Tag Archives: Abhay Deol

शादी से पहले सेक्स पर क्या है बॉलीवुड के इन 10 सितारों की राय (Bollywood celebrities on sex before marriage)

बॉलीवुड इंडस्ट्री में कई सितारे सेक्सुअल रिलेशनशिप और यौन शोषण जैसे मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखते हैं. कई सितारे शादी से पहले सेक्स को ग़लत नहीं मानते हैं. इसी कड़ी में चलिए जानते हैं शादी से पहले सेक्स पर बॉलीवुड के इन 10 सितारों क्या राय है.

1- दीपिका पादुकोण

बॉलीवुड की पद्मावती दीपिका पादुकोण ने कुछ समय पहले सेक्स जैसे मुद्दे पर अपनी राय रखते हुए कहा था कि शादी से पहले सेक्स करना या न करना व्यक्ति की अपनी मर्ज़ी है. अगर कोई शादी से पहले सेक्स करता भी है, तो उसे ग़लत नज़र से नहीं देखना चाहिए.

2- रणवीर सिंह 

शादी से पहले सेक्स पर रणवीर सिंह का कहना है कि सेक्स एक ख़ूबसूरत और स्वाभाविक प्रक्रिया है. यह किसी भी तरह से ग़लत या बुरी चीज़ नहीं है और इसमें छुपाने लायक कुछ भी नहीं है, क्योंकि यह हर कोई करता है. रणबीर की मानें तो हमेशा अपने पर्स में कंडोम रखते हैं, न जाने कब इसकी ज़रूरत पड़ जाए.

3- सलमान खान

सलमान खान के भाई अरबाज़ खान ने करण जौहर के शो कॉफी विद करण में यह ख़ुलासा किया था कि सलमान एक महीने भी बगैर सेक्स के नहीं रह सकते, हालांकि सलमान का कहना है कि वो अभी तक वर्जिन हैं और उन्होंने ये वर्जिनिटी अपनी पत्नी के लिए बचाकर रखी है.

4- शाहिद कपूर

करीना से लेकर प्रियंका चोपड़ा जैसी अभिनेत्रियों को डेट कर चुके शाहिद कपूर सेक्स जैसे मुद्दे पर अपनी राय रखते हुए कहते हैं कि सेक्स उन्हें इतना पसंद है कि वो इसके लिए एक्टिंग भी छोड़ सकते हैं.

5- नरगिस फखरी

एक्ट्रेस नरगिस फखरी भी सेक्स पर बेबाकी से अपनी राय रखती हैं. शादी से पहले सेक्स जैसे मुद्दे पर उनका मानना है कि रिलेशनशिप में सेक्स बहुत ज़रूरी है. अगर रिश्ते में इसकी कमी लगे तो अपने पार्टनर को ही छोड़ देना चाहिए.

यह भी पढ़ें: शादी से पहले लिव इन में रह चुके हैं बॉलीवुड के ये 5 कपल्स

6- अर्जुन कपूर

अभिनेता अर्जुन कपूर का नाम कई अभिनेत्रियों के साथ जुड़ चुका है, लेकिन सेक्स जैसे मसले पर उनका कहना है कि उनके लिए रिश्ते में प्यार से ज़्यादा सेक्स ज़रूरी है.

7- अभय देओल

देओल परिवार के सदस्य व अभिनेता अभय देओल की मानें तो जब उनका मन करता है तब वो सेक्स करते हैं, सेक्स में छुपाने या शर्मिंदगी महसूस करने जैसा कुछ नहीं है, बल्कि सेक्स को सही मायने में एंजॉय करना चाहिए.

8- राधिका आप्टे

महिलाओं और सेक्स जैसे मुद्दे पर बेबाकी से अपनी राय रखने वाली अभिनेत्री राधिका आप्टे की मानें तो सेक्स बिकाऊ है, क्योंकि आज भी इसे वर्जित माना जाता है. आजकल की महिलाओं से सती-सावित्री होने की उम्मीद नहीं की जा सकती. मेरे दोस्तों में शायद ही कोई ऐसा हो, जिसने शादी से पहले सेक्स न किया हो.

9- सनी लियोनी 

पॉर्न स्टार से बॉलीवुड एक्ट्रेस तक का सफर तय करने वाली सनी लियोनी का सेक्स के मुद्दे पर कहना है कि अगर उन्होंने इस बात की परवाह की होती कि लोग उनके बारे में क्या सोचते हैं, तो आज वो इस मुकाम तक न पहुंचतीं. सनी का कहना है कि हर किसी को वही करना चाहिए, जो उन्हें अच्छा लगता है.

10- कल्कि कोचलिन

अभिनेत्री कल्कि कोचलिन की मानें तो महज़ नौ साल की उम्र में ही उन्होंने किसी आदमी को अपने साथ संबंध बनाने की इज़ाज़त दे दी थी, जबकि उन्हें इसका मतलब भी नहीं पता था.

यह भी पढ़ें: जानिए फिल्मों में आने से पहले क्या करते थे बॉलीवुड के ये 10 सितारे 

 

 

मूवी रिव्यू: जानें कैसी है ईशान खट्टर की ‘बियॉन्ड द क्लाउड्स’ और अभय देओल की ‘नानू की जानू’ (Movie Review of Beyond The Clouds and Nanu ki Jaanu)

Movie Review, Beyond The Clouds, Nanu ki Jaanu
आज फिल्मी फ्राइडे है और  ईशान खट्टर (Ishaan Khattar) स्टारर फिल्म ‘बियॉन्ड द क्लाउड्स’ सिनेमाघरों में दस्तक दे चुकी है. जाने माने ईरानी फिल्म मेकर माजिद मजीदी ने इस फिल्म के ज़रिए भाई-बहन के रिश्तों की अनोखी दास्तान को बयान करने की कोशिश की है, तो वहीं हॉरर और कॉमेडी से भरपूर अभय देओल (Abhay Deol) की फिल्म ‘नानू की जानू’ भी रिलीज़ हुई है. निर्देशक फ़राज़ हैदर ने फिल्म के ज़रिए दर्शकों को डराने के साथ-साथ हंसाने की भी कोशिश की है. चलिए जानते हैं कैसी है इन दोनों फिल्मों की कहानी.
Movie Review, Beyond The Clouds, Nanu ki Jaanu
फिल्म- बियॉन्ड द  क्लाउड्स
निर्देशक- माजिद मजीदी
कलाकार- ईशान खट्टर, मालविका मोहनन, तनिष्ठा चटर्जी और गौतम घोष
रेटिंग- 3.5/5
कहानी
ईरानी फिल्म मेकर माजिद मजीदी की फिल्म ‘बियॉन्ड द क्लाउड्स’ की कहानी आमिर (ईशान खट्टर) और उनकी बड़ी बहन तारा (मालविका मोहनन) के रिश्तों की कहानी है. माता-पिता की मौत के बाद आमिर अपनी बहन के घर रहता है, लेकिन उसका शराबी पति हर रोज़ दोनों को पीटता है. एक दिन तंग आकर 13 साल की उम्र में आमिर अपनी बहन के घर से भाग जाता है.
आमिर गलत संगत में पड़ जाता है और हर हाल में पैसा कमाने की ख्वाहिश रखता है. उधर धोबी घाट पर 50 साल का अर्शी (गौतम घोष) आमिर की बहन तारा के साथ जबरदस्ती करता है, तो बचाव में वो उस पर बड़े पत्थर से हमला करती है. अर्शी पर हमला करने के आरोप में तारा को जेल भेज दिया जाता है और फिर इस कहानी में नया मोड़ आता है. आखिर ये नया मोड़ भाई-बहन की ज़िंदगी को किस तरह से बदलता है ये जानने के लिए यह फिल्म देखनी पड़ेगी.
एक्टिंग
ईशान खट्टर ने आमिर के किरदार को बहुत ही बेहतरीन ढंग से निभाया है. अपनी एक्टिंग से ईशान ने यह साबित कर दिया है कि वो आने वाले कल के स्टार हैं. वहीं ईशान की बहन का किरदार निभानेवाली साउथ फिल्मों की एक्ट्रेस मालविका मोहनन ने भी दमदार अदायगी से अपने किरदार में जान डाल दी है. इस फिल्म की शूटिंग मुंबई के कई स्लम कॉलोनियों में की गई है. अगर आप एक्शन, कॉमेडी, रोमांस और हॉट सीन्स से परे कुछ अलग देखना चाहते हैं तो ‘बियॉन्ड द क्लाउड्स’ आपको बेहद पसंद आ सकती है.
फिल्म- नानू की जानू
कलाकार- अभय देओल, पत्रलेखा, बृृजेंद्र काला, मनु ऋषि
निर्देशक- फ़राज़ हैदर
रेटिंग- 2.5/5
कहानी 
बॉलीवुड में वैसे तो कई हॉरर फिल्में बन चुकी हैं जो दर्शकों को डराने में कामयाब भी हुई हैं, लेकिन निर्देशक फ़राज़ हैदर की फिल्म ‘नानू की जानू’ हॉरर और कॉमेडी का मज़ेदार मिश्रण है. इस फिल्म में अभिनेता अभय देओल आनंद ऊर्फ नानू की भूमिका निभा रहे हैं जो दिल्ली का एक गुंडा है और लोगों को डरा-धमका कर उनके मकानों पर कब्ज़ा करना उसका पेशा है. एक दिन नानू के साथ अजीबो-गरीब घटना घटने लगती है जिससे नानू यानी अभय देओल डर जाते हैं और इससे छुटकारा पाने के लिए पड़ोसियों से मदद मांगते हैं.
दरअसल, नानू का पाला सिद्धि ऊर्फ जानू (पत्रलेखा) नाम की भूतनी से पड़ जाता है और इस भूतनी का दिल नानू पर आ जाता है. इसके बाद नानू नाम की भूतनी जानू को पाने के लिए तमाम कोशिशें करने लगती है. इस दौरान फिल्म में दिखाए गए कॉमेडी से भरपूर दृश्य दर्शकों को  हंसाने- गुदगुदाने का काम करते हैं, लेकिन यह भूतनी दिल्ली के गुंडे नानू की जानू बनने में कामयाब होती है या नहीं, यह तो आपको फिल्म देखने पर ही पता चलेगा.
एक्टिंग
भले ही अभय देओल फिल्मों में बेहद कम नज़र आते हों, लेकिन वो जब भी फिल्मों में एक्टिंग करते हैं तो उनकी दमदार एक्टिंग दर्शकों का ध्यान अपनी तरफ खींच ही लेती है. अभय ने इस फिल्म में भी काफ़ी बेहतरीन एक्टिंग की है. फिल्म में भूतनी बनी पत्रलेखा का रोल भले ही छोटा हो, लेकिन उन्होंने अपने किरदार के साथ पूरा इंसाफ किया है. वहीं मनु ऋषि भी अपनी एक्टिंग से दर्शकों को हंसाने में कामयाब रहे हैं.

Happy Bhag Jayegi:-पब्लिक रिव्यू- हैप्पी भाग जाएगी

डायना पेंटी, अभय देओल, जिम्मी शेरगिल और अली फज़ल स्टारर फिल्म हैप्पी भाग जाएगी(Happy Bhag Jayegi) थिएटर्स में दर्शक जुटाने में कामयाब रही है. फिल्म देखने के बाद पब्लिक का रिव्यू देखकर इस फिल्म की स्टारकास्ट ज़रूर हैप्पी हो जाएगी. देखिए ये वीडियो.

Abhay Deol, Diana penti, Jimmy Shergill and Ali will be part phazal starrer film Happy Bhag Jayegi managed to mobilize the viewer into movie theaters. After watching the movie public’s review of the film to see starkast sure happy. See these videos.

FILM REVIEW- ‘हैप्पी भाग जाएगी’ है हैप्पी फिल्म

इस शुक्रवार बॉक्स ऑफिस पर एक ही फिल्म रिलीज़ हुई है. पिछले हफ़्ते रिलीज़ हुई ‘रुस्तम’ और ‘मोहनजोदारो’ अब भी थिएटर्स में अच्छी कमाई कर रहे हैं, ऐसे में ‘हैप्पी भाग जाएगी’ को भी ठीक-ठाक ओपनिंग मिली है.1हैप्पी भाग जाएगी को इस साल की ख़ुशमिजाज़ फिल्म कहा जा सकता है, क्योंकि इस साल जो भी फिल्म रिलीज़ हुई हैं वो सीरियस टाइप की रही हैं. ऐसे में ये फिल्म आपके मूड को फ्रेश कर देगी.2फिल्म की कहानी शुरू होती है अमृतसर से जहां हैप्पी यानी डायना पेंटी की शादी की तैयारियां चल रही होती हैं. हैप्पी की शादी होने वाली होती है कॉर्पोरेटर बग्गा यानी जिम्मी शेरगिल से, लेकिन हैप्पी अपनी ही शादी से भाग जाती है, क्योंकि उसे गुड्डू यानी अली फज़ल से प्यार है. पर भागने के चक्कर में हैप्पी पहुंच जाती है पाकिस्तान. दरअसल, लाहौर के बिलाल अहमद (अभय देओल) अपने अब्बा के साथ एक डेलिगेशन में अमृतसर आते है, उसी जगह हैप्पी भी पहुंच जाती है और फलों की टोकरी में छुप जाती है. ये फलों की टोकरी पहुंचती है पाकिस्तान, जहां बिलाल हैप्पी को देखकर दंग रह जाता है. अब जैसा कि फिल्मों में होता है, बिलाल को प्यार हो जाता है हैप्पी से, जबकि बिलाल की मंगतेर भी है. अभय की मंगेतर का किरदार फिल्म में निभा रही हैं पाकिस्तानी ऐक्ट्रेस मोमल शेख, जिन्होंने अच्छा काम किया है. दिल में क्रिकेटर बनने की चाहत, लेकिन अब्बा के प्रेशर की वजह से पॉलिटिक्स में बने रहने की मजबूरी दिखाने में अभय देओल कामयाब रहे हैं.3वैसे इस फिल्म की यूएसपी यही है कि फिल्म में भारत और पाकिस्तान के बीच के दूसरे गंभीर मुद्दों को दिखाने की बजाय कहानी को फिल्म के किरदारों के इर्द-गिर्द रखा है और बड़े ही रोचक तरीक़े से इसे दिखाया गया है.

डायना का किरदार आपको जब वी मेट की गीत की याद दिलाएगा, लेकिन करीना कपूर जैसी ऐक्टिंग की उम्मीद डायना से नहीं की जा सकती है, फिर भी कॉकटेल के बाद डायना की ये वापसी मज़ेदार है. तेज़-तर्रार पंजाबी लड़की के किरदार में डायना अच्छी लग रही हैं.

फिल्म का फर्स्ट हार्फ मज़ेदार है, लेकिन सेंकड हार्फ में फिल्म की गति थोड़ी धीमी हो जाती है.4फिल्म के राइटर और डायरेक्टर मुद्दसर अजीज ने फिल्म को एंटरटेनिंग बनाने में कोई कमी नहीं रखी है. फिल्म में कई ऐसे डायलॉग्स हैं, जो आपको याद रह जाएंगे.

जिम्मी शेरगिल का किरदार उनके तनु वेड्स मनु के किरदार की याद दिलाएगा. अली फज़ल को भी जितना रोल दिया गया है, उसमें वो ठीक लगे हैं. पीयूष मिश्रा पुलिस ऑफिसर के किरदार में जंच रहे हैं.

जहां तक बात है फिल्म के संगीत की, तो फिल्म में ऐसे कई सीन्स हैं, जहां डायलॉग्स के बदले गानों का इस्तेमाल बख़ूबी किया गया है. म्यूज़िक डायरेक्टर सोहेल सेन ने जो बैकग्राउंड स्कोर दिया है, वो काबिले तारीफ़ है. सौरभ गोस्वामी की सिनेमैटोग्राफी की तारीफ़ के बगैर ये रिव्यू पूरा नहीं होगा, उन्होंने बेहद ही ख़ूबसूरती और कन्विंसिंग मैनर में पाकिस्तान को दर्शाने की कोशिश की है.

कुल मिलाकर हैप्पी भाग जाएगी फिल्म के लिए हम यही कह सकते हैं कि अगर आपके पास वक़्त है और आप हंसने के मूड में हैं, तो इस फिल्म को एक बार देखने में कोई हर्ज़ नहीं है.