. डॉक्टर के मुताबिक़ पीरियड्स के लिए मुझे एक छोटा-सा ऑपरेशन करवाना होगा. क्या ऐसा होता है?
– प्रगति सिन्हा, रायपुर.

आमतौर पर 11 से 14 साल के बीच लड़कियों के पीरियड्स आ जाते हैं, पर आपकी जो स्थिति है उसे हेमाटोकोल्पोस और हेमाटोमेत्रा कहते हैं, जिसमें ब्लड वेजाइना और यूटरस में जमा होता रहता है. आपकी वेजाइनल ओपनिंग बंद है, जिसके कारण ब्लड वेजाइना और यूटरस में जमा हो रहा है. जैसा कि आपने बताया कि 14 साल की उम्र से ही आपको हर महीने दर्द होता है, पर पीरियड्स नहीं होते, दरअसल तभी से आपके पीरियड्स शुरू हो गए हैं, पर वेजाइनल ओपनिंग के बंद होने के कारण ब्लड बाहर नहीं निकल पाया. आपको डरने की कोई ज़रूरत नहीं. बस, एक छोटे-से ऑपरेशन से सब ठीक हो जाएगा और आपके पीरियड्स नॉर्मल हो जाएंगे.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: एग फ्रीज़िंग की प्रक्रिया में कितना वक्त लगता है? (What Is The Process For Egg Freezing?)

What Is The Process For Egg Freezing
मैं 32 वर्षीया कामकाजी व तलाक़शुदा महिला हूं. मुझे बच्चों का बहुत शौक़ है, इसलिए दोबारा घर बसाकर मां बनना चाहती हूं, पर इसमें कितना व़क्त लगेगा मुझे भी नहीं पता, इसलिए अपने एग्स को फ्रीज़ करके रखना चाहती हूं. क्या मुझे बता सकती हैं कि एग फ्रीज़िंग की प्रक्रिया में कितना व़क्त लगता है?
– रजनी ठाकुर, पुणे.

एग फ्रीज़िंग की प्रक्रिया में लगभग एक महीने का व़क्त लगता है, जिसमें पहले 2 हफ़्ते मेडिकेशन और अगले 2 हफ़्ते एग्स रिट्रिवल में लगते हैं. पहले 10-12 दिन मेडिकेशन में जाते हैं, जिसके दौरान 4-5 बार अल्ट्रासाउंड भी किया जाता है. दो हफ़्ते बाद जब आपके एग्स मैच्योर हो जाते हैं और ओवरीज़ इसके लिए तैयार हो जाती हैं, तब डॉक्टर रिट्रिवल की प्रक्रिया शुरू करते हैं. इसके लिए आपको एक दिन की छुट्टी लेनी पड़ेगी, ताकि रिट्रिवल के बाद आप बेड रेस्ट ले सकें. आमतौर पर डॉक्टर यह प्रक्रिया वीकेंड पर रखते हैं, ताकि पेशेंट को आराम मिल सके.

यह भी पढ़ें: शारीरिक संबंध के बाद १-२ दिन तक ब्लीडिंग क्यों होती है?

What Is The Process For Egg Freezing

मैं 29 वर्षीया कामकाजी महिला हूं. पिछले कई सालों से पीरियड्स के दौरान मुझे काफ़ी दर्द होता था, तो मैं पेनकिलर ले लेती थी. पर जब ज़्यादा तकलीफ़ बढ़ी, तो गायनाकोलॉजिस्ट को दिखाया. उन्होंने चेकअप करके बताया कि मुझे एंडोमेटिरियोसिस है. यह क्या है, कृपया मेरा मार्गदर्शन करें.
– मनीषा राजभर, पटना.

यूट्रस की अंदरूनी लाइनिंग के टिश्यूज़ को एंडोमेट्रियम कहते हैं. जब ये टिश्यूज़ यूट्र्स के बाहर ओवरीज़ या पेल्विक एरिया में चले जाते हैं, तब उस अवस्था को एंडोमेटिरियोसिस कहते हैं. इसके सही कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है. आमतौर पर यह 25-40 की उम्र की महिलाओं में होता है. इसके कारण महिलाओं को पेड़ू में और पीरियड्स के दौरान काफ़ी दर्द होता है. यह एक वंशानुगत समस्या है. ओरल कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स के सेवन से इसके होने की संभावना कम हो जाती है.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies