Aly Goni

बिग बॉस में अब लड़ाइयों का दौर चल पड़ा है और इतना ही नहीं, अब ये लड़ाइयां हिंसक रूप भी लेती जा रही हैं. ऐसे ही एक घटनाक्रम में अली और कविता के बीच जो लड़ाई हुई तो अली को इतना ग़ुस्सा आया कि वो हिंसक हो गए और घर का सामान तोड़ने लगे. कविता को भी चोट लगी तो वो अली को घर से निकालने की बात पर अड़ गई!

दरअसल पूरे मामले की शुरुआत होती है जब बिग बॉस कविता को घर की कैप्टन होने के नाते यह अधिकार देते हैं कि जो भी सदस्य रूल तोड़े उसका निजी सामान कविता घर के बाहर पड़े डस्टबीन में फेंक सकती है. अली ने रूल तोड़ा तो कविता ने उनका सामान फेंक .दिया, अली मानने को तैयार नहीं कि उन्होंने नियम तोड़ा है तो वो अपना सामान वापस ले आते हैं. इस पर दोनों में बहस शुरू हो जाती है और कविता कहती है कि तुम्हारी बाप हूं मैं और इस तरह की बात कहती हैं कि अली को उनकी बात पर बहुत ग़ुस्सा आता है और वो कहते हैं कि मेरा बाप बनने की औक़ात नहीं है तुझमें. उसके बाद अली ग़ुस्से में घर का सामान तोड़ने और फेंकने लगते हैं. वो एक बॉक्स को लात मारते हैं जो कविता को लगता है और कविता चोटिल हो जाती हैं.

Kavita Kaushik

बिग बॉस इस पर गंभीर एक्शन लेते हुए अली को अगले हफ़्ते के लिए भी नॉमिनेट कर देते हैं. अली इस हफ़्ते भी नॉमिनेटेड हैं.

Aly Goni

ग़ौरतलब है कि पहले कविता की एजाज़ से नहीं बनती थी लेकिन अब अली air कविता की नहीं बनती. कविता अली को गली का गुंडा कहती हैं और अली ने भी उन्हें धमकी दी हैं कि तू दो मिनट भी सोकर दिखा, तेरा जीना हराम कर दूंगा मैं.

आप भी देखें इस लड़ाई की एक झलक…

Video courtesy: Twitter/Colors

बिग बॉस 14 (Bigg Boss 14) अपना आधा सफर तय कर चुका है और शो में अब हर दिन एक नया रहस्य खुल रहा है. एली गोनी की एंट्री के साथ ही शो काफी दिलचस्प और मनोरंजक हो गया है. एली गोनी कुछ भी गलत होने पर कभी हार नहीं मानते और न ही कभी झुकते हैं, यहां तक ​​कि अगर उन्हें अकेले खड़ा होना पड़े, तो भी वो वही करेंगे, जो सही होगा. अब एली गोनी ने कंटेस्टेंट के सामने पवित्रा के गेम का खुलासा कर दिया है, जिसके लिए गौहर खान ने उन्हें थैंक्स कहा है. ये है पूरा मामला…

Bigg Boss 14

कैप्टन के कार्य के दौरान पवित्रा पुनिया ने कविता कौशिक का बॉक्स उठाया था और कहा था कि वो ऐसा कर सकती हैं, क्योंकि वो संचालक हैं. बाद में उसने कहा कि उसने उसे इसलिए उठाया, ताकि कविता सांस ले सके. राहुल वैद्य ने पहले एली से कहा था कि वो कविता को विनर घोषित करेंगे, क्योंकि जैस्मीन भसीन के टॉयलेट जाने पर उसने उसका बॉक्स उठाया था.

यह भी पढ़ें: दीपिका कक्कड़ ने बनवाया पति शोएब और अपने नाम से बना ये खास टैटू और कहा… (Dipika Kakar Gets A Tattoo Of Shoaika On Her Hand, Says This Is The Reason Of All Happiness In Her Life)

वहीँ एली गोनी ने कंटेस्टेंट के सामने पवित्रा के गेम का खुलासा कर दिया है. एली ने सबके सामने यह भी बताया कि एक टास्क में हारने के बाद पवित्रा ने सीनियर गौहर खान को हड़काया था. पवित्रा ने उसके बाद शो में फिर से एंट्री की थी, लेकिन घर से बाहर आने पर गौहर के लिए उसकी गालियां एक बड़ा झटका थीं. अन्य प्रतियोगियों के सामने एली ने यह भी बताया कि पवित्रा पीठ पीछे किसी और के बारे में बुरा बोलती है, और अपनी सुविधा के अनुसार दोस्त बनाती है.

गौहर ने अब एली को उसके लिए एक स्टैंड लेने के लिए धन्यवाद कहा और ट्विटर पर ये लिखा, “आखिरकार! धन्यवाद! @AlyGoni कम से कम किसी ने तो बोला!”

आपका इस घटनाक्रम के बारे में क्या कहना है, हमें कमेंट करके जरूर बताएं.

एली गोनी और जैस्मीन भसीन, जो लंबे समय से सबसे अच्छे दोस्त हैं, बिग बॉस के घर में फिर से मिले. बिग बॉस 14 में भी इन दोनों की दोस्ती की गहराई खूब नज़र आ रही है.

Jasmin Bhasin and Aly Goni

बिग बॉस 14 के मंगलवार के एपिसोड में कंटेस्टेंट को दोस्ती की परीक्षा रखी गई थी. इसमें नॉमिनेशन टास्क के दौरान बिग बॉस ने अपने दोस्तों को नॉमिनेशन से बचाने के लिए उनके करीबी से कुछ त्याग करने के लिए कहा. टास्क में दोस्तों को एक दूसरे के खिलाफ रखा गया. गार्डन एरिया में एक डरावना हेलोवीन-थीम वाला सिंहासन रखा गया था और अभिनव उस पर बैठने वाला पहला व्यक्ति था. बिग बॉस के निर्देशों के अनुसार, यदि वह खुद को नामांकन से बचाना चाहते थे, तो उन्हें जैस्मिन की प्यारी डॉल को नष्ट करने के लिए एली गोनी को समझाना पड़ा और उसके टुकड़े-टुकड़े करने पड़े. चूंकि वो जानते थे कि जैस्मीन को उस गुड़िया से कितना लगाव है, इसलिए उन्होंने एली पर ये फैसला छोड़ दिया. हालांकि इसने जैस्मीन का दिल तोड़ दिया, लेकिन अभिनव को बचाने के लिए एली टास्क के साथ आगे बढ़ा.

यह भी पढ़ें: बिग बॉस 11 के कंटेस्टेंट विकास गुप्ता ने किया चौंकाने वाला खुलासा, कहा- मैं बायसेक्सुअल हूं इसलिए मां और भाई ने छोड़ दिया घर (Bigg Boss 11 Contestant Vikash Gupta Reveal His Mother And Brother Left Him When He Disclosed About Bisexuality)

इसके बाद रुबीना सीट पर थी, और अगर वह बचना चाहती थी, तो उसे उसकी जगह जैस्मीन को एली को नामांकित करने के लिए राजी करना पड़ा. रुबीना ने इस निर्णय को जैसमीन पर छोड़ दिया और कहा कि वह जैस्मीन की पसंद का सम्मान करेगी, चाहे वह कुछ भी हो. ऐसे में जैस्मिन ने एली को बचाया. हालांकि बाद में जैस्मिन ने एली को बचाने के लिए रुबीना से माफी मांगी. अभिनव और रुबीना को एली और जैस्मीन के खिलाफ खड़ा किया गया, क्योंकि एली के आने से पहले इस तिकड़ी की घर में बहुत अच्छी बॉन्डिंग थी. लेकिन बाद में उनमें से चार अच्छे दोस्त बन गए हैं. जैस्मीन ने रुबीना से पूछा कि बिग बॉस ने उन्हें एक-दूसरे के खिलाफ क्यों रखा, जवाब में रुबीना ने कहा, क्योंकि कोई भी एक-दूसरे के लिए ऐसी चीजों का त्याग नहीं करेगा. आने वाले एपिसोड्स में ये दोस्ती क्या रंग लाती है, ये देखना बाकी है. फिलहाल बिग बॉस 14 में दोस्ती के रंग दिखाई दे रहे हैं.

बचपन हम सभी के जीवन का बेस्ट पार्ट होता है. बच्चें छोटी-छोटी चीज़ों में खुशी ढूंढ़ लेते हैं. उन्हें खुश होने के लिए क़ीमती या बहुमूल्य चीज़ की चाह नहीं होती. छोटी-छोटी बातें व चीज़ें भी उन्हें असीम खुशी प्रदान करती हैं. बाल दिवस के अवसर पर कुछ जाने-माने टीवी स्टार्स बता रहे हैं कि बचपन में उन्हें कौन-सी एेक्टिविटीज़ से खुशी मिलती थीं, जिन्हें  वे आज भी करते हैं.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

पर्ल वी पुरीः बचपन में मुझे कार्टून देखने का नशा था, जो आज तक जारी है. मैं अब भी टॉम एेंड जेरी, स्कूबी-डूबी डू, पोकिमॉन, पोपोय द सेलर मैन, जॉनी ब्रैवो जैसे कॉर्टून सीरियल्स देखना पसंद करता हूं. इसके अलावा मुझे अपने पसंदीदा कार्टून कैरेक्टर्स के कार्ड इकट्ठा करना भी बहुत अच्छा लगता था. अाज भी मेरे कंप्यूटर के डेस्कटॉप पर इन कैरेक्टर्स के वॉलपेपर्स सेव हैं.

 indian Tv stars cheers from childhood to now
सारा ख़ानः बचपन में जन्मदिन मेरे लिए सबसे ख़ास अवसर होता था. दोस्त के बर्थडे के बारे में जानकर भी मेरे चेहरे पर खुशी छा जाती थी. शाम को होनेवाली बर्थडे पार्टीज़ बेहद मजेदार होती थीं. मुझे बेसब्री से जन्मदिन का इंतज़ार रहता था और एेसा अभी भी है. बड़े होने के बाद फ़र्क़ सिर्फ़ इतना आया है कि ईवनिंग पार्टीज़ की जगह मिडनाइट सेलिब्रेशन्स ने ले ली हैं

 indian Tv stars cheers from childhood to now
एली गोनीः जब कोई मेरे काम की तारीफ़ करता है तो मुझे बहुत अच्छा लगता है. यह आदत बचपन से ही है. मुझे अपने काम को पूरी ईमानदारी और मेहनत के साथ करता हूं. जब किसी को मेरा काम अच्छा लगता है तो मुझे ख़ुशी होती है. बचपन में जब क्लास में टेस्ट के बाद पेपर्स मिलते थे, तो सबसे पहले मेरी निगाहें स्टार्स तलाशती थीं और आज भी जब कोई मेरे काम की प्रशंसा करता है तो मुझे अच्छा लगता है.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

तान्या शर्माः मुझे याद है, बचपन में मैं अपनी बहन से टीवी के रिमोट के लिए झगड़ती थी. आज जब हमारे पास अलग-अलग टीवी है, फिर भी हम एक ही टीवी में देखना पसंद करते हैं और रिमोट के लिए झगड़ते हैं. टीवी मॉनिटर बनना और बहन को अपनी मनपसंद प्रोग्राम देखने के लिए मज़बूर करने से बड़ी खुशी और कुछ नहीं हो सकती.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

कुणाल जयसिंहः बचपन में मुझे कलरिंग का शौक़ था. इसलिए मुझे कलरिंग क्लासेज़ बहुत पसंद थे. मेरा बैग कलरिंग पेन्स, स्केच पेन्स, वैक्स क्रैयॉन्स से भरा रहता था.  मुझे बचपन में डॉट्स को जोड़कर उन्हें कलर करना बहुत अच्छा लगता था. अब भी मुझे रंगों से बहुत प्रेम है.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

तेजस्वी प्रकाशः बचपन से लेकर अब तक, मुझे बारिश के मौसम से प्यार है. मुझे बचपन में दोस्तों पर बारिश का पानी फेंकना और बारिश के पानी में खेलना बहुत अच्छा लगता था.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

सुयश रायः बचपन में मुझे किसी भी ऐक्टिविटी का फा़इनल वर्क करना बहुत अच्छा लगता था. स्कूल में जब नई क्लास शुरू होती थी तो बुक्स पर कवर तो मम्मी चढ़ाती थी, लेकिन उन पर नेम स्लिप्स लगाने का काम सिर्फ मैं करता था. बड़े होने पर भी जब मेरी मां, बहन या बीवी यदि सलाद काटती हैं तो मुझे उसे सजाना अच्छा लगता है.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

हेली शाहः ज़िंदगी प्रतिस्पर्धाओं से भरी हुई है. बचपन में मुझे कुछ जीतने पर बहुत उत्साह होता था और यह उत्साह अब भी कायम है. किसी स्पर्धा में भाग लेने पर मुझे बहुत रोमांच का अनुभव होता है. मुझे बचपन में इवेंट के लिए स्कूल में प्रैक्टिस के लिए रुकना बहुत अच्छा लगता था और आज भी मुझे अपने पर्फॉमेंस के लिए प्रैक्टिस करना अच्छा लगता है.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

मनीष गोपलानीः मुझे बचपन में व्हाइट कैनवस शूज़ पहनकर पीटी क्लासेज़ अटैंड करना बहुत पसंद था. मैं इस बात का ध्यान रखता था कि मेरे जूते सबसे अच्छे दिखें इसलिए मैं अपने साथ व्हाइट चॉक रखता था. मेरे जूते जैसे ही गंदे होते थे, मैं उन पर चॉक रगड़ लेता था. आज भी जब मैं जिम से बाहर निकलता हूं तो अपने शूज़ पर बहुत ध्यान देता हूं और इस बात का ख़्याल रखता हूं कि वे सबसे ख़ास दिखें.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

महिका शर्माः बचपन में जब मुझे किसी बात की चिंता होती थी या घबराहट होती थी, तो मैं अपने नाख़ून चबाती थी और एेसा आज भी होता है. कभी-कभी मैं यह भूल जाती हूं कि मैंने अपने नेल्स को स्टाइल किया है और उन्हें चबाने लगती हूं. इसके अलावा मेरी एक और आदत थी. चाहे न्यूज़पेपर हो या बुक्स, पहले मैं इमेज़ देखती थी और उसके बाद पढ़ती थी. यह आदत आज भी बनी हुई है.

फिल्म और टीवी जगत से जुड़ी अन्य ख़बरों के लिए यहां क्लिक करें