लारा दत्ता

अनेकों फिल्मों में लगातार काम करने वाली एक्ट्रेस लारा दत्ता ने बीच में लंबे टाइम के लिए फिल्मों से ब्रेक ले लिया था. खुद एक्ट्रेस ने तो काफी सोच समझकर ये डिसीजन लिया होगा, लेकिन उनके चाहने वालों के लिए ये काफी हैरानी की बात थी, कि आखिर ऐसा क्या हो गया, कि फिल्मों में इतनी एक्टिव रहने वाली एक्ट्रेस ने एकदम से ब्रेक लिया? ऐसे में एक इंटरव्यू के दौरान उनसे जब ये सवाल किया गया, तो उन्होंने इस बात का खुलासा कर दिया कि उन्होंने फिल्मों फिल्मों से ब्रेक क्यों ले लिया था.

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

वैसे ज्यादातर लोगों को तो यही लग रहा होगा, कि लारा ने फैमिली या फिर बच्चों की वजह से फिल्में छोड़ी होंगी, लेकिन सच इसके ठीक विपरीत है. दरअसल एक्ट्रेस का कहना है कि उन्हें फिल्मों में जिस तरह के रोल्स के लिए ऑफर मिल रहे थे उनसे वो बोर हो चुकी थीं. वो जिस तरह की फिल्में करना चाहती हैं, वैसी उन्हें मिल नहीं रही थी. अक्सर उन्हें हीरो की गर्लफ्रेंड या फिर पत्नी के रोल ही ऑफर होते थे, जिसकी वजह से वो काफी परेशान हो गई थीं.

ये भी पढ़ें: तो ये है नोरा फतेही के कोमल स्किन का राज, स्किन केयर रुटीन में जरूर शामिल करती हैं ये 4 चीजें (So This Is The Secret Of Nora Fatehi’s Soft Skin, These 4 Things Must Be Included In The Skin Care Routine)

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

लारा दत्ता ने कहा कि, “जैसे ही मैं 30 की हुई, सच कहूं तो मैं पक गई थी. इंडस्ट्री भी अलग ही राह पर थी. आपको इसलिए कास्ट किया गया क्योंकि फिल्म में एक ग्लैमरस एक्ट्रेस की डिमांड होती है. फिर आप हमेशा हीरो की गर्लफ्रेंड या पत्नी का ही रोल निभा रहे थे, जिससे मैं थक गई थी.” लारा ने बताया कि उन्होंने जानबूझकर कॉमेडी फिल्मों में काम करने का डिसीजन लिया, जिससे वो अलग तरह की अपनी इमेज बना सकें. उन्हें अपने आप को प्रूफ करने का ज्यादा मौका मिले.

ये भी पढ़ें: प्रज्ञा जयसवाल को लेनी पड़ी थी सलमान खान से उन्हें छूने की परमिशन, जानकर दंग रह जाएंगे आप (Pragya Jaiswal Had To Take Permission From Salman Khan To Touch Him, You Will Be Stunned To Know)

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

बता दें कि साल 2003 में आई फिल्म ‘अंदाज’ से लारा दत्ता ने बॉलीवुड फिल्मों में अपना डेब्यू किया था. उन्होंने ‘भागमभाग’, ‘नो एंट्री’, ‘हाउसफुल’, ‘पार्टनर’ और ‘सिंह इज किंग’ जैसी कॉमेडी फिल्मों में काम करने को लेकर कहा कि, “इन फिल्मों ने मुझे किसी की पत्नी या गर्लफ्रेंड बनने से ज्यादा दिया है. मैंने सक्सेसफुल और पॉप्युलर कॉमिक फिल्में कर अपनी छाप छोड़ी है. इन फिल्मों ने मुझे स्क्रीन पर ग्लैमरस एक्ट्रेस बनने से ज्यादा काफी कुछ करने का मौका दिया.”

ये भी पढ़ें: लता मंगेशकर से जुड़ी ये बातें नहीं जानते होंगे आप (You Would Not Know These Things Related To Lata Mangeshkar

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

अब पिछले दो साल में लारा दत्ता ने इंडस्ट्री में कम बैक किया है. उन्होंने ‘हिकप्स एंड हुकप्स’, ‘हंड्रेड’ और ‘कौन बनेगी शिखरवटी’ जैसी वैब सीरीज में काम किया. इसके अलावा अक्षय कुमार स्टारर फिल्म ‘बेल बॉटम’ में प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का रोल प्ले कर हर किसी को ये बता दिया कि वो सिर्फ गर्लफ्रेंड या पत्नी के किरदार से अलग किरदार को भी दमदार तरीके से निभा सकती हैं.

ये भी पढ़ें: जब गरीबी से दुखी होकर सुसाइड करने वाले थे कैलाश खेर, जानें उनकी ज़िंदगी के कुछ अनोखे किस्से (When Kailash Kher Was About To Commit Suicide Due To Poverty, Know Some Unique Stories Of His Life)

बॉलीवुड इंडस्ट्री में सलमान खान की क्या हैसियत है, इस बात से हर कोई वाकिफ है. उन्हें प्यार से लोग भाईजान बुलाते हैं. सलमान दुश्मनों को अच्छे से सबक सिखाने के लिए जितने मशहूर हैं, उतने ही दोस्ती निभाने के लिए भी जाने जाते हैं. सलमान खान की दोस्ती एक्ट्रेस लारा दत्ता से भी काफी अच्छी और खास रही है. इस बात का खुलासा खुद एक्ट्रेस ने एक इंटरव्यू के दौरान किया है, जिसे जानकर आप काफी हैरान हो जाएंगे ये सोचकर कि भला सलमान खान किसी के साथ ऐसा कैसे कर सकते हैं. 

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

जानकारी हो कि सलमान खान और लारा दत्ता ने एक साथ फिल्म ‘पार्टनर’ में काम किया था. इस फिल्म में दोनों की केमिस्ट्री को ऑडियंस का काफी अच्छा रिस्पॉन्स मिला था. ऑडियंस के दिलों पर दोनों ने अपनी अलग ही छाप छोड़ी थी. आज के समय में भी अगर कभी लारा और सलमान की दोस्ती का जिक्र होता है, तो उनकी फिल्म की याद जरूर आती है. रियल लाइफ में इनके बीच खास दोस्ती का असर ही था, जो रील में भी इतना शानदार लगा था.

ये भी पढ़ें: तो इसलिए दीपिका पादुकोण ने सलमान खान के साथ अब तक नहीं किया फिल्म, अब जाकर बताई असली वजह (So That’s Why Deepika Padukone Has Not Worked With Salman Khan Till Now, Now She Had Told The Reason)

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

अब हाल ही में लारा दत्ता ने एक इंटरव्यू के दौरान सलमान खान को लेकर काफी कुछ कहा है. एक्ट्रेस ने खुद इस बात का खुलासा किया कि उनकी और सलमान की दोस्ती कितनी खास है. लारा दत्ता ने बताया कि, “वो आज भी मुझे आधी रात को कॉल करते हैं. सलमान उसी टाइम पर उठते हैं और वही वो वक्त है जब मैं उनके कॉल्स रिसीव करती हूं.” अब लारा की इस बात से आप समझ ही सकते हैं कि उनकी दोस्ती कितनी गहरी है. नहीं तो आज की बिजी लाइफ में दिन में तो लोग बिना वजह के किसी का फोन रिसीव करते ही नहीं है. ये तो फिर भी रात की बात है. इतनी रात को अगर कोई फोन करे और सामने वाला रिसीव करके ढंग से बात भी करे, ये किसी आम सी दोस्ती के बीच तो कम ही देखने को मिलता है. खैर सलमान है हीं ऐसे कि, वो अपने दोस्तों की खास ख्याल रखना नहीं भूलते.

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

बता दें कि लारा दत्ता ने सलमान खान के साथ ‘पार्टनर’ और ‘नो एंट्री’ के अलावा भी कुछ और हिट फिल्मों में काम किया है. ऑनस्क्रीन तो दोनों की बॉन्डिंग सुपरहिट है ही, लेकिन ऑफस्क्रीन इनकी दोस्ती और भी ज्यादा अच्छी है. 

ये भी पढ़ें: बिपाशा को कई बार मिला प्यार में धोखा, अंत में मिला करण सिंह ग्रोवर का साथ (Bipasha Got Cheated In Love Many Times, Finally Got The Support Of Karan Singh Grover)

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

वहीं अगर लारा दत्ता के वर्क फ्रंट की बात करें, तो हाल ही में एक्ट्रेस ने हिकप्स और हूकप्स सीरीज के साथ अपना ओटीटी डेब्यू किया है. उस सीरीज में लारा के अलावा शिवेन और प्रतीक बब्बर भी नज़र आए थे. प्रतीक के साथ भी लारा के केमिस्ट्री को लोगों ने खूब पसंद किया था. वहीं बड़े स्क्रीन की बात करें तो आखिरी बार लारा दत्ता ने फिल्म ‘बेल बॉटम’ में इंदिरा गांधी का रोल प्ले किया था, जिसके लिए उन्हें काफी ज्यादा सराहना मिली थी. लारा के इंदिरा गांधी वाले लुक को हर किसी ने पसंद किया था. 

ये भी पढ़ें: ट्विंकल के अलावा ये 7 एक्ट्रेस भी पड़ चुकी हैं अक्षय कुमार के प्यार में (Apart From Twinkle, These 7 Actresses Have Also Fallen In Love With Akshay Kumar)

कोरोना महामारी के इस भयानक दौर में जबकि हर ओर बंदी और मंदी का तांडव है, ऐसे में अक्षय कुमार (Akshay Kumar) की मोस्ट अवेटेड फिल्म फिल्म ‘बेल बॉटम’ ने थियेटरों में आने का पूरा साहस दिखाया. ये अलग बात है कि फिलहाल सिर्फ 50 फीसदी ऑडियंस के साथ ही थियेटर्स खुले हैं, लेकिन अक्षय कुमार (Akshay Kumar) की ये फिल्म सिने प्रेमियों को आकर्षित करने का पूरा दम-खम रखती है. आप कह सकते हैं कि 19 अगस्त को रिलीज हुई ‘बेल बॉटम’ ने ऑडियंस के दिलों को जीतने में सफलता हासिल कर ली है. 

Bell Bottom Review
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

फिल्म में अक्षय कुमार (Akshay Kumar) के साथ वाणी कपूर (Vani Kapoor), लारा दत्ता (Lara Dutta) और हुमा कुरैशी (Huma Qureshi) अहम किरदार में नज़र आए हैं. बता दें कि रंजीत एम. तिवारी (Ranjit M Tiwari) के डायरेक्शन में बनी ये फिल्म 123 मिनट की है. फिल्म के स्टोरी की बात करें तो इसमें अक्षय कुमार (Akshay Kumar) ने एक रॉ एजेंट का रोल प्ले किया है, फिल्म में दिखाया गया है कि 200 से ज्यादा यात्रियों से भरे एक विमान को कैसे हाईजैक कर लिया जाता है और इसे लाहौर लेकर जाया जाता है. ऐसे हालात में देश की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के सामने अब सिर्फ एक ही रास्ता बाकी रह जाता है कि अपहरणकर्ताओं से पड़ोसी देश ही बात करे क्योंकि हाईजैक किया गया विमान उनकी जमीन पर ही खड़ा है.  

ये भी पढ़ें : ‘भाग मिल्खा भाग’ के लिए सोनम कपूर ने ली थी सिर्फ इतने रुपए की फीस, राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने किया रिवील (For ‘Bhaag Milkha Bhaag’ Sonam Kapoor Took Only This Much Fee, Rakeysh Omprakash Mehra Revealed)

Bell Bottom Review
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

फिल्म में दिखाया गया है कि ऐसी विकट परिस्थिति में कुछ नया कर गुजरने के लिए पीएम को भी साहस की आवश्यकता होती है. जिससे की पुराने घेरे को तोड़ा जा सके. ऐसे हालात में रॉ के प्रमुख पीएम से कहते हैं कि रुकिए इस बार, हम कोई नया दांव चलेंगे. वो अपने एक फुल ट्रेंड और एक मंझे हुए राष्ट्रवादी खिलाड़ी को मैदान में उतारने की प्लानिंग करते हैं. यहां से फिल्म की कहानी एक नया मोड़ लेती है. 

ये भी पढ़ें : गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा हैं इन दो बॉलीवुड स्टार्स के फैन, करते हैं सोशल मीडिया पर फॉलो (Gold Medalist Neeraj Chopra Is A Fan Of These Two Bollywood Stars, Follow On Social Media)

Bell Bottom Review
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

इंटरवल से पहले फिल्म की स्टोरी धीरे-धीरे स्थापित होती दिखाई देती है. जिसमें प्लेन हाईजैक के साथ मां और बेटे का इमोशनल रिलेशन और पति-पत्नी का प्रेम निखरता दिखाई देता है. कहानी कभी अतीत में चलती है, तो कभी वर्तमान में. इसी बीच प्लेन हाईजैक के बाद राजनीतिक गलियारों की राजनीति और प्रधानमंत्री के पास सारी ताकत होने के बावजूद उनकी मानवीय चिंताएं जाहिर होती दिखाई गई है. हालांकि ऑडियंस की चाहत के मुताबिक कहानी में थ्रिल नहीं होता, लेकिन फिल्म ऑडियंस को बांधे रखने में कामयाब है.

Bell Bottom Review
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

कहानी सबसे ज्यादा दिलचस्प तब लगती है, जब कई भाषाओं का जानकार व तेज याददाश्त का मालिक अंशुल मल्होत्रा (अक्षय कुमार) काफी तेज-तर्रार एजेंट के रूप में उभर कर सामने आता है. ऐसे में अंशुल मल्होत्रा का कोडनेम बेल बॉटम (अक्षय कुमार) होता है. यहां से फिल्म में रोमांच की चमक देखने को मिलती है. 

ये भी पढ़ें : फिल्मों में कैसे शूट होता है किसिंग और इंटीमेट सीन, ऋचा चड्ढा और अली फजल ने किया खुलासा (How Kissing And Intimate Scenes Are Shot In Films, Richa Chadha And Ali Fazal Revealed)

Bell Bottom Review
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

फिल्म में प्लेन हाईजैक के साथ ही अंशुल मल्होत्रा की पर्सनल लाइफ के भावनात्मक सिरे को भी शामिल किया गया है. वो रॉ का एजेंट क्यों बनता है, हाईजैक की घटनाओं का डिटेल में स्टडी करके स्पेशलिस्ट क्यों बनता है. कहानी में ट्विस्ट तब आता है, जब देश की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (लारा दत्ता) पाकिस्तान के राष्ट्राध्यक्ष से कहती हैं कि वो लोग प्लेन हाइजैक करने वालों से किसी तरह की कोई बातचीत न करे, अब हम खुद आगे देखेंगे कि कैसे और क्या करना है. यहां अब कैसे दुश्मन देश का दोहरा चरित्र सामने आता है, उसे बखूबी दर्शाया गया है. अब आगे दिखाया जाता है कि कैसे बेल बॉटम चार अपहरणकर्ताओं को मार कर सभी यात्रियों को सुरक्षित बचा लेता है.

Bell Bottom Review
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

बता दें कि ये फिल्म 1980 दशक की सच्ची घटनाओं से प्रेरित है. अक्षय कुमार (Akshay Kumar) के फिल्मी करियर के लिए ये फिल्म काफी राहत का काम करने वाली है, क्योंकि पिछले साल यानी 2020 में कोरोना की वजह से उनकी फिल्म ‘सूर्यवंशी’ रिलीज नहीं हो पाई थी. तो वहीं फिल्म ‘लक्ष्मी’ जो कि ओटीटी पर रिलीज हुई थी को काफी विरोध और आलोचना मिली थी. अब रॉ एजेंट के रूप में उन्हें ऑडियंस का प्यार और भरोसा दोनों मिल रहा है. 

Bell Bottom Review
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

जहां तक बात है वाणी कपूर और दूसरे कलाकारों की तो हर किसी के किरदार को काफी ज्यादा पसंद किया जा रहा है.वाणी कपूर का रोल छोटा ही है, लेकिन ऑडियंस के दिलों पर अपनी छाप छोड़ने में कामयाब है. जबकि लारा दत्ता के लिए तो ये फिल्म लंबी वापसी के रास्ते खोलती नज़र आ रही है. यानी अगर आप लंबे टाइम से किसी अच्छी फिल्म के इंतज़ार में हैं, जिसे थियेटर में बैठकर मजे लेकर देखना चाहते हैं, तो ये फिल्म आप जरूर देख सकते हैं. 

×