Rang Tarang

रंग तरंग- कोरोना, बदनाम करो न… (Rang Tarang- Corona, Badnaam Karo Na…)

''हां, आप उस बात पर ध्यान दो कि पापा लोग कैसे एक घर में ही सेफ चल रहे हैं. पिछले…

रंग तरंग- सोशल मीडिया के घुड़सवार… (Rang Tarang- Social Media Ke Ghudswar…)

सब्जेक्ट और माइंड दोनों सेट हैं. इसके बाद तो बुद्धि या विवेक को पास भी नहीं फटकने देते. अब योद्धा…

व्यंग्य- महिलाएं और उनका पर्स (Satire Story- Mahilayen Aur Unka Purse)

सबसे बड़ा सवाल तो यहां यह है कि महिलाएं पर्स में रखती क्या हैं? कोई डिटेक्टिव एक्टिव होकर इस बारे…

व्यंग्य- कुत्ता कहीं का… (Satire Story- Kutta Kahin Ka…)

गांव के कुत्ते और शहर के डॉगी में वही फ़र्क होता है, जो खिचड़ी और पिज़्ज़ा में होता है. कुत्ता…

व्यंग्य- महान होने की तमन्ना (Satire Story- Mahan Hone Ki Tamnna)

चश्मे में कसा वर्माजी का काला चेहरा दरवाज़े के बीच नज़र आया. इन्होंने मुझे ऐसे देखा, गोया मेरा फेस मास्क…

व्यंग्य- डाॅगी कल्चर (Satire Story- Doggy Culture)

तुम समझती क्यूं नहीं, मैं आधुनिक युग के डाॅगी कल्चर की बातें कर रहा हूं. जहां यह डाॅगी भी घर…

रंग तरंग- श्रमजीवी से परजीवी तक (Rang Tarang- Shramjivi Se Parjivi Tak)

पीने को मयस्सर है मेरे देश में सब कुछ वो सब्र हो या खून ये क़िस्मत की बात है… आंदोलन…

रंग तरंग- कहो ना चोर है… (Satire Story- Kaho Na Chor Hai…)

एक समर्थक चोर को सूचना दे रहा है, "पिछली रात सुकई चाचा के घर में चोर घुसा और सब कुछ…

व्यंग्य- भाग्य, सौभाग्य और दुर्भाग्य…(Satire Story- Bhagya, Saubhagya Aur Durbhagya…)

तोते ने घूर कर देखते हुए कहा, "कोई फ़ायदा नहीं. इसकी फटेहाल जैकेट देखकर मैं इसका भाग्य बता सकता हूं.…

व्यंग्य- पैसा बोलता है… (Satire Story- Paisa Bolta Hai…)

इंसान तो सिर्फ़ मुंह से बोलता है, पर पैसा चारों तरफ़ से बोलता है. पैसा चाहे कार की ड्राइविंग सीट…

व्यंग्य- मांगने का हुनर (Satire Story- Maangane Ka Hunar)

आजकल सब्ज़ीवाले से धनिया-मिर्ची नहीं मांगनी चाहिए. वैसे ही पडोसी से प्यार और नेता से उपहार न मांगने में ही…

व्यंग्य- निंदा में रस बहुत है… (Satire- Ninda Mein Ras Bahut Hai…)

सारे रसों के लिए महाबली निंदा रस कोरोना साबित हुआ है. ये एक ऐसा रस है, जिसका ज्ञान जेनेटिक होता…

© Merisaheli