Tag Archives: Love Life

क्या आपके हार्मोंस आपके रिश्ते को प्रभावित कर रहे हैं? (How Hormones Influence Love And Relationships)

Hormones, Influence, Love, Relationships

ये रूह के रिश्ते क्यों स़िर्फ जिस्म तक ही सिमटते जा रहे हैं… और जिस्म से होते हुए सिसक-सिसक कर दम तोड़ते जा रहे हैं… दूरियां जो आ रही हैं दरमियान, मन का पंछी ढूंढ़ने लगा है एक नया आशियान… लेकिन मुहब्बत जो कभी हममें-तुममें थी… अब भी कह रही है कि बचे हैं उसके कुछ तो नामो-निशान… न कुसूर तुम्हारा था, न ख़ता हमारी थी… बस व़क्त के सितम हमें तन्हा करते चले गए… और क़रीब आने की हसरत में हम दूर होते चले गए…

Hormones, Influence, Love, Relationships
जी हां, यह बात सच है कि मॉडर्न लाइफस्टाइल ने हमारे रूहानी रिश्तों को जिस्मानी बना दिया है. भावनाओं की जगह ज़रूरतों ने ले ली है और सपनों की जगह कठोर हक़ीक़तों ने अपना डेरा जमा लिया. यही वजह है कि सब कुछ बदल रहा है. हम बदल रहे हैं… हमारा खान-पान बदल रहा है… दिनचर्या बदल रही है… और इसका सीधा प्रभाव हमारी सेहत और हमारे रिश्तों की सेहत पर पड़ रहा है.
यह तो हम सभी जानते हैं कि हमारी तमाम गतिविधियों को हर्मोंस ही प्रभावित करते हैं. ऐसे में उनमें होनेवाले बदलाव हम में भी बहुत कुछ बदल देते हैं. हार्मोंस में यह बदलाव काफ़ी हद तक हमारी लाइफस्टाइल व डायट पर भी निर्भर करता है. यही वजह है कि आजकल तेज़ी से हमारा मूड और हमारे रिश्ते बदल रहे हैं, क्योंकि हर्मोंस बदल रहे हैं.

शोधों से यह बात साबित हो चुकी है कि आज के दौर में हम और ख़ासतौर से महिलाएं पहले की अपेक्षा अधिक हार्मोनल बदलाव से गुज़रती हैं. लेकिन अब यह बात भी लोग मानने लगे हैं कि हार्मोंस में होनेवाले यह बदलाव हमारे रिश्तों को भी प्रभावित करने लगे हैं.

हार्मोंस और मूड

हार्मोंस के बदलाव से बहुत कुछ बदलता है- हमारा मूड हो या शरीर में कोई परिवर्तन, हार्मोंस की उसमें अहम् भूमिका होती है.
बदलते हार्मोंस से बदलते हैं रिश्ते: जब कभी भी शरीर में हार्मोंस का असंतुलन होता है, आपकी सेक्स की इच्छा कम हो जाती है और मूड स्विंग्स बढ़ जाते हैं. ये दोनों ही चीज़ें रिश्ते को बुरी तरह प्रभावित करती हैं.

महिलाओं में सेक्सुअल डिज़ायर बनाए रखने के लिए प्रोजेस्टेरॉन और इस्ट्रोजेन में संतुलन बनाए रखना ज़रूरी है. लेकिन अधिकांश महिलाओं में इस्ट्रोजन की अधिकता होती है, जिससे सेक्स की इच्छा में कमी आती है.

प्रोजेस्टेरॉन शांत हार्मोन होता है, जो महिलाओं की सेक्सुअल हेल्थ व सामान्य सेहत को भी बेहतर बनाता है. इसी तरह से इस्ट्रोजेन का स्तर भी यदि सही व संतुलित रहेगा, तो सेक्स की इच्छा बढ़ेगी और सेक्स लाइफ बेहतर होगी. सेक्स लाइफ और रिलेशनशिप का बहुत गहरा संबंध होता है, यदि आपकी सेक्स लाइफ अच्छी है, तो आपका रिश्ता और बेहतर बनेगा और यदि सेक्स लाइफ सामान्य नहीं, तो रिश्ते पर इसका नकारात्मक प्रभाव साफ़तौर पर नज़र आएगा. यही वजह है कि हार्मोंस का संतुलन आपके रिश्ते के लिए बेहद ज़रूरी है.

सेल्फ इमेज पर प्रभाव: अगर अपने शरीर में कुछ परिवर्तन महसूस कर रहे हैं, तो इसका संबंध हार्मोंस से हो सकता है. हर्मोंस के असंतुलन से वज़न बढ़ना, थकान रहना, अचानक तेज़ गर्मी लगकर पसीना आना आदि समस्याएं हो सकती हैं. ये तमाम शारीरिक समस्याएं आपके ख़ुद को देखने के नज़रिए पर असर डालती हैं और इससे आपका रिश्ता भी प्रभावित हुए बिना नहीं रहता.
प्रोजेस्टेरॉन, टेस्टॉसटेरॉन और इस्ट्रोजेन- इन तीनों हार्मोंस के असंतुलन का आपके मूड पर और सेल्फ एस्टीम (आत्मसम्मान) पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है.
इन हार्मोंस को संतुलित रखना बेहद जरूरी है, ताकि आप अपने बारे में अच्छा महसूस करें और यही सकारात्मक भाव आपके रिश्ते को भी सकारात्मक रखेगा.

यह भी पढ़ें: कैसे करें हार्मोंस को बैलेंसः 20 Wonderful होम रेमेडीज़

आपके स्वभाव और व्यवहार भी होते हैं प्रभावित: इस्ट्रोजेन का बढ़ता स्तर आपको चिड़चिड़ा बना सकता है. साथ ही आपको अनिद्रा और मूड स्विंग्स जैसी समस्याएं भी दे सकता है. वहीं प्रोजेस्टेरॉन का घटता स्तर आपको स्वाभाव से चिंतित बना सकता है. ऐसे में यदि आप अपने स्वभाव को नियंत्रित नहीं कर पाते, तो दूसरों की नज़रों में आपकी इमेज प्रभावित हो सकती है. आपका पार्टनर भी आपको ग़लत समझ सकता है और आपके रिश्ते पर इसका बुरा असर हो सकता है.
प्रोजेस्टेरॉन के स्तर का सामान्य बनाए रखकर इस्ट्रोजेन के असर को कम किया जा सकता है, जिससे आपके स्वभाव व व्यवहार पर नकारात्मक प्रभाव न पड़े.

आपके दोस्तों व रिश्तेदारों पर भी असर हो सकता है: हर किसी की चाहत होती है कि अपने दोस्तों व क़रीबी लोगों के साथ वो अच्छा व़क्त गुज़ारे, लेकिन आपके हार्मोंस आपको बेवजह को स्ट्रेस देकर आपसे यह अच्छा व़क्त छीन सकते हैं.
किसी भी हार्मोंस के स्तर का बेहद बढ़ना या एकदम कम होना आपके स्वभाव में निराशा, चिड़चिड़ापन, चिंता, अवसाद जैसे नकारात्मक भाव को जन्म दे सकता है. इसके अलावा वज़न बढ़ना या नींद न आना जैसी शारीरिक समस्याएं भी हो सकती हैं. जिससे आपकी ख़ुशियां बहुत हद तक प्रभावित हो सकती हैं.

 

Hormones, Influence, Love, Relationships

क्या करें?

– जब कभी भी आप ख़ुद में इस तरह के बदलाव देखें और जब ये चीज़ें आपके व्यवहार व रिश्तों पर असर डालने लगें, तो फ़ौरन एक्सपर्ट की मदद लें. ऐसा करके आप ख़ुद को भी ख़ुश रख सकते हैं और अपने रिश्तों को भी बचा सकते हैं.
– पीरियड्स से पहले व बाद में महिलाओं के हार्मोंस काफ़ी तेज़ी से बदलते हैं, यही वजह है कि उनका मूड इस दौरान काफ़ी बदलता रहता है, ऐसे में अन्य लोगों को थोड़ी समझदारी दिखानी चाहिए, ताकि इसका असर उनके रिश्ते पर न पड़े.
– हेल्दी डायट लें, क्योंकि अनहेल्दी लाइफस्टाइल से हर्मोंस असंतुलित होते हैं. चाय, कॉफी, अल्कोहल, कोल्ड ड्रिंक्स, जंक फूड जितना हो सके कम लें. इनकी जगह गाजर, ब्रोकोली, फूलगोभी, पत्तागोभी, फ्लैक्ससीड, ग्रीन टी, ड्राइ फ्रूट्स, ओट्स, दही, फ्रेश फ्रूट्स, हरी सब्ज़ियां, अदरक, लहसुन आदि अपने डायट में शामिल करें. यह तमाम चीज़ें शरीर को डिटॉक्सिफाइ करके हार्मोंस को संतुलित करती हैं.
– डार्क चॉकलेट्स भी मूड को बेहतर बनाकर डिप्रेशन दूर करता है.
– वेजीटेबल ऑयल्स की जगह ऑलिव ऑयल व कोकोनट ऑयल को शामिल करें.
– लाइट एक्सरसाइज़, योग व प्राणायाम से हार्मोंस संतुलित होते हैं.

यह भी पढ़ें: बचें स्ट्रेस ईटिंग से

हार्मोंस और बिहेवियर

हार्मोंस एंड बिहेवियर के नाम से हुए एक विस्तृत अध्ययन में यह पाया गया है कि किस तरह से महिलाओं के हार्मोंस, उनका अपने पार्टनर को देखने का नज़रिया और उनके रिश्ते में मज़बूत संबंध है.
दरअसल इन सबका संबंध महिलाओं के मासिक धर्म से है. अगर कोई महिला अपने पार्टनर को हॉट समझती है, तो जब उसका पीरियड क़रीब होता है, तो वो अधिक ख़ुश रहती है और अपने पार्टनर के और क़रीब आती है. जबकि यदि महिला अपने पार्टनर को बहुत हॉट नहीं समझती, तो ऑव्युलेशन के समय वो उसकी अधिक निंदा करने लगती है और उससे दूरी बनाए रखती है.

हैप्पी हार्मोंस

मात्र सेक्स ही वो शारीरिक क्रिया नहीं है, जो आपके तनाव को कम करके आपको हेल्दी रख सकती है. जी हां, यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ कैरोलिना में हुए एक अध्ययन में यह पाया गया कि गले मिलने के बाद महिलाओं और पुरुषों में ऑक्सिटोसिन का स्तर अधिक पाया गया और कार्टिसोल का स्तर कम पाया गया.
दरअसल, ऑक्सिटोसिन वो हार्मोन है, जो तनाव कम करके मूड को बेहतर बनाता है, जबकि कार्टिसोल एक स्ट्रेस हार्मोन है. ऐसे में नतीजा यह निकला कि हाथ पकड़ना, प्यार से छूना, दुलार करना आदि केयरिंग बिहेवियर भी आपको
तनावमुक्त रखककर हेल्दी बना सकता है.

– गीता शर्मा

यह भी पढ़ें: रोज़ 4 मिनट करें ये… और 1 महीने में बन जाएं स्लिम एंड सेक्सी

क्या आप भी 5, 14 और 23 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 5 (Numerology No 5: Personality And Characteristics)

न्यूमरोलॉजी का रूलिंग नंबर 5 ऐडवेंचर का नंबर माना जाता है. जिन लोगों का जन्म 5, 14 और 23 तारीख़ को होता है, उन्हें नंबर 5 रूल करता है, जिसे हम उनका रूलिंग नंबर या बर्थ नंबर कह सकते हैं. इसका सीधा-सा कैल्कुलेशन है- आपकी डेट ऑफ बर्थ यानी जन्म तारीख़ के अंकों को जोड़ लें और उससे जो नंबर आता है, वो आपका रूलिंग नंबर कहलाता है. आज हम बात करेंगे नंबर 5 यानी पांच नंबरवालों की. यहां हम उनके स्वभाव, करियर, लव लाइव और पर्सनैलिटी के बारे में जानने की कोशिश करेंगे.

पर्सनालिटी

नेचुरल डिटेक्टिव्स

नंबर 5 वाले नेचुरल डिटेक्टिव्स होते हैं. ये आज़ादी पसंद लोग होते हैं. इनकी ज़िंदगी काफ़ी ऐडवेंचरस होती है. ये चीज़ों को बड़े आसानी से अपना लेते हैं. सफलता की ऊंचाइयों को छूना इनका शौक़ होता है. ये हर फंक्शन की जान होते हैं.

बदलाव पसंद

ये उत्साहित और सकारात्मक किस्म के लोग होते हैं. इनका ज़िंदगी जीने का सकारात्मक रवैया दूसरों को काफ़ी पसंद आता है और यही वजह है कि ये सभी के चहेते होते हैं. ये बदलाव पसंद होते हैं, इसलिए इन्हें रूटीन लाइफ पसंद नहीं, ज़िंदगी में आगे बढ़ते रहना ही इनका मोटो होता है.

फैशनेबल

ये काफ़ी फैशनेबल होते हैं और इन्हें ब्राइट कलर्स बहुत पसंद होते हैं.

सीखना पसंद है

इन्हें हर व़क्त कुछ न कुछ सीखना पसंद है और जिस चीज़ में इन्हें इंट्रेस्ट होता है, उस विषय के बारे में ज़्यादा से ज़्यादा जानना और पढ़ना पसंद करते हैं.

यह भी पढ़ें: क्या आप भी 1, 10, 19 और 28 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 1

स्वभाव

फ्रेंडली व फन लविंग होते हैं, जिससे बहुत जल्दी लोगों से घुलमिल जाते हैं. इनके दोस्तों की फेहरिस्त काफ़ी बड़ी होती है. दोस्ती को दिल से निभाते हैं, पर ऐसे लोग बिल्कुल नापसंद हैं, जो लोग इन्हें फॉर ग्रांटेड लेते हैं. आज़ादी पसंद लोग होते हैं और किसी पर निर्भर रहना इन्हें पसंद नहीं.

करियर

नौकरी, बिज़नेस इनकी ज़िंदगी में हमेशा परिवार के बाद आते हैं. करियर इनके लिए ज़िंदगी जीने का महज़ ज़रिया है. हांलाकि अपने काम में काफ़ी ज़िम्मेदार होते हैं और अपनी ज़िम्मेदारियों को बख़ूबी निभाते हैं. नंबर 5 वाले अपनी हॉबी और पैशन को ही करियर के तौर पर चुनते हैं, ताकि उसे एंजॉय कर सकें. सेल्स, ऐडवर्टाइज़िंग, ट्रैवेल और आउटडोर फिल्ड में जुड़ना पसंद करते हैं.

यह भी पढ़ें: क्या आप भी 2, 11, 20 और 29 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 2

लव लाइफ

ये काफ़ी रोमांटिक और पैशनेट लवर्स माने जाते हैं. सेक्स में अपने पार्टनर को ऐडवेंचरस मूव्स से सरप्राइज़ करना इन्हें बहुत पसंद है. ये कमिटेड पार्टनर्स होते हैं. अपने पार्टनर की भावनाओं का बख़ूबी ख़्याल रखते हैं.

किस नंबरवाले होंगे आपके बेस्ट लाइफ पार्टनर- 1, 3, 5, 6, 7.
लकी डे-  बुधवार और शुक्रवार.
लकी नंबर– 5
लकी कलर- लाइट ग्रे, व्हाइट, ऑरेंज, लाइट ग्रीन.
लकी स्टोन- एमराल्ड और डायमंड.

सेलिब्रिटीज़- आमिर ख़ान, दीपिका पादुकोण, काजोल, आयुष्मान खुराना, राज बब्बर, सनी देओल, तनुजा और हिमेश रेशमिया.

यह भी पढ़ें: क्या आप भी 8, 17 और 26 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 8

यह भी पढ़ें: परफेक्शनिस्ट होते हैं सितंबर में जन्मे लोग

August Born: प्यार ही नहीं, शादी में भी बेहद विश्‍वास रखते हैं अगस्त में जन्मे लोग (What Your Birth Month Says About Your Love Life)

August Born

August Born

प्यार ही नहीं, शादी में भी बेहद विश्‍वास रखते हैं अगस्त (August) में जन्मे लोग

  • इन्हें कैज़ुअल रिलेशनशिप्स पसंद नहीं होतीं.
  • ये शादी की परंपरा पर बेहद विश्‍वास करते हैं.
  • इनकी सबसे बड़ी ख़ासियत यही होती है कि ये अपने पार्टनर की कमियों को नज़रअंदाज़ करके स़िर्फ उनकी ख़ूबियों पर ध्यान देते हैं.
  • इन्हें रोमांस बहुत पसंद होता है.
  • ये अपने पार्टनर के प्रति बहुत ईमानदार होते हैं, साथ ही पार्टनर से भी उसी ऑनेस्टी की अपेक्षा रखते हैं.

यह भी पढ़ें: सबसे जुदा होते हैं अगस्त में जन्मे लोग

यह भी पढ़ें: Numerology No 8: क्या आप भी 8, 17 और 26 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 8

  • बेडरूम में कोई इन्हें समझाए, यह इन्हें पसंद नहीं आता.
  • ये इस बात पर भी ध्यान देते हैं कि उनके पार्टनर में वो सब कुछ है, जो ये चाहते हैं. अगर ऐसा नहीं है, तो इन्हें उनसे अलग होकर कोई दूसरा साथी तलाशने में भी देर नहीं लगती.
  • प्यार और सेक्स के मामले में ये थोड़ा ईगोइस्ट होते हैं.
  • सेक्स व प्यार के मामले में ये या तो एकदम ही सेलफिश हो सकते हैं या फिर ये बेहद उदार होते हैं. यानी इनके व्यक्तित्व में ये विरोधाभास हो सकता है.

यह भी पढ़ें: Numerology No 1:क्या आप भी 1, 10, 19 और 28 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 1

यह भी पढ़ें: Numerology No 2: क्या आप भी 2, 11, 20 और 29 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 2

7 रिलेशनशिप रेसिपीज़, जो बनाएंगे आपके रिश्ते को ख़ूबसूरत(7 Relationship Recipes For Happy Love Life)

जिस तरह खाना बनाना एक कला है, ठीक उसी तरह रिश्तों को बनाए रखना भी एक कला है. रिश्तों की यह रसोई हमें हमारे दुख के समय सांत्वना देती है और ख़ुशियों के समय जीवन में मिठास भर देती है. हमारी कामयाबी पर हमारी पीठ थपथपाती है, तो हार पर हमारा सिर सहलाती है. रिश्तों की यह रसोई अपने स्वाद की विविधता के कारण हमेशा ही ख़ूबसूरत बनी रहेगी, पर आपको एक कुशल रसोइया बनना होगा. 

Romantic-Love-Couple-HD-Wallpaper-Download (1)
गर आपसे यह कहा जाए कि रिश्ते भी पकते हैं, उबलते हैं, कभी गर्म होते हैं, तो कभी आइस्क्रीम से ठंडे, तो क्या आप यक़ीन करेंगे? यह रिश्तों की रसोई भी बड़ी अजीब है. तरह-तरह के रिश्तों के पकवान रोज़ बनते हैं, तो कभी-कभी बिगड़ भी जाते हैं. रिश्तों की यह रसोई किसी कुशल हाथों में पड़ जाए, तो आप इन पकवानों के स्वाद का मज़ा लेते नहीं थकेंगे, पर वहीं रिश्ते अगर किसी नौसिखिए के हाथ पड़ जाएं, तो पूरी रसोई जलने का ख़तरा है.
इस रसोई का एक नियम है कि अगर कभी कोई पकवान बिगड़ भी जाए, तो उसे समय रहते ठीक करना रसोइए को आना चाहिए. रिश्तों की रसोई में नई-नई रेसिपीज़ बनाने वाले रसोइये का अनुभवी, समझदार, संवेदनशील व संयमी होना आवश्यक है. इसी रसोई से हमारा
घर-परिवार, समाज ख़ुशहाल है. इससे ही हमारे सगे-संबंधी हमसे जुड़े हुए हैं.

ये भी पढें: रिश्तों के लिए ज़रूरी हैं ये 5 रेज़ोल्यूशन्स

आजकल इस रसोई में रिश्तों के कुछ नए पकवान भी बन रहे हैं, पर पकवान चाहे कितने ही नए क्यों न हों, उन्हें स्वादिष्ट बनाने की रेसिपी वही पुरानी है. कहने का तात्पर्य यह है कि जिस तरह घर की रसोई के बिना हमारा घर चलना मुश्किल है, उसी तरह रिश्तों की रसोई के बिना या रिश्तों के बिना हमारा परिवार, समाज और हमारा जीवन चल पाना मुश्किल है, तो आइए ज़रा इस रसोई में झांकते हैं और देखते हैं कि आख़िर क्या है रिश्तों को ख़ूबसूरत बनाए रखने की रेसिपी.
हम कोई मशीन नहीं हैं, इसलिए हमेशा ग़लतियों की गुंजाइश बनी रहती है. हममें ग़ुस्सा, द्वेष, ईर्ष्या आदि सभी अवगुणों का भी समावेश है. इन सब का असर हमारे रिश्तों पर भी पड़ता है. रिश्ते बनाना जितना महत्वपूर्ण है, उससे भी ज़्यादा महत्वपूर्ण है, उन्हें संभालकर रखना. जिस तरह आप खाने को रुचिकर बनाए रखने के लिए अलग-अलग रेसिपीज़ बनाते रहते हैं, उसी तरह हमारे रिश्तों को रुचिकर बनाए रखने के लिए भी कई रेसिपीज़ अर्थात् तरीक़ों का उपयोग करना पड़ता है.
जिस तरह खाने में हल्दी, नमक, मिर्च, मिठास सबका सही अनुपात में होना ज़रूरी है, ठीक उसी तरह रिश्तों में भी प्रेम की मिठास, नोकझोंक की मिर्च और रूठने-मनाने का नमक होना आवश्यक है. कोई भी रिश्ता कभी भी हमेशा अच्छा ही अच्छा नहीं हो सकता, उसमें थोड़ी-सी कड़वाहट तो आती ही है, तो क्या हमें अपने रिश्ते को उसी कड़वाहट के साथ छोड़ देना चाहिए या उसमें कुछ बदलाव लाकर उसे नया स्वरूप देना चाहिए. नोकझोंक, ग़ुस्सा अगर मर्यादा में रहे, तो आपके रिश्ते चटपटे बन जाएंगे. तो आइए सीखें रिश्तों की कुछ नई रेसिपीज़.
1. रिश्ते से बाहर निकलकर सोचें रिश्ते के बारे में
क्या हुआ, कुछ अजीब लगा, पर यह बड़ा कारगर उपाय है. अक्सर ऐसा होता है कि कुछ समय के बाद कितने भी सुमधुर रिश्ते क्यों ना हों, पर उसमें एक ठंडापन आ जाता है. तो अगर आपका कोई भी रिश्ता इस ठंडेपन से गुज़रने की कगार पर हो, तो अपने
रिश्ते पर थोड़ा-सा नींबू निचोड़ें. ख़ुद को उस रिश्ते से थोड़ा-सा दूर कर लें, पर याद रहे, इस प्रक्रिया में अपने आपको रिश्तेदारों से दूर ना करें. इस उपाय में नींबू का खट्टापन आपके रिश्तों की खटास दूर कर देगा.
2. तोड़ दें सन्नाटे की ब़र्फ
कभी-कभी ऐसा होता है कि कुछ रिश्ते हमसे रूठ जाते हैं. तब दो लोगों के बीच एक अनजानी-सी दीवार खड़ी हो जाती है. एक
अजीब-सी चुप्पी आ जाती है. ना किसी से कोई कुछ पूछता है और ना ही कोई कुछ बताता है. हालांकि यह दीवार दिखती नहीं है, पर होती है, तो इस ब़र्फ पर भावनाओं और संवाद का गर्म पानी डालें और इस ब़र्फ को पिघला दें.
3. अनुभवों का मसाला डालना ना भूलें
यह मसाला अगर हम समय-समय पर अपने रिश्तों में डालते रहें, तो रिश्तों का स्वाद हमेशा बना रहेगा. यह मसाला हमें हमारी
दादी-नानी के पास मिलेगा. समय-समय पर अपने बुज़ुर्गों से रिश्तों के बारे में थोड़ा-बहुत ज्ञान लेते रहना चाहिए. समय की कमी के चलते हमें बड़े-बुज़ुर्गों के पास बैठने का समय कम ही मिलता है, पर हमारे रिश्तों को ख़ूबसूरत बनाने के लिए यह बहुत ज़रूरी है. दादी-नानी की कहानियां स़िर्फ दिल बहलाने के लिए नहीं होतीं, उनमें कुछ ना कुछ सीख छुपी होती है. तो इन पुराने मसालों के
डिब्बों को खोलिए और अपने रिश्तों को नया ज़ायका दीजिए.

ये भी पढें: पहचानें अपने रिलेशनशिप की केमेस्ट्री

4. नोकझोंक का नमक और मनमुटाव की मिर्च
जिस तरह किसी भी खाने में नमक-मिर्च का होना बहुत आवश्यक है, उसी तरह किसी भी रिश्ते में नोकझोंक और मनमुटाव का होना आम है और कुछ हद तक ज़रूरी भी, क्योंकि यह तो हम सभी जानते हैं कि मनाने का मज़ा तभी आता है, जब कोई रूठा हुआ हो. इस रूठने-मनाने में रिश्ते की मिठास बनी रहती है. पर याद रहे, यह नमक-मिर्च स्वादानुसार ही होनी चाहिए, मतलब यह कि यह नोकझोंक और मनमुटाव सीमा में हो. इससे आपके रिश्ते को कोई स्थायी क्षति नहीं पहुंचनी चाहिए. ऐसी कितनी ही मीठी नोकझोंक और मनमुटाव हमारे समाज और परिवारों में प्रचलित हैं, जैसे- देवर-भाभी, सास-बहू, ननद-भाभी, जीजा-साली, भाई-बहन आदि.
5. धीमी आंच पर पकने दें
जब नए रिश्ते बनें या पुराने रिश्ते को ही आप नया रूप देना चाह रहे हों, तो उन रिश्तों को थोड़ा समय दें. उन्हें प्रेम और भावनाओं की आंच पर धीरे-धीरे पकने दें. उसका अर्थ यह है कि किसी भी रिश्ते से उसके शुरुआती दौर में बहुत सारी अपेक्षाएं रखना ग़लत है. पहले उसमें विश्‍वास और प्रेम उत्पन्न होने दें. अपेक्षाएं उस रिश्ते को एक झटके में ख़त्म कर देंगी. यह ठीक उसी प्रकार है, जैसे आप रसोई जल्दी बनाने के लिए आंच को बहुत बढ़ा दें, जिससे आपका खाना ही जल जाए. रिश्ते एक दिन में नहीं बनते. इसमें समय लगता है, तो इसमें कोई जल्दबाज़ी ना करें.
6. दर्शनीय हो रिश्तों की परोसी गई थाली
खाना चाहे कितना भी स्वादिष्ट हो, पर जब तक उसे सलीके से परोसा ना जाए, तब तक उसे खाने का मन नहीं करेगा. उसी प्रकार आप किसी रिश्ते को बहुत गंभीरता से लेते हैं. किसी से बहुत प्यार करते हैं, किसी को लेकर चिंतित हैं, तो याद रखें कि आपकी कोई भी भावना व्यक्त किए बग़ैर सामनेवाले के पास ठीक तरी़के से नहीं पहुंचेगी. अपनी भावनाओं को सामनेवाले पर अच्छे से ज़ाहिर करना बहुत ज़रूरी है.
7. आख़िर में ज़रूरी है स्वीट डिश
चाहे खाना अच्छा बने या फिर बेस्वाद, पर अगर अंत में मीठा हो जाए, तो खाना कंप्लीट हो जाता है. कहने का तात्पर्य यह है कि अपने जीवन में रिश्तों की मिठास को ना तो भूलें और ना ही नज़रअंदाज़ करें. किसी भी बिगड़े रिश्ते को छोड़ देना हमेशा सबसे आसान विकल्प होता है, पर ध्यान रखें कि किसी भी रिश्ते को काटकर फेंकने से आपका जीवन अपंग हो जाता है, तो चाहे आपका कोई भी रिश्ता कितनी ही कड़वाहट से गुज़र चुका हो, पर उसमें अपनेपन की मिठास मिलाइए और अतीत की सारी कड़वाहट
भूल जाइए.

ये भी पढें: 6 AMAZING लव रूल्स हैप्पी लव लाइफ के लिए

 

– विजया कठाले निबंधे

हेमा मालिनी …और मुझे मोहब्बत हो गई… देखें वीडियो (Hema Malini ….And I’m In Love… Watch Video)

हेमा मालिनी, Hema Malini

मोहब्बत का कोई दायरा नहीं होता… वो बेलौस होती है और बेकमान भी… बस दौड़ पड़ती है अपने हमसफ़र के पीछे-पीछे… हर राह, हर मुश्किल तय करके अपने अस्तित्व को मुकम्मल करने के लिए… पता ही नहीं चलता कब, कैसे, बिना किसी आहट के आपकी पलकों पर सपने सजने लगते हैं… आंखों में जैसे चांद चमकने लगता है… होंठों पर लफ़्ज़ आकर रुक से जाते हैं और गालों पर जैसे ढेरों गुलाब-से खिल जाते हैं… आप ख़ुद को सबसे ख़ास समझने लगते हो, क्योंकि किसी की चाहतभरी नज़रें आपको ख़ूबसूरत होने का एहसास कराती हैं और आप उन नज़रों में ज़िंदगीभर के लिए खो जाना चाहते हो. (देखें वीडियो)

 

कमसिन-सी उम्र में जब चुपके से मोहब्बत दिल के दरवाज़े पर दस्तक देती है, तो ज़िंदगी ही बदल जाती है… सारी कायनात ख़ूबसूरत नज़र आने लगती है… सच, हर इंसान को ज़िंदगी में मोहब्बत ज़रूर करनी चाहिए. मोहब्बत आपको ज़िंदगी से प्यार करना सिखाती है, किसी के लिए अपना सब कुछ लुटा देने का हुनर सिखाती है.

Hemaji Beauty 8

हां, मैंने भी जिया है मोहब्बत के इस ख़ूबसूरत एहसास को और आज भी जब उन हसीन पलों को याद करती हूं, तो ख़ुशी के साथ-साथ इस बात की तसल्ली होती है कि हां, मैंने ज़िंदगी को पूरी शिद्दत के साथ जिया है… हां, मैंने भी प्यार किया है. अपनी मोहब्बत के रिश्ते को नाम दिया, अपने हमसफ़र के साथ एक हसीन दुनिया बसाई, दो प्यारी बेटियों की मां बनी… एक औरत को ज़िंदगी से और क्या चाहिए?

यह भी देखें: हेमा मालिनी की फैमिली फोटोग्राफ्स

Hemaji Family 11

हाल ही में हमने अपनी शादी की 38वीं सालगिरह मनाई. धरमजी और बेटियों के साथ ये 38 साल कैसे गुज़र गए पता ही नहीं चला. ज़िंदगी में इससे ज़्यादा और कुछ मैं मांग भी नहीं सकती, क्योंकि जितना मिला, उसने मुझे संपूर्ण बनाया… कहीं भी कोई अपूर्णता का एहसास दिल के आसपास फटक ही नहीं सकता. जिससे प्यार किया, उसे ही अपने हमसफ़र के रूप में पाया… और मां बनने के बाद तो ज़िंदगी और भी हसीन हो गई. अपने बच्चों को अपनी आंखों के सामने बढ़ते देखने का एहसास ही कुछ अलग होता है. आज मेरी दोनों बेटियों की शादी हो गई है. वो अपनी गृहस्थी में ख़ुश हैं. आहना के बेटे के साथ जब मैं और धरमजी खेलते हैं, तो हमें अपनी बेटियों का बचपन याद आ जाता है. हमने अपने रिश्ते और ज़िम्मेदारियोें को बख़ूबी निभाया है. हमने एक-दूसरे को अपने करियर में आगे बढ़ने का हौसला दिया है. शादी के बाद भी मैंने डांस, एक्टिंग, पॉलिटिकल करियर को जारी रखा, लेकिन धरमजी ने मुझे कभी किसी चीज़ के लिए रोका नहीं, बल्कि वो हमेशा मेरा हौसला बढ़ाते हैं.

यह भी देखें: हेमा मालिनी का डांस करियर

Hemaji Family 12

यही है सच्चा प्यार, जो बिना किसी चाह और बिना किसी शर्त के स़िर्फ अपने साथी की ख़ुशी चाहता है. अपने हमसफ़र को आगे बढ़ते देख वो भी ख़ुश हो जाता है. मैं ख़ुशनसीब हूं कि मुझे धरमजी जैसे हमसफ़र मिले. उन्होंने मुझे न स़िर्फ अपनी ज़िंदगी में शामिल किया, बल्कि मेरी ज़िंदगी को बहुत हसीन बना दिया.
आज पीछे मुड़कर देखती हूं, तो इस बात की ख़ुशी होती है कि मैंने ज़िंदगी से जो भी चाहा, वो मुझे मिला है. सच, मैं अपनी ज़िंदगी से बहुत ख़ुश हूं. जहां तक हमारे इश्क़ की बात है, तो मुझे धरमजी से तब प्यार हुआ, जब मुझे फिल्म इंडस्ट्री में अच्छी-खासी शोहरत मिल चुकी थी. धरमजी के साथ मैंने कई फिल्मों में काम किया और साथ काम करते हुए हम एक-दूसरे के क़रीब आ गए.

यह भी देखें: हेमा मालिनी का फिल्मी सफ़र

Hemaji Family 8

उस व़क्त मैं अपने करियर के पीक पर थी और मेरे हाथ में कई अच्छी फिल्में थीं, इसलिए मेरी मां भी यही चाहती थीं कि मैं फ़िलहाल अपने करियर पर ध्यान दूं. इसी बीच मैंने यह भी महसूस किया कि धरमजी और मैं बेहद क़रीब आ चुके हैं, क्योंकि मोहब्बत पर कहां किसी का ज़ोर चलता है. मैं चाहकर भी ख़ुद को धरमजी के आकर्षण से रोक नहीं पाई, लेकिन मेरे मन में यह भी दुविधा थी कि मेरे और धरमजी के रिश्ते को कैसे सही दिशा मिले? धरमजी पहले से शादीशुदा थे, तो मेरे मन में यह ख़्याल तक नहीं आया कि हमारी मुहब्बत की मंज़िल शादी हो सकती है. हम दोनों के परिवार भी हमारी मुहब्बत को स्वीकार नहीं पा रहे थे, क्योंकि यह ग़लत था. मैं भी यही सोचती थी कि धरमजी से शादी तो संभव ही नहीं, तो कैसे हमारे रिश्ते को एक मुकाम मिलेगा? लेकिन फिर मेरी दुविधा का अंत मेरी फैमिली व घर के सदस्यों ने किया. वो बड़े थे और वो ही मुझे सही राह दिखा सकते थे. सो उन्होंने निर्णय लिया कि इस तरह से यह रिश्ता यूं ही नहीं चलता रह सकता, इसे एक मुकाम व नाम मिलना चाहिए. उनके निर्णय ने हमारी सोच को सही दिशा दी और हमने शादी कर ली. मेरी ज़िंदगी में मोहब्बत और ख़ुशियों ने एक साथ दस्तक दी और उसके बाद मेरी ज़िंदगी ही बदल गई.

यह भी देखें: हेमा मालिनी का पॉलिटिकल करियर

Hemaji Family 7
हालांकि यह सही है कि बिना शादी के यूं ही प्यार में बने रहना… इस तरह का रिश्ता हम दोनों के परिवारवालों को मंज़ूर नहीं था, लेकिन हम एक-दूसरे के प्यार में इतने ज़्यादा डूबे हुए थे कि हम भी ख़ुद को असहाय महसूस कर रह थे और किसी निर्णय पर नहीं पहुंच पा रहे थे. हमारे प्यार को देखते हुए ही पैरेंट्स ने हमें शादी करने की सलाह दी. कह सकते हैं कि हमारी क़िस्मत शायद एक-दूसरे से बंधी थी, हमें साथ रहना ही था, इसीलिए लाख मुसीबतें पार करके भी हम एक हो गए.

Hemaji Beauty 3
मेरे पिताजी ने मेरे लिए कई लड़के देखे, लेकिन कहीं बात नहीं बनी. फिल्म इंडस्ट्री में भी किसी से शादी का संयोग इसीलिए नहीं बना, क्योंकि भगवान ने मेरे लिए धरमजी को ही चुना था. किसी ने सच ही कहा है कि आप प्यार को नहीं चुनते, प्यार आपको चुनता है. मुझे प्यार ने धरमजी के लिए चुन लिया था. उनसे शादी होना मेरे भाग्य में लिखा था और जब आप अपने प्यार को पा लेते हो, तो आपके लिए ज़िंदगी की राह बहुत आसान हो जाती है. आप ज़िंदगी के उतार-चढ़ाव को हंसी-ख़ुशी झेल जाते हैं. हमारे साथ भी ऐसा ही हुआ. हमने साथ मिलकर अपनी दुनिया बसाई और निखारने की हर मुमकिन कोशिश की.

Hemaji Beauty 4
मैंने अपने अनुभव से यही सीखा है कि आप प्यार जैसे पाक एहसास को प्लान नहीं कर सकते… क्योंकि प्यार उस शबनम की बूंद की तरह होता है, जो किसी के दिल में बसकर नायाब मोती बन जाता है. प्यार ख़ुद-ब-ख़ुद होता है… यह मन का बंधन है, जिसे सोच-समझकर नहीं किया जाता. यही वजह है कि हमारे समाज में प्यार को आज भी सबसे बड़ा दर्जा दिया जाता है. इस एहसास को जो जी लेता है, वो फिर इससे कभी उबरना नहीं चाहता…!

पति की इन 7 आदतों से जानें कितना प्यार करते हैं वो आपको (These 7 Habits Can Tell How Much Your Husband Loves You)

यूं तो पति-पत्नी का रिश्ता बेहद जटिल होता है. लेकिन इस रिश्ते को समझना भी आसान हो सकता है अगर आप पार्टनर के बॉडी लैंग्वेज को पढ़ना सीख जाएं. उनकी आदतों से भी आप अपने रिश्ते की गहराई जान सकती हैं. कैसे, आइए जानते हैं.

iStock_000061970850_Small

उनके हाथ पकड़ने की स्टाइल

यदि पुरुष आपका हाथ कसकर पकड़े और उसकी उंगलियां इंटरलॉक्ड हों तो इसका मतलब है कि वह आपसे बेइंतहा मुहब्बत करता है और अपनी मुहब्बत का खुलेआम इज़हार करने में भी नहीं झिझकता. ऐसे पुरुष का साथ आपकी ज़िंदगी में ख़ुशियां लेकर आएगा. लेकिन अगर हाथ पकड़ते समय पुरुष के हाथ का कसाव ढीला हो या दबाव हल्का हो तो इसका मतलब है कि या तो आपके रिश्ते अभी शुरुआती दौर में हैं या अभी तक वो आपको समझ नहीं पाया है.

ये भी पढें: स्त्रियों की 10 बातें, जिन्हें पुरुष कभी समझ नहीं पाते

पैरों की पोज़ीशन

अगर पुरुष आपके साथ बैठा हो, उसके पैर क्रॉस हों, लेकिन पैरों की दिशा आपकी ओर न हो तो ये संकेत ठीक नहीं. इसका मतलब है कि उसे आपमें ख़ास रुचि नहीं है. लेकिन अगर उसके क्रॉस पैरों की दिशा आपकी ओर हो तो इसका अर्थ है कि वो आपसे प्यार करता है, आपमें दिलचस्पी लेता है और आपका साथ उसे पसंद आता है.

अचानक ज़्यादा प्यार जताने लगे

अचानक आपका पार्टनर आपसे बहुत अधिक प्यार जताने लगे तो ख़ुश न हो जाएं और ये सोचें कि कहीं दाल में कुछ काला तो नहीं है. अगर घर देर से लौटने पर वो आपकी ख़ुशामद करने लगे तो समझ जाइए कि वो अपनी किसी ग़लती को छिपाने की कोशिश कर रहा है. इसके अलावा अक्सर अगर वो ओवरटाइम का बहाना बनाकर देर से घर लौटता हो, मोबाइल या कंप्यूटर के साथ ़ज़्यादा समय बिताने लगा हो तो समझ जाएं कि वो किसी और की ओर आकर्षित हो रहा है.

अगर वो आई कॉन्टैक्ट किए बिना बात करे

अगर वो आपके साथ तो है, लेकिन आपकी आंखों में झांके बिना बात कर रहा है तो या तो वो शर्मीले स्वभाव का है या फिर आपसे कुछ छिपा रहा है. आपके साथ होने के बावजूद अगर वो इधर-उधर देख रहा है तो इसका मतलब है कि वो वफ़ादार नहीं है और ऐसे पुरुष अच्छे लाइफ़ पार्टनर नहीं बन सकते और आपका साथ कभी भी छोड़कर जा सकते हैं.

 यदि बात करते समय पुरुष नाख़ून कुतरे या बार-बार बाल ठीक करे

तो इसका मतलब है कि वो झूठ बोल रहा है या डींगें हांक रहा है. अगर वो हाथ बांधकर बैठे तो ये उसमें आत्मविश्‍वास की कमी को दर्शाता है. या फिर ये भी हो सकता है कि वो नर्वस हो और इस बात से डरा हुआ कि पता नहीं आप उसके मन को समझेंगी या नहीं. ऐसे में रिश्ते में आपको ही पहल करनी होगी और उसकी नर्वसनेस को ख़त्म करना होगा.

यदि वो अक्सर अकेले में मिलने का प्रस्ताव रखे

अगर वो हमेशा इस बात पर जोर दे कि आप दोनों जब भी मिलें, अकेले में ही मिलें तो इसका अर्थ है कि वो आपसे प्यार नहीं करता और उसका प्यार शारीरिक है. ऐसे रिश्ते ़टिकाऊ नहीं होते. इसलिए ऐसे पुरुषों से दूर रहना ही बेहतर है.

ये भी पढें: 10 बातें जो पति को कभी न बताएं 

यदि वह अपने बारे में बात करने से बचे

तो समझ जाएं कि दाल में कुछ काला है. या तो उसने आपसे अपने बारे में जो कुछ बताया है, वो सब झूठ है और पोल खुल जाने के डर से या सच्चाई मुंह से निकल जाने के डर से वो कम से कम बात करना चाह रहा है या फिर ये भी हो सकता है कि वो आपको अपनी ज़िंदगी में शामिल ही नहीं करना चाहता. दोनों ही स्थितियां आपके रिश्ते के लिए ठीक नहीं, इसलिए सावधान हो जाएं.

फेंगशुई के 7 लकी चार्म आपकी लव लाइफ को बनाएंगे हेल्दी और हैप्पी (Fengshui 7 lucky charm for happy & healthy love life)

Fengshui

FotorCreated

सुखी दाम्पत्य जीवन के लिए रिश्ते की नींव का मज़बूत होना ज़रूरी है. इससे आपसी प्रेम के साथ-साथ पति-पत्नी के बीच विश्‍वास भी गहरा होता है. आप अपने दाम्पत्य जीवन की नींव को कैसे मज़बूत बना सकते हैं? आइए, जानते हैं.

 

जीवनसाथी के साथ तस्वीर

मकान की दक्षिण-पश्‍चिम दीवार पर जीवनसाथी के साथ अपनी मुस्कुराती हुई तस्वीर लगाएं. इससे पति-पत्नी के बीच प्रेम संबंध और भी गहरा होता है और रिश्ते को मज़बूती मिलती है.

स्मार्ट टिप
मगर इस बात का ध्यान रखें कि तस्वीर में आप दोनों एकसाथ हों, दोनों की अलग-अलग तस्वीर लगाने की भूल न करें.

प्रेमी परिंदों की पेंटिंग

अगर आप अपनी तस्वीर लगाना नहीं चाहते हैं, तो मकान की दक्षिण-पश्‍चिम दीवार पर दो प्रेमी परिंदों की पेंटिंग भी लगा सकती हैं. इससे पति-पत्नी के बीच म्युचुअल अंडरस्टैंडिंग बढ़ती है. ऐसी पेंटिंग न्यूली मैरिड कपल के लिए ज़्यादा असरदार और लाभदायक होती है. आप चाहें तो न्यूली मैरिड कपल को ये तस्वीर गिफ्ट भी कर सकते हैं.

स्मार्ट टिप
इस बात का विशेष ध्यान रखें कि प्रेमी परिंदे पिंजड़े में कैद न हों. दोनों खुले आसामां में या किसी डाली पर एकसाथ हों.

डांसिंग डॉलफिन की तस्वीर

दाम्पत्य जीवन की ख़ुशहाली के लिए डॉलफिन फिश भी शुभ मानी जाती है, ख़ासकर डांसिंग डॉलफिन यानी नाचती हुई डॉलफिन फिश की तस्वीर. प्रेमी परिदों की तरह डॉलफिन फिश की तस्वीर भी जोड़ी में लगाएं, परंतु इसे दक्षिण-पश्‍चिम दिशा में नहीं, बल्कि दक्षिण-पूर्व दिशा में लगाएं.
स्मार्ट टिप
स़िर्फ एक या दो अलग-अलग डॉलफिन की तस्वीर को एकसाथ न लगाएं और ये भी ध्यान रहे कि डॉलफिन डांस करती हों.

4476080-red-rose-wallpapers

फ्रेश रेड फ्लावर्स

न स़िर्फ लाल रंग, बल्कि फूल भी प्रेम का प्रतीक माने जाते हैं. इसलिए इनकी मौजूदगी से पति-पत्नी के रिश्ते और भी मज़बूत होते हैं. आपसी प्रेम बढ़ाने के लिए ताज़े लाल रंग के
फूल मकान के दक्षिण-पूर्व दिशा में रखें. ऐसा करने से प्रेम के साथ-साथ रिश्तों में गरमाहट भी बनी रहेगी.

स्मार्ट टिप
कांटे वाले फूल न रखें और जब फूल मुरझा जाएं, तो उन्हें हटा दें. मुरझाए हुए फूल नकारात्मक ऊर्जा के संचार में सहायक होते हैं.

ब्राइट लाइट बल्ब

ख़ुशहाल शादीशुदा ज़िंदगी के लिए यदि आपके घर के सामने गार्डन है, तो गार्डन के दक्षिण-पश्‍चिम दिशा में खंभे पर ब्राइट शेड के छोटे-छोटे लाइट्स लगाएं. शीघ्र परिणाम के लिए यलो शेड का लाइट भी चुन सकती हैं.

स्मार्ट टिप
डल शेड्स के लाइट्स चुनाव न करें और जब भी लाइट में ख़राबी हो, तो उसे तुरंत ठीक करवाएं.

Duck-1

मैडरिन बत्तख की प्रतिमा

मैडरिन बत्तख भी प्रेम का प्रतीक माने जाते हैं. अपने रिश्ते को और भी मज़बूत बनाने के लिए बेडरूम की दक्षिण-पश्मिच दिशा में मैडरिन बत्तख की प्रतिमा रखें. इससे शादी के शुरुआती दिनों वाले प्रेम के लम्हें वापस लौट आएंगे.

स्मार्ट टिप
मैडरिन बत्तख भी जोड़ी में होने चाहिए. इसका ख़ास ख़्याल रखें.

स़फेद घोड़ों की पेंटिंग

तरक्क़ी का प्रतीक माने जाने वाला घोड़ा लव लाइफ के लिए भी लाभदायक होता है. मकान की उत्तर-पश्‍चिम दिशा में
स़फेद रंग के दो घोड़ों की तस्वीर लगाने से पति-पत्नी के रिश्ते को मज़बूती मिलती है और रिश्ते में गरमाहट भी बनी रहती है.

स्मार्ट टिप
घोड़ा स़फेद रंग का हो और तस्वीर में जोड़ी में हो, इस बात का ध्यान रखें.

 

 

कहानी- पासवाले घर की बहू ( Hindi Kahani – Paswale Ghar Ki Bahu )

नाम के पहले अक्षर से जानें अपनी लव लाइफ (Check Your Love Life By 1st Letter of Your Name)

Love Life By 1st Letter of Your Name

ए- अगर आपका नाम अंग्रेज़ी के ए अक्षर से शुरू होता है, तो आप प्यार में पारदर्शिता के इच्छुक होते हैं. अपने प्यार की ख़ातिर कुछ भी कर सकते हैं, लेकिन आप उतने रोमांटिक भी नहीं होते हैं. हां, एक बात और, आप प्यार में फ़ायदा-नुक़सान देखने से भी नहीं चूकते.

बी- आप प्यार में एक-दूसरे का मान-सम्मान करने को अधिक तवज्जो देते हैं. प्रेमी/प्रेमिका से मिले लव गिफ्ट्स भी आपको लुभाते हैं. लवर के साथ कैंडल लाइट डिनर करना, किसी रोमांटिक जगह पर घूमने जाना आपको बेहद पसंद है. आप प्यार में इमोशनल भी जल्दी हो जाते हैं.

सी- आप प्यार ही नहीं हर रिश्ते को बहुत महत्व देते हैं. पार्टनर का रोमांटिक अंदाज़ आपको रोमांचित करता है. उसकी हर इच्छा और शौक़ को पूरा करने की कोशिश करते हैं. आप अपनी ही नज़रों में नहीं, बल्कि सामाजिक तौर पर भी प्यार को क़ामयाब होते देखना चाहते हैं.

डी- अपने प्यार का ख़्याल रखना, हर हाल में उसे पाना और उसकी ख़ुशी के लिए अपनी ख़ुशी तक कुर्बान कर देना जैसी आदतें आपमें हैं. आपके लिए प्यार में पूर्ण रूप से समर्पण काफ़ी मायने रखता है. यदि प्यार नहीं मिल पा रहा, तो उसे पाने की ज़िद आपको कुछ भी कर गुज़रने के लिए प्रेरित करती रहती है.

Love Life By 1st Letter of Your Name

ई- आपको उपेक्षा या अनदेखी करना बिल्कुल पसंद नहीं, ख़ासकर प्रेमी/प्रेमिका से. प्यार के साथ पार्टनर बुद्धिमान भी हो, तो दोनों का संगम आपको सबसे अधिक प्रभावित करता है. आप थोड़े बातूनी क़िस्म के हैं और चाहते हैं कि पार्टनर भी आपको भरपूर रिस्पॉन्स दे.

एफ- आप सेक्सी, इमोशनल और अट्रैक्टिव पर्सनैलिटी के हैं. आपको फ्लर्टिंग करना भी बहुत पसंद है. आपको हरदम सही पार्टनर की चाह रहती है, मिल जाए तो अच्छा, वरना ज़िंदगी नीरस-सी लगने लगती है. इन सबके बावजूद जीवन में आदर्शों को बहुत महत्व देते हैं.

जी- आप ड्रामेबाज़ क़िस्म के प्रेमी/प्रेमिका हैं. प्यार में भी सौदेबाज़ी आपकी फ़ितरत में है. अक्सर पार्टनर को अपनी प्यारभरी नौटंकी से हैरान-परेशान करने में आपको बहुत मज़ा आता है. आप प्यार में अपने मतलब की बातों पर अधिक ध्यान देते हैं.

एच- शर्मीले व संकोची स्वभाव के होने के कारण आप अपने मोहब्बत का ठीक से इज़हार नहीं कर पाते. प्यार में बंधन और एक-दूसरे की छोटी-छोटी बातों का ख़्याल रखना आपको अच्छा लगता है. प्रेम में विद्रोह की बजाय आपसी सहमति को अधिक महत्व देते हैं.

आई- समझदारी भरा प्यार आपको आकर्षित करता है. प्यार में हल्कापन या फिल्मी स्टाइल की नाटकबाज़ी आपको बिल्कुल पसंद नहीं. इसलिए आपकी यही ख़्वाहिश रहती है कि आपका पार्टनर गंभीर और बुद्धिमान हो. प्यार में भावनाओं को आप बहुत महत्व देते हैं.

ये भी पढें: नवविवाहितों के लिए 20 सेक्स रूल्स

Love Life By 1st Letter of Your Name

जे- आपका प्यार कुछ रहस्यमयी होता है. लव सीक्रेट्स आपको आकर्षित करते हैं. आपके अनुसार, प्रेम में ईमानदारी, वफ़ादारी और पारदर्शिता ज़रूरी है. आपमें ग़ज़ब की निर्णय क्षमता हैै, जिसका इस्तेमाल आप अपनी लव लाइफ में भरपूर करते हैं.

के- रोमांस से भरपूर प्यारभरी ज़िंदगी
आपको रोमांचित करती है. अपने पार्टनर के लिए आप कुछ भी करने के लिए तैयार रहते हैं. इसके लिए सार्वजनिक तौर पर अपने प्यार का इज़हार करने से भी नहीं हिचकिचाते. आपको सेलिब्रेटी के अफेयर्स व ग्लैमर की दुनिया के बारे में जानना अच्छा लगता है.

एल- अपने प्यार के ख़्वाबों की दुनिया में जीना आपको अच्छा लगता है. यदि कभी प्रेमी/प्रेमिका किसी परेशानी में फंस जाते हैं, तो आप जब तक उनकी परेशानी दूर न कर दें, शांत नहीं बैठते. आपको अपने प्यार को हमेशा ख़ुश और सुकून में देखना पसंद है. पर आप यह भी मानते हैं कि प्यार में दर्द ही मिलता है.

एम- आप प्यार में सब कुछ न्योछावर क.रने में विश्‍वास रखते हैं. यही चाह अपने पार्टनर से भी रखते हैं. संवेदनशील होने के कारण बार-बार दुखी और हताश-निराश भी होते रहते हैं. लेकिन एक बार रिश्ता जुड़ जाने पर ज़िंदगीभर साथ निभाने की ख़्वाहिश भी रहती है आपकी.

ये भी पढें:  सेक्स से जुड़ी दिलचस्प जानकारियां

एन- प्यार में आज़ादी का होना बेहद ज़रूरी है, इसमें आप विश्‍वास भी करते हैं. प्यारभरी नोक-झोंक, रूठना-मनाना आपको पसंद है. आपके लिए प्रेमी/प्रेमिका का साथ हमेशा बने रहना ज़रूरी है, वरना आपको भटकते देर नहीं लगती. आपको एक साथ कई ज़िम्मेदारियों और रिश्तों को निभाना बख़ूबी आता है.

ओ- आप किसी एक से मोहब्बत करने में विश्‍वास करते हैं और जिसे चाहते हैं, उसे जी-जान से टूटकर प्यार करते हैं. प्यार के साथ-साथ नौकरी और उपलब्धियों को भी आप बहुत महत्व देते हैं. आप जिस तरह से प्यार करते हैं, अपने पार्टनर से भी उसी तरह के प्यार को पाने की उम्मीद रखते हैं.

पी- आपका प्रेम थोड़ा हिंसक क़िस्म का है, जिससे कभी-कभी अपने प्यार को ही अपना दुश्मन भी समझ लेते हैं. आपको ब्रेन विद ब्यूटी प्रभावित करती है. साथ ही बाहरी आकर्षण भी लुभाता है. अपनी इमेज को लेकर भी सजग रहते हैं, अतः ऐसा कोई काम नहीं करते, जिससे जगहंसाई हो.

क्यू- आपको प्रेम में गर्मजोशी, उत्साह और रोमांच की चाह अधिक रहती है. अपने प्रेमी का हर हाल में साथ देना, आपके लिए ज़िंदगी का सबसे महत्वपूर्ण कार्य होता है. अक्सर प्रेमी/प्रेमिका को सरप्राइज़ देना, कभी-कभी गिफ्ट देना आपको आनंदित करता है.

आर- प्यार से भी ज़्यादा कई काम हैं, प्यार सब कुछ नहीं ज़िंदगी के लिए… आपके इस तरह के ख़्यालात रहते हैं. आप आध्यात्मिक रूप से आगे बढ़ने के अलावा सामाजिक कार्यों को जीवन का सबसे ज़रूरी हिस्सा मानते हैं. कुछ इसी तरह की ख़्वाहिश साथी से भी रखते हैं. पवित्रता, नैतिकता, आदर्श और इंसानियत आपके स्वभाव का अभिन्न हिस्सा हैं. लेकिन हां, इसमें प्यार के लिए भी थोड़ी जगह ज़रूर रखते हैं.

एस- रहस्यमयी, गंभीर, भावुक… प्यार के न जाने कितने रंग-रूप आप ख़ुद में समेटे होते हैं. अति संवेदनशील होने के कारण कई बार पार्टनर की बातों से आहत भी हो जाते हैं. जिसे चाहते हैं, उसके साथ अधिक से अधिक व़क्त गुज़ारना और प्राइवेसी में रहना आपको अच्छा लगता है.

ये भी पढें: सेक्स की 9 ग़लतियां

टी- आपको पार्टनर का बार-बार प्यार करना, प्रेरित करते रहना, अपनी हर बातों को शेयर करना ज़रूरी लगता है. आप बहुत मुश्किल से किसी को प्यार कर पाते हैं, पर यदि एक बार किसी को चाहते हैं, तो पूरी ज़िंदगी उसी के साथ बिताने का जज़्बा रखते हैं. रोमांटिक जगहें और प्रेमभरे गीत आपको प्यार में दीवाना बना देते हैं.

यू- अपनी ज़िंदगी में आप हर बात को सहजता से लेते हैं, फिर चाहे प्यार हो, शादी या कोई उपलब्धि. आप हर शख़्स में उसकी अच्छी बातों को देखते हैं, यही आदत आपको दूसरों से जुदा कर देती है. अपने प्यार को गिफ्ट्स देना, एक-दूसरे का ख़्याल रखना, हरदम प्रेमी/प्रेमिका की यादों में खोए रहना आपको बेहद अच्छा लगता है. आप प्यार को चैलेंज के तौर पर भी लेते हैं. प्रेम के मामले में आपके कुछ सिद्धांत भी हैं, जिसे आप ख़ुद पर आज़माते रहते हैं.

वी- आपको प्यार में परफेक्शन की चाह रहती है. वैसे ख़ुद की इच्छा और शौक़ को अधिक अहमियत देते हैं. प्रेमी/प्रेमिका की पसंद-नापसंद, इच्छा के अनुसार ख़ुद को ढालने की भरसक कोशिश करते हैं. प्यार में हार को बर्दाश्त करना आपके लिए बहुत मुश्किल होता है.

डब्ल्यू- आपका अभिमान प्यार में भी रोड़े डाल देता है. साथी से पहल की उम्मीद रखते हैं और अपनी मोहब्बत के बारे में मुखर होकर कभी नहीं कहते. वैसे आप रोमांटिक भी हैं, लेकिन अपने ईगो और आदर्शों के कारण झुकना पसंद नहीं करते. अक्सर यह भी चाह रहती है कि बिना कहे, साथी आपकी भावनाओं को समझ ले.

एक्स- लव फैंटेसी की दुनिया में रहना आपको अच्छा लगता है. लेकिन प्रत्यक्ष तौर पर इसके बारे में बात करना भी पसंद नहीं करते. आपके कई अफेयर्स होते हैं, पर सच्चा प्यार शायद ही हो पाता है. प्यार के बारे में आप बहुत कुछ कहने और सुनने का सामर्थ्य रखते हैं.

वाय- प्यार में प्रदर्शन आपको रोमांचित करता है. इसी कारण पार्टनर को बार-बार अपने प्यार के बारे में जतलाते रहते हैं.
आपके लिए प्यार में अधिकार की भावना काफ़ी मायने रखती है, पर इस वजह से आपको रिलेशनशिप में ब्रेकअप का भी सामना करना पड़ता है.

ज़ेड- आप मोहब्बत के सबसे बड़े खिलाड़ी हैं, जिससे आपको कहीं भी किसी से भी इश्क़ हो सकता है. आप तू नहीं तो कोई और सही में विश्‍वास रखते हैं, इसलिए दिल टूटने पर ग़म मनाने या दुखी होने की बजाय आप नए साथी की खोज में निकल पड़ते हैं. आपके लिए प्यार जीवन का एक अहम् पहलू है, पर प्यार ही सब कुछ बिल्कुल नहीं है.

– रेखा कुंदर

ये भी पढें:  सेक्स से जुड़े टॉप 12 मिथ्सः जानें हक़ीकत क्या है