कहानी- पराए घर की बेटियां 1 (Story Series- Paraye Ghar Ki Betiyaan 1)

“इसी तरह लुटाती रही तो सास-ननदें तुम्हें कंगाल बना देंगी. हां, कहे देती हूं. अभी सब नया-नया है, ...

कहानी- पराए घर की बेटियां 2 (Story Series- Paraye Ghar Ki Betiyaan 2)

“सुमति, बरही में मैंने काफ़ी सामान भेजा था. सास ने तो नहीं हड़प लिया?” “उन्होंने नहीं हड़पा, मैंने ...

कहानी- पराए घर की बेटियां 3 (Story Series- Paraye Ghar Ki Betiyaan 3)

“मीरा और नीरा को देख लिया न. फिर मैं उन्हें भी दोष नहीं देता. अपनी गृहस्थी बसाने के बाद वे ...