Saffron

ठंडई के बिना होली का रंग फीका लगता है. यदि आप होली पर अपनों के संग ठंडई का मज़ा लेना चाहते हैं, तो ट्राई करें ये ईज़ी ठंडई रेसिपी.

Thandaiसामग्री:

  • 30 बादाम
  • 2 टेबलस्पून चारमगज
  • 1 टीस्पून कूटी हुई कालीमिर्च
  • 300 ग्राम खड़ी शक्कर
  • 4 इलायची
  • 4 टेबलस्पून सौंफ
  • 1.25 लीटर दूध

और भी पढ़ें: ठंडई

विधि:

  • बादाम को रातभर पानी में भिगोकर रखें और छिलका निकाल लें.
  • चारमगज को भी रातभर पानी में भिगो दें.
  • अब दूध को छोड़कर सारी सामग्री को मिक्सर में पीस लें और आधे घंटे के लिए अलग रख दें.
  • दूध में पिसी हुई सामग्री मिलाएं और फ्रिज में आधे घंटे तक ठंडा होने के लिए रख दें.
  • छानकर सर्व करें.

और भी पढ़ें: चॉकलेट ठंडाई बॉल्स

होली स्पेशल ठंडई बनाने के लिए देखें वीडियो:

सर्दियों में मौसम गरम-गरम चाय और कॉफी का पीने का अलग ही मज़ा है, लेकिन आप चाय और कॉफी के अलावा कहवा (Kashmiri Kahwa) भी ट्राई कर सकते हैं. साबूत मसालों के कॉम्बिनेशन से बना कहवा कश्मीर की ट्रेडिशनल चाय है. कहवा न केवल ठंड से बचाता है, बल्कि शरीर को गरमी भी प्रदान करता है, तो ज़रूर ट्राई करें ये विंटर स्पेशल रेसिपी.

Kashmiri Kahwa

सामग्री:

  • 4 टीस्पून ग्रीन लीव्स
  • चुटकीभर केसर
  • 1 छोटा टुकड़ा दालचीनी का
  • 2 हरी इलायची
  • 2 लौंग
  • कप पानी
  • 1 टेबलस्पून शक्कर
  • 1/4 कप बादाम

गार्निशिंग के लिए:

  • थोड़े-से केसर फ्लेक्स

और भी पढ़ें: गुड़ और आटे का हलवा

विधि: 

  • 1 टेबलस्पून गरम पानी में केसर फ्लेक्स को घोल लें.
  • अच्छी तरह मिक्स करके अलग रखें.
  • पैन में 2 कप पानी, शक्कर, दालचीनी, हरी इलायची, लौंग डालकर धीमी आंच पर 3-4 मिनट तक उबाल लें.
  • फिर ग्रीन लीव्स डालकर 2-3 मिनट तक और उबालें.
  • बीच-बीच में चलाते रहें.
  • आंच से उतारकर छान लें.
  • इसे दोबारा आंच पर रखें.
  • बादाम और केसर वाला घोल डालें.
  • लगातार चलाते हुए 1-2 मिनट तक गरम करें.
  • आंच से उतारकर गरम-गरम सर्व करें.

और भी पढ़ें: मेथी-पालक परांठा

Paneer Kheer

दशहरा स्पेशल- फ्रूटी पर्ल इन पनीर खीर (Dussehra Special- Fruity Pearl in Paneer Kheer)

सामग्री: 16-20 लीची (बीज निकाली हुई), 10-12 बादाम या अंगूर, थोड़े-से सिल्वर वर्क, 2 टेबलस्पून शक्कर, 1 लीटर दूध, 200 ग्राम पनीर (कद्दूकस किया हुआ), 1/4 टीस्पून केसर (1 टेबलस्पून रोज़ वॉटर में घोला हुआ). (Paneer)

सजावट के लिए: थोड़ी-सी गुलाब की पंखुड़ियां, थोड़ा-सा हरा पिस्ता (भिगोकर, छिलके निकालकर काटा हुआ).

विधि: लीचियों में एक अंगूर या बादाम डालकर अलग रख दें. आधी लीचियों पर सिल्वर लपेट लें. आधी लीचियां बिना वर्क के ही रहने दें. एक पैन में दूध को गरम करके आधा होने तक उबाल लें. शक्कर, पनीर और केसर का घोल डालकर 2-3 मिनट तक गाढ़ा होने तक पकाएं. आंच से उतारकर ठंडा होने के लिए फ्रिज में रखें. सर्विंग के लिए बाउल में ठंडी खीर डालकर ऊपर से लीची, गुलाब की पंखुड़ियां और पिस्ता से सजाकर सर्व करें.

Sitaphal Phirni

Sitaphal Phirni – सीताफल फिरनी

सामग्रीः 1 कप सीताफल का पल्प, 1 लीटर दूध, 1 कप शक्कर, 2 टीस्पून सामा (पिसा हुआ), 1 टीस्पून इलायची, 1/4 टीस्पून केवड़ा एसेंस, 1 टीस्पून देसी घी, थोड़ा-सा केसर (2 टीस्पून दूध में भिगोया हुआ), थोड़े-से केसर फ्लेक्स गार्निशिंग के लिए.(Custard Apple)

विधिः कड़ाही में देसी घी गरम करके पिसा हुआ सामा डालकर गुलाबी होने तक भून लें. आंच से उतारकर अलग रखें. एक पैन में दूध उबाल लें. जब दूध थोड़ा गाढ़ा होने लगे तब उसमें भुना हुआ सामा डालकर पकाएं. फिरनी के गाढ़ा होने पर शक्कर, केसर का घोल व इलायची पाउडर डालकर उबाल लें. 5 मिनट बाद आंच से उतार लें और ठंडा होने दें. 2 घंटे बाद सीताफल का पल्प और केवड़ा एसेंस डालकर अच्छी तरह मिक्स करें. केसर फ्लेक्स से सजाकर फ्रिज में ठंडा होने के लिए रखें. 2 घंटे बाद ठंडा-ठंडा सर्व करें.