कहानी- तर्पण 1 (Story Series- Tarpan 1)

ढोलक की थाप पर सखियों ने बन्नो को सुखी रहने और पति का प्यार पाने की हज़ारों बधाइयां दी थीं. अरुणा ...

कहानी- तर्पण 2 (Story Series- Tarpan 2)

रमा बहुत ही स्वाभिमानी थी, वो अपना ख़र्च-खुद उठाना चाहती थी. हालांकि रमा ज़्यादा पढ़ी-लिखी नहीं थी, ...

कहानी- तर्पण 3 (Story Series- Tarpan 3)

रात भर रमा देवी अनवरत ध्यान करती रहीं. इस संसार का विधाता उन्हें इस परेशानी से निपटने का ...