इन 10 तरीक़ों से महिलाएं करती हैं फ्लर्ट (10 Smart Techniques Of Women Flirting)

इशारों-इशारों में किसी का दिल ले लेना तो हर किसी के बस की बात नहीं, मगर इन्हीं इशारों के ज़रिए थोड़े-से ख़ुशगवार पल चुरा लिए जाएं तो क्या बुरा है? जी हां, फ्लर्टिंग (Flirting) की कला न स़िर्फ आपको ऐसे ख़ुशनुमा पलोें को जीने का मौक़ा देती है, बल्कि रिफ्रेश भी कर देती है और इस कला में अब महिलाएं (Women) भी किसी से पीछे नहीं. बस, उनका तरीक़ा पुरुषों से थोड़ा अलग होता है.

Flirting Techniques For Women

आमतौर पर यही समझा जाता है कि पुरुष ही फ्लर्टिंग में माहिर होते हैं और बस लड़कियों को देखते ही फ्लर्ट करने लगते हैं. उन्हें रिझाने के लिए तरह-तरह की बातें और इशारे भी करने लगते हैं, लेकिन हक़ीक़त यह है कि महिलाएं पुरुषों के मुक़ाबले 5 गुना ज़्यादा ऐसे सेक्सी बॉडी सिग्नल्स देती हैं, जिससे पुरुषों को ये इशारा मिल जाए कि वो उन्हें पसंद करती हैं. शोध में वैज्ञानिकों ने यह बात मानी है कि फ्लर्ट करने में महिलाएं भी पुरुषों के मुक़ाबले कहीं पीछे नहीं हैं. महिलाएं भले ही शब्दों के ज़रिए फ्लर्ट न करें, लेकिन वो अपनी बॉडी लैंग्वेज और सिग्नल्स से बहुत कुछ बयां कर देती हैं. तो आइए, उन संकेतों को पहचानें, जो महिलाएं फ्लर्ट करने के लिए इस्तेमाल करती हैं, ताकि पुरुष भी समझें उनकी फ्लर्टिंग लैंग्वेज को.

1. अगर किसी पुरुष से बातचीत के दौरान महिला उसके क़रीब आती है, तो इसका मतलब है कि वो उसे पसंद कर रही है.

2. अगर वो बार-बार अपने बालों को ठीक करे या अपनी लटों में उंगलियां घुमाने लगे तो सीधा संकेत है कि आप उसे आकर्षक लग रहे हैं.

3. हो सकता है वो अपने हाथों को रब करे या अपने शरीर को टच करे, जैसे- गर्दन पर या बांहों पर हाथ फेरे इत्यादि. ये संकेत है कि आप उस शाम उसे कॉफी के लिए आमंत्रित करेंगे, तो आपको निराश नहीं होना पड़ेगा.

4. अगर कोई महिला फ़्लर्ट कर रही हो, तो उसकी आंखेें भी बहुत कुछ कहती हैं. वो आपसे ज़्यादा देर तक आई कॉन्टेक्ट रखेगी और फिर नज़रों को ख़ास अंदाज़ में झुका लेगी.

5. आपसे हर बार सामना होने पर मुस्कुराकर आपका स्वागत करेगी.

6. अगर वो आपको पसंद करती है, तो आप जैसे ही उसे देखेंगे, वो अपने कपड़े ठीक करने लगेगी. अपने टॉप को या कुर्ते के बटन को ठीक करने लगेगी.

7. फ्लर्टिंग में माहिर महिलाएं यह अच्छी तरह से जानती हैं कि पुरुषों को किस तरह से आकर्षित करके अपने दिल की बात उन तक पहुंचानी है.

8. अगर बैठने के दौरान वो आपके कंधे या पैर पर अपना हाथ रख दे या आसपास होने पर ग़लती से बॉडी टच करने का आभास दे, तो ये आपके लिए ग्रीन सिग्नल है.

9. अगर वो फ्लर्टिंग की कला में माहिर है, तो वो बहुत ही स्मार्टली स़िर्फ उतनी ही स्किन रिवील करेगी, जिससे आपका ध्यान उसकी तरफ़ आकर्षित हो और उसके बाद आप ख़्यालों की दुनिया में खो जाएं.

10. फ्लर्ट करनेवाली महिलाएं अपनी आवाज़ का भी बखूबी इस्तेमाल करती हैं. वो आपके कानों के पास आकर सेक्सी अंदाज़ में धीरे से बात करेंगी, ताकि आप ये समझ जाएं कि आप उसे आकर्षक लग रहे हैं.

यह भी पढ़ें: क्या होता है जब प्रेमिका बनती है पत्नी? (After Effects Of Love Cum Arrange Marriage)

Flirting Techniques For Women
क्या कहती हैं महिलाएं फ्लर्टिंग के बारे में?

– फ्लर्टिंग आपको फ्रेश और रोमांटिक बनाए रखती है.

– इससे आपको कॉन्फ़िडेंस मिलता है.

– अगर कोई आपको आकर्षक लग रहा है तो उससे फ्लर्ट करने में बुराई ही क्या है?

– फ्लर्टिंग में दोनों पक्षों के लिए फ़ील गुड फैक्टर जुड़ा होता है.

– हो सकता है, फ्लर्टिंग से शुरुआत हुई बात रोमांटिक रिश्ते में बदल जाए.

– फ्लर्टिंग हमेशा हेल्दी होनी चाहिए.

– कभी-कभार लोग इससे आपके चरित्र को जज करने लगते हैं, ऐसे में फ्लर्टिंग थोड़ा संभलकर और उसके साथ ही करनी चाहिए, जो आप ही की तरह ओपन

मांइडेड हो.

– फ्लर्टिंग ग़लत मकसद से नहीं की जानी चाहिए. फ्लर्टिंग का इरादा स़िर्फ दोस्ती करना और सामने वाले को ख़ुश व अच्छा महसूस कराना होता है.

– फ्लर्टिंग करते वक़्त भी ख़ास बातों का ध्यान रखना ज़रूरी होता है, क्योंकि फ्लर्टिंग एक कला है. ऐसे में आपका अप्रोच पॉज़ीटिव होना चाहिए.

– अगर कोई पसंद है या किसी का व्यक्तित्व आकर्षक लग रहा है, तो उसकी तरफ़ मुस्कुराकर देखने में क्या बुराई है?

– हां, इशारा इस तरह का न हो कि सामनेवाला कुछ ग़लत समझ बैठे.

– किसी की स्टाइल पसंद हो, तो उसे कॉम्प्लिीमेंट ज़रूर दें.

– हालांकि महिलाओं का एक वर्ग ऐसा भी है, जो फ्लर्टिंग के ज़्यादा पक्ष में नहीं है, उनका मानना है-

– भले ही आपके इरादे कितने भी नेक हों, लेकिन फ्लर्ट करनेवाली महिलाओं को हमारे समाज में अच्छा नहीं समझा जाता.

– इससे आपके चरित्र पर भी सवाल उठ सकते हैैं.

– आपका ग़लत फ़ायदा उठाया जा सकता है.

– हो सकता है कोई भी आपको फिर गंभीरता से न लेकर स़िर्फ मज़े के लिए आपसे बात करे या मित्रता रखे.

– कभी-कभार मज़े के लिए की गई फ्लर्टिंग ख़तरनाक भी हो सकती है. सामनेवाले के इरादे कितने नेक हैं, यह कैसे जाना जा सकता है?

– फ्लर्टिंग करते-करते भावनात्मक लगाव होना भी संभव है, ऐसे में बहुत-सी बातों पर ग़ौर करते हुए ही फ्लर्टिंग की जानी चाहिए, वरना रिश्तों में उलझनें पैदा हो सकती हैं.

– दरअसल पुरुष महिलाओं के फ्लर्टिंग के अंदाज़ को दोस्ती या कुछ और ही समझ बैठते हैं और उनके इशारों को ग़लत दिशा में ले जाते हैं. यही वजह है कि वो दोस्ती और प्यार के बीच उलझ जाते हैं.

ऐसे में बेहतर होगा कि पहले फ्लर्टिंग की कला को जानें, समझें और तभी आगे बढ़ें, क्योंकि फ्लर्टिंग में कोई बुराई नहीं है, लेकिन फ्लर्टिंग अपने आप में एक कला है और किसी भी कला का असर तभी नज़र आता है, जब आप उसमें माहिर हो जाएं.

– गीता शर्मा

यह भी पढ़ें: इन 9 आदतोंवाली लड़कियों से दूर भागते हैं लड़के (9 Habits Of Women That Turn Men Off)