Tag Archives: 25 years

25वें साल में शुरू करें ये 20 ख़ास बदलाव (20 Things You Must Do Before Turning 25)

कॉलेज के दिनों में हर किसी की तरह आपने भी ज़रूर सोचा होगा कि जॉब लगते ही ये करूंगा/करूंगी, वो करूंगा/करूंगी, यहां जाऊंगा, वहां जाऊंगा, सारे सपने पूरे करूंगा/करूंगी, पर क्या आप वो सब कर पा रहे हैं? अगर लिस्ट बनाकर देखेंगे, तो पाएंगे कि उनमें से ज़्यादातर ख़्वाहिशें, ख़्वाहिशें ही रह गईं और आपकी भागदौड़ बदस्तूर जारी है. पर आज हम आपसे कहते हैं कि ज़िंदगी मेें ये पड़ाव दोबारा नहीं आएगा, इसलिए जो भी इच्छाएं हैं, उन्हें पूरा कर लें. 25वें बर्थडे का केक काटने से पहले अपने जीवन को दें एक फ्रेश स्टार्ट और अपनी ज़िंदगी में लाएं ये ख़ास बदलाव.

Things You Must Do Before Turning 25

  1. कुछ दिन अकेले रहें

ज़्यादातर लोगों की ख़्वाहिश होती है कि वो आत्मनिर्भर बनें. अपने काम ख़ुद करें और ज़िंदगी को अपने नज़रिए से देखें, मम्मी-पापा के सुरक्षित घेरे से बाहर ख़ुद को संभालकर ज़िंदगी में कुछ बनकर दिखाएं. और यह अच्छा भी है, क्योंकि अकेले रहने से आप ज़िंदगी के बारे में बहुत कुछ सीखते हैं. इसका सबसे बड़ा प्लस पॉइंट है कि आप ख़ुद के साथ अच्छा व़क्त बिताते हैं, जिससे ख़ुद को बेहतर समझ पाते हैं.

  1. ख़ुद से प्यार का इज़हार करें

कहते हैं कि आप किसी और से प्यार तभी कर पाओगे, जब आप ख़ुद से प्यार करते हो. हर कोई ख़ुद से बहुत प्यार करता है, पर इस बात का कभी इज़हार नहीं करता. तो आज कीजिए. आईने के सामने खड़े होकर ख़ुद से प्यार का इज़हार करें.जब आप अपने प्यार का इज़हार करेंगे, तो यकीनन ख़ुुद को ख़ुश रखने के लिए वो सब करेंगे, जो हम अपने पार्टनर्स के लिए करते हैं. बस, इसे अपने रूटीन में शामिल कर लीजिए और यकीन मानिए इससे आपकी ज़िंदगी हर पल ख़ुशहाल रहेगी.

  1. इनवेस्टमेंट और सेविंग्स की शुरुआत करें

अपने भविष्य को सुरक्षित करना चाहते हैं, तो यही सही समय है. सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (एसआईपी), म्यूचुअल फंड और नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट जैसे छोटे-छोटे इन्वेस्टमेंट और सेविंग्स प्लान की शुरुआत कर दें. ऐसा करने से कोई भी नया काम या पैशन को पूरा न कर पाने का आपको मलाल नहीं करना पड़ेगा.

  1. ख़ुद को फेल होने की परमिशन दें

हार-जीत हमारी ज़िंदगी में बहुत मायने रखती है. हर कोई हमेशा स़िर्फ जीतना ही चाहता है और हो भी क्यों न, हारना भला किसे पसंद होगा. पर कभी-कभी हालात ऐसे होते हैं कि हम चाहकर भी कुछ चीज़ें जीत नहीं पाते. तो क्या हम ज़िंदगी से हार गए, नहीं. हर हार हमें एक सबक सिखाती है, जिसे हमें याद रखना चाहिए. अगर हम एक बार में सबक सीख लें, तो दोबारा उस चीज़ में नहीं हारेंगे. ख़ुद पर हमेशा जीतने का दबाव न डालें, कभी-कभी फेल होने की भी परमिशन दें, इससे आप मेंटली रिलैक्स रहेंगे.

  1. माफ़ करना सीखें

माफ़ी की उम्मीद हमेशा हम बड़ों से ही करते हैं, तो अब आप भी तो बड़े हो गए हैं. इस आदत को अपनाइए. किसी की भी ग़लती पर रिएक्ट करने की बजाय उसे माफ़ करना सीखें. इससे न स़िर्फ आपका व्यक्तित्व निखरेगा, बल्कि आपके भीतर एक सुकून और शांति रहेगी. उम्र के इस पड़ाव पर अपने जीवन में यह बदलाव आपके जीवन की दिशा को बदल सकता है.

  1. अपना मेकओवर करें

वो हेयरकट जो आप सालों से लेना चाहती थीं, पर संकोच में कभी ले नहीं पाईं या फिर वो ड्रेस जिसे पहनने की आपकी ख़्वाहिश है, उसे अब पूरा करें. अपने लुक्स में एक्सपेरिमेंट करने का ये बेस्ट टाइम है, क्योंकि शादी के बाद कुछ भी करने से पहले आपको बहुत कुछ सोचना होगा. अपने वॉर्डरोब को अपने मनपसंद कपड़ों से सजाएं. ज़िंदगी के हर मुकाम को खुलकर जीएं.

  1. पैरेंट्स को सरप्राइज़ दें

अपनी फैमिली के साथ क्वालिटी समय बिताएं. उनके लिए जो भी करना चाहते हैं, अभी करें. उन्हें उनकी पसंदीदा चीज़ें देकर उन्हें सरप्राइज़ दें. कभी-कभार मम्मी को किचन से छुट्टी देकर बाहर से खाना मंगाएं या बाहर खाने जाएं. परिवार के साथ बिताए ये छोटे-छोटे पल आपकी बैटरी को रिचार्ज करने का काम करते हैं. तो ऐसे छोटे-छोटे पलों को आज से ही जुटाना शुरू कीजिए. आपकी ज़िंदगी ख़ुशगवार बनेगी.

  1. नई हॉबी चुनें

बचपन से संजोया वो संगीत सीखने का सपना या गिटार बजाने की वो चाहत, पेंट करने का जुनून या फिर डांस क्लास में अपने मूव्स को देखकर ख़ुश होने की चाहत… ऐसी बहुत-सी हॉबीज़ हैं, जिन्हें आप करना चाहते थे, पर कभी समय की कमी तो कभी पैसों की तंगी ने कुछ करने नहीं दिया. पर अब इन बहानों को पीछे छोड़ें और अपनी नई हॉबी को खुलकर जीएं.

  1. खाना बनाना सीखें

यह एक बहुत ज़रूरी बदलाव है, जो हर किसी को अपनी ज़िंदगी में लाना चाहिए, चाहे आप लड़का हो या लड़की. हमारे देश में लड़कियों को खाना बनाने की सीख सब देते हैं, पर आज की ज़रूरत है कि दोनों ही हर काम सीखें. खाना बनाना सीखकर न स़िर्फ आप अपनी मनपसंद डिश का लुत्फ़ उठा सकते हैं, बल्कि अपने पार्टनर की मदद भी कर सकते हैं, जिससे आपका दांपत्य जीवन भी सुखी रहेगा.

  1. अपनी फेवरेट क़िताब पढ़ें

रोज़मर्रा की भागदौड़ में वह क़िताब पढ़ने की इच्छा अधूरी रह जाती है. ऑनलाइन बुक सेलिंग वेबसाइट्स पर पढ़ने की विश लिस्ट बढ़ती जाती है, पर समय की कमी आपको अक्सर इससे दूर रखती है. लेकिन अब और विश लिस्ट मत बढ़ाइए, बल्कि उन हर महीने उनमें से कुछ क़िताबें ख़रीदिए और क़िताबों की जादुई दुनिया में खो जाइए. अपनी मनपसंद क़िताबें पढ़कर बहुत कुछ सीखने के साथ-साथ आपको जो ख़ुशी मिलेगी, वह आपकी ज़िंदगी के लिए अनमोल होगी.

यह भी पढ़ें: 20 बातें जो पुरुष स्त्रियों से चाहते हैं (20 Things Men Really Want In A Women)

Things You Must Do Before Turning 25

  1. अकेले कहीं घूमने जाएं और नए दोस्त बनाएं

फिल्मों में हीरो-हिरोइन्स को टूर पर जाता देख अक्सर दिल में ख़्याल आता है कि काश मैं भी टूर पर जाता, पर कभी पैसे, तो कभी समय की कमी हमें रोक देती है. पर इस बार ख़ुद को मत रोकिए. सभी बहानों को दरकिनार कर अकेले ही निकल जाएं अपने फेवरेट डेस्टिनेशन पर. अकेले जाने का फ़ायदा यह होगा कि इसी बहाने आप नए दोस्त बनाएंगे. ऐसी छोटी-सी ट्रिप आपकी ज़िंदगी को रिफ्रेश कर देगी.

  1. ड्राइविंग लाइसेंस बनवाएं

यह एक बहुत ज़रूरी बदलाव है, जिसे अक्सर लोग नज़रअंदाज़ कर देते हैं. ड्राइविंग एक ऐसा स्किल या हुनर है, जो सभी को आना चाहिए. इससे आप अपनी ज़रूरतें तो पूरी कर ही सकते हैं, साथ ही इमर्जेंसी में दूसरों की मदद भी कर सकते हैं.

  1. टेकेन फॉर ग्रांटेडवाले लोगों को दूर करना सीखें

इस उम्र में आप इतने तो परिपक्व हो ही गए हैं कि अपना भला-बुरा चाहनेवालों को पहचानने लगे हैं. आपके पास भी कुछ ऐसे लोग होंगे, जो हमेशा आपको टेकेन फॉर ग्रांटेड ही लेते हैं. ऐसे लोगों के लिए काम निकलवाने का मोहरा मत बनिए. इससे आप तनाव में रहेंगे, तो आपकी सेहत के लिए ठीक नहीं. इसलिए टेकेन फॉर ग्रांटेडवाले लोगों से ख़ुद को दूर कर लें.

  1. कुछ स्पेशल करना शुरू करें

हर कोई चाहता है कि वो दूसरों की मदद करें, पर ज़्यादातर लोग पैसोंे की कमी के कारण ऐसा नहीं कर पाते. पर हम आपको बता दें कि मदद हमेशा पैसों से ही हो ज़रूरी नहीं. किसी बच्चे की पढ़ाई में मदद, किसी बुज़ुर्ग को अपने पुराने कपड़े देकर, किसी ज़रूरतमंद की किसी तरह मदद करके भी आप कुछ स्पेशल कर सकते हैं. किसी की मदद करने से आपको जो ख़ुशी और आत्मसंतोष मिलेगा, उसकी कोई तुलना ही नहीं.

  1. ना कहना सीखें

ना कहना जितना आसान है, उतनी ही मुश्किल भी. कहने को तो एक छोटा-सा शब्द है, पर अपने ऊपर कई ज़िम्मेदारियों का बोझ उठाए रखता है, शायद इसीलिए इसे कहने से लोग झिझकते हैं. पर यह भी सच है कि आप हर किसी को ख़ुश नहीं रख सकते और अगर कोशिश करेंगे, तो स्वयं हमेशा दुखी रहेंगे. इसलिए इस छोटे-से बदलाव को अपने जीवन में अपनाइए और ज़रूरत पड़ने पर ना कहने की आदत भी डालिए.

  1. बदलाव से घबराएं नहीं

रूटीन में बदलाव ज़रूरी है, वरना ज़िंदगी बहुत बोरिंग हो जाएगी, पर अक्सर लोग बदलाव के नाम से ही घबरा जाते हैं. पर यह ज़रूरी तो नहीं कि बदलाव हमेशा नकारात्मक ही हो. बदलाव से लोग इसलिए डरते हैं कि हालात कहीं इससे ज़्यादा बुरे न हो जाएं, पर हो सकता है कि हालात बहुत अच्छे भी हो जाएं. हर बदलाव को सकारात्मक नज़रिए से देखिए और ख़ुद को उसके प्रति प्रोत्साहित कीजिए. अगर इस ख़ूबी को अपना लेंगे, तो ज़िंदगी आपके लिए काफ़ी आसान हो जाएगी.

  1. अपने बॉडी पोश्‍चर का ध्यान रखें

आजकल ज़्यादातर लोग डेस्कजॉब करते हैं, जिससे उन्हें कई हेल्थ प्रॉब्लम्स होेने लगी हैं. भविष्य में ऐसी कोई प्रॉब्लम न हो, इसके लिए अपने बॉडी पोश्‍चर पर अभी से ध्यान देना शुरू कर दें. जब आप अपने बॉडी पोश्‍चर के प्रति सतर्क रहते हैं, तो बिना कहे आप अपनी सेहत के प्रति भी सचेत हो जाते हैं. अपने बॉडी पोश्‍चर के प्रति सतर्कता आपको हेल्दी लाइफ का तोहफ़ा देगी.

  1. ख़ुद को अच्छी तरह समझें

अपने दोस्तों की शादियां अटेंड करते-करते यह तो समझ ही गए हैं आप कि आप की भी शादी की उम्र हो गई है, वो अलग बात है कि आप अभी भी अपने करियर को बेहतर बनाने में व्यस्त हैं. पर शहनाइयां अब ज़्यादा दूर नहीं, इसलिए ख़ुद को समझना शुरू कर दें. अपने सपनें, अपनी पसंद-नापसंद, अपनी चाहतें-ख़्वाहिशें सबको डायरी में उतारना शुरू कर दीजिए. कैसा लाइफ पार्टनर चाहते हैं, उसके बारे में सोचना शुरू कर दें, क्योंकि उसे समझने से पहले ख़ुद को तो अच्छी तरह जान लो.

  1. ख़ुद को कोसना छोड़ दें

अक्सर ऑफिस देरी से पहुंचने पर, किसी को वादा करके पूरा न कर पाने पर, हालात का सही आंकलन कर काम पूरा न कर पाने पर लोग ख़ुद को कोसना शुरू कर देते हैं. ग़लती का एहसास होना बहुत अच्छी बात है, पर उसके बाद होनेवाले आत्ममंथन से ख़ुद को न मथें. हालात जैसे हैं, उन्हें वैसे ही अपनाकर आप भूल को सुधार सकते हैं, जबकि ख़ुद को कोसने से न तो बिगड़ा काम बनेगा और न ही आप ख़ुश रहेंगे. हर हाल में ख़ुद को ख़ुश रखना सीखिए, आपकी ज़िंदगी ख़ुशहाल बनी रहेगी.

  1. अपने ड्रीम जॉब के लिए पूरी मेहनत करें

सभी पैरेंट्स अपने बच्चों को कहते रहते हैं, “बेटा कुछ साल जमके मेहनत कर ले, फिर लाइफ सेट हो जाएगी.” वो इसलिए ऐसा कहते हैं, क्योंकि उन्हें पता है, इस समय आपमें जो एनर्जी और काम को लेकर उत्साह है, वो समय के साथ धीरे-धीरे कम होता चला जाएगा, इसलिए यही सही समय है. अगर आप अपनी नौकरी से ख़ुश नहीं, तो उसे छोड़िए अपने ड्रीम जॉब के लिए मेहनत करना शुरू कीजिए. याद रखिए, आपकी उम्र समझौते की नहीं, बल्कि कुछ कर गुज़रने की है. इसलिए आगे बढ़िए अपने करियर के एक्सलरेटर का बटन दबाइए और 25वें साल से कुछ बेहतर कर दिखाइए.

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ें: मां बनने वाली हैं तो पति को 10 अलग अंदाज़ में दें मां बनने की ख़ुशखबरी (10 Cute Ways To Tell Your Husband You’re Pregnant)

यह भी पढ़ें: क्या होता है जब प्रेमिका बनती है पत्नी? (After Effects Of Love Cum Arrange Marriage)