Tag Archives: actor

अक्षय कुमार- हमें नहीं भूलना चाहिए कि पैरेंट्स भी बूढ़े हो रहे हैं… (Akshay Kumar- We Should Not Forget That Parents Are Getting Old Too…)

Akshay Kumar

अक्षय कुमार (Akshay Kumar) फैमिलीमैन फिल्म स्टार के रूप में जाने जाते हैं. हाल ही में उनकी फिल्म मिशन मंगल ने कामयाबी के आसमान को छूते करो़ड़ों का आंकड़ा पार कर लिया. ड्रीमगर्ल और वॉर फिल्मों से भी उसे कड़ी टक्कर मिलती रही. जल्द ही उनकी हाउसफुल फिल्म की चौथी कड़ी यानी हाउसफुल 4 और गुडन्यूज़ आनेवाली है. मनोरंजन से भरपूर मल्टी स्टारर हाउसफुल द को लेकर लोगों में उत्सुकता बनी हुई है. गुडन्यूज़ भी अपने नए कॉन्सेप्ट के कारण लोगों में दिलचस्पी जगा रही है. ऐसे में अक्षय कुमार बाला चैलेंज भी ख़ूब सूर्ख़िया बटोर रहा है. आए दिन स्टार्स इससे जुड़ रहे हैं. सबसे अधिक आयुष्मान खुराना और वरुण धवन यह चैलेंज लोगों ने पसंद किया. आइए, अक्षय कुमार की फिल्मों, परिवार, फैन व सेहत से जुड़ी बातों को संक्षेप में उन्हीं से जानते हैं.

 

Akshay Kumar

अक्षय कुमार पृथ्वीराज पर…  

सम्राट पृथ्वीराज चौहान के मूल्यों व बहादुरी से मैं हमेशा प्रभावित रहा हूं. मैं ख़ुद को ख़ुशक़िस्मत मानता हूं कि मुझे इस ऐतिहासिक क़िरदार को निभाने का मौक़ा मिल रहा है. सच, अपने जन्मदिन पर यशराज के बैनर तले बननेवाली इस फिल्म पृथ्वीराज का ऐलान करते हुए मुझे बेइंतहा ख़ुशी हुई थी. जल्द ही इसकी शूटिंग शुरू होनेवाली है.

Akshay Kumar

लंदन की गलियों में मां को व्हील चेयर पर बैठाकर पैदल घुमाते हुए…

लंदन में शूटिंग के बिज़ी शेड्यूल से समय निकालकर मॉम को लंदन की सैर करवाना बहुत अच्छा लगा. इससे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता कि आप ज़िंदगी में कितना आगे बढ़ रहे हैं, पर हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि पैरेंट्स भी बूढ़े हो रहे हैं, इसलिए उनके साथ कुछ व़क्त ज़रूर बिताएं, जो आप कर सकते हैं. मैं अक्सर अपने व्यस्त कामों से समय निकालकर मां के साथ समय बिताता हूं. मुझे अच्छा लगता है और इससे संतुष्टि भी मिलती है.

Akshay Kumar

क्रेज़ी फैन प्रभात, जो द्वारका (गुजरात) से पैदल चलकर उन्हें मिलने मुंबई आया…

किसी भी स्टार का फैन होना अच्छी बात है, पर इसके लिए अपनी जान जोख़िम में डालना ठीक नहीं है. आप इतनी दूर से पैदल चलकर आए हो, रास्ते में हाइवे आदि पर कुछ भी हो सकता था. युवाओं व अपने फैन्स को कहना चाहूंगा कि वे अपना क़ीमती समय व एनर्जी अपनी ज़िंदगी को बेहतर बनाने और अपने लक्ष्य को पूरा करने में लगाएं. वे ऐसा करेंगे, तो मुझे बहुत ख़ुशी होगी.

Akshay Kumar With His Kids

स्टार किड्स को लेकर मीडिया का रवैया…

21 साल की उम्र से छोटे किसी भी शख़्स के बारे में ग़लत या बेकार की बातें लिखना ग़ैरक़ानूनी कर देना चाहिए. किसी को दुखी करने, मज़ाक उड़ाने, शर्मिंदा करने में कइयों को बहुत आनंद आता है. कई स्टार किड्स के साथ ऐसा होता है. पैरेंट्स के रूप में मैं बच्चों को इतना ही समझा सकता हूं कि इस तरह की बातों को दिलोदिमाग़ पर न लें.

Akshay Kumar

अपने बच्चों का लाइमलाइट से दूर रहना…

मेरे बच्चे लाइमलाइट से दूर रहते हैं. मेरी बेटी नितारा, जो छह साल की है, वो हमारे साथ फैमिली डिनर या कहीं भी इसलिए नहीं आती कि उसे कैमरे की फ्लैश लाइट पसंद नहीं है. मैं मानता हूं कि स्टार होने के बाद मीडिया का अटेंशन होना आम बात है, पर बच्चों को उनकी प्राइवेसी भी तो मिलनी ज़रूरी है.

Akshay Kumar With His Son

बेटे आरव के जन्मदिन पर…

एक चीज़, जो मैंने अपने पिता से सीखी थी कि यदि मैं कभी भी मुश्किल में फंसा, तो मैं उनसे डरने की जगह उन पर पूरी तरह से भरोसा कर सकता हूं और निर्भर रह सकता हूं. आज जब बेटे आरव के मोबाइल पर स्पीड डायल में अपना नंबर देखता हूं, तो मुझे लगता है कि मैं भी सही परवरिश कर रहा हूं.

मैं हमेशा तुम्हें गाइड करता रहूंगा और तुम्हारे साथ रहूंगा. हैप्पी बर्थडे आरव…

Akshay Kumar

फिटनेस सीक्रेट…

मेरे फिट रहने का राज़ है- घर का बना भोजन, समय पर खाना-सोना, पर्याप्त पानी पीना व एक्सरसाइज़ करना. साथ ही अपनी उम्र को छुपाने के लिए कोई भी प्रोडक्ट्स लेना या कुछ अलग करने की कभी कोशिश न करना. मैं व एथलीट हिमा दास इसका बेहतरीन उदाहरण हैं कि आपको अच्छा दिखने व विजेता होने के लिए किसी सप्लीमेंट या स्टेरॉइड की ज़रूरत नहीं है. वैसे भी फिटनेस में कभी भी शॉर्टकट नहीं अपनाएं. इसके लिए जो तरीक़ा है, थोड़ा मुश्किलोंभरा है, पर वही सही है. यदि हम शॉर्टकट करते हैं, तो ज़िंदगी भी शॉर्ट यानी छोटी हो जाती है. याद रहे, हम जो खाते हैं, वैसे ही हम बनते हैं. हमें अपने शरीर के साथ ईमानदारी रखनी चाहिए. मैं दो बच्चों का पिता हूं, इस उम्र में भी ख़ुद को हमेशा फिट रखता हूं. एक ही ज़िंदगी है, उसे तरी़के से जीएं. सभी अपना ख़्याल रखें.

Akshay Kumar

आनेवाली फिल्में…

मैं यह कह सकता हूं कि आनेवाली मेरी हर फिल्म आपको चौंकाएगी, जैसे- लक्ष्मी बम, गुड न्यूज़, सूर्यवंशी, हाउसफुल 4, पृथ्वीराज. वैसे भी हाउसफुल की हर पार्ट को लोगों ने ख़ूब पसंद किया, इसलिए मुझे यक़ीन है कि हाउसफुल 4 भी लोगों का ख़ूब मनोरंजन करेगी. अच्छी बात यह भी है कि यह त्योहार पर यानी दिवाली; के समय रिलीज़ हो रही है, इसलिए यक़ीनन लोगों का अच्छा रिस्पॉन्स भी मिलेगा. सभी को दीपावली की शुभकामनाएं.

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ेबिग बी ने अपनी सेहत के बारे में चुप्पी तोड़ी, कही ये बात (Amitabh Bachchan Finally OPENS UP On Rumours About His Health)

पहली बार वरुण धवन बनेंगे ऑर्मी ऑफिसर (Varun Dhawan Will Play His Dream Role)

वरुण धवन (Varun Dhawan) की हमेशा से ही यह इच्छा रही है कि वे सैनिक की या फिर आर्मी की कोई भूमिका निभाएं. अब उनकी यह इच्छा पूरी होने जा रही है. परमवीर चक्र विजेता शहीद सेकंड लेफ्टिनेंट अरुण खेत्रपाल (Arun Khetarpal) की जीवनी पर फिल्म बन रही है, जिसमें वरुण अरुण का क़िरदार निभा रहे हैं. संयोग की बात यह भी है कि आज ही अरुण खेत्रपाल के जन्मदिन पर ही निर्माता दिनेश विजन ने उनके बायोपीक पर फिल्म बनाने की घोषणा कर दी.

Varun Dhawan

इस फिल्म का निर्देशन फिल्म बदलापुर फेम श्रीराम राघवन करेंगे. वरुण धवन ने अरुण खेत्रपाल की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर करके उन्हें जन्मदिन पर याद करने के साथ ही इस फिल्म में काम करने की ख़ुशी भी ज़ाहिर की. वे ख़ुद को ख़ुशक़िस्मत मानते है कि उन्हें पहली बार आर्मी ऑफिसर के रूप में काम करने का मौक़ा मिल रहा है.

वरुण धवन व फिल्म की टीम अरुण के परिवारवालों से भी मिले. श्रीराम राघवन पिछले छह महीने से इस बायोपीक की कहानी पर काम कर रहे हैं. पूरी टीम की कोशिश है कि साल 1971 में हुए पाकिस्तानी हमले में दुश्मन के दस टैंक को अपने बलबूते पर नष्ट करनेवाले वीर बहादुर अरुण की शौर्य गाथा को पूरी सच्चाई व ईमानदारी के साथ पेश किया जाए. ग़ौर करनेवाली बात है कि शहीद अरुण खेत्रपाल परमवीर चक्र पानेवाले सबसे युवा आर्मी ऑफिसर थे. 21 साल की युवा उम्र में वे दुश्मनों को खदेड़ते हुए देश की रक्षा करते हुए शहीद हो गए. उनके वीरता व साहस को नमन!

वरुण धवन ने उनके भाई मुकेश खेत्रपाल व पूना हॉर्स का भी ज़िक्र किया. साथ ही यह भी कहा कि उनका भी एक भाई है, इसलिए वे एक भाई के दर्द को बख़ूबी समझ सकते हैं. उन्हें अरुण पर गर्व है. वे उनकी भूमिका के साथ न्याय करने के लिए जी जान लगा देंगे.

इन दिनों देश की रक्षा करनेवाले वीरों पर कई फिल्में बन रही है, जिनमें विकी कौशल, सिद्धार्थ मल्होत्रा आदि मुख्य भूमिकाओं में नज़र आनेवाले हैं. ऐसे में वरुण धवन अरुण खेत्रपाल की भूमिका को किस तरह निभाते हैं, यह तो आनेवाला कल ही बताएगा. लेकिन निर्देशक श्रीराम राघवन बेहतरीन निर्देशकों में से एक हैं. उन्होंने बदलापुर फिल्म में वरुण धवन से लाजवाब काम करवाया था. अत: इसमें कोई दो राय नहीं कि इनकी जोड़ी इस फिल्म में भी कमाल दिखाएगी. एक अच्छी व प्रेरणादायी फिल्म के लिए हमारी शुभकामनाएं पूरी टीम के साथ है.

Varun Dhawan

यह भी पढ़ेबिग बॉस 13ः क्या सलमान ख़ान की वजह से हुईं कोएना मित्रा बाहर (BB 13: Fans Are Shocked With Koena Mitra Elimination)

जन्मदिन पर विशेष: विनोद खन्ना- बेहद सरल व आकर्षक अभिनेता (Birth Anniversary: Vinod Khanna- Very Handsome And Attractive Star)

हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में सत्तर-अस्सी के दशक में अपने अभिनय, स्टाइल, हैंडसम पर्सनैलिटी से जिस कलाकार ने सबसे अधिक आकर्षित किया, वो थे विनोद खन्ना. उनके एक्शन, इमोशन, कॉमेडी में ग़ज़ब का तालमेल था. उनका खलनायक से शुरू हुआ सफ़र नायक के शिखर तक पहुंचा. फिर अध्यात्म की तरफ़ झुकाव, संन्यास, ओशो आश्रम जाना, दोबारा फिल्मों में आना, राजनीति, छोटे पर्दे पर आना… वे अपनी ज़िंदगी में हर दौर में न जाने कितने पड़ाव से गुज़रे, पर हर जगह अपनी क़ाबिलियत से हर किसी को प्रभावित किया. आज उनके जन्मदिन पर उनसे जुड़ी कई कही-अनकही बातों को जानने की कोशिश करते हैं.

Vinod Khanna

* विनोद खन्ना के पिता का टेक्सटाइल, केमिकल का बिज़नेस था. जब विनोदजी ने अभिनय करने की इच्छा ज़ाहिर की, तो उन्होंने उनकी तरफ़ बंदूक तान दिया था. लेकिन पत्नी के समझाने पर शांत हुए और विनोद को दो साल तक का समय दिया फिल्मों में ख़ुद को स्थापित करने के लिए. यदि वे असफल होते हैं, तो फिर उन्हें पिता के बिज़नेस में हाथ बंटाना होगा.

* विनोद पांच भाई-बहन थे, जिनमें तीन बहन और दो भाई थे. देश के बंटवारे के समय उनके पिता पेशावर से हिंदुस्तान आकर मुंबई में बस गए थे.

* विनोद खन्ना को पहली पत्नी गीतांजली से दो बेटे अक्षय व राहुल हैं और दूसरी बीवी से दो बच्चे साक्षी व श्रद्धा हैं.

* बचपन में विनोद काफ़ी शर्मीले स्वभाव के थे. एक बार उनके शिक्षक ने उन्हें नाटक में ज़बर्दस्ती काम करवाया, तब से अभिनय के प्रति उनका रुझान बढ़ने लगा.

* जब वे बोर्डिंग स्कूल में पढ़ते थे, तब वे सोलवां साल और मुग़ल-ए-आज़म फिल्म से काफ़ी प्रभावित हुए और उन्होंने फिल्म में करियर बनाने का सोचा.

Vinod KhannaVinod KhannaVinod Khanna

* सुनील दत्त की फिल्म मन का मीत से खलनायक के तौर पर अभिनय के सफ़र की शुरुआत हुई और विलेन के रोल में दर्शकों ने उन्हें पसंद भी किया.

* इसके बाद आन मिलो सजना, पूरब और पश्‍चिम, मेरा गांव मेरा देश जैसी फिल्मों में अपनी खलनायकी के जलवे उन्होंने दिखाए, पर नायक के तौर पर ब्रेक गुलज़ार साहब ने दिया.

* उनकी मेरे अपने फिल्म ने विनोद खन्ना को हीरो के तौर पर पहचान दी. गुलज़ार-विनोद की जुगलबंदी ने फिर तो कई फिल्में कीं, जिसमें अचानक, इम्तिहान, रिहाई, लेकिन, मीरा जैसी लाजवाब फिल्में रहीं.

* मीडिया द्वारा अमिताभ बच्चन और विनोद खन्ना को एक-दूसरे का प्रबल प्रतिद्वंदी माना जाता था, जबकि हक़ीक़त में ऐसा कुछ भी नहीं था. यह और बात है कि बिग बी अमिताभ को सुपरस्टार विनोद खन्ना ने अमर अकबर एंथोनी, परवरिश, ख़ून-पसीना, हेरा फेरी, मुकद्दर का सिकंदर जैसी तमाम फिल्मों में जमकर टक्कर दी. और ये सभी फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपर-डुपर हिट साबित हुईं.

* बहुत कम लोग जानते है कि अमिताभ बच्चन ने कुर्बानी फिल्म करने से मना कर दिया था, तब विनोद खन्ना को अप्रोच किया गया और फिरोज खन्ना की यह फिल्म उस दौर की सबसे कामयाब फिल्मों में से एक रही. इसके गीत-संगीत का जादू आज भी लोगों के दिलों को गुदगुदाता है, ख़ासकर- गाना लैला मैं लैला…

Vinod KhannaVinod KhannaVinod Khanna

* विनोद खन्ना कम मूडी नहीं थे. अपने अभिनय सफ़र के शिखर पर रहते हुए उन्होंने सब कुछ यानी फिल्मेें, पत्नी, दोनों बच्चे अक्षय व राहुल को छोड़छाड़ कर अमेरिका में ओशो रजनीश के आश्रम चले गए.

* वहां पर उन्हें स्वामी विनोद भारती, द मॉन्क हू सोल्ड हिज़ मर्सीडीज़, हैंडसम संन्यासी जैसे नामों से पुकारा जाता था. ग्लैमर वर्ल्ड को दरकिनार कर वे वहां पर साफ़-सफ़ाई करना, खाना बनाना, बागवानी करना जैसे तमाम काम करते थे.

* लेकिन वहां पर ध्यान-ज्ञान, काम सब कुछ करते हुए भी उनका मन स्थिर न रह पाया और उन्होंने दोबारा फिल्मों की तरफ़ रुख किया.

* उनकी फिल्मों में सेकंड एंट्री भी धमाकेदार रही. लोगों ने उन्हें हाथोंहाथ लिया. इंसाफ़, सत्यमेव जयते, दयावान, ज़ुर्म, रिहाई जैसी बेहतरीन उम्दा फिल्में कीं.

* उन्होंने राजनीति में भारतीय जनता पार्टी की तरफ़ से गुरदासपुर से चार बार चुनाव लड़ा और विजयी रहे. इस बार वहां से सनी देओल चुनाव लड़े थे और भारी बहुमत से जीत भी हासिल की थी.

Vinod KhannaVinod Khanna Vinod KhannaVinod Khanna

* फिल्मों में विनोद खन्ना के उल्लेखनीय योगदान के लिए उन्हें कई अवॉर्डस के अलावा फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट, दादासाहेब फाल्के पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया.

आज वे हमारे बीच नहीं है, पर अपने दमदार अभिनय, मस्ताने अंदाज़ से आज भी वे सभी की यादों में ज़िंदा है.

जब भी उनके जीवन में उतार-चढ़ाव आया, तब उन्होंने अपनी ही फिल्म के गाने से प्रेरणा ली- रुक जाना नहीं. तू कहीं हार के.. कांटों पे चलकर मिलेंगे साये बहार प्यार के, ओ रही, ओ रही…

Vinod KhannaVinod KhannaVinod Khanna

Vinod Khanna

Vinod Khanna

Vinod Khanna's Family

Vinod Khanna

यह भी पढ़ेअचानक हार्नेस पर बेहोश हुए आदमी की अक्षय कुमार ने ऐसे की मदद, देखें वीडियो (Akshay Kumar Saves A Man Who Fell Unconscious Hanging On A Harness, Watch Video)

हैप्पी बर्थडे रॉकस्टार रणबीर कपूर (Happy Birthday Ranbir Kapoor)

बर्थडे (Birthday) स्टार रणबीर कपूर (Ranbir Kapoor) अपने बेहतरीन अभिनय के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने अपने हर किरदार में लाजवाब एक्टिंग का जलवा बिखेरा है. फिल्म सांवरिया से शुरू हुआ यह फिल्मी सफ़र जाने कितने ख़ूबसूरत पड़ाव से होकर गुज़रा है. राजनीति, वेक अप सीड, ये जवानी है दीवानी, रॉकस्टार, बर्फी, ऐ दिल है मुश्किल, संजू आदि फिल्मों के ज़रिए रणबीर ने अपने सशक्त अभिनय से हर किसी को प्रभावित किया.

Ranbir Kapoor

रणबीर ने अपनी बहुमुखी प्रतिभा को पर्दे पर बख़ूबी दिखलाया है. एक दिलफेंक प्रेमी, राजनीतिज्ञ, मूडी गायक, नशे का शिकार प्रेमी जैसी भूमिकाओं में वे अभिनय की ऊंचाइयों को छूते हैं. आज उनके जन्मदिन पर उनके बचपन के कई रूप को हम देखने की कोशिश करेंगे. इसमें कोई दो राय नहीं कि रणबीर बचपन से ही काफ़ी नटखट, शरारती, चुलबुले व मासूम थे.
अक्सर उनकी मां नीतू सिंह उनसे जुड़े बचपन की यादों को तस्वीरों के जरिए सोशल मीडिया पर शेयर करती रहती हैं. नीतू के राना यानी रणबीर कपूर अपने मां के लाडले हैं. जिस तरह से ऋषि कपूर के तबीयत ख़राब होने पर रणबीर और पूरे परिवार ने उनका ध्यान रखा, वह काबिले तारीफ है. हर पिता को अपने ऐसे बेटे पर नाज़ होगा, ऋषि कपूर को भी है. उन्हें जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई! ऋषि और नीतू के इस होनहार बेटे रणबीर की ज़िंदगी को तस्वीरों के ज़रिए देखते हैं…

‘मेरे डैड की दुल्हन’ से श्‍वेता तिवारी की छोटे पर्दे पर वापसी (Shweta Tiwari Returns To The Small Screen From ‘Mere Dad Ki Dulhan’)

श्‍वेता तिवारी (Shweta Tiwari) की ख़ूबसूरती व लाजवाब अभिनय ने हर किसी को प्रभावित किया है. टीवी पर अंतिम बार उन्हें ‘बेगूसराय’ सीरियल में देखा गया था. अब तीन साल बाद ‘मेरे डैड की दुल्हन’ (Mere Dad Ki Dulhan) टीवी शो के ज़रिए वे दोबारा छोटे पर्दे पर वापसी कर रही हैं..

Shweta Tiwari

सोनी चैनल ने इस सीरियल से जुड़ा वीडियो शेयर किया है, जिसे काफ़ी पसंद किया जा रहा है. पारिवारिक कहानी, पर थोड़ा लीक से हटकर है इस धारावाहिक का कॉन्सेप्ट. जहां इसमें श्‍वेता तिवारी अहम् क़िरदार निभा रही हैं, वहीं उनके साथ वरुण वडोला भी ख़ास भूमिका में है.

श्‍वेता तिवारी को एकता कपूर की धारावाहिक ‘कसौटी ज़िंदगी की’ से ख़ूब नाम-शौहरत मिली. वे रातोंरात स्टार बन गई. यह सीरियल इतना सुपरहिट रहा कि इसी की कामयाबी को भुनाने के लिए एकता ने ‘कसौटी ज़िंदगी की 2’ शुरू की, जिसमें सभी क़िरदार नए हैं, जो इन दिनों टीवी पर दिखाया जा रहा है और बहुत पसंद भी किया जा रहा है. इसके क़िरदार प्रेरणा और अनुराग के फैन तो लोग हमेशा से ही रहे हैं. फिर चाहे वो ‘कसौटी ज़िंदगी की’ 1 हो या 2.

Shweta TiwariShweta Tiwari

यूं तो श्‍वेता तिवारी हमेशा से ही सुर्ख़ियों में रही हैं, फिर चाहे वो ‘कसौटी ज़िंदगी की’ दमदार अभिनय, सफलता रही हो, व्यक्तिगत ज़िंदगी में उतार-चढ़ाव हो, ‘बिग बॉस’ जीतना हो या फिर अन्य घरेलू विवाद हो… लेकिन श्‍वेता ने कभी हार नहीं मानी. हमेशा हिम्मत के साथ मुस्कुराते हुए हर परिस्थितियों का डटकर सामना किया. कुछ ऐसा ही जज़्बा उनकी इस नई धारावाहिक ‘मेरे डैड की दुल्हन’ में भी देखने को मिलेगा.

Shweta Tiwari

सोनी ने अपनी ऑफिशयल सोशल अकाउंट पर इससे जुड़ा जो वीडियो शेयर किया है, उसमें श्‍वेता व वरुण वडोला ने सीरियल को लेकर अपनी-अपनी भावनाएं व्यक्त की हैं.

जैसा की नाम से ही ज़ाहिर है कि सीरियल दिलचस्प ही नहीं काफ़ी मज़ेदार भी होगा, बस दर्शक करें थोड़ा-सा इंतज़ार…

Shweta Tiwari

यह भी पढ़ेHBD करीना कपूर ख़ानः पढ़िए सैफ व करीना की क्यूट लव स्टोरी (Happy Birthday Kareena Kapoor Khan: Saif Ali Khan And Kareena Kapoor Love Story)

 

हैप्पी बर्थडे अक्षय कुमार: एक्शन, कॉमेडी, सोशल मैसेज अक्षय कुमार का हर अंदाज़ बेमिसाल… (Happy Birthday Akshay Kumar: Action, Comedy, Social Messages, Akshay Kumar’s Style Is Unmatched)

Akshay Kumar

अक्षय कुमार (Akshay Kumar) ने हर क़िरदार को अपने उम्दा अभिनय से लाजवाब बनाया है. फिर चाहे वो मारधाड़ व मनोरंजन से भरपूर भूमिका हो, गंभीर देशभक्ति में रंगा रोल हो या फिर सामाजिक मुद्दों से जुड़ा कोई मसला हो. उन्होंने अपनी फिल्मों से हमेशा ही लोगों को इंटरटेन करने के साथ-साथ संदेश भी दिया है. आज उनके जन्मदिन पर उनसे जुड़े कई पहलुओं के बारे में जानने की कोशिश करते हैं.

Akshay Kumar

* अक्षय को मार्शल आर्ट सीखने की बेहद इच्छा थी, तब उनके पिता ने उन्हें कुछ पैसे दिए बैंकॉक में जाकर ट्रेनिंग लेने के लिए. लेकिन उन पैसों में वे या तो वहां रह सकते थे या फिर मार्शल आर्ट सीख सकते थे. तब उन्होंने होटल्स में काम किया और सीखना और रहना दोनों को मैनज करते रहे.

* अक्षय कुमार ने अपनी पहली फिल्म सौंगध से जो अभिनय में रफ़्तार पकड़ी, वो आज भी ज्यों की त्यों मिशन मंगल तक बरक़रार है.

* खिलाड़ी कुमार के नाम से मशहूर अक्षय कुमार ने भले ही अपने करियर की शुरुआत एक्शन फिल्म से की हो, पर धीरे-धीरे वे हास्य अदाकारी मेंं अपने जलवे दिखाने लगे. उनकी हेरा फेरी, गरम मसाला, फिर हेरा फेरी, हाउसफुल जैसी फिल्मों को लोगों ने ख़ूब पसंद किया.

* खेल के प्रति उनके समपर्ण से हर कोई वाकिफ़ है. इसी से प्रेरित उनकी फिल्म पटियाला हाउस उनके करियर की यादगार फिल्मों में से एक बनी. ऋषि कपूर और डिंपल कापड़िया के साथ उनके भावनात्मक दृश्यों को दर्शकों की काफ़ी सराहना मिली.

* देशभक्ति से जुड़ी उनकी फिल्मों को सभी ने इस कदर पसंद किया कि वे नेशनल हीरो बन गए. बेबी, हॉलीडे, एयरलिफ्ट, केसरी उनमें से ख़ास रही.

* टॉयलेट- एक प्रेम कथा और पैडमैन जैसी फिल्मों में अक्षय कुमार का एक अलग ही अंदाज़ दर्शकों से रू-ब-रू हुआ. ऐसी विषयों पर फिल्म बनाना और उसमें लीड रोल करना, यह अक्षय कुमार के बस की ही बात थी. कभी किसी ने इस तरह की फिल्म करने के बारे में शायद ही सोचा हो.

* हाल ही में रिलीज़ हुई मिशन मंगल में अक्षय कुमार ने अपने अभिनय को एक अलग ही स्तर पर ले गए. विद्या बालन, तापसी पन्नू, सोनाक्षी सिन्हा जैसी बेहतरीन अदाकाराओं के समूह में  उन्होंने न केवल ख़ुद को बनाए रखा, अपनी लाजवाब अदाकारी से सभी को अभिभूत भी किया है.

* बहुत कम लोगों को पता है कि अक्षय कुमार ने ऐसी कई फिल्मों से इंकार किया, जो उन्हें ठीक नहीं लगी. ताज्जुब की बात यह रही कि वे सभी फिल्में सुपरहिट भी रहीं. इसमें विशेषकर भाग मिल्खा भाग, बाजीगर थीं. एथलीट मिल्खा सिंह की ख़ुद ख़्वाहिश थी कि अक्षय कुमार ही उनका क़िरदार निभाएं, पर बात बन न सकी.

* विश्‍व के सबसे अमीर अभिनेताओं में से एक भी हैं अक्षय कुमार. एक ज़माना था, जब इस लिस्ट में अमिताभ बच्चन, शाहरुख ख़ान जैसे सितारों के नाम शामिल रहते थे. लेकिन हाल ही फोर्ब्स द्वारा सबसे अमीर एक्टर्स की लिस्ट में भारत से एकमात्र अक्षय कुमार थे. यह उपलब्धि उन्हें यूं ही नहीं मिल गई. इसमें उनकी बरसों की कड़ी मेहनत व संघर्ष भी रही है.

* अक्षय कुमार एक फैमिली मैन के रूप में भी जाने जाते हैं. वे कभी लेट नाइट पार्टी में नहीं जाते. वे शाम का व़क्त अपने परिवार के साथ बिताना पसंद करते हैं.

* वे अपने फिटनेस पर बहुत ध्यान देते हैं. ब्लैक बेल्ट रह चुके अक्षय वर्कआउट्स करना, ध्यान, योग करना, संतुलित भोजन, समय पर सोने-उठने में विश्‍वास करते हैं. वे ऐसा करते भी हैं और लोगों को भी जीवन में नियम, अनुशासन और स्वस्थ रहने की प्रेरणा देते रहते हैं.

* पत्नी ट्विंकल और बच्चों के साथ वे कल ही लंदन रवाना हो गए. वहीं पर अपना जन्मदिन वे अपनों के बीच मनाएंगे.

* आज अपने जन्मदिन पर उन्होंने पृथ्वीराज चौहान पर आधारित अपनी फिल्म पृथ्वीराज का भी ऐलान किया. यह उनकी पहली ऐतिहासिक फिल्म होगी. यशराज बैनर तले बननेवाली इस फिल्म के निर्देशक चाणक्य फेम डॉ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी हैं. यह फिल्म साल 2020 में दिवाली पर रिलीज़ होगी.

मेरी सहेली की तरफ़ से अक्षय कुमार को जन्मदिन मुबारक हो!.. वे इसी तरह अपने व्यवहार, उदारता और नेक कार्यों के ज़रिए सभी को प्रेरित करते रहे, यही हमारी शुभकामनाएं!

 

यह भी पढ़ेजन्मदिन पर विशेष: हैप्पी बर्थडे आशा ताईः जानिए उनसे जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें (Happy Birthday To Asha Bhosle)

 

जन्मदिन पर विशेष- ऋतिक रोशन ने पापा राकेश रोशन को यूं टीचर्स डे और बर्थडे की मुबारकबाद दी… (Hritik Roshan Wishes Papa Rakesh Roshan For Teachers’ Day And Birthday)

आज ऋतिक रोशन (Hritik Roshan) के पापा राकेश रोशनजी (Rakesh Roshan) का जन्मदिन (Birthday) है. हर पिता को बेहद गर्व महसूस होता है, जब उन्हेंे उनके बेटे के नाम से अधिक जाना जाता है. ऋतिक ने जहां अपने पिता को ज़िंदगी के अनगिनत सबक सीखाने के लिए धन्यवाद कहा, वहीं उन्हें अपना प्रेरणास्त्रोत भी माना.

Hrithik Roshan Wishes Papa Rakesh Roshan

उनके अनुसार, वे हमेशा ही ज़िंदगी में एक विद्यार्थी रहे और बचपन से ही उनमें सीखने और जानने की प्रबल उत्सुकता रही है. लेकिन जब वे जीवन की बारीक़ियों को जानते-समझते उसके पहले पिता राकेश रोशन ने ही उन्हें जीवन के कई पाठ सिखला दिए. ये सभी बातें ऐसी थीं, जो कोई भी एज्युकेशन इंस्टीट्यूट, एक्टिंग क्लास या फिर कोई बुक नहीं सीखला सकता. आपने ही मुझे एक अच्छा इंसान, पिता, पुत्र, अभिनेता, दोस्त बनाया है. साथ मेरे बच्चों के सामने भी मैं एक मिसाल व उदाहरण बन पाया, जैसे की आप मेरे लिए हैं. इन सब के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद… हैप्पी टीचर्स डे… हैप्पी बर्थडे!…

पिता-पुत्र, राकेश रोशन व ऋतिक रोशन की एक अच्छी मित्र जैसी बॉन्डिंग है, जो अक्सर देखने व पढ़ने को मिलती है. ऋतिक रोशन के सफल करियर में उनके पिता राकेश का बहुत बड़ा हाथ रहा है. उनके प्रोडक्शन की कहो ना प्यार है, कोई मिल गया… से जो कामयाबी के सफ़र की शुरुआत हुई, वो क्रिश तक बरक़रार है. अब तो वे क्रिस 4 पर काम कर रहे हैं, जो साल 2020 में रिलीज़ होगी.

Hrithik Roshan and Rakesh Roshan

राकेश रोशन से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें…

* राकेश रोशन ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत फिल्म घर घर की कहानी से की थी, पर उन्हें सही मायने में कामयाबी अपने प्रोडक्शन की फिल्मों में अधिक मिली, जैसे- ख़ुदगर्ज, कामचोर, ख़ून भरी मांग आदि.

* राकेश रोशन को लेकर कई अफ़वाहें भी हैं कि वे गंजे थे, पर फिल्मों में हीरो के क़िरदार की ख़ातिर विग लगाते थे. बाद में जब वे निर्देशन में उतरे, तो उन्होंने विग निकाल दिया. वैसे ऐसी बातें अभिनेता राजकुमार के बारे में भी कही जाती थी कि वे विग लगाते थे, जबकि वे गंजे थे.

* लेकिन इस बात में एक ट्विस्ट यह भी है कि जब साल 1987 में उन्होंने ख़ुदगर्ज फिल्म बनाई थी, तब फिल्म की सफलता के लिए तिरुपति बालाजी में मन्नत मांगी थी कि यदि फिल्म हिट हो जाएगी, तो वे अपने सिर के बाल निकलवा देंगे यानी गंजे हो जाएंगे. संयोग देखिए फिल्म सुपर-डुपर हिट हुई. पर पत्नी पिंकी के कहने के बावजूद राकेशजी ने बाल नहीं निकलवाया, लेकिन बाद में वे गंजे हो गए. इसी बीच उनकी दूसरी फिल्म ख़ून भरी मांग ने भी कामयाबी के कई इबारत लिखें. तब उन्होंने ़फैसला कर लिया कि अब वे गंजे ही रहेंगे.

* राकेश रोशन की तक़रीबन हर फिल्म सफल रही है. फिर चाहे वो निर्माता के तौर पर आपके दीवाने हो या फिर निर्देशन के रूप में किशन कन्हैया, काला बाज़ार, कोयला, कहो ना प्यार है, कोई मिल गया, क्रिश आदि हो.

* राकेश रोशन की अधिकतर सभी फिल्मों का संगीत उनके भाई राजेश रोशन ने ही दिया है. दोनों भाइयों में ग़ज़ब की बान्डिंग और प्यार है.

* राजेश रोशन उनके जन्मदिन पर बचपन की यादों को ताज़ा करते हुए कहते हैं कि राकेश रोशन को बचपन में अपने बर्थडे की पार्टी देने का बहुत शौक था. वे अक्सर जन्मदिन पर अपने दोस्तों के साथ मौज-मस्ती किया करते थे. तब मैं भी साथ में जाने की ज़िद करता था, तो वे मना कर देते. तब हमारे बीच ख़ूब लड़ाई होती. मैं मां से भी उनकी शिकायत करता, पर वे कभी साथ नहीं ले जाते.

* बकौल उनके राकेशजी एक सच्चे योद्धा भी थे. जब अंडरवर्ल्ड के लोगों ने उन पर गोली से हमला किया था, तब गोली उनके सीने पर दिल के पास लगी थी. इस स्थिति में डॉक्टर, हॉस्पिटल जाने की बजाय वे हमलावरों को ललकारते हुए उनका पीछा करने पर ज़ोर देते रहे और पुलिस स्टेशन जाकर उनकी शिकायत दर्ज करवाई. सच, में रीयल हीरो व फाइटर हैं वे.

* राकेशजी को म्यूज़िक व गीतों की भी अच्छी समझ है. अपने भाई राजेश के वे शुभचिंतक के साथ-साथ सबसे बड़े आलोचक भी हैं. जहां उन्हें कुछ खटकता वे दख़लअंदाज़ी करते और धुन के साथ या फिर गाकर उन्हें गीत-संगीत की बारीक़ियों के बारे में समझाते.

* आज भी राकेश रोशन अपने बर्थडे पर जमकर पार्टी करते हैं. सभी यार-दोस्तों की महफ़िल सजती है. सभी पुराने दिनों की यादें ताज़ा करते हैं.

Hrithik Roshan and Rakesh Roshan

* राकेश रोशन की शिक्षा सातारा (महाराष्ट्र) के आर्मी स्कूल में हुई थी, इसलिए उनके जीवन में अनुशासन का बहुत महत्व रहा है. तब वे हर रोज़ सुबह चार बजे उठा करते थे और एक मील तक जॉगिंग करते थे. इसके अलावा गेम्स, बॉक्सिंग, हार्स राइडिंग भी किया करते थे. अपने बेटे व पोतों को भी वे अनुशासन की पाठ अक्स पढ़ाते रहते हैं. तभी तो ऋतिक उन्हें अपना श्रेष्ठ गुरु मानते हैं. मेरी सहेली की तरफ़ से राकेशजी को जन्मदिन की शुभकामनाएं!…

यह भी पढ़ेविराट ने बताया कि अनुष्का से पहली बार मिलने पर उन्होंने क्या कहा था? ( Virat Kohli Opens Up On His First Fateful Meeting With Anushka Sharma)

‘खुल्लम खुल्ला: ऋषि कपूर अनसेंसर्ड’ बायोग्राफी में सनसनीखेज़ खुलासे… (‘Khullam Khulla: Rishi Kapoor Uncensored’ Sensational Revelation In Biography…)

ऋषि कपूर अपने रोमानी अंदाज़ व बेबाक़ बयानबाज़ी के लिए जाने जाते हैं. यही बोल्डनेस उनकी बायोग्राफी ‘खुल्लम खुल्ला: ऋषि कपूर अनसेंसर्ड’ में भी पढ़ने को मिलती है. इसे मीना अय्यर ने लिखा है. इसमें चिंटूजी ने ख़ुद से जुड़े कई दिलचस्प क़िस्से को पूरी ईमानदारी से विस्फोटक तरी़के से बयां किया है. बता दें कि ऋषि कपूर को प्यार से ‘चिंटू’ कहते हैं, इसी नाम से सोशल मीडिया पर उनके अकाउंट भी है. साथ ही इसी नाम से उन पर फिल्म भी बनी थी.

Rishi Kapoor Uncensored

पारसी लड़की से प्यार…

ऋषि के दिलफेंक अंदाज़ के बारे में सभी जानते थे. लेकिन उनका कहना था कि वे एक पारसी लड़की यास्मीन मेहता से सच्चा प्यार करते थे. लेकिन ‘बॉबी’ फिल्म की कामयाबी, उनके और डिंपल कापडिया के बारे में ढेर सारे गॉसिप, लव-अफेयर की बातों ने यास्मीन को उनके प्रति शक से भर दिया. चिंटूजी कहते हैं कि यास्मीन ने मुझे ठुकरा दिया, क्योंकि उसे लगता था कि मैं डिंपल को चाहता हूं, जबकि ऐसा कभी भी नहीं था. हम केवल अच्छे को-स्टार थे. फिर ज़िंदगी में नीतू सिंह का आना हुआ और मेरी पूरी दुनिया ही बदल गई.

Rishi Kapoor and Amitabh

पैसे से अवॉर्ड ख़रीदे…

अस्सी-नब्बे के दशक के सफल व बेहतरीन स्टार में से एक थे ऋषि कपूर. उन्होंने खेल खेल में, कर्ज़, हम किसी से कम नहीं, अमर अकबर एंथोनी जैसी एक से एक हिट फिल्में दीं. लेकिन चिंटूजी को अवॉर्ड जीतने की इस कदर बेताबी थी कि बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड उन्होंने तीस हज़ार रुपए देकर ख़रीदा था. तब उन्हें बॉबी के लिए यह मिला था. लेकिन उस दरमियान अमिताभ बच्चन की ज़ंजीर भी सुपर-डुपर हिट हुई थी और वे सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए नामांकित भी हुए थे. लेकिन दोनों के बीच पैसा आ गया. चिंटूजी ने इस बात का भी ख़ुलासा किया कि चूंकि जंज़ीर लाजवाब फिल्म थी और अमिताभ ने उसमें लाजवाब अभिनय किया था. लेकिन उन्हें अवॉर्ड न मिला पाना हमारे रिश्तों में दूरियां भी ले आया. मैं चाहकर भी बहुत कुछ न कह पाया और वे ख़ामोश रहकर अपनी नाराज़गी जता गए.

Rishi Kapoor Uncensored

जब संजय दत्त मारने के लिए घर पहुंचे…

यह वाकया भी कुछ कम मज़ेदार न था कि संजय दत्त को शक हो गया था कि ऋषि कपूर का टीना मुनीम से रोमांस चल रहा है. इसी खुन्नस में वे ऋषि को मारने के लिए उनके घर पहुंच गए. दरअसल, उन दिनों संजय दत्त का टीना मुनीम के साथ ज़बर्दस्त अफेयर चल रहा था. लेकिन बाद में नीतू सिंह ने संजय को समझा-बुझाकर शांत किया और कहा कि ऐसा कुछ भी नहीं है. तब संजय उनके घर से वापस लौटे.

Rishi Kapoor Uncensored

राजेश खन्ना-डिंपल की लव-स्टोरी में विलेन…

अपनी बायोग्राफी में राजेश खन्ना और डिंपल कापडिया के बारे में मज़ेदार बातें उन्होंने कही. जब ऋषि का अपनी गर्लफ्रेंड यास्मीन से रिश्ता टूट गया था. तब उसके द्वारा उपहार में दी गई अंगूठी को डिंपल ने लेकर पहन लिया था. ऐसे में जब राजेश खन्ना ने डिंपल को प्रपोज़ किया, तब उनसे इस अंगूठी को संशय होने लगा. उन्होंने उसे सागर में फेंक देने के लिए कहा. डिंपल ने भी बड़ी मासूमियत से उस अंगूठी को समंदर में फेंक दिया. तब राजेश खन्ना को सुकून मिला और उन्होंने अपनी अंगूठी पहनाई.

Rishi Kapoor's Family Photo

Rishi Kapoor

पिता भी रोमांटिक और बेटा भी कुछ कम नहीं…

चिंटूजी ने किताब में अपने पिता राज कूपर की प्रेम कहानियों का भी ज़िक्र किया है. बकौल उनके सभी जानते थे कि राज साहब उस दौर की टॉप एक्ट्रेस नरगिस को बेइंतहा पसंद करते थे. वैसे देखा जाए, तो तीनों पीढ़ी अपने रंगीन मिज़ाज के लिए जाने जाते थे. फिर चाहे राज कपूर हो, ऋषि या फिर उनके लाडले रणबीर कपूर. जिस तरह पिता के प्यार-मोहब्बत के क़िस्से मशहूर थे, उसी तरह रणबीर कपूर भी पीछे नहीं है. उनके भी दीपिका पादुकोण से लेकर नरगिस फाकरी, कैटरीना कैफ, अब लेटेस्ट आलिया भट्ट से प्यार के ख़ूब पींगे लड़ा रहे हैं.

Rishi Kapoor Uncensored

ईगो फैक्टर…

फिल्म ‘कभी-कभी’ ऋषि कपूर इसलिए नहीं करना चाहते थे कि उसमें लीड रोल में अमिताभ बच्चन थे. उन्हें अमितजी को चुनौती देना मुश्किलोंभरा लग रहा था. साथ ही इसमें नीतू सिंह का रोल उनसे अधिक दमदार था. इन बातों को लेकर उनके मन में काफ़ी उथल-पुथल मच रही थी. पहले उन्होंने फिल्म के लिए ना कह दी थी, लेकिन बाद में उन्होंने यह फिल्म कर ही ली.

 

इस तरह के न जाने कितने ही ख़ुलासे चिंटूजी ने अपनी बायोग्राफी में की है. किताब का टाइटल भी उनकी फिल्म खेल खेल में के गीत खुल्लम खुल्ला प्यार करेंगे हम दोेनों, इस दुनिया से नहीं डरेंगे हम दोनों… से ली गई है.

सालभर से अमेरिका में कैंसर का इलाज करा रहे ऋषि कपूर जल्द से जल्द घर मुंबई आना चाहते हैं. वे नीतू सिंह, अपने परिवार, को-स्टार और प्रशंसकों के शुक्रगुज़ार हैं कि उन्होंने इस कठिन घड़ी में उनका भरपूर साथ दिया. सभी उनसे समय-समय पर न्यूयॉर्क मिलने आते रहे, जिससे उन्हें अकेलापन नहीं लगा. हाल ही में नीतू सिंह ने इस बात का भी ज़िक्र किया था कि जब पहली बार रणबीर कपूर को पिता को कैंसर होने की बात पता चली, तो उनकी आंखें भर आईं. वे तुरंत दिल्ली पहुंचे और पिता को लेकर इलाज के लिए न्यूयॉर्क चले गए. बीमारी के दरमियान ही पिता-पुत्र की बॉन्डिंग भी काफ़ी मज़बूत हुई, क्योंकि सच्चाई यह भी थी कि रणबीर अपनी मां नीतू के अधिक क़रीब थे और पिता से थोड़ी दूरी थी. लेकिन कहते हैं ना अंत भला तो सब भला.

Rishi Kapoor

अब ऋषि कपूर इलाज कराके पूरी तरह से स्वस्थ हो गए हैं. कल यानी 4 सितंबर को उनका जन्मदिन है, मेरी सहेली की तरफ़ से उन्हें एडवांस में जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई! वे हेल्दी रहें और जिस तरह हर मुद्दे पर सोशल मीडिया के ज़रिए अपनी बिंदास व बेबाक़ राय रखते हैं और अपनी बात कहते हैं, यूं ही करते रहें! यही हमारी शुभकामनाएं!

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ेपीवी सिंधु चाहती हैं कि यह एक्ट्रेस निभाए उनका रोल (This Is Perfect To Play Her Part In Biopic, Says World Champion PV Sindhu)

जन्मदिन पर विशेष: वाकई फिल्म इंडस्ट्री के राजकुमार है राजकुमार राव (Happy Birthday Rajkummar Rao)

बेहतरीन अभिनेता राजकुमार राव (Rajkummar Rao) का आज जन्मदिन (Birthday) है. उन्होंने अपनी लाजवाब अदाकारी, विविधतापूर्ण भूमिकाओं से हर किसी का दिल जीता है. लेकिन कामयाबी का यह सफ़र इतना आसान न था. पहली फिल्म ’लव, सेक्स और धोखा’ से लेकर ‘जजमेंटल है क्या’ तक उन्होंने करियर में कई उतार-चढ़ाव देखे, पर अपने लाजवाब अभिनय से सभी को प्रभावित किया.

 

दिल्ली के राजकुमार ने पुणे के एफटीआईआई (फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया) से अभिनय में ग्रेजुएशन किया. फिर फिल्मों में करियर बनाने के लिए मुंबई आ गए. शुरुआत में कई छोटे-मोटे विज्ञापन मिलते रहे, पर सही मायने में ब्रेक दिबाकर बनर्जी ने लव, सेक्स और धोखा में दिया. फिर उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा. एकता कपूर की रागिनी एमएमएस से एक्टिंग की गाड़ी जो चल पड़ी व आज भी पूरी रफ़्तार से आगे बढ़ रही है. फिर शैतान, गैंग ऑफ वासेपुर 2, काई पो चे, शाहिद, न्यूटन जैसी फिल्मों ने उन्हें एक अलग पहचान दी. राजकुमार राव के जन्मदिन पर उनसे जुड़ी दिलचस्प, कही-अनकही बातों के बारे में जानते हैं.

Rajkummar Rao

राजकुमार का फिल्मी सफ़र…

* मध्यमवर्गीय परिवार के राजकुमार राव का जन्म गुरुग्राम में हुआ.

* बचपन से लेकर फिल्मी शुरुआती दौर तक उन्हें क़दम-क़दम पर संघर्ष करना पड़ा.

* स्कूली पढ़ाई गुड़गांव के ब्लू बेल्स मॉर्डन स्कूल से की. साथ ही वे थिएटर भी करते रहे. दसवीं करने के बाद उनका रुझान अभिनय की तरफ़ बढ़ता चला गया.

* एक दौर ऐसा भी रहा जब राजकुमार के पास स्कूल की फीस देने के पैसे नहीं थे. तब उनके टीचर ने दो साल तक उनकी पढ़ाई का ख़र्च उठाया. क़िस्मत का खेल देखें, कहा जाता है आज वही राजकुमार एक फिल्म के लिए सात करोड़ तक लेते हैं.

* वे शाहरुख ख़ान के ज़बर्दस्त फैन हैं. उनकी तस्वीरों से बातें करते हुए वे अक्सर यह सोचा करते थे कि जब शाहरुख ने बिना किसी गॉडफादर के कामयाब रहे और अपना एक मुक़ाम हासिल किया, तो वे क्यों नहीं ऐसा कर सकते.

Rajkummar RaoRajkummar Rao

* पुणे से एक्टिंग में ग्रेजुएशन करने के बाद साल 2009 में फिल्मों में क़िस्मत आज़माने के लिए मुंबई आ गए.

* संघर्ष के दौर में कई बार उन्हें अपने दोस्तों के साथ खाना तक शेयर करना पड़ा.

* उन्हीं दिनों उनकी मां ने उन्हें अपने नाम की स्पैलिंग बदलने के लिए कहा. मां ने इसके लिए न्यूमेरोलॉजिस्ट से बात की थी. तब वे Rajkumar से Rajkummar लिखने लगे.

* आज दस साल में उन्होंने शाहिद, न्यूटन, ट्रैप्ड, स्त्री, बरेली की बर्फी, क्वीन, जजमेंटल है क्या जैसी एक से एक बेहतरीन फिल्में कीं.

* शाहिद फिल्म के लिए उन्हें नेशनल अवॉर्ड तक मिला.

* उनकी न्यूटन फिल्म तो ऑस्कर के लिए भी भेजी गई थी.

Rajkummar RaoRajkummar Rao

 

* सिटी लाइट फिल्म में एक्ट्रेस पत्रलेखा पॉल के साथ ऐसी जोड़ी जमी की. दोनों ही एक-दूसरे के हो गए. पत्रलेखा ने लव गेम्स, नानू की जानू जैसी फिल्मों में काम किया है.

* एक इंटरव्यू में पत्रलेखा ने बड़ी दिलचस्प बातें कहीं कि जब वे पहली बार राजकुमार से मिली थीं, तब वे बेहद अजीब लगे थे. लेकिन धीरे-धीरे साथ काम करते हुए उनके बारे में जाना तो वे बहुत ही प्यारे और न्यारे लगे.

* जब राजकुमार संघर्ष के दौर से गुज़र रहे थे, तब उन्होने एक महंगी डिज़ाइनर बैग उन्हें उपहार में दी थी, जो विदेश यात्रा के समय चोरी हो गई. पत्रलेखा दुखी होकर राजकुमार को इसके बारे में बताया था. लेकिन सुखद आश्‍चर्य हुआ जब वे वापस आई, तो उसी तरह दूसरा बैग उन्हें राजकुमार ने दोबारा गिफ्ट में दी.

* उनकी मुलाक़ातों में राजकुमार अक्सर देरी से आया करते थे, लेकिन एक बार जब एयरपोर्ट पर ट्रैफिक जाम था, उनसे मिलने की ख़ातिर राजकुमार वहां से पैदल ही जुहू की तरफ़ दौड़ते-भागते आए. उनके इस प्यार पर पत्रलेखा भावविभोर हो गईं.

* राजकुमार ने भी भावनाओं में बहते हुए कहा कि उन्हें पहली ही नज़र में पत्रलेखा से प्यार हो गया था और उन्हें अपना जीवनसाथी बनाने का बन बना लिया था.

* राजकुमार व पत्रलेखा पिछले नौ साल से साथ हैं. आज जहां कई सितारे अपने रिश्तों को छिपाते फिरते हैं, वहीं इन दोनों ने कभी भी ऐसा नहीं किया.

* राजकुमार ने आज अपने अभिनय के जुनून, मेहनत-लगन व ज़ज्बे के कारण फिल्म इंडस्ट्री मे अपनी एक अलग पहचान बना ली है.

मेरी सहेली की ओर से उन्हें जन्मदिन की ढेर सारी बधाई और आगे के सफ़र के लिए शुभकामनाएं.

– ऊषा गुप्ता

 

यह भी पढ़ेपार्टनर के साथ छुट्टियां मना रहे हैं आयुष्मान खुराना व अर्जुन कपूर, देखें पिक्स (Ayushmann And Arjun Vacation Pics)

HBD रणवीर सिंह: बर्थडे पर फैंस को दिया स्पेशल गिफ्ट, देखें उनकी कुछ ख़ास पिक्स (HBD Ranveer Singh: Shares His First Look As Kapil Dev)

Ranveer Singh

रणवीर सिंह: बर्थडे पर दिया फैंस को स्पेशल गिफ्ट

बॉलीवुड के बिंदास बाबा अका रणवीर सिंह का आज जन्मदिन है. अपने इस ख़ास दिन को और ख़ास बनाते हुए उन्होंने अपनी आगामी फिल्म 83 का पहला लुक शेयर किया. रणवीर इन दिनों फिल्म ८३ की शूटिंग में व्यस्त हैं, लेकिन इस बिज़ी शेड्यूल में भी उन्होंने अपने फैंस को दिया ये ख़ास तोहफ़ा.

आपको बता दें कि इस फोटो में रणवीर बिल्कुल कपिल देव जैसे लग रहे हैं. फैंस ने उनके इस लुक को काफ़ी सराहा.
अपने सोशल मीडिया अकॉउंट पर फोटो शेयर करते हुए उन्होंने लिखा- मेरे स्पेशल डे पर पेश है हरियाणा के हरिकेन कपिल देव. आपको बता दें कि फिल्म 83 साल 1983 में हुए वर्ल्ड कप पर आधारित है. इसमें रणवीर, कपिल देव का रोल निभा रहे हैं.

Ranveer Singh as Kapil Dev

आपको बता दें कि २५ जून को जब वर्ल्ड कप की जीत को पूरे ३६ साल हुए थे, तब रणवीर ने ये के साथ शेयर किया था. इसमें आप देख सकते हैं कि वर्ल्ड विनिंग मोमेंट को कैद किया गया है और साथ ही रणवीर ने अपनी प्रैक्टिस की भी कुश क्लिपिंग्स फैंस से शेयर की.

हर भारतीय की तरह वो भी क्रिकेट के कितने क्रेज़ी फैन हैं, इसका नज़ारा हम सभी को हाल ही में लंदन में देखने को मिला था. आप भी देखें मशहूर भारतीय क्रिकेटर्स के साथ उनकी कुछ अनोखी तस्वीरें.

Ranveer Singh Ranveer Singh Ranveer Singh Ranveer Singh Ranveer Singh Ranveer Singh Ranveer Singh Ranveer Singh

– अनीता सिंह

HBD: लाजवाब एक्टर हैं टाइगर (Happy Birthday Tiger Shroff)

आज के हॉट एक्टर हैं टाइगर श्रॉफ (Tiger Shroff). आज उनके जन्मदिन (Birthday) पर उनसे जुड़ी कुछ कही-अनकही बातों को जानते हैं. साथ उनके स्टाइलिश तस्वीरों से भी रू-ब-रू होते हैं.

Tiger Shroff

* टाइगर श्रॉफ का असली नाम जय हेमंत श्रॉफ है. उनकी एक छोटी बहन भी है, जिसका नाम कृष्णा है.

* टाइगर ने साल 2014 में हीरोपंती से अपने करियर की शुरुआत की.

* इस फिल्म के लिए उन्हें मेल डेब्यू का फिल्मफेयर अवॉर्ड के अलावा चार और पुरस्कार मिले थे.

* टाइगर के डांस व मार्शल आर्ट्स के सभी दीवाने हैं. इसका जलवा उन्होंने अपनी फिल्म बागी, मुन्ना माइकल आदि में दिखाया है.

* टाइगर को उनके जन्मदिन पर उनके पैरेंट्स जैकी श्रॉफ-आयशा ने पॉप सिंगर माइकल जैक्सन की एक पेंटिंग तोह़फे के रूप में दी थी. दरअसल, टाइगर माइकल जैक्सन के ज़बर्दस्त फैन हैं.

* आज भी घर से निकलते समय वे इस पेंटिंग और उस पर लिखे वाक्य- अच्छे लोगों को पढ़िए और महान बनिए… पढ़ते हुए जाते हैं.

* व्यक्तिगत तौर पर टाइगर बेहद शर्मीले हैं.

* बहुत कम लोगों को पता है कि धूम 3 में आमिर ख़ान को बॉडी बनाने में टाइगर ने मदद की थी.

* गर्लफ्रेंड दिशा पटानी के साथ उनकी रोमांटिक पोज़ सोशल मीडिया पर अक्सर देखने को मिलती है.

* आलिया भट्ट के साथ स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2 में वे एक अलग ही अंदाज़ में नज़र आएंगे.

मेरी सहेली की तरफ़ से टाइगर श्रॉफ को जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई!

 

Tiger Shroff

Tiger Shroff

Tiger Shroff

Tiger Shroff

Tiger ShroffTiger ShroffTiger Shroff

HBD: शाहिद कपूर से जुड़ी कही-अनकही बातें… (Happy Birthday: Shahid Kapoor Untold Story)

आज फिल्म इंडस्ट्री के हॉटेस्ट स्टार शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) का जन्मदिन (Birthday) है. स्मार्ट व हैंडसम शाहिद एक अच्छे बेटे, भाई होने के साथ-साथ ज़िम्मेदार पति और पिता भी हैं. इसके अलावा उन्हें मददगार सहयोगी के रूप में भी जाना जाता है. अक्सर उनके को-स्टार उनकी दरियादिली की तारीफ़ करते हैं. आइए, उनसे जुड़ी दिलचस्प बातों के बारे में जानते हैं..

Shahid Kapoor

 

* शाहिद अभिनेता पंकज कपूर और नीलिमा अजीम के बेटे हैं. उनके जन्म के बाद ही पैरेंट्स का अलग हो गए. शाहिद का बचपन उनके नाना-नानी के साथ अधिक बीता.

* शाहिद का जन्म दिल्ली में हुआ. पढ़ाई ज्ञानभारती और राजहंस स्कूल, दिल्ली व मुंबई दोनों जगह हुई.

* कहा जाता है कि शाहिद के ज़िद पर ही उनकी मां दोबारा मां बनीं, क्योंकि शाहिद को भाई की इच्छा थी.

* शाहिद और उनके भाई ईशान खट्टर में अच्छी बॉन्डिंग है. इसके अलावा सना और रूहान भी भाई-बहन हैं. नीलिमा के दूसरे पति राजेश खट्टर के बेटे हैं ईशान. वैसे शाहिद अपने दूसरे पिता राजेश के भी काफ़ी क़रीब थे.

* शाहिद की पत्नी मीरा राजपूत शाहिद से शादी के लिए तैयार नहीं थी कि क्योंकि वो उनसे 13 साल छोटी थी, लेकिन बाद में बहन और शाहिद के समझाने में रिश्ते के लिए राज़ी हुईं.

* विवाह के दिनों शाहिद उड़ता पंजाब फिल्म की शूटिंग कर रहे थे, जिसमें उनके बाल काफ़ी लंबे और कलर्ड थे. तब मीरा ने उन्हें शादी के समय बाल नॉर्मल और छोटे करवाने की शर्त रखी थी.

* शाहिद की म्यूज़िक वीडियोज़, विज्ञापन, डांसर के रूप में संघर्षपूर्ण करियर की शुरुआत रही, पर आख़िरकार इश्क़ विश्क में हीरो के रूप में ब्रेक मिला और यह फिल्म सुपर-डुपर हिट रही. इसके लिए उन्हें बेस्ट न्यूकमर का फिल्मफेयर अवॉर्ड भी मिला था.

* इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और समय-समय पर लाजवाब फिल्में करते रहे. विवाह, जब वी मेट, कमीने, हैदर, उड़ता पंजाब, पद्मावत आदि में उनके बेहतरीन अभिनय को हर किसी ने सराहा.

* अक्सर अपने इंटरव्यू व चैट शो आदि में उनके अफेयर्स को लेकर पूछा जाता रहा हैं. उन्होंने सभी का सम्मान करते हुए कभी किसी का नाम नहीं लिया और साथ ही इस बात को भी कबूल किया कि वे अपने अतीत को भूलना नहीं चाहेंगे.

* बेटी मीशा के बाद हाल ही में शाहिद एक बार फिर बेटे जेन के पिता बने. फिल्मों की शूटिंग व अन्य कामों के साथ-साथ वे पत्नी मीरा और दोनों बच्चों को समय देते हैं और ख़ूब ख़्याल रखते हैं. तभी तो मीशा कहती हैं कि उनके पापा सबसे स्मार्ट और हॉटेस्ट पापा हैं. जन्मदिन मुबारक हो!..

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ेमूवी रिव्यूः टोटल धमाल मनोरंजन से मालामाल (Movie Review: Total Dhamaal Full On Comic Entertainer)