पहला अफेयर: कहीं दूर मैं, कहीं दूर तुम… (Pahla Affair: Kahin Door Main, Kahin Door Tum)

पहला अफेयर: कहीं दूर मैं, कहीं दूर तुम... (Pahla Affair: Kahin Door Main, Kahin Door Tum) प्रेम, प्यार, रोमांस, इश्क़,…

पहला अफेयर: कहीं दूर मैं, कहीं दूर तुम… (Pahla Affair: Kahin Door Main, Kahin Door Tum)

प्रेम, प्यार, रोमांस, इश्क़, मुहब्बत… चाहत से लबरेज़ ये शब्द सुनते ही आंखों में अपने आप कई सपने पलने लगते हैं… गालों पर हया की एक लालिमा-सी छा जाती है… मुझे भी इस इश्क़ के रोग ने छू लिया था. 23 साल की थी मैं. नई-नई नौकरी लगी थी. मेरे साथ ही मेरे सहपाठी अभिनव ने भी जॉइन किया था. अभिनव के विभाग में ही उसका एक

शर्मीला-सा दोस्त था पल्लव. अभिनव से मेरा काफ़ी दोस्ताना व्यवहार था, उसी बीच पल्लव का मुझे चुपचाप देखना, आंखें झुकाकर बातें करना और बहुत ही सली़के से व्यवहार करना बेहद भाने लगा था. पल्लव की यही बातें मुझे बार-बार अभिनव के विभाग की ओर जाने को मजबूर कर देती थीं.

आख़िर मेरी क़िस्मत भी रंग लाई और पल्लव का ट्रांसफर मेरे ही विभाग में हो गया. बेहद ख़ुश थी मैं, हद तो तब हो गई, जब हम दोनों को एक ही प्रोजेक्ट पर काम करने का मौक़ा मिला. अब धीरे-धीरे हमें क़रीब आने का मौक़ा मिला. दोस्ती गहरी हुई और फिर ये दोस्ती प्यार में बदल ही गई. पल्लव ने भी अपने प्यार का इज़हार इशारों-इशारों में कर ही दिया. हां, हमने आपस में कोई वादे नहीं किए थे, पर हमारे प्यार को मंज़िल मिलेगी, यह विश्‍वास हम दोनों को ही था.

यह भी पढ़ें: पहला अफेयर: ऐसा प्यार कहां? (Pahla Affair: Aisa Pyar Kahan)

लेकिन नियति पर कब किसी का ज़ोर चला है. मैंने विभागीय परीक्षा दी थी और उसके लिए भी पल्लव ने ही मुझे प्रोत्साहन दिया था. हमने साथ-साथ तैयारी की. दुर्भाग्यवश पल्लव परीक्षा उत्तीर्ण नहीं कर पाया और मैं पास हो गई थी. विभाग में रिक्त पद होने के कारण मेरा अधिकारी पद पर चयन हो गया था. अगली विभागीय परीक्षा को अभी समय था, मैंने पल्लव का हौसला बढ़ाया, लेकिन अब कार्यक्षेत्र में हमारे बीच दूरी बढ़ गई थी और धीरे-धीरे ये दूरियां हमारे संबंधों में भी बढ़ने लगी थीं. मैंने कई कोशिशें कीं, लेकिन पल्लव के मन में हीनभावना ने घर कर लिया था. वो मुझसे नज़रें चुराने लगा था. दूरी बनाए रखने के प्रयास करने लगा था. कुछ पूछती तो यही कहता कि मैं तुम्हारे लायक ही नहीं.

शायद पल्लव जान-बूझकर मुझसे दूर जाना चाहता था. मेरे सामने दूसरी लड़कियों से बातें करता… मेरा सामना तक नहीं करता था अब वो. मैंने फिर कोशिश की, तो उसने कहा, “मैं चाहता हूं तुम मुझे भूल जाओ, मुझसे घृणा करो, क्योंकि मेरा-तुम्हारा कोई मुक़ाबला नहीं. तुम्हें मुझसे बेहतर जीवनसाथी मिलेगा.”

ख़ैर, घर पर भी मेरी शादी की बातें होने लगी थीं और फिर मैंने भी पल्लव के लिए कोशिशें करनी बंद कर दीं, क्योंकि उसने ख़ुद मुझसे दूर जाने का निर्णय कर लिया था. मेरी शादी हो गई. पति के रूप में बेहद शालीन और प्यार करनेवाला साथी ज़रूर मिला, लेकिन मेरा पहला प्यार तो पल्लव था. कुछ समय बाद पता चला कि पल्लव के पिताजी ने काफ़ी दहेज लेकर एक लड़की से उसकी शादी कर दी. मेरा पहला प्यार दम तोड़ चुका था.

कई वर्षों बाद किसी समारोह में अचानक हमारा आमना-सामना हुआ. साधारण-सी औपचारिक बात के बाद हम दोनों अपनी-अपनी राह
चल दिए…

यूं ही अपने-अपने सफ़र में गुम… कहीं दूर मैं, कहीं दूर तुम… मेरा पहला प्यार स़िर्फ एक छोटे-से मेल ईगो की बलि चढ़ गया था, काश! पल्लव तुमने अपना वो झूठा ईगो छोड़ दिया होता… काश!… लेकिन अब कोई फ़ायदा नहीं यह सोचने का, क्योंकि नियति को यही मंज़ूर था!

– अलका कुलश्रेष्ठ

यह भी पढ़ें: पहला अफेयर: तुम्हारा मुजरिम! (Pahla Affair: Tumhara Mujrim)

Geeta Sharma

Recent Posts

Shocking: नसीरुद्दीन शाह ने अनुपम खेर को कहा ‘जोकर’, अनुपम खेर ने दिया करारा जवाब (Anupam Kher on Naseeruddin Shah’s ‘clown’ comment)

बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार नसीरुद्दीन शाह ने हाल ही में एक चौंकाने वाला बयान दे दिया है. दरअसल, इस वक्त…

Bigg Boss 13ः आकांक्षा पुरी ने कब, कैसे और क्यों तोड़ा पारस ने रिश्ता, दोस्त ने किया पूरा खुलासा (Bigg Boss 13: ‘How, When And Why Akanksha Puri Slammed The Door On Paras Chhabra)

पारस छाबड़ा की गर्लफ्रेंड आकांक्षा पुरी के लिए बहुत बुरा समय चल रहा है. बिग बॉस 13 में घर के…

वेट लॉस टिप ऑफ द डे: 5 स्टीम्ड स्नैक्स फॉर वेट लॉस (Weight Loss Tip Of The Day: 5 Steamed Snacks For Weight Loss)

वेट लॉस करने के लिए एक्सरसाइज़ करने के साथ-साथ डायट भी फॉलो करना ज़रूर है. इसलिए डायट में ऐसे स्नैक्स…

कंगना रनौत- विराट कोहली और मैं साथ पंगे लेंगे… (Kangana Ranaut – Virat Kohli And I Will Be Take Panga Together…)

पंगा क्वीन कंगना रनौत न किसी से डरती हैं और न ही अपनी बात कहने से पीछे हटती हैं. यदि…

श्रद्धा एवं जागरूकता मनुष्य को ज्ञानी बनाते हैं – गुरुदेव श्री श्री रवि शंकर (Faith And Awareness Makes Humans Knowledgeable – Gurudev Sri Sri Ravi Shankar)

श्रद्धा और सजगता, दोनों एक दूसरे के विरोधाभासी लगते हैं। जब तुम पूर्णतः जागरूक होते हो तो अक्सर श्रद्धा नहीं…

OMG: अक्षय कुमार ने बढ़ाई अपनी फीस, अब एक फिल्म के लिए लेंगे इतने करोड़ (Akshay Kumar Hikes His Fee Again)

बॉलीवुड स्टार अक्षय कुमार के सितारे इन दिनों बुलंदी पर हैं. पिछला साल उनके लिए बहुत खास रहा है. बीते साल…

© Merisaheli