ऑयली स्किन

हम सभी की स्किन अलग-अलग टाइप की होती है इसलिए हर किसी की स्किन की ज़रूरतें भी अलग होती हैं. कोई भी ब्यूटी रुटीन अपनाने से पहले हर किसी के लिए ये जानना ज़रूरी है कि उसकी स्किन किस टाइप की है यानी ऑयली, ड्राई या नॉर्मल. यदि आपकी स्किन ऑयली है? तो डर्मेटोलॉजिस्ट एंड ट्राइकोलॉजिस्ट डॉ. मैथिली कामत के बताए ब्यूटी टिप्स आपके बहुत काम आएंगे.

ब्यूटी टिप्स

* ऑयली स्किन वालों को कील-मुंहासों की समस्या ज़्यादा होती है इसलिए उन्हें त्वचा की सफ़ाई और अपनी डायट पर ख़ास ध्यान देना चाहिए.
* रोज़ाना दो-तीन बार ठंडे पानी से चेहरा धोएं और तौलिए से हल्के हाथों से थपथपाकर पोंछें.
* अगर चेहरे पर बार-बार मुंहासे आ रहे हैं तो चेहरा धोने के लिए सैलिसिक एसिड युक्त फेसवॉश का इस्तेमाल करें.
* चेहरा धोने के बाद टोनिंग के लिए स्किन टोनर या एस्ट्रिंजेंट का इस्तेमाल करें.
* वॉटर बेस्ड, ऑयल फ्री मॉइश्‍चराइज़र का इस्तेमाल करें.

ब्यूटी टिप्स
* इसी तरह रोज़ाना ऑयल फ्री सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें.
* फेस मसाज कराने के लिए स़िर्फ जेल या वॉटर बेस्ड क्रीम को ही प्राथमिकता दें.
* यदि ब्लैक या व्हाइट हैड्स की समस्या ज़्यादा है तो सैलिसिलिक एसिड या रेटिनोइक एसिड युक्त एक्ने क्रीम का इस्तेमाल करें.
* सोने से पहले चेहरे को अच्छी तरह क्लींज़ ज़रूर करें. इससे त्वचा पर चिपकी धूल-मिट्टी साफ़ हो जाती है और कील-मुंहासों से भी राहत मिलती है.
* ऑयली त्वचा का सबसे बड़ा प्लस प्वाइंट ये है कि ऐसी त्वचा लंबे समय तक जवां बनी रहती है, क्योंकि ऑयली स्किन पर झुर्रियां जल्दी नहीं पड़तीं, लेकिन सही देखभाल के अभाव में ऑयली स्किन जल्दी खराब भी हो जाती है.

ब्यूटी टिप्स

ब्यूटी अलर्ट
* ऑयली स्किन वाले लोग बार-बार चेहरा धोने से बचें. इससे धूल-मिट्टी के साथ ही स्किन का नैचुरल ऑयल भी धुल जाता है, जो हेल्दी स्किन के लिए ज़रूरी है.
* कभी-भी ऑयल या ऑयल बेस्ड क्रीम से मसाज न कराएं. इससे चेहरे पर कील-मुंहासों की समस्या हो सकती है.