Ayurveda

नीम के ओषधीय गुण हम सभी जानते हैं. यही वजह है कि अब नीम को कोरोना के इलाज में इस्तेमाल की दिशा में कामकिया जा रहा है. 

ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद (AIIA) ने निसर्ग हर्ब्स कंपनी के साथ मिलकर एक समझौता किया है. अब ये दोनोंसंस्थाएं मिलकर ये परीक्षण करेंगी कि नीम कोरोना वायरस से लड़ने में कितना कारगर है और उसके ज़रिए कोरोनासंक्रमण से किस हद तक लड़ा जा सकता है.

ये परीक्षण फरीदाबाद के ESIC अस्पताल में किया जाएगा. इस परीक्षण का नेतृत्व AIIA की निदेशक डॉ. तनुजा नेसारीकरेंगी. वो इस परीक्षण की मुख्य परीक्षणकर्ता हैं. इस परीक्षण में डॉ. तनुजा के साथ साथ ESIC अस्पताल के डॉ. असीमसेन भी होंगे. 

इस पूरे परीक्षण के कुल 6 डॉक्टर्स की टीम बनाई गई है.

ये टीम 250 लोगों पर रिसर्च करेगी कि नीम आख़िर किस हद तक कोरोना को रोकने में कारगर होगा. यह प्रयोग 28 दिनों तक चलेगा. इसमें आधे लोगों को निसर्ग का नीम कैप्सूल दिया जाएगा और बाक़ी को प्लेसिबो. इस दौरान ट्रायल में शामिल लोगों के नाक एवं मुंह से सैंपल लेकर कोरोना जांच की जाएगी. अगर कोईपाजिटिव पाया जाता है, तो संबंधित व्यक्ति के शरीर में कोरोना वायरस के प्रभाव की जांच की जाएगी.

ह्यूमन ट्रायल के पहले चरण की शुरुआत 7 अगस्त से हो चुकी है. 

निसर्ग बायोटेक के संस्थापक और सीईओ गिरीश सोमन ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि उनकी ये दवा कोरोना की रोकथाममें असरदार एंटी वायरल दवा साबित होगी.

आयुष मंत्रालय का भी मानना है कि नीम कोरोना के इलाज में कारगार साबित हो सकता है. इसके चलते नीम पर शोधकरने का फैसला लिया गया है. नीम में एंटीबायोटिक तत्व काफी मात्रा में होते हैं. 

नीम में मौजूद होते हैं 76 तरह के एंज़ाइम्स व 136 से अधिक अन्य कंपाउंड होते हैं. नीम के पत्तों में एंटी−बैक्टीरियल गुण होते हैं जो कई तरह के रोगों से लड़ने में कारगर है. नीम का काढ़ा रोग प्रतिरोधक शक्ति का विकास करता है. नीम मलेरिया का बुख़ार उतारने में भी लाभकारी है. शुगर के मरीज़ों के लिए भी रामबाण है नीम. अल्सर से लड़ने में भी यह कारगर है. ऐसे में उम्मीद है कि नीम कोरोना को भी मात दे दे. 

इसके अलावा भी नीम से कोरोना के इलाज को लेकर अन्य कई शोध भी चल रहे हैं. कामयाबी मिली तो जल्द ही भारत सेकोरोना का ख़ात्मा होगा.

यह भी पढ़ें: वेटलॉस के 40+ इफेक्टिव होम रेमेडीज (40+ Effective Home Remedies For Quick Weight Loss)

Akshay Kumar

अक्षय कुमार ने हमेशा के तरह एक और वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया है, जिसे काफ़ी पसंद किया जा रहा है. अक्षय ने सोते समय अपने फैन्स के लिए बनाया एक वीडियो. ये वीडियो भी उन्होंने दिल से बनाया है और कई ऐसी बातें इस वीडियो में है, जो युवाओं को पता होनी ज़रूरी है. अक्षय ने अपने pillow Talk वीडियो में कहा, “मज़ा आ रहा है आप लोगों से इस तरह डायरेक्ट बात करने में. आज मैं आप लोगों से कोई दुख, गुस्सा, तकलीफ़ शेयर नहीं करूंगा, आज एक अच्छी-सी बड़ी सी मुस्कुराहट शेयर करूंगा.”

अक्षय ने अपने फिटनेस का राज़ बताते हुए कहा, ”आजकल बहुत हेल्दी महसूस कर रहा हूं. पिछले दिनों मैंने शहर के शोर-शराबे से दूर केरला के एक शांत से आयुर्वेदिक आश्रम में कुछ वक़्त बिताया. क्या बताऊं, जन्नत का एहसास हुआ, ना टीवी, ना फोन, ना जंक फूड, ना ब्रांडेड कपड़े. एक सादा पहनावा, कुर्ता-पायजामा, सादगी भरा भोजन और ढेर सारा आयुर्वेद का खज़ाना. बहुत कम लोग मेरे बारे में जानते हैं कि मैं पिछले 25 साल से आयुर्वेद को फॉलो करते आ रहा हूं. इस बार मैंने जो आयुर्वेद हीलिंग एक्सपीरिएंस किया है, वो तो कमाल है. जैसे कभी-कभी कार या बाइक की सर्विसिंग आप लोग करवाते हैं, वैसे ही 14 दिन मैंने अपने बॉडी की सर्विसिंग करवाई है. वहां मैंने ये जाना की शायद हमें अंदाज़ा भी नहीं है कि आयुर्वेद में भगवान ने हमें कितना बड़ा ख़ज़ाना दे रखा है और हम इस ख़ज़ाने की कद्र ही नहीं कर रहे हैं. हम अंग्रेज़ी दवाइयां खाकर, प्रोटीन शेक पीकर, स्टेरॉयड के इंजेक्शन लेकर जीने को जाना समझ रहे हैं. मज़े की बात बताऊं, वही विदेशी लोग जिनके इलाज हम अपना रहे हैं, वो हिंदुस्तान में आकर हमारे आयुर्वेद से अपना ट्रीटमेंट करवाते हैं. कब समझेंगे हम अपनी चीज़ की कीमत को? मुझे एलोपैथिक दवाओं और उनके इलाज से कोई प्रॉब्लम नहीं है, लेकिन हम अपने ट्रेडिशनल मेडिसिन के तरीक़ों को क्यों भूल रहे हैं. बेस्ट इलाज हमारे अपने देश में है, लेकिन ढूढंने जाएंगे उसे विदेशों में. आपको पता है मैं जिस आयुर्वेदिक आश्रम में कुछ दिन बिताकर आया हूं, वहां मैं अकेला हिंदुस्तानी था, बाक़ी सब अंग्रेज़ थे. वो हमारे देश में आकर ठीक हो सकते हैं और हम नहीं? ये बात कुछ हज़म नहीं हुई.”

आगे अक्षय ने ये भी कहा कि वो किसी आयुर्वेद सेंटर के ब्रैंड एंबेसडर बनकर ये सब नहीं कह रहे हैं, बल्कि वो ख़ुद के शरीर के ब्रांड एंबेसडर बनकर ये बातें बोल रहे हैं. अक्षय ने यह भी कहा, ”विनंती करता हूं कि आप सब भी अपने बॉडी के ब्रांड एंबेसडर ख़ुद बनें. सिंपल और हेल्दी लाइफ जीना सीख लें. दिखा देतें हैं इस दुनिया को कि हमारे आयुर्वेद और योग में जो ताकत है, वो किसी अंग्रेज के केमिकल इंजेक्शन में नहीं है. करके देखो यार! मेरी गांरटी है कि मेरी तरह आप भी हर रोज़ सुबह एक स्माइल के साथ उठोगे. जयहिंद… गुड नाइट.”

ये देखकर तो यही लगता है कि सोशल मीडिया का सबसे अच्छा इस्तेमाल खिलाड़ी कुमार कर रहे हैं अपने फैंस को अच्छी बातें सिखा कर.