applying for education loan

Education Loan

किसी भी बैंक (Bank) से एजुकेशन लोन (Education Loan) लेने से पहले सावधानी बरतना ज़रूरी है. आइए जानें ऐसी ही कुछ सावधानियों के बारे में.
1. एजुकेशन लोन लेना चाहते हैं, तो सबसे पहले कुछ राष्ट्रीय बैंकों के ब्याज दर को टैली कर लें. कई बैंक मनमाने ढंग से ब्याज वसूलते हैं, इसलिए ब्याज दरों की विस्तृत जानकारी लेना बहुत ज़रूरी है. वरना आप भारी ब्याज दर पर लोन चुकाने पर मजबूर हो जाएंगे.

Education Loan Guide

2. एजुकेशन लोन लेने से पहले सबसे ज़रूरी है, ब्याज के भुगतान की पूरी जानकारी लेना. कुछ बैंक फ्लोटिंग रेट पर लोन देते हैं, तो कुछ फिक्स्ड रेट पर. फ्लोटिंग रेट पर लिए गए लोन में ब्याज दर बाज़ार के घटने-बढ़ने के साथ घटता-बढ़ता रहता है, जबकि फिक्स्ड रेट में ब्याज फिक्स रहता है. अगर आपको लगता है कि भविष्य में बाज़ार के बढ़ने की उम्मीद है, तो फिक्स रेट पर ही लोन लेना सही होगा. कभी-कभार ऐसा भी देखने को मिलता है कि फिक्स रेट में कुछ समय बाद बढ़ोतरी कर दी जाती है. इसलिए बैंक से पहले ही पूरी जांच-पड़ताल कर लें कि भविष्य में ऐसा कुछ तो नहीं होगा. अपनी सहूलियत के अनुसार आप फिक्स या फ्लोटिंग रेट पर लोन ले सकते हैं.

3. ब्याज किस प्रकार से चार्ज किया जाता है, यह देखना भी बहुत ज़रूरी है. यह मासिक होगा या त्रैमासिक जानना बहुत ज़रूरी है, क्योंकि उसी के अनुसार आपको ब्याज भरना पड़ेगा. अपनी सहूलियत के अनुसार ही लोन लें.

4. तीसरी सबसे महत्वपूर्ण बात जो आपको देखनी चाहिए, वो है ज़्यादातर बैंक कोर्स पूरा होने के एक साल बाद या जॉब मिलने के छह महीने बाद ही रीपेमेंट की प्रक्रिया शुरू करते हैं. आप जिस बैंक से लोन ले रहे हैं, वहां इस बात की तसल्ली ज़रूर कर लें कि आपको कोर्स ख़त्म होने के बाद कितना समय दिया जा रहा है और क्या वह समय आपके लिए पर्याप्त है.

5. एजुकेशन लोन पर लगनेवाली प्रोसेसिंग फीस, एडमिनिस्ट्रेटिव फीस और डॉक्यूमेंटेशन कॉस्ट बहुत कम होनी चाहिए. लोन के लिए अप्लाई करने से पहले 2-3 बैंकों के फीस स्ट्रक्चर के बारे में पता लगाएं.

6. ज़्यादातर बैंक में ञ्च् 4 लाख के ऊपर लोन के लिए आपको सिक्योरिटी और को-एप्लीकेंट की ज़रूरत पड़ती है. हर बैंक के अपने कुछ ख़ास नियम होते हैं, इसलिए लोन लेने से पहले सिक्योरिटी और गैरंटर आदि के बारे में पूरी जानकारी लें.

7. इसके अलावा डाउन पेमेंट के बारे में भी जानकारी हासिल कर लें. लोन लेने से पहले आपके एजुकेशन लोन का 5-20% तक अमाउंट आपको बैंक को डाउन पेमेंट के तौर पर देना पड़ता है. डाउन पेमेंट का प्रतिशत हर बैंक का अलग-अलग होता है, इसलिए इस बात पर भी ग़ौर करके ही लोन लें.

और भी पढ़ें: एजुकेशन लोन: इन 9 तरीक़ों से ले सकते हैं टैक्स में छूट (9 Things To Know About Tax Benefit On Education Loan)

8. अक्सर बैंक ब्याज दर के अलावा कई और तरह के फीस के नाम पर ज़्यादा चार्ज करने की कोशिश करते हैं. इसलिए लोन लेने से पहले सभी चार्जेस के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर लें.

9. लोन लेने से पहले प्रोसेसिंस टाइम के बारे में जान लें, क्योंकि इससे आपको यह पता चलेगा कि लोन अमाउंट आपको कब मिलेगा. प्रोसेसिंग टाइम पीरियड के बारे में हर बैंक एक निश्‍चित समय देता है, लेकिन कई बार इसमेें काफ़ी देरी हो जाती है, जिसके कारण एडमिशन मेंे परेशानी आ सकती है. इसलिए प्रोसेसिंग पीरियड के बारे में ठीक से पता कर लें.

Education Loan

10. कोर्स पूरा होने और जॉब मिलने के बाद ही रिपेमेंट की प्रक्रिया शुरू होती है, लेकिन कई बार समय सीमा कम पड़ती है, इसलिए अगर आप चाहें, तो कोर्स पूरा होने के पहले से ही रीपेमेंट की शुरुआत कर सकते हैं.

11.  लोन से जुड़े सभी नियम व शर्तों को ध्यानपूर्वक पढ़ें.

12. उस बैंक की विश्‍वसनियता की जांच के लिए आप उस बैंक के वर्तमान ग्राहकों से अधिक जानकारी ले सकते हैं.

13. कर्ज़ तो कर्ज़ ही होता है, इसलिए कोशिश करें कि कम से कम लोन लेना पड़े.

Education Loan Ideas

14. कोर्स के दौरान मासिक तौर पर थोड़ी-बहुत रक़म जमा करके आप ब्याज के बोझ तले दबने से बच सकते हैं.

और भी पढ़ें: एजुकेशन लोन की एबीसी ( ABC Of Education Loan)

– अनीता सिंह