Tag Archives: Love Life

Amazing! सेक्स पावर बढ़ाने के 25 चमत्कारी फॉर्मूले (25 Homemade Tips To Boost Your Sex Power)

Homemade Tips To Boost Your Sex Power
रोज़मर्रा की भागदौड़ और स्ट्रेस हमारी सेक्सुअल लाइफ को भी प्रभावित कर रहा है, ऐसे में अपनी सेक्स लाइफ को हेल्दी रखने के लिए अपनाएं कुछ घरेलू नुस्खें और बढ़ाएं अपनी सेक्स पावर…

Homemade Tips To Boost Your Sex Power

1. 5-5 अखरोट, बादाम और मुनक्काइन सभी को हर रोज़ सुबह ख़ूब चबाचबाकर खाएं और ऊपर से एक ग्लास दूध पीएं. इस प्रयोग से सेक्सुअल पावर बढ़ने के साथसाथ शरीर भी मज़बूत होगा. यदि चाहें, तो उपरोक्त मात्रा को अपनी पाचन शक्ति के अनुसार घटाबढ़ा सकते हैं.

2. भोजन के साथ अथवा आधे घंटे बाद सोंठ, कालीमिर्च और छोटी पीपरि का सम भाग चूर्ण 3 ग्राम (एक टीस्पून) की मात्रा में सादे पानी के साथ सेवन करने से सेक्सुआलिटी में लाभ होता है.

3. वसंत कुसुमाकर रस की 2-2 गोली सुबहशाम दूध के साथ सेवन करने से नपुंसकता, इंद्रिय दुर्बलता, शुक्रक्षय आदि विकार दूर हो जाते हैं.

4. 20 ग्राम पिस्ता बारीक पिसा हुआ, 20 ग्राम मिश्री का चूर्ण, 5 ग्राम सोंठ का चूर्ण और 10 ग्राम शहद व 1 रत्ती भांगसभी को एक साथ मिलाकर (यह एक खुराक है) गर्म दूध के साथ सेवन करें. इस प्रयोग से केवल आठ दिनोें में ही सेक्स संबंधी कमज़ोरी व नपुंसकता से राहत मिलने लगती है.

5. 8-10 मुनक्का लेकर उसे रात को पानी में भिगो दें. सुबह उसे चबाकर खा लेें. शीघ्रपतन में लाभ होता है.

6. शतावर के रस का नियमित रूप से सेवन करने से सेक्सुअल कमज़ोरी दूर होती है.

7. तुलसी के बीज या जड़ को कूटपीसकर चूर्ण बना लें. संपूर्ण चूर्ण के बराबर पुराना गुड़ मिलाकर 3-3 ग्राम की गोलियां बना लें. 1-1 गोली सुबहशाम मीठे दूध के साथ 40 दिन तक सेवन करें. इससे सेक्सुअल पावर बढ़ता है.

8. 10 ग्राम प्याज़ का रस, 15 ग्राम शहद, 5 ग्राम घी और 10 ग्राम अदरक का रससबको एक साथ मिलाकर नियमित रूप से 21 दिन तक सुबह सेवन करें. इससे नपुंसकता दूर होती है और सेक्स पावर मेें वृद्धि होती है.

9. शतावर, अश्‍वगंधा, कौंच बीज, मूसली और गोखरूसभी को बराबर मात्रा में लेकर चूर्ण बनाकर रख लें. इसे 3 से 5 ग्राम की मात्रा में सुबहशाम दूध के साथ सेवन करें. यह नपुंसकता एवं यौन दुर्बलता को दूर करनेवाला उत्तम घरेलू नुस्ख़ा है.

10. तुलसी के बीज व जड़ एवं कौंच बीजतीनों को बराबर मात्रा में लेकर बारीक चूर्ण बनाकर रख लें. प्रतिदिन सुबह 5 ग्राम चूर्ण (लगभग एक चम्मच) खाकर ऊपर से एक ग्लास मीठा दूध पीएं. ऐसा नियमित डेढ़ महीने तक सेवन करने से नपुंसकता दूर हो जाती है और कामोत्तेजना बढ़ती है, लेकिन इसके सेवन काल में सेक्सुअल क्रिया से बचना चाहिए.

यह भी पढ़ें: सेक्स रिसर्च: सेक्स से जुड़ी ये 20 Amazing बातें, जो हैरान कर देंगी आपको

Homemade Tips To Boost Your Sex Power

[amazon_link asins=’B00JNQLIYY,B002M8GHSC,B017IJGG44,B01DQV8BIM’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’18cd3c4e-eb94-11e7-8b3b-a70c35168d3f’]

11. नपुंसकता को दूर करने और सेक्स क्रिया में उत्तेजना व शक्ति लाने के लिए कद्दूकस किए हुए नारियल में 4-5 बूंद बरगद का दूध व दो चम्मच शहद मिलाकर सेवन करें. अगर मक्खन मिल जाए, तो एक चम्मच उसे भी मिला लें. यह नुस्ख़ा 20-25 दिन तक इस्तेमाल करें. यदि इस दौरान सेक्स से बचकर रहेंगे, तो अधिक लाभ होगा.

12. 5 ग्राम काली मूसली का चूर्ण और आधा ग्राम वंगभस्म दोनों को थोड़ेसे शहद में मिलाकर सुबह खाली पेट और रात को सोने से पहले चाटकर सेवन करें. इससे शीघ्रपतन की शिकायत दूर होती है.

13. बादाम गिरी, छुहारा, खसखस, छोटी इलायची और मिश्री लेकर कूटपीसकर रख लें. इसे 7-8 ग्राम की मात्रा में दूध के साथ सेवन करने से शीघ्रपतन का शमन होता है.

14. जो लोग दुर्बल मन के कारण नपुंसकता महसूस करते हैं, उनके लिए टहलना किसी वरदान से कम नहीं. हाल ही में हुए अध्ययनों से यह पता चला है कि जो पुरुष नियमित रूप से रोज़ाना दो मील तक टहलते हैं, उनके नपुंसक होने की आशंका तीन गुना कम हो जाती है.

15. ताज़े आंवले का रस शहद के साथ मिलाकर सेवन करने से शीघ्रपतन की समस्या में लाभ होता है.

16. 50 ग्राम स़फेद मूलसी, 100 ग्राम तालमखाना, 150 ग्राम गोखरू तथा 300 ग्राम मिश्री लेकर बारीक चूर्ण बना लें. इसे 5-10 ग्राम की मात्रा में सुबहशाम दूध के साथ सेवन करने से शीघ्रपतन दूर होता है.

17. नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करनेवालों में सेक्सुअल सक्रियता बढ़ जाती है यानी अच्छी रहती है. वैज्ञानिकों का मानना है कि सेक्सुअल हेल्थ के लिए ज़रूरी सेक्स हार्मोन टेस्टोस्टेरॉन की मात्रा एक्सरसाइज़ से बढ़ जाने के कारण ही ऐसा होता है.

18. बड़ के कच्चे फलों को छाया में सुखाकर कपड़छान चूर्ण बनाकर रख लें. इस चूर्ण को 10-15 ग्राम की मात्रा में सुबहशाम गाय के दूध के साथ सेवन करें. 45 दिन तक नियमित इस नुस्ख़े का सेवन करें और इसके इस्तेमाल के दौरान सेक्सुअल रिलेशन न रखें.

19. 5 ग्राम विदारीकंद चूर्ण में घी व शहद (विषम मात्रा) मिलाकर सेवन करने से कामशक्ति की वृद्धि होती है. इसका प्रयोग लंबे समय तक करना चाहिए.

20. कौंच के शुद्ध किए हुए बीजों का चूर्ण बनाकर रख लें. 5-5 ग्राम चूर्ण सुबहशाम मीठे दूध के साथ सेवन करने से अद्भुत यौनशक्ति की प्राप्ति होती है.

यह भी पढ़ें: सेक्स रिसर्च: 11 सेक्स किलर फूड, जो बिगाड़ सकते हैं आपकी सेक्स लाइफ

Homemade Tips To Boost Your Sex Power

21. तालमखाना का बीज और कौंच बीज सम मात्रा में लेकर चूर्ण बनाएं. 5 ग्राम इस चूर्ण को 5 ग्राम शक्कर में मिलाकर दूध के साथ सुबहशाम पीने से कभी भी वीर्य का क्षय नहीं होता है.

22. घीकुमारि के पत्तों के गूदे का रस 20-25 मि.ली. की मात्रा में सुबह खाली पेट पीने से शरीर में चुस्तीफुर्ती और शारीरिक शक्ति के साथसाथ पुरुष यौनशक्ति भी बढ़ती है.

23. इमली के बीजों की गिरी पीसकर उसे बरगद के दूध में डालकर 12 घंटे तक खरल करें. फिर मटर के बराबर गोलियां बनाकर छाया में सुखाकर रख लें. 1-1 गोली सुबहशाम दूध के साथ सेवन करने से वीर्य प्रमेह में लाभ होता है.

24. 150 ग्राम सिंघाड़े का आटा, 15 ग्राम पिसे हुए छुहारे, 10 ग्राम सोंठ चूर्णसभी को एक लीटर गाय के दूध में मिलाकर धीमी आंच पर पकाएं. जब खोवा जैसा हो जाए, तो इसमें 125 ग्राम घी डालकर भूनें और आधा किलो खांड डालकर सुरक्षित रख लें. इसे 10 से 20 ग्राम की मात्रा में सुबहशाम दूध के साथ सेवन करें. यह वीर्य प्रमेह, स्वप्नदोष और वीर्य की तरलता का रामबाण नुस्ख़ा है.

25. सेक्स के पहले फोरप्ले ज़रूर करना चाहिए. कम से कम 10-15 मिनट के फोरप्ले के बाद ही कपल्स को सेक्स करना चाहिए. इससे सेक्सुअल क्रिया आनंददायक व संतुष्टि भरी होती है.

 

अनंत

यह भी पढ़ें: 7 तरह के सेक्सुअल पार्टनरः जानें आप कैसे पार्टनर हैं

[amazon_link asins=’818677548X,8172235038,0007275471,009181524X’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’74598362-eb94-11e7-8b21-81cafd4a8212′]

December Born: ईमानदार व वफ़ादार पार्टनर होते हैं दिसंबर में जन्मे लोग (What Your Birth Month Says About Your Love Life)

December Born
दिसंबर में जन्मे लोग धनु और मकर राशि के होते हैं. जहां 1 से 21 दिसंबर वाले धनु राशि के होते हैं, वहीं 22 से 31 वाले मकर राशि के. इन दोनों ही राशियों के लोग अपनी लव लाइफ के प्रति काफ़ी गंभीर होते हैं. अपने पार्टनर को हमेशा ख़ुश रखना इन्हें बेहद पसंद है. 

December Born

– लव लाइफ सेक्सी और इंट्रेस्टिंग होती है
– पार्टनर के प्रति कमिटेड होते हैं
– सेक्स लाइफ में काफ़ी क्रिएटिव होते हैं

अपनी लव लाइफ की और भी ख़ूबियों को जानने के लिए क्लिक करें

– दिसंबर में जन्मे लोग अपनी पर्सनल लाइफ में काफ़ी एक्टिव होते हैं.
– एक बार इन्हें अपना मनपसंद साथी मिल जाए, तो ये पूरी ज़िंदगी उसका साथ निभाते हैं.
– कभी-कभी आपकी पार्टनर को आपके दोस्तों से जलन भी होती है, पर क्या करें आप इतने ख़ुशमिज़ाज हैं कि दोस्तों का ग्रुप तो बड़ा होना ही है.
– इनकी लव लाइफ काफ़ी सेक्सी और इंट्रेस्टिंग होती है.
– अपने चाहनेवालों को हमेशा सहेजकर रखते हैं.
– इन्हें बंधन पसंद नहीं, इसलिए पार्टनर को कभी भी बंधन में नहीं रखते.
– पार्टनर की चाहत का पूरा ख़्याल रखते हैं.
– अपनी सेक्स लाइफ में आप काफ़ी क्रिएटिव होते हैं, जो आपके पार्टनर को बहुत पसंद आता है.

यह भी पढ़ें: November Born: रोमांस ही ज़िंदगी है नवंबर में जन्मे लोगों के लिए

यह भी पढ़ें: August Born: प्यार ही नहीं, शादी में भी बेहद विश्‍वास रखते हैं अगस्त में जन्मे लोग

यह भी पढ़ें: September Born: पैशनेट लव पसंद करते हैं सितंबर में जन्मे लोग

[amazon_link asins=’B01AL1BRMM,B07114F6KQ,B06Y28Z2BL,B01I019F4M,B00Y70VBMK’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’f91cf420-e21e-11e7-a5af-cf263d6813ce’]

जानें हैप्पी लव लाइफ का रोमांटिक साइंस (Romantic Science Of Happy Love Life)

Romantic Science Of Happy Love Life
कहते हैं, अपोज़िट अट्रैक्ट्स, मगर शादी के बाद ये अट्रैक्शन कहीं खो जाता है. कपल्स के रिश्ते कई बार इतने जटिल हो जाते हैं कि उसमें प्यार की गुंजाइश ही नहीं रह जाती. यदि आप अपने रिश्ते की नाज़ुक डोर को उम्रभर थामे रखना चाहते हैं, तो कौन से लव रूल्स फॉलो करें? बता रही हैं कंचन सिंह.

ख़र्च करने की आदत

यदि आपको हमेशा लेटेस्ट ट्रेंड और फैशन के मुताबिक़ अपना वॉर्डरोब चेंज करने की आदत है और पति बस चार जोड़ी शर्ट और दो जोड़ी जूतों में ही रहना पसंद करते हैं, तो ज़ाहिर है आपकी ये अति ख़र्चीली आदत पति को बिल्कुल रास नहीं आएगी. वो आपके ख़र्च पर उंगली उठाएंगे, जिससे आपके बीच मनमुटाव हो सकता है. सुनैना कहती हैं, “मुझे ऑनलाइन शॉपिंग की बुरी लत है, जिससे कई बार मैं ज़रूरत न होने पर भी चीज़ें मंगा लेती हूं, ये सोचकर कि अभी न सही, बाद में काम आएंगी, मगर मेरी ये आदत पति को बिल्कुल पसंद नहीं. इस बात को लेकर उनका मुझसे कई बार झगड़ा भी हो चुका है. वो बिना ज़रूरत के एक पैसा भी ख़र्च नहीं करना चाहते.”

क्या कहती है स्टडी?

एक जैसी ख़र्च की आदत न होने पर कपल्स के बीच मनमुटाव ज़्यादा होता है, वो अपने रिश्ते से संतुष्ट नहीं होते. इसके विपरीत यदि पति-पत्नी दोनों ख़र्चीले हैं या फिर दोनों बहुत किफ़ायती हैं, तो उनके बीच मनमुटाव की गुंजाइश बहुत कम रहती है.

मैं नहीं हम

शादी के बाद भले ही आपकी अलग-अलग पहचान हो, मगर बतौर कपल आप एक हो जाते हैं. जो कपल ‘मैं’ से ऊपर नहीं उठ पाते उनके रिश्ते में मुश्किलें आ ही जाती हैं और वो अपने रिश्ते से ख़ुश नहीं रहते. बातचीत या बहस के दौरान मैं की बजाय हम जैसे शब्दों का इस्तेमाल करनेवाले पति-पत्नी अन्य कपल्स की तुलना में ज़्यादा संतुष्ट और ख़ुश रहते हैं. रिश्तों की सफलता के लिए अब से आप भी मैं की बजाय हम कहना सीख जाइए.

क्या कहती है स्टडी?

जो कपल्स हम, हमारा जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते हैं, उनके बीच प्यार ज़्यादा होता है. उनके रिश्ते में ग़ुस्से और नेगेटिव बिहेवियर के लिए जगह नहीं होती. किसी मुद्दे पर सहमत न होने की स्थिति में उनका साइकोलॉजिकल स्ट्रेस लेवल भी कम होता है. वहीं यदि कपल्स मैं, तुम, मैंने जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते हैं, तो ये उनके बीच अलगाव और असंतुष्टि को दर्शाता है.

यह भी पढ़ें: 7 स्मार्ट ट्रिक्स से सुपरचार्ज करें अपनी सेक्स लाइफ

[amazon_link asins=’B01AL1BRMM,B01MT7ZMLV,B01N5XIWFU,B01N6NRQVY,B01FDD2JIO’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’976f84c6-cb8b-11e7-8b8b-b946e1af7f6f’]

सकारात्मक सोच

ज़िंदगी के हर मोर्चे पर सफलता के लिए सकारात्मक सोच जितनी ज़रूरी है, उतनी ही ज़रूरी रिश्ते की सफलता के लिए भी है. पॉज़िटिव इंसान ये नहीं सोचता कि उसके पास क्या नहीं है, बल्कि जो है उसके लिए वो भगवान का शुक्रिया अदा करके ख़ुश रहता है. अपने रिश्ते को पॉज़िटिव बनाए रखने के लिए पार्टनर के प्रति आभार व्यक्त करें, एक-दूसरे की क़ामयाबी का साथ मिलकर जश्‍न मनाएं, फन एक्टिविटी साथ में एन्जॉय करें, पार्टनर को स्पेशल फील कराएं.

क्या कहती है स्टडी?

सकारात्मक सोच रखने वाले कपल्स के रिश्ते मज़बूत बनते हैं और वो पार्टनर से संतुष्ट भी रहते हैं. सकारात्मक सोच का मतलब ये नहीं है कि वो समस्याओं को नज़रअंदाज़ करते हैं, बल्कि सकारात्मक सोच से उनके विचारों को विस्तार मिलता है, जिससे दोनों मिलकर किसी भी समस्या का आसानी से हल निकाल लेते हैं.

बेड पर रहें बेस्ट

हैप्पी मैरिड लाइफ के लिए एक्टिव सेक्स लाइफ बेहद ज़रूरी है. जो कपल्स सेक्सुअली कम एक्टिव होते हैं, वो अपने रिश्ते से भी पूरी तरह संतुष्ट नहीं रहते. वहीं दूसरी ओर सेक्सुअली एक्टिव पति-पत्नी का रिश्ता मज़बूत व संतुष्ट रहता है. कुछ लोगों को लगता है कि बढ़ती उम्र के साथ सेक्स लाइफ का रोमांच कम हो जाता है, जबकि ऐसा नहीं है. इसके विपरीत ‘प्रैक्टिस मेक्स मैन परफेक्ट’ की तर्ज पर कपल्स की सेक्स लाइफ बढ़ती उम्र के साथ और परफेक्ट होती जाती है.

क्या कहती है स्टडी?

30, 40 की बजाय 50 साल की उम्र में पुरुष अपनी सेक्स लाइफ को ज़्यादा एन्जॉय करते हैं, जिससे पार्टनर के साथ उनका रिश्ता भी मज़बूत बनता है.

थैंक्यू कहना भी है ज़रूरी

छोटा-सा शब्द थैंक्यू आपके रिश्ते के लिए बहुत अहम् साबित हो सकता है. ज़रा याद करिए, शादी के शुरुआती दिनों में पार्टनर द्वारा कोई काम करने पर जब आप उन्हें थैंक्यू कहते थे, तो कैसे उनके चेहरे पर मुस्कान बिखर जाती थी. पति-पत्नी यदि एक-दूसरे की मदद की एवज़ में एक-दूसरे के प्रति आभार प्रकट करें, तो निश्‍चय ही ये उनके रिश्ते को सकारात्मक दिशा में ले जाता है और उनके बीच बॉन्डिंग गहरी होती है. अतः इस छोटे शब्द को छोटा समझने की भूल न करें और झट से हमसफ़र को थैंक्यू कहकर स्पेशल फील कराएं.

क्या कहती है स्टडी?

दिल से पार्टनर को कहा गया थैंक्यू शादीशुदा ज़िंदगी को ख़ुशहाल और नई ऊर्जा से भर देता है. जब कपल्स के बीच किसी तरह का मनमुटाव होता है, तो ऐसे नकारात्मक माहौल में किसी छोटी-सी बात के लिए भी दिल से बोला गया थैंक्यू रिश्ते के लिए मरहम का काम करता है.

साथ हंसना भी है फ़ायदेमंद

हंसना भला कौन नहीं चाहता और हंसी से तनाव भी घटता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि पार्टनर के साथ किसी बात/जोक पर हंसना आपके रिश्ते की सेहत के लिए भी अच्छा है? अतः अकेले में कोई जोक/मैसेज पढ़कर मुस्कुराने की बजाय उसे पार्टनर के साथ शेयर करें और दोनों दिल खोलकर हंसें. इससे सेहत और रिश्ता दोनों बने रहेंगे.

क्या कहती है स्टडी?

साथ हंसने वाले कपल्स का रिश्ता मधुर और मज़बूत होता है. अध्ययन के अनुसार, ऐसे कपल्स एक-दूसरे के प्रति ज़्यादा समर्पित और संतुष्ट रहते हैं. कपल्स का एक साथ हंसना उनके रिश्ते की गहराई और अपनेपन को बढ़ाने के लिए टॉनिक का काम करता है. अध्ययन से ये भी साबित हुआ है कि जो पुरुष पार्टनर अपनी हमसफ़र को हंसने के लिए प्रेरित करते हैं उनका पार्टनर से गहरा लगाव होता है.

यह भी पढ़ें: सेक्स से जुड़े टॉप 12 मिथ्सः जानें हक़ीकत क्या है

यह भी पढ़ें: हाथ की रेखाओं से जानें सेक्स लाइफ के बारे में

[amazon_link asins=’B00LJMI38E,B0148OLZNO,B01691KLOS,B01M1FKSAQ’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’a7a6d31d-cb8b-11e7-9a51-d10c7fbfba84′]

November Born: रोमांस ही ज़िंदगी है नवंबर में जन्मे लोगों के लिए (What Your Birth Month Says About Your Love Life)

November Born Love Life

नवंबर में जन्मे लोग वृश्‍चिक और धनु राशि के होते हैं. 1 से 22 नवंबर वाले वृश्‍चिक राशि के होते हैं, जबकि 23 से 30 वाले धनु राशिके. इन दोनों ही राशियों के लोग अपनी लव लाइफ के प्रति काफ़ी गंभीर होते हैं. अपने पार्टनर को हमेशा ख़ुश रखना इन्हें बेहद पसंद है. आइए जानें, इनकी लव लाइफ की कुछ और ख़ूबियां-

November Born Love Life

– अपने पार्टनर को टूटकर चाहते हैं

– पार्टनर की हर इच्छा को बख़ूबी समझते हैं

– सबसे भरोसेमंद पार्टनर्स माने जाते हैं

अपनी लव लाइफ की और भी ख़ूबियों को जानने के लिए क्लिक करें

– नवंबर में जन्मे लोगों के लिए रोमांस बहुत मायने रखता है. ज़्यादातर नवंबर बॉर्न वृश्‍चिक राशिवाले होते हैं, जिनके लिए अक्सर यह कहा जाता है कि ये अपनी सेक्स लाइफ को हमेशा स्पाइसी रखना पसंद करते हैं.

– अपने पार्टनर से अपनी फीलिंग्स शेयर करने का ये कोई भी मौका नहीं छोड़ते.

– ये सबसे भरोसेमंद पार्टनर्स माने जाते हैं.

– अपने पार्टनर के साथ इनका रिश्ता इमोशनल होता है, जिससे जुड़ते हैं दिल की गहराइयों से जुड़ते हैं.

– ये अपने पार्टनर को टूटकर चाहते हैं और उससे भी ऐसी ही उम्मीद करते हैं.

– पार्टनर की हर इच्छा को बख़ूबी समझते हैं.

– इनकी सेक्स लाइफ कभी रोमांटिक होती है.

यह भी पढ़ें: August Born: प्यार ही नहीं, शादी में भी बेहद विश्‍वास रखते हैं अगस्त में जन्मे लोग

यह भी पढ़ें: September Born: पैशनेट लव पसंद करते हैं सितंबर में जन्मे लोग

[amazon_link asins=’B01AL1BRMM,B07114F6KQ,B01N6NRQVY,B01N5XIWFU,B00Y70VBMK,B01I794H40′ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’c4a83ad9-c92d-11e7-9acf-2fb1e05ea8c1′]

मुझे सिर्फ़ अपनी प्रेमिकाओं के शरीर से लगाव थाः नवाजुद्दीन सिद्दिकी ( Revelations from Nawazuddin Siddiqui’s book)

Nawazuddin Siddiqui extramarital affairs autobiography

हमेशा अपनी फिल्मों और एेक्टिंग को लेकर चर्चा में रहने वाले अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी (Nawazuddin Siddiqui) हाल ही में अपनी बायोग्राफी (Biography) को लेकर सुर्खियों में आ गए हैं. नवाज ने अपनी बायोग्राफी ‘An Ordinary Life: A memoir’ में अपने प्रेम संबंधों और सिर्फ अपनी प्रेमिकाओं के शरीर के प्रति अपने लगाव की बात को बहुत ही बेबाकी के साथ स्वीकारा  है. उन्होंने अपनी आत्मकथा ने उन सभी लड़कियों के बारे में खुलासा किया है जो उनकी जिंदगी में आईं. इनमें उनकी ‘मिस लवली’ को-स्टार निहारिका सिंह (Niharika Singh) से लेकर एक यहूदी लड़की और न्यूयॉर्क के एक कैफे में काम करने वाली वेट्रेस भी शामिल हैं. नवाजुद्दीन ने मुंबई में अपने पहले प्यार से लेकर अपनी शादी तक के किस्से इसमें शेयर किए हैं. उन्होंने बताया है कि कैसे मुंबई में उन्हें सुनीता नाम की एेक्ट्रेस से इश्क हुआ और एक दिन वह चली गई. इसके बाद न्यूजर्सी की सुजैन उनकी जिंदगी में आईं और फिर आई ‘मिस लवली’ की उनकी को-एक्ट्रेस निहारिका सिंह.

नवाजुद्दीन निहारिका सिंह के साथ

Nawazuddin Siddiqui extramarital affairs autobiography

अपनी बायोग्राफी में नवाजुद्दीन ने ‘मिस लवली’ की को-स्टार निहारिका सिंह के साथ भी फिजिकल रिलेशन होने की बात कबूली है.साथ ही उन्होंने खुलासा किया कि कैसे पहली बार निहारिका के घर जाने पर वो उन्हें सीधा उनके बेडरूम तक ले गए थे और फिर रिश्ता कायम किया.
हालांकि निहारिका के साथ उनका ये रिश्ता सिर्फ डेढ़ साल में ही टूट गया क्योंकि उस दौरान निहारिका के अलावा नवाजुद्दीन सुजैन नाम की यहूदी लड़की को भी डेट कर रहे थे और यह बात निहारिका सिंह को पता चल गई थी. नवाज ने न्यूयॉर्क में एक वेट्रेस के साथ वन नाइट स्टैंड भी किया. किताब में उन्होंने लिखा है- 2006-2010 का समय बहुत अच्छा था. फिल्म में मेरी पहचान बनने लगी थी. विदेश मुझ पर पहले  मेहरबान हुआ था. काम और प्यार दोनों मामले में. मैं न्यूयॉर्क के एक कैफे में अपने दोस्त के साथ था. एक वेट्रेस मुझे देखे जा रही थी… तुम? तुम एेक्टर हो ना? मैंने कहा- हां. आपने मेरी कौन सी फिल्म देखी है? गैंग्स ऑफ वासेपुर? वो याद करते हुए बोली- नहीं, नहीं, लंचबॉक्स. हमने बात की और मुझे कहना चाहिए कि जो न्यूयॉर्क में होता है, वो वहीं रहता है.
नवाजुद्दीन अपनी पत्नी के साथ
Nawazuddin Siddiqui extramarital affairs autobiography
नवाज की लाइफ में सुजैन नाम की लड़की भी आई थी. उन्होंने लिखा- वो न्यू जर्सी की थी और न्यूयॉर्क में रहती थी. हम वहां मिले और प्यार हो गया. वो मुंबई आई और मेरे साथ रहने लगी. वो अपना वीजा आगे बढ़वाती रहती थी. फिल्म मिस लवली की शूटिंग शुरू हो गई. वो मेरे साथ शूट पर जाती थी. फिर वो समय आया जब उसका वीजा खत्म हो गया और उसे न्यूयॉर्क जाना पड़ा.
आपको बता दें कि नवाजुद्दीन की यह किताब 25 अक्टूूूबर को रिलीज़ होनेवाली है.
[amazon_link asins=’034914043X,067008753X,8187107618,0446581852′ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’013b0f4f-b87d-11e7-8e6b-efa13982483a’]

September Born: पैशनेट लव पसंद करते हैं सितंबर में जन्मे लोग (What Does Your Birth Month Say About Your Love Life)

September Born, पैशनेट लव, सितंबर में जन्मे लोग, Birth Month, Love Life
 September Born, पैशनेट लव, सितंबर में जन्मे लोग, Birth Month, Love Life
  • पैशनेट होते हैं, लेकिन अपनी भावनाओं पर काबू रखना भी अच्छी तरह से जानते हैं.
  • प्यार दिखाने का अंदाज़ अलग ही होता है.
  • अकेले रहना पसंद नहीं करते. रिलेशनशिप में रह कर ही वे ख़ुश रहते हैं. ज़रूरी नहीं कि वो रिलेशनशिप लव अफेयर ही हो. परिवार के बीच रहना उन्हें पसंद होता है.

यह भी पढ़ें: August Born: प्यार ही नहीं, शादी में भी बेहद विश्‍वास रखते हैं अगस्त में जन्मे लोग

  • ये पैशनेट ज़रूर होते हैं, लेकिन जब बात सेक्स की आती है, तो पार्टनर के साथ बिना इमोशनल कनेक्शन के ये परफॉर्म नहीं कर सकते हैं.
  • अपने पार्टनर से कुछ छिपाने या सीक्रेट्स रखने में विश्वास नहीं करते हैं.

यह भी पढ़ें: क्या आप भी 5, 14 और 23 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 5

क्या आपके हार्मोंस आपके रिश्ते को प्रभावित कर रहे हैं? (How Hormones Influence Love And Relationships)

How Hormones Influence Love And Relationships

ये रूह के रिश्ते क्यों स़िर्फ जिस्म तक ही सिमटते जा रहे हैं… और जिस्म से होते हुए सिसक-सिसक कर दम तोड़ते जा रहे हैं… दूरियां जो आ रही हैं दरमियान, मन का पंछी ढूंढ़ने लगा है एक नया आशियान… लेकिन मुहब्बत जो कभी हममें-तुममें थी… अब भी कह रही है कि बचे हैं उसके कुछ तो नामो-निशान… न कुसूर तुम्हारा था, न ख़ता हमारी थी… बस व़क्त के सितम हमें तन्हा करते चले गए… और क़रीब आने की हसरत में हम दूर होते चले गए…

How Hormones Influence Love And Relationships
जी हां, यह बात सच है कि मॉडर्न लाइफस्टाइल ने हमारे रूहानी रिश्तों को जिस्मानी बना दिया है. भावनाओं की जगह ज़रूरतों ने ले ली है और सपनों की जगह कठोर हक़ीक़तों ने अपना डेरा जमा लिया. यही वजह है कि सब कुछ बदल रहा है. हम बदल रहे हैं… हमारा खान-पान बदल रहा है… दिनचर्या बदल रही है… और इसका सीधा प्रभाव हमारी सेहत और हमारे रिश्तों की सेहत पर पड़ रहा है.
यह तो हम सभी जानते हैं कि हमारी तमाम गतिविधियों को हर्मोंस ही प्रभावित करते हैं. ऐसे में उनमें होनेवाले बदलाव हम में भी बहुत कुछ बदल देते हैं. हार्मोंस में यह बदलाव काफ़ी हद तक हमारी लाइफस्टाइल व डायट पर भी निर्भर करता है. यही वजह है कि आजकल तेज़ी से हमारा मूड और हमारे रिश्ते बदल रहे हैं, क्योंकि हर्मोंस बदल रहे हैं.

शोधों से यह बात साबित हो चुकी है कि आज के दौर में हम और ख़ासतौर से महिलाएं पहले की अपेक्षा अधिक हार्मोनल बदलाव से गुज़रती हैं. लेकिन अब यह बात भी लोग मानने लगे हैं कि हार्मोंस में होनेवाले यह बदलाव हमारे रिश्तों को भी प्रभावित करने लगे हैं.

हार्मोंस और मूड

हार्मोंस के बदलाव से बहुत कुछ बदलता है- हमारा मूड हो या शरीर में कोई परिवर्तन, हार्मोंस की उसमें अहम् भूमिका होती है.
बदलते हार्मोंस से बदलते हैं रिश्ते: जब कभी भी शरीर में हार्मोंस का असंतुलन होता है, आपकी सेक्स की इच्छा कम हो जाती है और मूड स्विंग्स बढ़ जाते हैं. ये दोनों ही चीज़ें रिश्ते को बुरी तरह प्रभावित करती हैं.

महिलाओं में सेक्सुअल डिज़ायर बनाए रखने के लिए प्रोजेस्टेरॉन और इस्ट्रोजेन में संतुलन बनाए रखना ज़रूरी है. लेकिन अधिकांश महिलाओं में इस्ट्रोजन की अधिकता होती है, जिससे सेक्स की इच्छा में कमी आती है.

प्रोजेस्टेरॉन शांत हार्मोन होता है, जो महिलाओं की सेक्सुअल हेल्थ व सामान्य सेहत को भी बेहतर बनाता है. इसी तरह से इस्ट्रोजेन का स्तर भी यदि सही व संतुलित रहेगा, तो सेक्स की इच्छा बढ़ेगी और सेक्स लाइफ बेहतर होगी. सेक्स लाइफ और रिलेशनशिप का बहुत गहरा संबंध होता है, यदि आपकी सेक्स लाइफ अच्छी है, तो आपका रिश्ता और बेहतर बनेगा और यदि सेक्स लाइफ सामान्य नहीं, तो रिश्ते पर इसका नकारात्मक प्रभाव साफ़तौर पर नज़र आएगा. यही वजह है कि हार्मोंस का संतुलन आपके रिश्ते के लिए बेहद ज़रूरी है.

सेल्फ इमेज पर प्रभाव: अगर अपने शरीर में कुछ परिवर्तन महसूस कर रहे हैं, तो इसका संबंध हार्मोंस से हो सकता है. हर्मोंस के असंतुलन से वज़न बढ़ना, थकान रहना, अचानक तेज़ गर्मी लगकर पसीना आना आदि समस्याएं हो सकती हैं. ये तमाम शारीरिक समस्याएं आपके ख़ुद को देखने के नज़रिए पर असर डालती हैं और इससे आपका रिश्ता भी प्रभावित हुए बिना नहीं रहता.
प्रोजेस्टेरॉन, टेस्टॉसटेरॉन और इस्ट्रोजेन- इन तीनों हार्मोंस के असंतुलन का आपके मूड पर और सेल्फ एस्टीम (आत्मसम्मान) पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है.
इन हार्मोंस को संतुलित रखना बेहद जरूरी है, ताकि आप अपने बारे में अच्छा महसूस करें और यही सकारात्मक भाव आपके रिश्ते को भी सकारात्मक रखेगा.

यह भी पढ़ें: कैसे करें हार्मोंस को बैलेंसः 20 Wonderful होम रेमेडीज़

आपके स्वभाव और व्यवहार भी होते हैं प्रभावित: इस्ट्रोजेन का बढ़ता स्तर आपको चिड़चिड़ा बना सकता है. साथ ही आपको अनिद्रा और मूड स्विंग्स जैसी समस्याएं भी दे सकता है. वहीं प्रोजेस्टेरॉन का घटता स्तर आपको स्वाभाव से चिंतित बना सकता है. ऐसे में यदि आप अपने स्वभाव को नियंत्रित नहीं कर पाते, तो दूसरों की नज़रों में आपकी इमेज प्रभावित हो सकती है. आपका पार्टनर भी आपको ग़लत समझ सकता है और आपके रिश्ते पर इसका बुरा असर हो सकता है.
प्रोजेस्टेरॉन के स्तर का सामान्य बनाए रखकर इस्ट्रोजेन के असर को कम किया जा सकता है, जिससे आपके स्वभाव व व्यवहार पर नकारात्मक प्रभाव न पड़े.

आपके दोस्तों व रिश्तेदारों पर भी असर हो सकता है: हर किसी की चाहत होती है कि अपने दोस्तों व क़रीबी लोगों के साथ वो अच्छा व़क्त गुज़ारे, लेकिन आपके हार्मोंस आपको बेवजह को स्ट्रेस देकर आपसे यह अच्छा व़क्त छीन सकते हैं.
किसी भी हार्मोंस के स्तर का बेहद बढ़ना या एकदम कम होना आपके स्वभाव में निराशा, चिड़चिड़ापन, चिंता, अवसाद जैसे नकारात्मक भाव को जन्म दे सकता है. इसके अलावा वज़न बढ़ना या नींद न आना जैसी शारीरिक समस्याएं भी हो सकती हैं. जिससे आपकी ख़ुशियां बहुत हद तक प्रभावित हो सकती हैं.

 

How Hormones Influence Love And Relationships

क्या करें?

– जब कभी भी आप ख़ुद में इस तरह के बदलाव देखें और जब ये चीज़ें आपके व्यवहार व रिश्तों पर असर डालने लगें, तो फ़ौरन एक्सपर्ट की मदद लें. ऐसा करके आप ख़ुद को भी ख़ुश रख सकते हैं और अपने रिश्तों को भी बचा सकते हैं.
– पीरियड्स से पहले व बाद में महिलाओं के हार्मोंस काफ़ी तेज़ी से बदलते हैं, यही वजह है कि उनका मूड इस दौरान काफ़ी बदलता रहता है, ऐसे में अन्य लोगों को थोड़ी समझदारी दिखानी चाहिए, ताकि इसका असर उनके रिश्ते पर न पड़े.
– हेल्दी डायट लें, क्योंकि अनहेल्दी लाइफस्टाइल से हर्मोंस असंतुलित होते हैं. चाय, कॉफी, अल्कोहल, कोल्ड ड्रिंक्स, जंक फूड जितना हो सके कम लें. इनकी जगह गाजर, ब्रोकोली, फूलगोभी, पत्तागोभी, फ्लैक्ससीड, ग्रीन टी, ड्राइ फ्रूट्स, ओट्स, दही, फ्रेश फ्रूट्स, हरी सब्ज़ियां, अदरक, लहसुन आदि अपने डायट में शामिल करें. यह तमाम चीज़ें शरीर को डिटॉक्सिफाइ करके हार्मोंस को संतुलित करती हैं.
– डार्क चॉकलेट्स भी मूड को बेहतर बनाकर डिप्रेशन दूर करता है.
– वेजीटेबल ऑयल्स की जगह ऑलिव ऑयल व कोकोनट ऑयल को शामिल करें.
– लाइट एक्सरसाइज़, योग व प्राणायाम से हार्मोंस संतुलित होते हैं.

यह भी पढ़ें: बचें स्ट्रेस ईटिंग से

हार्मोंस और बिहेवियर

हार्मोंस एंड बिहेवियर के नाम से हुए एक विस्तृत अध्ययन में यह पाया गया है कि किस तरह से महिलाओं के हार्मोंस, उनका अपने पार्टनर को देखने का नज़रिया और उनके रिश्ते में मज़बूत संबंध है.
दरअसल इन सबका संबंध महिलाओं के मासिक धर्म से है. अगर कोई महिला अपने पार्टनर को हॉट समझती है, तो जब उसका पीरियड क़रीब होता है, तो वो अधिक ख़ुश रहती है और अपने पार्टनर के और क़रीब आती है. जबकि यदि महिला अपने पार्टनर को बहुत हॉट नहीं समझती, तो ऑव्युलेशन के समय वो उसकी अधिक निंदा करने लगती है और उससे दूरी बनाए रखती है.

हैप्पी हार्मोंस

मात्र सेक्स ही वो शारीरिक क्रिया नहीं है, जो आपके तनाव को कम करके आपको हेल्दी रख सकती है. जी हां, यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ कैरोलिना में हुए एक अध्ययन में यह पाया गया कि गले मिलने के बाद महिलाओं और पुरुषों में ऑक्सिटोसिन का स्तर अधिक पाया गया और कार्टिसोल का स्तर कम पाया गया.
दरअसल, ऑक्सिटोसिन वो हार्मोन है, जो तनाव कम करके मूड को बेहतर बनाता है, जबकि कार्टिसोल एक स्ट्रेस हार्मोन है. ऐसे में नतीजा यह निकला कि हाथ पकड़ना, प्यार से छूना, दुलार करना आदि केयरिंग बिहेवियर भी आपको
तनावमुक्त रखककर हेल्दी बना सकता है.

– गीता शर्मा

यह भी पढ़ें: रोज़ 4 मिनट करें ये… और 1 महीने में बन जाएं स्लिम एंड सेक्सी

क्या आप भी 5, 14 और 23 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 5 (Numerology No 5: Personality And Characteristics)

न्यूमरोलॉजी का रूलिंग नंबर 5 ऐडवेंचर का नंबर माना जाता है. जिन लोगों का जन्म 5, 14 और 23 तारीख़ को होता है, उन्हें नंबर 5 रूल करता है, जिसे हम उनका रूलिंग नंबर या बर्थ नंबर कह सकते हैं. इसका सीधा-सा कैल्कुलेशन है- आपकी डेट ऑफ बर्थ यानी जन्म तारीख़ के अंकों को जोड़ लें और उससे जो नंबर आता है, वो आपका रूलिंग नंबर कहलाता है. आज हम बात करेंगे नंबर 5 यानी पांच नंबरवालों की. यहां हम उनके स्वभाव, करियर, लव लाइव और पर्सनैलिटी के बारे में जानने की कोशिश करेंगे.

पर्सनालिटी

नेचुरल डिटेक्टिव्स

नंबर 5 वाले नेचुरल डिटेक्टिव्स होते हैं. ये आज़ादी पसंद लोग होते हैं. इनकी ज़िंदगी काफ़ी ऐडवेंचरस होती है. ये चीज़ों को बड़े आसानी से अपना लेते हैं. सफलता की ऊंचाइयों को छूना इनका शौक़ होता है. ये हर फंक्शन की जान होते हैं.

बदलाव पसंद

ये उत्साहित और सकारात्मक किस्म के लोग होते हैं. इनका ज़िंदगी जीने का सकारात्मक रवैया दूसरों को काफ़ी पसंद आता है और यही वजह है कि ये सभी के चहेते होते हैं. ये बदलाव पसंद होते हैं, इसलिए इन्हें रूटीन लाइफ पसंद नहीं, ज़िंदगी में आगे बढ़ते रहना ही इनका मोटो होता है.

फैशनेबल

ये काफ़ी फैशनेबल होते हैं और इन्हें ब्राइट कलर्स बहुत पसंद होते हैं.

सीखना पसंद है

इन्हें हर व़क्त कुछ न कुछ सीखना पसंद है और जिस चीज़ में इन्हें इंट्रेस्ट होता है, उस विषय के बारे में ज़्यादा से ज़्यादा जानना और पढ़ना पसंद करते हैं.

यह भी पढ़ें: क्या आप भी 1, 10, 19 और 28 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 1

स्वभाव

फ्रेंडली व फन लविंग होते हैं, जिससे बहुत जल्दी लोगों से घुलमिल जाते हैं. इनके दोस्तों की फेहरिस्त काफ़ी बड़ी होती है. दोस्ती को दिल से निभाते हैं, पर ऐसे लोग बिल्कुल नापसंद हैं, जो लोग इन्हें फॉर ग्रांटेड लेते हैं. आज़ादी पसंद लोग होते हैं और किसी पर निर्भर रहना इन्हें पसंद नहीं.

करियर

नौकरी, बिज़नेस इनकी ज़िंदगी में हमेशा परिवार के बाद आते हैं. करियर इनके लिए ज़िंदगी जीने का महज़ ज़रिया है. हांलाकि अपने काम में काफ़ी ज़िम्मेदार होते हैं और अपनी ज़िम्मेदारियों को बख़ूबी निभाते हैं. नंबर 5 वाले अपनी हॉबी और पैशन को ही करियर के तौर पर चुनते हैं, ताकि उसे एंजॉय कर सकें. सेल्स, ऐडवर्टाइज़िंग, ट्रैवेल और आउटडोर फिल्ड में जुड़ना पसंद करते हैं.

यह भी पढ़ें: क्या आप भी 2, 11, 20 और 29 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 2

लव लाइफ

ये काफ़ी रोमांटिक और पैशनेट लवर्स माने जाते हैं. सेक्स में अपने पार्टनर को ऐडवेंचरस मूव्स से सरप्राइज़ करना इन्हें बहुत पसंद है. ये कमिटेड पार्टनर्स होते हैं. अपने पार्टनर की भावनाओं का बख़ूबी ख़्याल रखते हैं.

किस नंबरवाले होंगे आपके बेस्ट लाइफ पार्टनर- 1, 3, 5, 6, 7.
लकी डे-  बुधवार और शुक्रवार.
लकी नंबर– 5
लकी कलर- लाइट ग्रे, व्हाइट, ऑरेंज, लाइट ग्रीन.
लकी स्टोन- एमराल्ड और डायमंड.

सेलिब्रिटीज़- आमिर ख़ान, दीपिका पादुकोण, काजोल, आयुष्मान खुराना, राज बब्बर, सनी देओल, तनुजा और हिमेश रेशमिया.

यह भी पढ़ें: क्या आप भी 8, 17 और 26 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 8

यह भी पढ़ें: परफेक्शनिस्ट होते हैं सितंबर में जन्मे लोग

[amazon_link asins=’8122300065,8120784723,0141004231,8172241003′ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’15c3fca8-c3b2-11e7-af0f-778048d3f8ee’]

August Born: प्यार ही नहीं, शादी में भी बेहद विश्‍वास रखते हैं अगस्त में जन्मे लोग (What Your Birth Month Says About Your Love Life)

August Born

August Born

प्यार ही नहीं, शादी में भी बेहद विश्‍वास रखते हैं अगस्त (August) में जन्मे लोग

  • इन्हें कैज़ुअल रिलेशनशिप्स पसंद नहीं होतीं.
  • ये शादी की परंपरा पर बेहद विश्‍वास करते हैं.
  • इनकी सबसे बड़ी ख़ासियत यही होती है कि ये अपने पार्टनर की कमियों को नज़रअंदाज़ करके स़िर्फ उनकी ख़ूबियों पर ध्यान देते हैं.
  • इन्हें रोमांस बहुत पसंद होता है.
  • ये अपने पार्टनर के प्रति बहुत ईमानदार होते हैं, साथ ही पार्टनर से भी उसी ऑनेस्टी की अपेक्षा रखते हैं.

यह भी पढ़ें: सबसे जुदा होते हैं अगस्त में जन्मे लोग

यह भी पढ़ें: Numerology No 8: क्या आप भी 8, 17 और 26 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 8

  • बेडरूम में कोई इन्हें समझाए, यह इन्हें पसंद नहीं आता.
  • ये इस बात पर भी ध्यान देते हैं कि उनके पार्टनर में वो सब कुछ है, जो ये चाहते हैं. अगर ऐसा नहीं है, तो इन्हें उनसे अलग होकर कोई दूसरा साथी तलाशने में भी देर नहीं लगती.
  • प्यार और सेक्स के मामले में ये थोड़ा ईगोइस्ट होते हैं.
  • सेक्स व प्यार के मामले में ये या तो एकदम ही सेलफिश हो सकते हैं या फिर ये बेहद उदार होते हैं. यानी इनके व्यक्तित्व में ये विरोधाभास हो सकता है.

यह भी पढ़ें: Numerology No 1:क्या आप भी 1, 10, 19 और 28 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 1

यह भी पढ़ें: Numerology No 2: क्या आप भी 2, 11, 20 और 29 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 2

7 रिलेशनशिप रेसिपीज़, जो बनाएंगे आपके रिश्ते को ख़ूबसूरत(7 Relationship Recipes For Happy Love Life)

जिस तरह खाना बनाना एक कला है, ठीक उसी तरह रिश्तों को बनाए रखना भी एक कला है. रिश्तों की यह रसोई हमें हमारे दुख के समय सांत्वना देती है और ख़ुशियों के समय जीवन में मिठास भर देती है. हमारी कामयाबी पर हमारी पीठ थपथपाती है, तो हार पर हमारा सिर सहलाती है. रिश्तों की यह रसोई अपने स्वाद की विविधता के कारण हमेशा ही ख़ूबसूरत बनी रहेगी, पर आपको एक कुशल रसोइया बनना होगा. 

Romantic-Love-Couple-HD-Wallpaper-Download (1)
गर आपसे यह कहा जाए कि रिश्ते भी पकते हैं, उबलते हैं, कभी गर्म होते हैं, तो कभी आइस्क्रीम से ठंडे, तो क्या आप यक़ीन करेंगे? यह रिश्तों की रसोई भी बड़ी अजीब है. तरह-तरह के रिश्तों के पकवान रोज़ बनते हैं, तो कभी-कभी बिगड़ भी जाते हैं. रिश्तों की यह रसोई किसी कुशल हाथों में पड़ जाए, तो आप इन पकवानों के स्वाद का मज़ा लेते नहीं थकेंगे, पर वहीं रिश्ते अगर किसी नौसिखिए के हाथ पड़ जाएं, तो पूरी रसोई जलने का ख़तरा है.
इस रसोई का एक नियम है कि अगर कभी कोई पकवान बिगड़ भी जाए, तो उसे समय रहते ठीक करना रसोइए को आना चाहिए. रिश्तों की रसोई में नई-नई रेसिपीज़ बनाने वाले रसोइये का अनुभवी, समझदार, संवेदनशील व संयमी होना आवश्यक है. इसी रसोई से हमारा
घर-परिवार, समाज ख़ुशहाल है. इससे ही हमारे सगे-संबंधी हमसे जुड़े हुए हैं.

ये भी पढें: रिश्तों के लिए ज़रूरी हैं ये 5 रेज़ोल्यूशन्स

आजकल इस रसोई में रिश्तों के कुछ नए पकवान भी बन रहे हैं, पर पकवान चाहे कितने ही नए क्यों न हों, उन्हें स्वादिष्ट बनाने की रेसिपी वही पुरानी है. कहने का तात्पर्य यह है कि जिस तरह घर की रसोई के बिना हमारा घर चलना मुश्किल है, उसी तरह रिश्तों की रसोई के बिना या रिश्तों के बिना हमारा परिवार, समाज और हमारा जीवन चल पाना मुश्किल है, तो आइए ज़रा इस रसोई में झांकते हैं और देखते हैं कि आख़िर क्या है रिश्तों को ख़ूबसूरत बनाए रखने की रेसिपी.
हम कोई मशीन नहीं हैं, इसलिए हमेशा ग़लतियों की गुंजाइश बनी रहती है. हममें ग़ुस्सा, द्वेष, ईर्ष्या आदि सभी अवगुणों का भी समावेश है. इन सब का असर हमारे रिश्तों पर भी पड़ता है. रिश्ते बनाना जितना महत्वपूर्ण है, उससे भी ज़्यादा महत्वपूर्ण है, उन्हें संभालकर रखना. जिस तरह आप खाने को रुचिकर बनाए रखने के लिए अलग-अलग रेसिपीज़ बनाते रहते हैं, उसी तरह हमारे रिश्तों को रुचिकर बनाए रखने के लिए भी कई रेसिपीज़ अर्थात् तरीक़ों का उपयोग करना पड़ता है.
जिस तरह खाने में हल्दी, नमक, मिर्च, मिठास सबका सही अनुपात में होना ज़रूरी है, ठीक उसी तरह रिश्तों में भी प्रेम की मिठास, नोकझोंक की मिर्च और रूठने-मनाने का नमक होना आवश्यक है. कोई भी रिश्ता कभी भी हमेशा अच्छा ही अच्छा नहीं हो सकता, उसमें थोड़ी-सी कड़वाहट तो आती ही है, तो क्या हमें अपने रिश्ते को उसी कड़वाहट के साथ छोड़ देना चाहिए या उसमें कुछ बदलाव लाकर उसे नया स्वरूप देना चाहिए. नोकझोंक, ग़ुस्सा अगर मर्यादा में रहे, तो आपके रिश्ते चटपटे बन जाएंगे. तो आइए सीखें रिश्तों की कुछ नई रेसिपीज़.
1. रिश्ते से बाहर निकलकर सोचें रिश्ते के बारे में
क्या हुआ, कुछ अजीब लगा, पर यह बड़ा कारगर उपाय है. अक्सर ऐसा होता है कि कुछ समय के बाद कितने भी सुमधुर रिश्ते क्यों ना हों, पर उसमें एक ठंडापन आ जाता है. तो अगर आपका कोई भी रिश्ता इस ठंडेपन से गुज़रने की कगार पर हो, तो अपने
रिश्ते पर थोड़ा-सा नींबू निचोड़ें. ख़ुद को उस रिश्ते से थोड़ा-सा दूर कर लें, पर याद रहे, इस प्रक्रिया में अपने आपको रिश्तेदारों से दूर ना करें. इस उपाय में नींबू का खट्टापन आपके रिश्तों की खटास दूर कर देगा.
2. तोड़ दें सन्नाटे की ब़र्फ
कभी-कभी ऐसा होता है कि कुछ रिश्ते हमसे रूठ जाते हैं. तब दो लोगों के बीच एक अनजानी-सी दीवार खड़ी हो जाती है. एक
अजीब-सी चुप्पी आ जाती है. ना किसी से कोई कुछ पूछता है और ना ही कोई कुछ बताता है. हालांकि यह दीवार दिखती नहीं है, पर होती है, तो इस ब़र्फ पर भावनाओं और संवाद का गर्म पानी डालें और इस ब़र्फ को पिघला दें.
3. अनुभवों का मसाला डालना ना भूलें
यह मसाला अगर हम समय-समय पर अपने रिश्तों में डालते रहें, तो रिश्तों का स्वाद हमेशा बना रहेगा. यह मसाला हमें हमारी
दादी-नानी के पास मिलेगा. समय-समय पर अपने बुज़ुर्गों से रिश्तों के बारे में थोड़ा-बहुत ज्ञान लेते रहना चाहिए. समय की कमी के चलते हमें बड़े-बुज़ुर्गों के पास बैठने का समय कम ही मिलता है, पर हमारे रिश्तों को ख़ूबसूरत बनाने के लिए यह बहुत ज़रूरी है. दादी-नानी की कहानियां स़िर्फ दिल बहलाने के लिए नहीं होतीं, उनमें कुछ ना कुछ सीख छुपी होती है. तो इन पुराने मसालों के
डिब्बों को खोलिए और अपने रिश्तों को नया ज़ायका दीजिए.

ये भी पढें: पहचानें अपने रिलेशनशिप की केमेस्ट्री

4. नोकझोंक का नमक और मनमुटाव की मिर्च
जिस तरह किसी भी खाने में नमक-मिर्च का होना बहुत आवश्यक है, उसी तरह किसी भी रिश्ते में नोकझोंक और मनमुटाव का होना आम है और कुछ हद तक ज़रूरी भी, क्योंकि यह तो हम सभी जानते हैं कि मनाने का मज़ा तभी आता है, जब कोई रूठा हुआ हो. इस रूठने-मनाने में रिश्ते की मिठास बनी रहती है. पर याद रहे, यह नमक-मिर्च स्वादानुसार ही होनी चाहिए, मतलब यह कि यह नोकझोंक और मनमुटाव सीमा में हो. इससे आपके रिश्ते को कोई स्थायी क्षति नहीं पहुंचनी चाहिए. ऐसी कितनी ही मीठी नोकझोंक और मनमुटाव हमारे समाज और परिवारों में प्रचलित हैं, जैसे- देवर-भाभी, सास-बहू, ननद-भाभी, जीजा-साली, भाई-बहन आदि.
5. धीमी आंच पर पकने दें
जब नए रिश्ते बनें या पुराने रिश्ते को ही आप नया रूप देना चाह रहे हों, तो उन रिश्तों को थोड़ा समय दें. उन्हें प्रेम और भावनाओं की आंच पर धीरे-धीरे पकने दें. उसका अर्थ यह है कि किसी भी रिश्ते से उसके शुरुआती दौर में बहुत सारी अपेक्षाएं रखना ग़लत है. पहले उसमें विश्‍वास और प्रेम उत्पन्न होने दें. अपेक्षाएं उस रिश्ते को एक झटके में ख़त्म कर देंगी. यह ठीक उसी प्रकार है, जैसे आप रसोई जल्दी बनाने के लिए आंच को बहुत बढ़ा दें, जिससे आपका खाना ही जल जाए. रिश्ते एक दिन में नहीं बनते. इसमें समय लगता है, तो इसमें कोई जल्दबाज़ी ना करें.
6. दर्शनीय हो रिश्तों की परोसी गई थाली
खाना चाहे कितना भी स्वादिष्ट हो, पर जब तक उसे सलीके से परोसा ना जाए, तब तक उसे खाने का मन नहीं करेगा. उसी प्रकार आप किसी रिश्ते को बहुत गंभीरता से लेते हैं. किसी से बहुत प्यार करते हैं, किसी को लेकर चिंतित हैं, तो याद रखें कि आपकी कोई भी भावना व्यक्त किए बग़ैर सामनेवाले के पास ठीक तरी़के से नहीं पहुंचेगी. अपनी भावनाओं को सामनेवाले पर अच्छे से ज़ाहिर करना बहुत ज़रूरी है.
7. आख़िर में ज़रूरी है स्वीट डिश
चाहे खाना अच्छा बने या फिर बेस्वाद, पर अगर अंत में मीठा हो जाए, तो खाना कंप्लीट हो जाता है. कहने का तात्पर्य यह है कि अपने जीवन में रिश्तों की मिठास को ना तो भूलें और ना ही नज़रअंदाज़ करें. किसी भी बिगड़े रिश्ते को छोड़ देना हमेशा सबसे आसान विकल्प होता है, पर ध्यान रखें कि किसी भी रिश्ते को काटकर फेंकने से आपका जीवन अपंग हो जाता है, तो चाहे आपका कोई भी रिश्ता कितनी ही कड़वाहट से गुज़र चुका हो, पर उसमें अपनेपन की मिठास मिलाइए और अतीत की सारी कड़वाहट
भूल जाइए.

ये भी पढें: 6 AMAZING लव रूल्स हैप्पी लव लाइफ के लिए

 

– विजया कठाले निबंधे

[amazon_link asins=’B01M1FKSAQ,B01691KLOS,B01N8RIULH,B01GHJLUG0′ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’39ab64c2-b8b3-11e7-83af-c10e5fca3472′]

हेमा मालिनी …और मुझे मोहब्बत हो गई… देखें वीडियो (Hema Malini ….And I’m In Love… Watch Video)

हेमा मालिनी, Hema Malini

मोहब्बत का कोई दायरा नहीं होता… वो बेलौस होती है और बेकमान भी… बस दौड़ पड़ती है अपने हमसफ़र के पीछे-पीछे… हर राह, हर मुश्किल तय करके अपने अस्तित्व को मुकम्मल करने के लिए… पता ही नहीं चलता कब, कैसे, बिना किसी आहट के आपकी पलकों पर सपने सजने लगते हैं… आंखों में जैसे चांद चमकने लगता है… होंठों पर लफ़्ज़ आकर रुक से जाते हैं और गालों पर जैसे ढेरों गुलाब-से खिल जाते हैं… आप ख़ुद को सबसे ख़ास समझने लगते हो, क्योंकि किसी की चाहतभरी नज़रें आपको ख़ूबसूरत होने का एहसास कराती हैं और आप उन नज़रों में ज़िंदगीभर के लिए खो जाना चाहते हो. (देखें वीडियो)

 

कमसिन-सी उम्र में जब चुपके से मोहब्बत दिल के दरवाज़े पर दस्तक देती है, तो ज़िंदगी ही बदल जाती है… सारी कायनात ख़ूबसूरत नज़र आने लगती है… सच, हर इंसान को ज़िंदगी में मोहब्बत ज़रूर करनी चाहिए. मोहब्बत आपको ज़िंदगी से प्यार करना सिखाती है, किसी के लिए अपना सब कुछ लुटा देने का हुनर सिखाती है.

Hemaji Beauty 8

हां, मैंने भी जिया है मोहब्बत के इस ख़ूबसूरत एहसास को और आज भी जब उन हसीन पलों को याद करती हूं, तो ख़ुशी के साथ-साथ इस बात की तसल्ली होती है कि हां, मैंने ज़िंदगी को पूरी शिद्दत के साथ जिया है… हां, मैंने भी प्यार किया है. अपनी मोहब्बत के रिश्ते को नाम दिया, अपने हमसफ़र के साथ एक हसीन दुनिया बसाई, दो प्यारी बेटियों की मां बनी… एक औरत को ज़िंदगी से और क्या चाहिए?

यह भी देखें: हेमा मालिनी की फैमिली फोटोग्राफ्स

Hemaji Family 11

हाल ही में हमने अपनी शादी की 38वीं सालगिरह मनाई. धरमजी और बेटियों के साथ ये 38 साल कैसे गुज़र गए पता ही नहीं चला. ज़िंदगी में इससे ज़्यादा और कुछ मैं मांग भी नहीं सकती, क्योंकि जितना मिला, उसने मुझे संपूर्ण बनाया… कहीं भी कोई अपूर्णता का एहसास दिल के आसपास फटक ही नहीं सकता. जिससे प्यार किया, उसे ही अपने हमसफ़र के रूप में पाया… और मां बनने के बाद तो ज़िंदगी और भी हसीन हो गई. अपने बच्चों को अपनी आंखों के सामने बढ़ते देखने का एहसास ही कुछ अलग होता है. आज मेरी दोनों बेटियों की शादी हो गई है. वो अपनी गृहस्थी में ख़ुश हैं. आहना के बेटे के साथ जब मैं और धरमजी खेलते हैं, तो हमें अपनी बेटियों का बचपन याद आ जाता है. हमने अपने रिश्ते और ज़िम्मेदारियोें को बख़ूबी निभाया है. हमने एक-दूसरे को अपने करियर में आगे बढ़ने का हौसला दिया है. शादी के बाद भी मैंने डांस, एक्टिंग, पॉलिटिकल करियर को जारी रखा, लेकिन धरमजी ने मुझे कभी किसी चीज़ के लिए रोका नहीं, बल्कि वो हमेशा मेरा हौसला बढ़ाते हैं.

यह भी देखें: हेमा मालिनी का डांस करियर

Hemaji Family 12

यही है सच्चा प्यार, जो बिना किसी चाह और बिना किसी शर्त के स़िर्फ अपने साथी की ख़ुशी चाहता है. अपने हमसफ़र को आगे बढ़ते देख वो भी ख़ुश हो जाता है. मैं ख़ुशनसीब हूं कि मुझे धरमजी जैसे हमसफ़र मिले. उन्होंने मुझे न स़िर्फ अपनी ज़िंदगी में शामिल किया, बल्कि मेरी ज़िंदगी को बहुत हसीन बना दिया.
आज पीछे मुड़कर देखती हूं, तो इस बात की ख़ुशी होती है कि मैंने ज़िंदगी से जो भी चाहा, वो मुझे मिला है. सच, मैं अपनी ज़िंदगी से बहुत ख़ुश हूं. जहां तक हमारे इश्क़ की बात है, तो मुझे धरमजी से तब प्यार हुआ, जब मुझे फिल्म इंडस्ट्री में अच्छी-खासी शोहरत मिल चुकी थी. धरमजी के साथ मैंने कई फिल्मों में काम किया और साथ काम करते हुए हम एक-दूसरे के क़रीब आ गए.

यह भी देखें: हेमा मालिनी का फिल्मी सफ़र

Hemaji Family 8

उस व़क्त मैं अपने करियर के पीक पर थी और मेरे हाथ में कई अच्छी फिल्में थीं, इसलिए मेरी मां भी यही चाहती थीं कि मैं फ़िलहाल अपने करियर पर ध्यान दूं. इसी बीच मैंने यह भी महसूस किया कि धरमजी और मैं बेहद क़रीब आ चुके हैं, क्योंकि मोहब्बत पर कहां किसी का ज़ोर चलता है. मैं चाहकर भी ख़ुद को धरमजी के आकर्षण से रोक नहीं पाई, लेकिन मेरे मन में यह भी दुविधा थी कि मेरे और धरमजी के रिश्ते को कैसे सही दिशा मिले? धरमजी पहले से शादीशुदा थे, तो मेरे मन में यह ख़्याल तक नहीं आया कि हमारी मुहब्बत की मंज़िल शादी हो सकती है. हम दोनों के परिवार भी हमारी मुहब्बत को स्वीकार नहीं पा रहे थे, क्योंकि यह ग़लत था. मैं भी यही सोचती थी कि धरमजी से शादी तो संभव ही नहीं, तो कैसे हमारे रिश्ते को एक मुकाम मिलेगा? लेकिन फिर मेरी दुविधा का अंत मेरी फैमिली व घर के सदस्यों ने किया. वो बड़े थे और वो ही मुझे सही राह दिखा सकते थे. सो उन्होंने निर्णय लिया कि इस तरह से यह रिश्ता यूं ही नहीं चलता रह सकता, इसे एक मुकाम व नाम मिलना चाहिए. उनके निर्णय ने हमारी सोच को सही दिशा दी और हमने शादी कर ली. मेरी ज़िंदगी में मोहब्बत और ख़ुशियों ने एक साथ दस्तक दी और उसके बाद मेरी ज़िंदगी ही बदल गई.

यह भी देखें: हेमा मालिनी का पॉलिटिकल करियर

Hemaji Family 7
हालांकि यह सही है कि बिना शादी के यूं ही प्यार में बने रहना… इस तरह का रिश्ता हम दोनों के परिवारवालों को मंज़ूर नहीं था, लेकिन हम एक-दूसरे के प्यार में इतने ज़्यादा डूबे हुए थे कि हम भी ख़ुद को असहाय महसूस कर रह थे और किसी निर्णय पर नहीं पहुंच पा रहे थे. हमारे प्यार को देखते हुए ही पैरेंट्स ने हमें शादी करने की सलाह दी. कह सकते हैं कि हमारी क़िस्मत शायद एक-दूसरे से बंधी थी, हमें साथ रहना ही था, इसीलिए लाख मुसीबतें पार करके भी हम एक हो गए.

Hemaji Beauty 3
मेरे पिताजी ने मेरे लिए कई लड़के देखे, लेकिन कहीं बात नहीं बनी. फिल्म इंडस्ट्री में भी किसी से शादी का संयोग इसीलिए नहीं बना, क्योंकि भगवान ने मेरे लिए धरमजी को ही चुना था. किसी ने सच ही कहा है कि आप प्यार को नहीं चुनते, प्यार आपको चुनता है. मुझे प्यार ने धरमजी के लिए चुन लिया था. उनसे शादी होना मेरे भाग्य में लिखा था और जब आप अपने प्यार को पा लेते हो, तो आपके लिए ज़िंदगी की राह बहुत आसान हो जाती है. आप ज़िंदगी के उतार-चढ़ाव को हंसी-ख़ुशी झेल जाते हैं. हमारे साथ भी ऐसा ही हुआ. हमने साथ मिलकर अपनी दुनिया बसाई और निखारने की हर मुमकिन कोशिश की.

Hemaji Beauty 4
मैंने अपने अनुभव से यही सीखा है कि आप प्यार जैसे पाक एहसास को प्लान नहीं कर सकते… क्योंकि प्यार उस शबनम की बूंद की तरह होता है, जो किसी के दिल में बसकर नायाब मोती बन जाता है. प्यार ख़ुद-ब-ख़ुद होता है… यह मन का बंधन है, जिसे सोच-समझकर नहीं किया जाता. यही वजह है कि हमारे समाज में प्यार को आज भी सबसे बड़ा दर्जा दिया जाता है. इस एहसास को जो जी लेता है, वो फिर इससे कभी उबरना नहीं चाहता…!

पति की इन 7 आदतों से जानें कितना प्यार करते हैं वो आपको (These 7 Habits Can Tell How Much Your Husband Loves You)

यूं तो पति-पत्नी का रिश्ता बेहद जटिल होता है. लेकिन इस रिश्ते को समझना भी आसान हो सकता है अगर आप पार्टनर के बॉडी लैंग्वेज को पढ़ना सीख जाएं. उनकी आदतों से भी आप अपने रिश्ते की गहराई जान सकती हैं. कैसे, आइए जानते हैं.

iStock_000061970850_Small

उनके हाथ पकड़ने की स्टाइल

यदि पुरुष आपका हाथ कसकर पकड़े और उसकी उंगलियां इंटरलॉक्ड हों तो इसका मतलब है कि वह आपसे बेइंतहा मुहब्बत करता है और अपनी मुहब्बत का खुलेआम इज़हार करने में भी नहीं झिझकता. ऐसे पुरुष का साथ आपकी ज़िंदगी में ख़ुशियां लेकर आएगा. लेकिन अगर हाथ पकड़ते समय पुरुष के हाथ का कसाव ढीला हो या दबाव हल्का हो तो इसका मतलब है कि या तो आपके रिश्ते अभी शुरुआती दौर में हैं या अभी तक वो आपको समझ नहीं पाया है.

ये भी पढें: स्त्रियों की 10 बातें, जिन्हें पुरुष कभी समझ नहीं पाते

पैरों की पोज़ीशन

अगर पुरुष आपके साथ बैठा हो, उसके पैर क्रॉस हों, लेकिन पैरों की दिशा आपकी ओर न हो तो ये संकेत ठीक नहीं. इसका मतलब है कि उसे आपमें ख़ास रुचि नहीं है. लेकिन अगर उसके क्रॉस पैरों की दिशा आपकी ओर हो तो इसका अर्थ है कि वो आपसे प्यार करता है, आपमें दिलचस्पी लेता है और आपका साथ उसे पसंद आता है.

अचानक ज़्यादा प्यार जताने लगे

अचानक आपका पार्टनर आपसे बहुत अधिक प्यार जताने लगे तो ख़ुश न हो जाएं और ये सोचें कि कहीं दाल में कुछ काला तो नहीं है. अगर घर देर से लौटने पर वो आपकी ख़ुशामद करने लगे तो समझ जाइए कि वो अपनी किसी ग़लती को छिपाने की कोशिश कर रहा है. इसके अलावा अक्सर अगर वो ओवरटाइम का बहाना बनाकर देर से घर लौटता हो, मोबाइल या कंप्यूटर के साथ ़ज़्यादा समय बिताने लगा हो तो समझ जाएं कि वो किसी और की ओर आकर्षित हो रहा है.

अगर वो आई कॉन्टैक्ट किए बिना बात करे

अगर वो आपके साथ तो है, लेकिन आपकी आंखों में झांके बिना बात कर रहा है तो या तो वो शर्मीले स्वभाव का है या फिर आपसे कुछ छिपा रहा है. आपके साथ होने के बावजूद अगर वो इधर-उधर देख रहा है तो इसका मतलब है कि वो वफ़ादार नहीं है और ऐसे पुरुष अच्छे लाइफ़ पार्टनर नहीं बन सकते और आपका साथ कभी भी छोड़कर जा सकते हैं.

 यदि बात करते समय पुरुष नाख़ून कुतरे या बार-बार बाल ठीक करे

तो इसका मतलब है कि वो झूठ बोल रहा है या डींगें हांक रहा है. अगर वो हाथ बांधकर बैठे तो ये उसमें आत्मविश्‍वास की कमी को दर्शाता है. या फिर ये भी हो सकता है कि वो नर्वस हो और इस बात से डरा हुआ कि पता नहीं आप उसके मन को समझेंगी या नहीं. ऐसे में रिश्ते में आपको ही पहल करनी होगी और उसकी नर्वसनेस को ख़त्म करना होगा.

यदि वो अक्सर अकेले में मिलने का प्रस्ताव रखे

अगर वो हमेशा इस बात पर जोर दे कि आप दोनों जब भी मिलें, अकेले में ही मिलें तो इसका अर्थ है कि वो आपसे प्यार नहीं करता और उसका प्यार शारीरिक है. ऐसे रिश्ते ़टिकाऊ नहीं होते. इसलिए ऐसे पुरुषों से दूर रहना ही बेहतर है.

ये भी पढें: 10 बातें जो पति को कभी न बताएं 

यदि वह अपने बारे में बात करने से बचे

तो समझ जाएं कि दाल में कुछ काला है. या तो उसने आपसे अपने बारे में जो कुछ बताया है, वो सब झूठ है और पोल खुल जाने के डर से या सच्चाई मुंह से निकल जाने के डर से वो कम से कम बात करना चाह रहा है या फिर ये भी हो सकता है कि वो आपको अपनी ज़िंदगी में शामिल ही नहीं करना चाहता. दोनों ही स्थितियां आपके रिश्ते के लिए ठीक नहीं, इसलिए सावधान हो जाएं.

[amazon_link asins=’B075LPVD3L,B00TZLSD18,B01MU9ZLPM,B075Z1MD6D’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’88099f5d-b8b6-11e7-b5bc-bfe32ed2eefc’]