Tag Archives: Astrological Remedies For Happiness

सुख-शांति के लिए घर को दें एस्ट्रो टच… (Astrological Remedies For Peace And Happiness To Home)

हर किसी की चाह रहती है कि घर में सुख-शांति व सुकून बना रहे. इसके लिए लोग न जाने क्या-क्या उपाय करते हैं. वैसे ज्योतिष (Astrology) के अनुसार कुछ उपाय किए जाएं, तो घर में सुख-शांति हमेशा बनी रहती है. इस संदर्भ में हस्तरेखा व वास्तु विशेषज्ञ डॉ. प्रेम गुप्ता ने हमें कई महत्वपूर्ण उपाय बताए. आइए, संक्षेप में इसके बारे में जानते हैं.

Astrological Remedies

* घर में सुबह-सुबह थोड़ी देर के लिए भजन या फिर कोई भक्तिमय संगीत लगाएं. इससे घर का माहौल सुकूनभरा व आनंदमय बना रहता है.

* घर के पूजा स्थल में अगरबत्ती, धूप, हवन आदि की सामग्री दक्षिण-पूर्व दिशा में रखें.

* विशेषकर गुरुवार के दिन चांदी के पात्र में केसर घोलकर माथे पर टीका लगाएं.

* पूजाघर में हमेशा किसी छोटे पात्र में जल भरकर रखें.

* घर में दक्षिणावर्ती शंख रखें.

* देसी गाय को रोटी खिलाएं.

* घर के मध्य भाग में सिंक न बनाएं. मध्य भाग में जूठे बर्तन आदि साफ़ नहीं करना चाहिए.

यह भी पढ़े: सोमवार को शिव के 108 नाम जपें- पूरी होगी हर मनोकामना (108 Names Of Lord Shiva)

* बच्चों के कमरे में ब्राइट कलर के पेंट करवाएं. बेटों के कमरे में हल्का नीला रंग और बेटियों के कमरे में हल्का गुलाबी रंग कराएं.

* यदि राशि के अनुसार घर के कमरों में पेंट करवाएं, तो और भी अच्छा है.

* लेकिन यदि ऐसा न कर सकें या फिर ऐसा करना प्रैक्टिकल न लगे, तो पूरे घर में आइवरी, लाइट क्रीम और बादामी रंग कराना अति शुभ होता है.

* ज्योतिष के अनुसार, शुभ व मंगलकारी वॉलपेपर दीवारों पर लगाएं.

* घर के किसी भी कमरे की चार में से एक दीवार पर ब्राइट कलर्स से पेंट कराएं या ग्लास वर्क करवाएं.

* ड्रॉइंगरूम व बेडरूम में लाइट कलर्स करवाएं, जैसे- लाइट ब्राउन, व्हाइट, क्रीम, लाइट लेमन आदि.

* पूजा करने के बाद कम-से-कम पांच मिनट मौन रखें.

* जब घर में झगड़ा या विवाद होे, तो उसके बाद तुरंत कभी भी तिजोरी न खोलें. कम-से-कम 10 मिनट बाद ही तिज़ोरी खोलें.

* रसोईघर में सबसे पहले घर के मालिक आदि ही प्रवेश करें. कर्मचारी या नौकर-चाकर को सबसे पहले किचन में प्रवेश न करने दें.

* शयनकक्ष में टूटे-फूटे फर्नीचर और कांच आदि को रिपेयर कराकर व्यवस्थित ढंग से रखें.

* रात को सोते समय प्रसन्न मन से चिंतामुक्त होकर अपने इष्टदेव को याद करके सोएं.

* घर में हंसी-ख़ुशी का वातावरण बनाए रखें. हंसी-ख़ुशी के माहौल से ‘ग्रह दोष भार’ कम होता है.

यह न करें

* दीया, अगरबत्ती, धूप आदि को मुंह से फूंक मारकर न बुझाएं.

* घर में कभी भी झाड़ू खड़ा न रखें. इसके अलावा न ही इस पर पैर लगाएं और न ही इसे लांघकर जाएं.

* घर में जूते-चप्पल बिखेरकर न रखें.

* बिस्तर पर बैठकर भोजन न करें.

* शाम के समय न सोएं.

* दरवाज़ों को ज़ोर से खोलें या बंद न करें.

* दुखी मन से भोजन न बनाएं.

* रात को रसोई में जूठे बर्तन न रहने दें.

* नवविवाहित से कम-से-कम तीन माह तक कोई वाद-विवाद या बहस न करें.

* फटे कपड़े भूलकर भी न पहनें.

* अपनी जन्मपत्री को अमावस्या के दिन न देखें.

ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ेअपनी राशि के अनुसार कौन सा रत्न पहनें जिससे हो भाग्योदय (Zodiac Birthstones: Gemstones You Should Wear According To Your Zodiac Sign)