Tag Archives: actor

Birth Anniversary: संजीदा संजीव के चुलबुले अंदाज़! (Remembering Sanjeev Kumar: A Versatile Hero And An Effortless Actor)

संजीदा संजीव के चुलबुले अंदाज़

Capture (2)

Birth Anniversary: संजीदा संजीव के चुलबुले अंदाज़! (Remembering Sanjeev Kumar: A Versatile Hero And An Effortless Actor)
  • आंखों में संजीदगी, पर होंठों पर कभी मासूम, तो कभी शरारती मुस्कान… कुछ ऐसा ही अंदाज़ था संजीव कुमार का. बात अदाकारी की करें, तो लगता है जैसे ये लफ़्ज़ ही उनके लिए बना हो.
  • हर क़िरदार में ख़ुद को इस तरह ढाल लेना कि देखनेवाला मंत्रमुग्ध हो जाए. संजीव यानी हरिभाई जरीवाला का जन्म 9 जुलाई 1938 को गुजरात के मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ था.
  • संजीव की बचपन से ही अभिनय में रुचि थी, यही शौक उन्हें पहले थिएटर की तरफ़ और फिर मायानगरी मुंबई तक ले आया.
  • शुरुआत में उन्हें हम हिंदुस्तानी फिल्म में एक छोटा-सा रोल करने का अवसर मिला और संजीव जैसे उम्दा कलाकार ने इस अवसर को ही अपनी पहचान बना ली, क्योंकि इसके बाद उन्होंने जो भी फिल्में बतौर सहयोगी कलाकार या लीड रोल भी कीं, तो उनसे उनका क़द बढ़ता ही चला गया.
  • संघर्ष जैसी फिल्म ने उन्हें एक पायदान और ऊपर पहुंचा दिया, क्योंकि यहां उनके सामने थे दिलीप कुमार, लेकिन संजीव (Sanjeev Kumar) के सहज अभिनय को देखकर वो भी उनके फैन हुए बिना नहीं रह सके.
  • आंधी, मौसम और खिलौना जैसी फिल्मों ने उन्हें एक संजीदा कलाकार के रूप में दर्शकों के दिलों में ख़ास जगह दिलाई, तो वहीं सीता और गीता, मनचली और अंगूर जैसी फिल्मों में उनकी कॉमिक टाइमिंग और चुलबुले अंदाज़ ने सबको अपना दीवाना बना दिया.
  • शोले के ठाकुर का बदला हो या फिर जानी दुश्मन का वो बेबस पिता, जिसमें एक बुरी आत्मा का कब्ज़ा होता है, त्रिशूल की निगेटिव भूमिका हो या पति पत्नी और वो का बेवफ़ा पति- सबमें ख़ूब जंचे संजीव!
  • खिलौना में एक पागल शायर का रोल, कोशिश में गूंगे-बहरे पति की भूमिका, अनामिका में एक धोखा खाए प्रेमी व लेखक या फिर सिलसिला में एक सीधे-सादे डॉक्टर, जो अपनी पत्नी की बेवफ़ाई को भी आसानी से माफ़ कर देता है- इस तरह के तमाम रोल्स से न्याय संजीव कुमार के अलावा शायद ही कोई कर पाता.
  • लेकिन उनकी सबसे यादगार फिल्म रही नया दिन, नई रात, जिसने उन्हें देश के सबसे बेहतरीन अभिनेताओं की फेहरिस्त में खड़ा कर दिया.
  • रोमांस का बादशाह कहें या कॉमेडी किंग, ट्रेजेडी का मास्टर कहें या इमोशन्स का पैकेज- संजीव कुमार वाकई एक कंप्लीट एक्टर थे.
  • 6 नवंबर 1985 को संजीव ने दुनिया को अलविदा कह दिया था. उनकी बर्थ एनीवर्सरी पर हम उन्हें नम आंखों से याद करते हैं.
देखिए उनके अलग अंदाज़ इन गानों के माध्यम से-

फिल्म: आंधी, गाना- तेरे बिना ज़िंदगी से कोई शिकवा तो नहीं…

फिल्म: मौसम, गाना- छड़ी से छड़ी कैसी गले में पड़ी

फिल्म: मनचली, गाना- मनचली कहां चली…

फिल्म: सीता और गीता, गाना- हवा के साथ-साथ, घटा के संग-संग

फिल्म: मौसम, दिल ढूंढ़ता है फिर वही फुर्सत के रात-दिन…

बर्थ एनीवर्सरी: गुरु दत्त… एक सोच, एक ख़्याल… एक मिसाल, एक सवाल- जानें अनकही बातें! (Birth Anniversary: Facts You Should Not Miss About Guru Dutt)

बर्थ एनीवर्सरी: गुरु दत्त

gurudutt

हैप्पी बर्थ एनीवर्सरी- गुरु दत्त: एक सोच, एक ख़्याल… एक मिसाल, एक सवाल- जानें अनकही बातें! Birth Anniversary: Facts You Should Not Miss About Guru Dutt
  • गुरु दत्त (Guru Dutt) अपने आप में एक मिसाल का नाम है. जी हां, वो न स़िर्फ एक मंजे हुए अभिनेता (Actor) थे, बल्कि एक बेहतरीन निर्देशक (Director) भी थे.
  • कला को पहचानने की उनमें ग़ज़ब की क्षमता थी.
  • अपने ख़्यालों को, अपनी सोच को किस तरह से रूपहले पर्दे पर जीवंत होते देखा जा सकता है, इसे परखने की उनकी कला के सभी कायल थे.
  • यही वजह है कि आज भी इस अभिनेता का नाम आते ही मन में सम्मान और आंखों में कुछ सवाल भी उभर आते हैं.
  • सम्मान उनके कौशल के लिए और सवाल उनकी निजी ज़िंदगी के लिए… जी हां, आज भी गुरु दत्त सबके लिए एक पहेली या एक सवाल बने हुए हैं.

Dreamer

  • उनकी निजी ज़िंदगी के बारे में बहुत कुछ कहा, लिखा गया, लेकिन आज भी वो सवाल बरक़रार हैं कि आख़िर क्यों इतना टैलेंटेड एक्टर, इतना युवा निर्माता-निर्देशक दुनिया को इस तरह से छोड़ गया था.
  • उनकी बर्थ एनीवर्सरी पर आज हम उन्हें एक मिसाल के रूप में याद करेंगे.
  • बोलती आंखों और गहरी सोचवाले गुरु दत्त का जन्म 9 जुलाई 1925 को बैंगलोर (आज बैंगलुरू) में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था. बहुत कम लोग जानते हैं कि उनका असली नाम वसंत कुमार शिवशंकर पादुकोण था.
  • उनका बचपन कलकत्ता (अभी कोलकाता) में गुज़रा था, यही वजह है कि उनकी निजी जीवन पर भी वहां की संस्कृति का काफ़ी प्रभाव पड़ा था, यही वजह है कि उनकी फिल्मों में भी वहां की छाप नज़र आती है.

Guru-Dutt

  • गुरु दत्त ने कलकत्ता में टेलीफोन ऑपरेट की नौकरी से शुरुआत की थी, लेकिन उनका कलाप्रेमी मन मशीनों में उलझकर नहीं रहना चाहता था, यही वजह है कि उन्होंने जल्द ही मुंबई का रुख़ कर लिया और जल्द ही बॉलीवुड में एक मुकाम हासिल किया.
  • उनकी फ़िल्में- प्यासा, साहिब बीबी और गुलाम, काग़ज़ के फूल, चौदहवीं का चांद आज भी एक बेंचमार्क हैं.
  • यही वजह है कि प्यासा और काग़ज़ के फूल को टाइम पत्रिका (Time Magazine) की 100 सर्वश्रेष्ठ फिल्मों की सूचि में शामिल किया गया और साइट एंड साउंड आलोचकों और निर्देशकों के सर्वेक्षण में गुरु दत्त को सबसे बड़े निर्देशकों में जगह मिली.
  • वर्ष 2010 में सीएनएन (CNN) के ऑल टाइम 25 सर्वश्रेष्ठ एशियाई अभिनेताओं में गुरु दत्त भी शामिल हुए.
  • उनके हुनर के चलते ही उन्हें भारत का ऑर्सन वेल्स (Orson Welles) भी हा जाता था.
  • बहुत कम लोग ही जानते हैं कि गुरु दत्त कोरियोग्राफी का भी हुनर जानते थे और ख़ुद बहुत अच्छे कोरियोग्राफर भी थे.

21waheeda-rehman3

  • बात उनकी निजी ज़िंदगी की करें, तो गीता दत्त से उनकी शादी हुई, लेकिन कहा जाता है कि शादी, प्यार और भावनाओं की कश्मकश ही उनकी आत्महत्या का कारण बनी.
  • वहीदा रहमान (Waheeda Rehman) जैसी अदाकारा को उन्होंने ने ही बॉलीवुड में एंट्री दिलाई और वो उनकी कला से इतने प्रभावित थे कि वहीदा के लाख मना करने के बाद भी उन्होंने उन्हें फिल्मों में काम करने के लिए तैयार कर लिया.
  • वहीदा के अलावा जॉनी वॉकर भी गुरु दत्त की ही खोज माने जाते हैं. अपने करियर की शुरुआत में देवानंद (Dev Anand) और रहमान से उनकी जो दोस्ती हुई, वो दोस्ती और भी गहरी हुई और ताउम्र वो दोनों उनके अच्छे दोस्तों में गिने जाते रहे.
  • देवानंद से दोस्ती के चलते ही उन्हें नवकेतन (Navketan) की फिल्म बाज़ी (Bazi) के निर्देशन का मौका मिला, जहां सभी ने उनकी हुनर को पहचाना.
  • देवानंद ने ही एक बार उनके बारे में कहा था कि गुरु दत्त असफलता को पचा नहीं पाते.
  • इसी तरह उनकी पड़ोसी रह चुकी नादिरा ने भी कहा था कि वो हमेशा एक डिप्रेशन में रहते थे, क्योंकि वो यह महसूस करते थे कि अपने रिश्तों और फिल्मों को वो इतना नहीं दे पा रहे, जितना वो देना चाहते हैं.

Lack-of-Mass-Appeal

  • 10 अक्टूबर 1964 को गुरु दत्त ने ज़िंदगी को छोड़ मौत का दामन थाम लिया और हमने एक होनहार कलाकार बहुत जल्द खो दिया. उनकी बर्थ एनीवर्सरी पर उन्हें दिल से नमन करते हैं.
देखते हैं गुरु दत्त की उत्कृष्ट फिल्मों के दिल को छू लेने वाले गीत…

फिल्म: प्यासा, गाना: जाने वो कैसे लोग थे जिनके प्यार को प्यार मिला…

फिल्म: चौदहवीं का चांद, गाना: चौदहवीं का चांद हो या आफताब हो…

फिल्म: प्यासा, गाना: ये महलों ये तख्तों ये ताजों की दुनिया… ये दुनिया अगर मिल भी जाए तो क्या है…

फिल्म: प्यासा, गाना: हम आपकी आंखों में इस दिल को सजा दें तो…

फिल्म: साहिब बीबी और गुलाम, गाना: भंवरा बड़ा नादान हाय…

हैप्पी बर्थडे अर्जुन कपूर (Happy Birthday Arjun Kapoor)

Arjun Kapoor

arjun-kapoor-new

बॉलीवुड के इशकज़ादे अर्जुन कपूर हो गए हैं 32 साल के. फिल्मों में इतने फिट और डैशिंग दिखने वाले अर्जुन कपूर बॉलीवुड में आने से पहले १४० किलो के हुआ करते थे. अपनी पहली फिल्म इशकज़ादे के लिए अर्जुन कपूर ने ५० किलो तक वज़न घटाया था और उसके बाद अर्जुन ने अपनी फिटनेस पर ध्यान देना शुरू किया और आज उनका वजन ६७ है. इशकज़ादे, गुंडे, टू स्टेट्स, तेवर, कि एंड का, हाफ गर्लफ्रेंड जैसी फिल्मों में अलग-अलग किरदार निभाने के बाद अर्जुन कपूर अब अपने चाचा अनिल कपूर के साथ मुबारकां फिल्म में डबल रोल प्ले कर रहे हैं.

मेरी सहेली की ओर से अर्जुन कपूर को ए वेरी हैप्पी बर्थडे.

 

मल्टीटैलेंटेड ऐक्टर सतीश शाह हुए 66 साल के (Happy Birthday Satish Shah)

Satish Shah

satish

वर्सटाइल ऐक्टर सतीश शाह (Satish Shah) हो गए हैं 66 साल के. उनका नाम आते ही याद आ जाते हैं उनके कॉमिक रोल्स, जो उन्होंने फिल्मों और टेलेविजन में निभाए हैं. टीवी सीरियल ये जो है ज़िंदगी, फिल्मी चक्कर से लेकर साराभाई वर्सेस साराभाई (Sarabhai Vs Sarabhai) तक उनका सफ़र मज़ेदार रहा है. जाने भी दो यारों में मरे हुए कमिश्नर डीमेलो का जो रोल उन्होंने निभाया था, वो याद कर अब भी हंसी आ जाती है. सतीश शाह अब भी फिल्मों और सीरियल्स में ऐक्टिव हैं, साराभाई वर्सेस साराभाई की वेब सीरिज़ भी ख़ूब पसंद की जा रही है.

25 जून 1951 को मुंबई में जन्मे सतीश का पूरा का नाम सतीश रवीलाल शाह है. 1978 में फिल्म अजीब दास्तां से फिल्मी सफ़र की शुरुआत करने वाले सतीश शाह ने दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे, जाने भी दो यारों जैसी कई सुपरहिट फिल्मों में अभिनय किया है. उनकी कॉमिक टाइमिंग के लोग तब भी कायल थे और आज भी हैं.

मेरी सहेली (Meri Saheli) की ओर से सतीश शाह को जन्मदिन की ढेरों शुभकामनाएं.

स्ट्रीट डांसर से डिस्को डांसर बने मिथुन चक्रवर्ती हुए 67 साल के, देखें उनके डांसिंग नंबर्स (Happy Birthday Mithun Chakraborty)

मिथुन चक्रवर्ती

Mithun-Chakraborty-carrier (1)80 के दशक में बॉलीवुड में डांस की परिभाषा बदलने वाले डांसिग सुपरस्टार मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) हो गए हैं 67 साल के. 16 जून 1950 को कोलकता के बंगाली परिवार में जन्मे मिथुन का बचपन का नाम गौरांग चक्रवर्ती है.

मिथुन दा की फिल्मों में शुरुआत काफ़ी अच्छी रही, उन्हें साल 1976 में अपनी पहली ही फिल्म मृगया के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पहला राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार मिला. इसके बाद 1982 में रिलीज़ हुई फिल्म डिस्को डांसर (Disco Dancer) में स्ट्रीट डांसर बने मिथुन को जब लोगों ने थिरकते हुए देखा, तो लोग उनके दीवाने हो गए. ऐसा डांस पहले किसी ने नहीं देखा था. उन्होंने अपने करियर में अलग-अलग तरह की फिल्में की और लोगों के फेवरेट बन गए. मिथुन चक्रवर्ती केवल एक अच्छे डांसर और ऐक्टर ही नहीं हैं, बल्कि उन्हें मार्शल आर्ट में भी महारत हासिल है.

मिथुन दा अब भी फिल्मों में काफ़ी एक्टिव हैं, ओ माय गॉड फिल्म में उनका अलग अंदाज़, जहां लोगों ने सराहा, तो वहीं गोलमाल 3, एंटरटेनमेंट, हाउसफुल 2, खिलाड़ी 786 जैसी फिल्मों में उनका कॉमिक अंदाज़ भी पसंद किया गया. इसके अलावा छोटे पर्दे पर भी मिथुन दा छाए हुए हैं.

मेरी सहेली (Meri Saheli) की ओर से मिथुन चक्रवर्ती को जनम्दिन की ढेरों शुभकामनाएं. आइए, देखते हैं उनके कुछ डांसिंग नंबर्स.

फिल्म डिस्को डांसर (1982)

फिल्म- जीते हैं शान से (1988)

फिल्म- डांस-डांस (1987)

फिल्म- वारदात (1981)

फिल्म- कसम पैदा करने वाले की (1984)

फिल्म- सुरक्षा (1979)

फिल्म- प्रेम प्रतिज्ञा (1989)

फिल्म- वारदात (1981)

फिल्म- गुलामी (1985)

आमिर खान जाएंगे मंगल ग्रह पर! (Aamir Khan All Set To Play Astronaut Rakesh Sharma)

Aamir Khan

collag_647-2_060816075340 (1)

पीके फिल्म में दूसरे ग्रह के एस्ट्रोनॉट बने आमिर खान अब एक बार फिर आंतरिक्ष की सैर करेंगे, लेकिन इस बार वो धरती से मंगल ग्रह पर जाएंगे. जी हां ऐसा होगा, लेकिन फिल्म में. ख़बर है कि भारत के पहले अंतरिक्ष यात्री राकेश शर्मा पर बनने वाली बायोपिक में आमिर खान राकेश कुमार का रोल करेंगे.

सुनने में ये भी आया है कि फिल्‍म का टाइटल सैल्‍यूट होगा. इस फिल्म को सिद्धार्थ रॉय कपूर और रॉनी स्‍क्रूवाला के साथ आमिर खान भी इस फिल्‍म को-प्रोड्यूस करेंगे.

फिलहाल आमिर खान अमिताभ बच्चन और फातिमा सना शेख के साथ ठग्स ऑफ हिंदुस्तान में बिज़ी हैं.

 

Viral Video! दुबई में शो के एंकर पर भड़के शाहरुख खान, प्रैंक करना पड़ा भारी (Shahrukh Khan Loses his Cool Over A Prank)

Shah-Rukh-Khan-losing-temper-620x400 (1)

शाहरुख खान यूं तो काफ़ी शांत और ख़ुश मिजाज़ स्वभाव के ऐक्टर हैं. लेकिन दुबई में कुछ ऐसा हुआ जिससे न सिर्फ़ शाहरुख भड़क उठे, बल्कि शो के एंकर पर को ढकेलकर गिरा भी दिया और उसे मरने के लिए हाथ तक उठा दिया. दरअसल, शाहरुख खान हाल ही में दुबई टूरिज़्म कैंपेन #BeMyGuest के लिए दुबई गए थे. इसी बीच वो एक चैनल के रमीज अंडरग्राउंड नाम के प्रैंक शो में पहुंचे. शो पर उनके साथ भी एक प्रैंक किया गया, जिसमें शाहरुख को सफारी के दौरान पहले को किचड़ के दलदल में गिराया गया, दलदल में उनके साथ एक फीमेल होस्ट भी थी, उसके बाद शो का एंकर रमीज गलाल वहां नकली गिरगिट का नकाब उढ़कर पहुंच गया. शाहरुख एक अच्छे इंसान की तरह इस फीमेल एंकर की मदद करने में लगे हुए थे. लेकिन जैसे ही शाहरुख को पता चला कि गिरगिट की नकाब में शो का एंकर है, तो शाहरुख अपना आपा खो बैठे और उन्हें गुस्सा आ गया. शाहरुख शो के क्रू पर भड़कते हुए बोले, ”क्या तुमने इसी बकवास के लिए मुझे इंडिया से बुलाया है.” इसके बाद शो एंकर ने शाहरुख से काफ़ी माफ़ी मांगी, लेकिन शाहरुख नहीं माने. एंकर जब बहुत पीछे पड़ गया, तब शाहरुख ने उसे ज़मीन पर धकेल दिया और कहा, “माफ़ी मांगने से कुछ नहीं होगा, मेरी टीम को बुलाओ. ये कोई जोक है क्या?” ख़ैर अब शाहरुख का ये गुस्सा सच था या शो का एक हिस्सा ये तो अभी पता नहीं चल पाया है, लेकिन शाहरुख को यूं गुस्सा होते हुए पहले कभी नहीं देखा गया. ये पूरा वाक्या देखें इस वीडियो में.

मैडी यानी आर माधवन हो गए है ४७ साल के, देखें उनके 5 हिट गाने (Happy Birthday R Madhavan)

R Madhavan

R-Madhavan-1 (1)

दक्षिण भारतीय फिल्म इंडस्ट्री के टॉप के अभिनेताओं की लिस्ट में आर.माधवन का नाम भी शामिल है. 1 जून, १९७० को जमशेदपुर में जन्मे आर माधवन पढ़ाई में अव्वल दर्जे के थे. माधवन ने कभी नहीं सोचा था कि वो अभिनेता बनेंगे. माधवन आर्मी ऑफिसर बनना चाहते थे, लेकिन आर्मी ज्वाइन करने के लिए उनकी उम्र ६ महीने ज़्यादा हो चुकी थी, इसके बाद उन्होंने अभिनय करने की सोची.

छोटे पर्दे से ऐक्टिंग करियर की शुरुआत करने वाले माधवन बनेगी अपनी बात, साया, ये कहां आ गए हम और सी होक्स जैसे सीरियल्स से टीवी के लोकप्रिय अभिनेता बन गए.

साउथ की फिल्मों के अलावा माधवन ने बॉलीवुड में भी अपनी जगह बनाई है. रहना है तेरे दिल में, रंग दे बसंती, 3 इडियट्स, साला ख़डूस, तनु वेड्स मनु और तनु वेड्स मनु रिटर्न जैसी फिल्मों में आर माधवन की ऐक्टिंग को सराहा गया.

मेरी सहेली की ओर से आर माधवन को ए वेरी हैप्पी बर्थ डे.

आइए, देखते हैं उनके टॉप 5 गाने.

फिल्म- तनु वेड्स मनु

फिल्म- रहना है तेरे दिल में

फिल्म- 3 इडियट्स

फिल्म- रंग दे बसंती

फिल्म- तनु वेड्स मनु रिटर्न्स

 

हर रोल में लाजवाब रहे परेश रावल हुए 67 के (Happy Birthday Paresh Rawal)

Paresh Rawal

Paresh-Rawal-3 (1)

 

कॉमेडी हो या नेगेटिव रोल परेश रावल बॉलीवुड के एक ऐसे अभिनेता हैं, जो इन किरदारों को बड़ी ही सहजता से निभा लेते हैं. ३० मई १९५० को जन्मे परेश रावल हो गए हैं 67 साल के और इस उम्र में भी फिल्मों में वो अपन ऐक्टिंग से दर्शकों का मनोरंजन कर रहे हैं. सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद 22 साल की उम्र में परेश मुंबई आ गए और काम पाने के लिए संघर्ष करने लगे.

परेश रावल ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत सपोर्टिंग ऐक्टर के तौर पर फिल्म होली से की थी , जिसके लिए उन्हें १९९४ में राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया. अंदाज़ अपना अपना, अथिति तुम कब जाओगे?, भूल भुलैया, मालामाल विकली, हेरा-फेरी, फिर हेरा-फेरी, चुप-चुप के, भागम भाग जैसी कई फिल्मों से परेश ने दर्शकों के दिल में एक ख़ास जगह बनाई है. लगभग 200 से ज़्यादा फिल्मों में अभिनय कर चुके परेश अहमदाबाद पूर्व सीट से लोकसभा सांसद भी हैं.

मेरी सहेली की ओर से परेश रावल को जन्मदिन की शुभकामनाएं.

एक युग का अंत: देखें बॉलीवुड के ओरिजनल हार्टथ्रॉब विनोद खन्ना के टॉप 10 गाने (Top 10 Songs: Remembering Vinod Khanna)

विनोद खन्ना

विनोद खन्ना70 और 80 के दशक के हार्टथ्रॉब विनोद खन्ना नहीं रहे. जैसे ही ये ख़बर सामने आई, बॉलीवुड से लेकर उनके फैन्स तक, हर कोई सन्न रह गया. 70 साल के नेता और अभिनेता विनोद खन्ना 70 साल के थे. का़फ़ी वक़्त से कैंसर से जूझ रहे विनोद की कुछ दिनों पहले एक तस्वीर वायरल हुई थी, जिसमें साफ़ नज़र आ रहा था कि वो बेहद बीमार हैं. एक साल पहले तक वो फिल्मों और राजनीति दोनों में सक्रिय थे. बीजेपी सांसद रह चुके विनोद खन्ना की आख़िरी फिल्म दिलवाले थी. इस बेहतरीन ऐक्टर ने भले ही अपने करियर की शुरुआत विलन के तौर पर की थी, लेकिन उनके रोमांटिक अंदाज़ को भी दर्शकों ने ख़ूब पसंद किया. 1987-1994 में विनोद खन्ना बॉलीवुड के सबसे महंगे स्टार बन गए थे. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि उनके पिता बिल्कुल नहीं चाहते थे कि विनोद फिल्मों में अभिनय करें. उनके पिता ने उन्हें केवल दो महिनों का समय दिया था, इन दो महिनों में विनोद खन्ना ने ख़ुद को साबित किया और बॉलीवुड में अपनी जगह बना ली. उन्होंने आन मिलो सजना, मेरा गांव मेरा देश, सच्चा झूठा, मुकद्दर का सिकंदर, परवरिश, अमर अकबर एंथोनी, कुर्बानी, इम्तिहान, दयावान, दबंग, दिलवाले जैसी कई सुपरहिट फिल्में बॉलीवुड को दी हैं.

भले ही विनोद खन्ना आज हमारे बीच न हों, लेकिन उनके द्वारा निभाए गए यादगार किरदार और फिल्मों के गाने उनकी याद हमेशा दिलाते रहेंगे.

आइए, उन्हें याद करते हैं उनके टॉप 10 गानों के साथ.

फिल्म- जुर्म (1990)

फिल्म- चांदनी (1989)

फिल्म- कुर्बानी (1980)

फिल्म- इम्तिहान (1974)

फिल्म- मेरे अपने (1971)

फिल्म- लहु के दो रंग (1979)

फिल्म- हाथ की सफ़ाई (1974)

फिल्म- सत्यमेव जयते (1987)

फिल्म- अमर अकबर एंथोनी (1977)

फिल्म- दौलत (1982)

 

नहीं रहे विनोद खन्ना, 70 साल की उम्र में निधन (Actor Vinod Khanna passes away)

विनोद खन्ना

khanna

अभिनेता विनोद खन्ना नहीं रहे. कुछ समय से वो कैंसर से जूझ रहे थे. कुछ दिनों पहले उनकी एक तस्वीर भी वायरल हुई थी, जिसमें वो काफ़ी कमज़ोर भी नज़र आ रहे थे. 70 साल की उम्र में विनोद खन्ना सभी को अलविदा कह गए. विनोद खन्ना ने 140 से ज़्यादा फिल्मों में अभिनय किया. उनकी आख़िरी फिल्म दिलवाले थी. पिछले कुछ दिनों से उनका इलाज मुंबई के अस्पताल में चल रहा था.

मेरी सहेली की ओर से उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि.

Viral Video! नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी का डीएनए टेस्ट, ज़रूर देखें (Nawazuddin Siddiqui Reveals His DNA Test Report!)

Nawazuddin Siddiqui

Nawazuddin Siddiqui

नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी ने कराया अपना डीएनए टेस्ट. जी हां, बिल्कुल सही पढ़ रहे हैं आप. अपने डीएनए टेस्ट का वीडियो भी उन्होंने सोशल मीडिया पर शेयर किया है. इस डीएनए टेस्ट में वो 100 फ़ीसदी आर्टिस्ट साबित हुए है. इस वीडियो में नवाज़ुद्दीन अपने हाथों में एक के बाद प्ले-कार्ड बदलते हैं, जिस पर कुछ लिखा है. ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. हर कार्ड के साथ नवाज़ुद्दीन अलग-अलग धर्म के कपड़ों में नज़र आते हैं. इस वीडियो में नवाज़ ने कुछ नहीं कहा है, लेकिन एक बहुत ही दमदार और अहम् संदेश दिया है. सिस्टीन प्वॉइंट सिक्स सिक्स नाम के इस वीडियो में नवाजुद्दीन धार्मिक एकता का संदेश दे रहे हैं. नवाज़ ने इन कार्ड्स पर लिखा है कि उन्होंने अपना डीएनए टेस्ट कराया, जिसका रिज़ल्ट यह है कि वो 16.66% मुस्लिम, 16.66% हिंदू, 16.66% ईसाई, 16.66% सिख, 16.66% बौद्ध और 16.66% दुनिया के अन्य धर्मों के हैं. आख़िरी के दो कार्ड्स पर उन्होंने लिखा है कि जब उन्होंने अपनी आत्मा का आंकलन किया तो उन्होंने पाया कि वह 100% आर्टिस्ट हैं. कहीं न कहीं इस वीडियो को सोनू निगम की अज़ान वाले विवाद से जोड़कर देखा जा रहा है. ख़ैर नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी का ये संदेश वाकई काफ़ी दमदार है, आप भी देखें ये वीडियो.

#SixteenPointSixSix

A post shared by Nawazuddin Siddiqui (@nawazuddin._siddiqui) on