Traditional Indian Recipe

Spongy Rasgulla

स्पॉन्जी रसगुल्ला (Spongy Rasgulla)

ट्रेडिशनल बंगाली रसगुल्ले का स्वाद अब घर में ही लीजिए. यह खाने में जितना लज़ीज़ होता है, बनाने में उतना ही आसान है.

सामग्री:

– 1 लीटर दूध

– 2 टेबलस्पून नींबू का रस

– 3 कप शक्कर

– 6 कप पानी

– आधा टीस्पून रोज़ एसेंस.

विधि:

छेना बनाने के लिए:

– पैन में दूध गरम करें.

– उबाल आने पर नींबू का रस और 2 टेबलस्पून पानी डालकर लगातार चलाएं.

– दूध के अच्छी तरह फटने पर आंच से उतार लें.

– मलमल के कपड़े पर छानकर पानी निथार लें.

– पोटली बांधकर 6-7 घंटे तक रखें, ताकि अतिरिक्त पानी निकल जाए.

रसगुल्ले बनाने के लिए:

– छेने को हल्के हाथों से अच्छी तरह से मैश कर लें.

– मीडियम साइज़ के रसगुल्ले बनाकर अलग रखें.

चाशनी बनाने के लिए:

– पैन में शक्कर और पानी मिलाकर उबाल लें. रसगुल्ले डालकर 15 मिनट तक उबालें.

– आंच से उतारकर रसगुल्लों को डिश में रखें. – केसर और गुलाब की पंखुड़ियों से सजाकर सर्व करें.

नोट:

– छेना बनाते समय ध्यान रखें कि छेना न तो ज़्यादा ड्राई हो और न ही उसमें बहुत अधिक मॉयश्‍चर हो.

– छेना यदि ड्राई होगा, तो रसगुल्ले हार्ड बनेगें और अगर छेना बहुत सॉफ्ट होगा, तो रसगुल्ले बनाते समय टूटेंगे.

Sitaphal Phirni

Sitaphal Phirni – सीताफल फिरनी

सामग्रीः 1 कप सीताफल का पल्प, 1 लीटर दूध, 1 कप शक्कर, 2 टीस्पून सामा (पिसा हुआ), 1 टीस्पून इलायची, 1/4 टीस्पून केवड़ा एसेंस, 1 टीस्पून देसी घी, थोड़ा-सा केसर (2 टीस्पून दूध में भिगोया हुआ), थोड़े-से केसर फ्लेक्स गार्निशिंग के लिए. (Custard apple)

विधिः कड़ाही में देसी घी गरम करके पिसा हुआ सामा डालकर गुलाबी होने तक भून लें. आंच से उतारकर अलग रखें. एक पैन में दूध उबाल लें. जब दूध थोड़ा गाढ़ा होने लगे तब उसमें भुना हुआ सामा डालकर पकाएं. फिरनी के गाढ़ा होने पर शक्कर, केसर का घोल व इलायची पाउडर डालकर उबाल लें. 5 मिनट बाद आंच से उतार लें और ठंडा होने दें. 2 घंटे बाद सीताफल का पल्प और केवड़ा एसेंस डालकर अच्छी तरह मिक्स करें. केसर फ्लेक्स से सजाकर फ्रिज में ठंडा होने के लिए रखें. 2 घंटे बाद ठंडा-ठंडा सर्व करें.