AHM

मैं 38 वर्षीया महिला हूं और कुछ ही महीनों में अपने 39 वर्षीय मंगेतर से शादी करनेवाली हूं. मेरे मंगेतर को बच्चों का बहुत शौक़ है, इसलिए वो जानना चाहते हैं कि इस उम्र में मेरे कंसीव करने के कितने चांसेज़ हैं? क्या ऐसा कोई टेस्ट है, जिसके ज़रिए मैं इस बारे में पता कर सकती हूं? कृपया मार्गदर्शन करें. 
– ममता मेनन, ग्वालियर.

यह सच है कि 35 साल की उम्र के बाद महिलाओं में फर्टिलिटी का लेवल तेज़ी से नीचे गिरता है, पर आपको अपने मंगेतर को यह समझाना होगा कि बच्चे के लिए आपके एग्स का हेल्दी होना जितना ज़रूरी है, उतना ही उनके स्पर्म की अच्छी क्वालिटी का होना भी ज़रूरी है. एंटी मुलेरियन हार्मोन (एएमएच) नामक ब्लड टेस्ट के ज़रिए आप अपने ओवेरियन रिज़र्व लेवल के बारे में पता कर सकती हैं. हालांकि इससे आपको एग्स के बारे में पता नहीं चलेगा, पर यह आपको आगे आईवीएफ में मददगार साबित हो सकता है. अपने मंगेतर के साथ डॉक्टर से मिलकर इस बारे में अधिक जानकारी लें.

ये भी पढें: बिना सर्जरी ब्लैडर प्रोलैप्स का क्या इलाज है?

resized
मैं 38 वर्षीया महिला हूं. मेरी पिछली डिलीवरी हॉस्पिटल पहुंचने से पहले घर पर ही हो गई थी, जिसके बाद से ही मुझे पीठदर्द और शरीर के निचले हिस्से में भारीपन महसूस हो रहा है. डॉक्टर के मुताबिक़ मेरा गर्भाशय और यूरिनरी ब्लैडर का कुछ हिस्सा नीचे की ओर खिसक गया है. मैं सर्जरी नहीं करवाना चाहती, इसलिए उन्होंने मुझे रिंग पेसरी इंसर्ट करवाने की सलाह दी है, पर इसे हर 3 महीने में बदलना होगा. मुझे क्या करना चाहिए? आप क्या सलाह देंगी.
– मोहिनी राव, नोएडा.

आपके द्वारा बताए लक्षणों से लग रहा है कि आपको गर्भाशय व यूरिनरी ब्लैडर का प्रोलैप्स हुआ है. जैसा कि आपने बताया रिंग पेसरी आपकी समस्या का एक अस्थायी विकल्प है, जो गर्भाशय को उसकी जगह पर वापस पहुंचा देता है, पर इसे हर 3 महीने में या इंफेक्शन होने पर निकलवाना पड़ता है. सर्जरी इसका स्थायी इलाज है, पर चूंकि आप सर्जरी नहीं करवाना चाहतीं, इसलिए इसे ट्राई कर सकती हैं.

ये भी पढें: क्या प्रेग्नेंसी में बहुत ज़्यादा उल्टियां होना नॉर्मल है?

rajeshree-kumar-167x250
डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

 

 

हर बीमारी का आयुर्वेदिक उपचार  उपाय जानने के लिए इंस्टॉल करे मेरी सहेली आयुर्वेदिक होम रेमेडीज़ ऐप