कहानी- प्रीत के रंग हज़ार