कहानी- काठ की गुड़िया