Bad beauty habits

आपकी बुरी आदतें आपके बालों की खूबसूरती बिगाड़ सकती हैं इसलिए बालों को लंबा, घना और मुलायम बनाए रखने के लिए इन बुरी आदतों से दूर रहें.

Hair Care

ये 10 बुरी आदतें बिगाड़ सकती हैं आपके बालों की खूबसूरती
1) बहुत से लोग बालों में शैम्पू करते समय सिर की त्वचा और बालों को ज़ोर से रगड़ते हैं. ऐसा करने से न केवल बालों को नुक़सान पहुंचता है, बल्कि सिर में मौजूद सिबैसियस ग्लैंड भी उत्तेजित हो जाते है. सिबैसियस ग्लैंड बालों के लिए नेचुरल ऑयल बनाते हैं.
2) बाल सुखाने के लिए बहुत से लोग बालों में कसकर टॉवल लपेटते हैं. इतना ही नहीं, उसी टॉवल से बालों को तेज़ी से पोंछना भी बुरी आदत में शुमार है. इससे बचें.
3) बालों में बार-बार हाथ फेरना भी बुरी आदतों में से एक है. दिनभर हम न जाने कितनी धूल भरी और कीटाणुओं से युक्त चीज़ों को हाथ लगाते हैं और फिर वही हाथ चेहरे और बालों में लगा लेते हैं. यही कीटाणु और धूल बालों में डैंड्रफ का कारण और उनके टूटने की वजह बन जाते हैं.
4) घर से बाहर निकलते समय बालों को यूं ही खुला छोड़ना, बालों को ड्राई बना देता है. सूरज की तेज़ किरणें बालों से नमी चुरा लेती हैं. अतः घर से निकलने से पहले बालों को स्कार्फ से कवर करें.
5) स्मोकिंग से निकलने वाला धुआं बालों को ड्राई और बेजान बना देता है. स्मोकिंग करने से बालों के दोमुंहे होने की संभावना बढ़ जाती है. इसमें मौजूद निकोटीन बालों को नुक़सान पहुंचाता है.
6) गीले बालों में कभी कंघी न करें. ये बुरी आदत बालों को कमज़ोर कर देती है.
7) रात में सोते समय बालों का कसकर जूड़ा बनाना बुरी आदत में शुमार है. ऐसा करने से बाल टूटते हैं.
8) गीले बालों को सुखाने के लिए ब्लो ड्रायर का यूज़ करने से भी बाल कमज़ोर बनते हैं.
9) कभी-कभार हॉट शॉवर ठीक है, लेकिन हर दिन हॉट शॉवर से बाल रूखे और बेजान हो जाते हैं.
10) बार-बार बालों में खुजली करना भी बुरी आदत है. इससे बाल टूटते हैं.

यह भी पढ़ें: क्या आपके बाल बहुत झड़ रहे हैं? ये उपाय करके बालों को लंबा और घना बनाएं (Are You Losing Your Hair? Try These Home Remedies To Make Hair Long And Thick)

ऐसी बहुत सारी ब्यूटी हैबिट्स होती हैं, जो आपकी स्किन के लिए अच्छी नहीं होतीं, लेकिन शायद उनकी तरफ़ आपका ध्यान ही नहीं जाता. आपको ऐसी ब्यूटी हैबिट्स से बचना चाहिए, जो आपकी स्किन खराब कर सकती हैं. आइए, हम आपको उन ब्यूटी हैबिट्स के बारे में बताते हैं, जिन्हें बदलकर आप अपनी स्किन को हेल्दी और खूबसूरत बना सकती हैं.

1) स्किन को मॉइश्‍चराइज़ न करना
अधिकांश महिलाएं आज भी इसे ज़रूरी नहीं मानतीं. कभी बिज़ी शेड्यूल के चलते तो कभी लापरवाही में वे स्किन को मॉइश्‍चराइज़ नहीं कर पातीं, लेकिन यह आपकी त्वचा के लिए सही नहीं है. त्वचा की नमी समय के साथ खोती जाएगी और आपको ड्राई स्किन की समस्या हो जाएगी. त्वचा की नमी बरक़रार रखने के लिए मॉइश्‍चराइज़ करना बेहद ज़रूरी है.

2) बहुत अधिक गर्म पानी से नहाना
हॉट शावर आपको भले ही राहत दिलाता हो या आपकी थकान मिटाता हो, लेकिन यह आपकी त्वचा की सबसे बाहरी परत को डैमेज कर सकता है, जिससे ड्राई स्किन की समस्या हो सकती है. बेहतर होगा गुनगुने पानी से नहाएं.

3) सोने से पहले चेहरा क्लीन न करना
अगर आप दिनभर की गंदगी के साथ सोएंगी, तो ज़ाहिर है त्वचा संबंधी समस्याएं होंगी. आप फेशियल वाइप्स या माइल्ड क्लींज़र से चेहरा क्लीन करें, वरना मुंहासों की समस्या हो जाएगी.

4) मेकअप बिना उतारे ही सो जाना
बिना मेकअप उतारे सोने का मतलब है समय से पहले एजिंग प्रोसेस का शुरू हो जाना.

यह भी पढ़ें: इन उबटन की मदद से घर बैठे पाएं चेहरे का निखार (Homemade Face Packs For Glowing Skin)

5) सनस्क्रीन न लगाना
आज भी बहुत सी महिलाओं को लगता है कि उन्हें सनस्क्रीन की ज़रूरत ही नहीं, लेकिन सूरज की हानिकारक किरणें आपकी त्वचा पर बढ़ती उम्र के लक्षणों को उभार सकती हैं. यही नहीं त्वचा संबंधी अन्य कई समस्याएं भी हो सकती हैं. प्रीमैच्योर एजिंग के साथ-साथ स्किन कैंसर तक की आशंका बढ़ जाती है. भारत में कम-से-कम 30 एसपीएफ युक्त सनस्क्रीन लगाएं और हर दो-तीन घंटे में रीअप्लाई करें. स़िर्फ फेस पर ही नहीं, गर्दन, हाथ व शरीर का जो भाग सीधे धूप के संपर्क में हो, वहां अप्लाई करें.

6) जल्दी-जल्दी वैक्सिंग कराना
हल्के बाल आने पर वैक्सिंग अवॉइड करें. अपनी स्किन को रीजनरेट होने के लिए कम-से-कम 3-4 हफ़्तों का समय दें, वरना स्किन रफ व लूज़ हो जाएगी.

7) एक्सफोलिएट बहुत ज़्यादा या न करना
ये दोनों ही स्किन के लिए नुक़सानदायक हैं. ज़्यादा स्क्रबिंग से त्वचा को ग्लोइंग इफेक्ट देनेवाले नेचुरल ऑयल्स निकल जाते हैं और त्वचा रफ और ड्राई होने लगती है. यदि आपको मुंहासों व फ्लेकी स्किन की समस्या है, तो वो एक्सफोलिएट करने से बढ़ सकती है. इसी तरह बहुत-सी महिलाएं स्क्रब करती ही नहीं, जिससे डेड स्किन सेल्स व रोमछिद्रों में जमी गंदगी साफ़ नहीं हो पाती और स्किन डल होने लगती है. बेहतर होगा हफ़्ते में एक या दो बार स्क्रब ज़रूर करें.

8) लिप्स को इग्नोर करना
अधिकांश महिलाएं डेली ब्यूटी व स्किन रूटीन में होंठों की स्किन पर ध्यान ही नहीं देतीं, जिससे फटे व ड्राई लिप्स की समस्या हो जाती है. यह आपके एजिंग प्रोसेस को फास्ट कर सकता है. बेहतर होगा कि लिप्स को मॉइश्‍चराइज़ व स्क्रब भी करती रहें. ऐसी लिपस्टिक यूज़ करें, जिसमें मॉइश्‍चर हो या फिर नियमित रूप से लिप बाम का प्रयोग करें.

9) पिंपल्स को हाथ लगाना
अगर आपको मुंहासों की समस्या है, तो उन्हें बार-बार छूने व फोड़ने से बचें, वरना संक्रमण ज़्यादा फैल जाएगा और स्किन पर उनके मार्क्स भी पड़ जाएंगे.

यह भी पढ़ें: डार्क सर्कल दूर करने के आसान घरेलू उपाय (Natural Home Remedies To Remove Dark Circles)

10) लाइफस्टाइल हैबिट्स, जो कर सकती हैं स्किन को डैमेज

  • स्मोकिंग और अल्कोहल आपकी स्किन को ड्राई करते हैं व प्रीमैच्योर एजिंग की भी समस्या पैदा कर सकते हैं.
  • बहुत ज़्यादा शुगर खाने से भी एजिंग प्रोसेस तेज़ होता है, क्योंकि शुगर आपकी स्किन के कोलाजन को डैमेज करके सैगी स्किन यानी त्वचा का ढीलापन बढ़ाता है.
  • नींद पूरी न लेना भी त्वचा के लिए नुक़सानदेह है. इससे पफी आईज़ व डार्क सर्कल की समस्या भी बढ़ती है.
  • एक्सरसाइज़ न करने से स्किन की इलास्टिसिटी और फ्लेक्सिबिलिटी प्रभावित होती है. इसके अलावा एक्टिव रहने से शरीर के टॉक्सिंस भी बाहर निकलते हैं और त्वचा हेल्दी रहती है.
  • पानी कम पीना भी आपकी त्वचा की प्राकृतिक नमी के लिए ख़तरनाक है. बेहतर होगा हाइड्रेटेड रहें.
  • गंदे बिस्तर पर सोने से भी आपको स्किन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं. इसके अलावा ग़लत सोने की पोज़ीशन भी आपको असमय रिंकल्स व लूज़ स्किन दे सकती है.
  • बहुत ज़्यादा स्ट्रेस स्किन के लिए अच्छा नहीं. कोशिश करें कि ख़ुश रहें और पॉज़िटिव बनें.
  • बार-बार और बहुत अधिक डायटिंग भी आपकी त्वचा को लूज़ कर सकती है और इससे स्ट्रेचमार्क की समस्या भी होती है, क्योंकि बार-बार वज़न घटने-बढ़ने से त्वचा भी फैलती व सिकुड़ती है, जिससे वो लूज़ होने लगती है.
    – विजयलक्ष्मी

ख़ूूबसूरत त्वचा पाने की चाह तो हर किसी की होती है लेकिन क्या आप अपनी इस चाह को पूरा करने के लिए त्वचा का ख़ास ख़्याल रखती हैं? हमारी कई बुरी आदतें जैसे, सोने से पहले चेहरे का मेकअप साफ़ न करना, पुराने या एक्सपायरी ब्यूटी प्रॉडक्ट का इस्तेमाल आदि त्वचा को ख़ूूबसूरत बनाए रखने में रुकावट पैदा करते हैं. ऐसी ही 10 बैड ब्यूटी हैबिट्स और उनसे होने वाले नुक़सान के बारे में आइए हम आपको बताते है.

Bad Beauty Habits You Have To Quit

1) चेहरे का मेकअप साफ़ करते समय त्वचा को रगड़ना
चेहरे से मेकअप हटाते समय अगर उसे ठीक से साफ़ न किया जाए तो त्वचा पर इसका गहरा प्रभाव पड़ता है. जल्दी-जल्दी में मेकअप को रगड़कर साफ़ करना बैड ब्यूटी हैबिट में शामिल है.
क्या हो सकता है नुक़सान?
* त्वचा पर लाल चकत्ते पड़ सकते हैं.
* त्वचा की परतों में व्हाइट हेड्स होने की संभावना होती है.
* रोमछिद्रों के बंद हो जाने से त्वचा खुलकर सांस नहीं ले पाती.
स्मार्ट टिप्स
* कॉटन बॉल में मेकअप रिमूवर लगाकर चेहरे को हल्के हाथ से साफ़ करें.
* मेकअप निकालने के बाद स्किन को टोन-अप करने के लिए टोनर अप्लाई करें और उसके बाद मॉइश्‍चराइज़र लगाएं.

2) चेहरे को बार-बार छूना
किसी से बात करते समय, खाना खाते समय या अन्य किसी कारणवश चेहरे को बार-बार हाथों से छूना भी बैड ब्यूटी हैबिट है.
क्या हो सकता है नुक़सान?
* त्वचा में इंफेक्शन हो सकते हैं.
* कील-मुंहासों की शिकायत हो सकती है.
* कई समय तक पिंपल्स बने रहने के कारण काले दाग-धब्बे भी हो जाते हैं.
स्मार्ट टिप्स
* स्किन बहुत सेंसटिव होती है अतः इसकी देखभाल के लिए हाथों को साफ़ रखें.
* मेकअप करने के लिए उंगलियों की जगह मेकअप ब्रश, स्पांज आदि का इस्तेमाल करें.

3) अनहाइजिनिक ब्यूटी ट्रीटमेंट लेना
अनहाइजिनिक तरी़के से किए जाने वाले मेनीक्योर, पेडीक्योर, ब्यूटी ट्रीटमेंट, स्पा आदि का आंख मूंद कर मज़ा लेना बैड ब्यूटी हैबिट है.
क्या हो सकता है नुक़सान?
* गलत ट्रीटमेंट के कारण नाख़ूनों में पैरोनायशिया नाम का इंफेक्शन हो सकता है. नाख़ूनों का रंग बदलना भी फंगस की निशानी है.
* अनहाइजिनिक फिश स्पा कराने से हेपिटाइटिस सी और एचआइवी जैसी बीमारियां भी हो सकती हैं.
* ख़राब क्वॉलिटी के ब्यूटी और स्पा प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल करने से आपकी त्वचा पर एलर्जी हो सकती है.
स्मार्ट टिप्स
* ब्यूटी पार्लर में मेनीक्योर, पेडीक्योर और स्किन ट्रीटमेंट कराते समय साफ़-सफ़ाई का ध्यान रखें. * इस्तेमाल किए जा रहे प्रॉडक्ट्स की क्वॉलिटी पर भी विशेष ध्यान दें.

4) ज़्यादा मात्रा में ब्लीच का इस्तेमाल करना
त्वचा का रंग गोरा करने की चाह में ज़रूरत से ज़्यादा ब्लीच का इस्तेमाल करना बैड ब्यूटी हैबिट है.
क्या हो सकता है नुक़सान?
* ब्लीच में स्ट्रांग केमिकल्स होने के कारण इसकी ज़्यादा मात्रा त्वचा को नुक़सान पहुंचा सकती है. इसलिए इसे बहुत देर तक चेहरे पर लगाएं.
* हफ़्ते में 2-3 बार ब्लीच का इस्तेमाल करने पर उम्र से पहले ही झुर्रियों की शिकायत हो सकती है.
* चेहरे के बालों का हमेशा के लिए स़फेद हो जाना भी इससे होने वाले नुक़सान में शामिल है.
स्मार्ट टिप्स
* महीने में एक बार या दो महीने में एक बार ही चेहरे पर ब्लीच अप्लाई करें.
* चेहरे पर ब्लीच लगाने से उसकी थोड़ी-सी मात्रा हाथ पर लगाकर देखें. ऐसा करने के बाद अगर हाथ में जलन न हो रही हो तभी इसे चेहरे पर लगाएं.

5) बार-बार मॉइश्‍चराइज़र लगाना
त्वचा को हमेशा मुलायम और चमकदार बनाए रखने के लिए ज़रूरत से ज़्यादा और दिन में कई बार चेहरे व बॉडी पर मॉइश्‍चराइज़र अप्लाई करना बैड ब्यूटी हैबिट है.
क्या हो सकता है नुक़सान?
* त्वचा के रोमछिद्रों को बंद कर देता है.
* कील-मुहांसे, व्हाइट हेड्स और स्किन एलर्जी होने का डर होता है.
स्मार्ट टिप्स
* दिन में कम से कम एक या दो बार ही चेहरे पर मॉइश्‍चराइज़र अप्लाई करें.
* ऑयली और ड्राई स्किन टाइप को ध्यान में रखते हुए मॉइश्‍चराइज़र ख़रीदें.

यह भी देखें: गोरी त्वचा पाने के 10 चमत्कारी घरेलू नुस्खे 

 

6) मेकअप के सामान की सफ़ाई न करना
अक्सर ऐसा होता है कि मेकअप में इस्तेमाल किए गए सामानों जैसे- मेकअप ब्रश, स्पांज आदि की साफ़-सफ़ाई किए बगैर हम उन्हें गंदा ही वैनिटी किट में रख देते हैं और अगली बार फिर वैसे ही इस्तेमाल कर लेते हैं. ऐसा करना बैड ब्यूटी हैबिट में शामिल है.
क्या हो सकता है नुक़सान?
* गंदे या यूज़्ड मेकअप ब्रश और स्पांज का इस्तेमाल करने से स्किन एलर्जी होने का ख़तरा होता है.
* गंदी कंघी का इस्तेमाल करने से डैंड्रफ की शिकायत हो सकती है.
स्मार्ट टिप्स
* मेकअप करने से पहले ब्रश और स्पांज को पानी से धोकर साफ़ करें, फिर इस्तेमाल करें.
* मेकअप प्रॉडक्ट ख़रीदते समय टेस्टिंग के लिए दिए जाने वाले ब्रश या स्पांज आदि को यूज़ न करें.
* कंघी को हफ़्ते में कम से कम एक बार ज़रूर साफ़ करें.

7) चेहरे का मेकअप साफ़ किए बगैर सो जाना
दिनभर की भाग-दौड़ के बाद जब हम घर पहुंचते हैं तो आलस्य और थकान के कारण मेकअप ठीक से साफ़ नहीं करते या कभी-कभी बगैर साफ़ किए ही सो जाते हैं. यह भी बैड ब्यूटी हैबिट है.
क्या हो सकता है नुक़सान?
* काफ़ी देर तक चेहरे का मेकअप न हटाने के कारण स्किन इंफेक्शन होने के साथ ही त्वचा के रोमछिद्र बंद हो जाते हैं. नतीजन पिंपल्स की समस्या हो जाती है.
* आंखों पर ज़्यादा देर तक लाइनर या मस्कारा लगे रहने के कारण आइलैशेज़ के झड़ने का डर होता है.
स्मार्ट टिप्स
* सोने से पहले कॉटन बॉल में मेकअप रिमूवर लगाकर चेहरे का मेकअप अच्छी तरह से साफ़ करें.
* आई लाइनर और मस्कारा निकालते समय आंखों को साबून से रगड़ें नहीं ब्लकि हल्के हाथ से कॉटन बॉल की सहायता से साफ़ करें.

8) एक्सपायरी ब्यूटी प्रॉडक्ट्स यूज़ करना
बाज़ार में उपलब्ध आकर्षक ब्यूटी प्रॉडक्ट्स खरीदते समय हमारा ध्यान उनसे होने वाले फ़ायदों पर ही जाता है और इसी कारण कभी-कभी हम उसकी क्वॉलिटी यानी एक्सपायरी डेट चेक करना भूल जाते हैं.
क्या हो सकता है नुक़सान?
* त्वचा पर लाल चकत्ते पड़ना, रैशेज़ और जलन इससे होने वाले नुक़सान हैं.
* एक्सपायरी लिपस्टिक का इस्तेमाल करने से होंठों पर सूजन भी आ सकती है.
स्मार्ट टिप्स
* किसी भी मेकअप प्रॉडक्ट का इस्तेमाल कम से कम 6 महीने और ज़्यादा से ज़्यादा 3 साल तक ही करना चाहिए.
* अगर प्रॉडक्ट पर उसकी एक्सपायरी डेट नहीं लिखी है तो उसे तुरंत फेंक देने में ही भलाई है.

यह भी देखें: सिर्फ 10 मिनट में पाएं कुदरती ख़ूबसूरती: ट्राई करें 10 आसान घरेलू नुस्ख़े 

 

9) बालों पर एक्सपेरिमेंट करना
रोज़ाना बालों को स्टाइलिश और आकर्षक लुक देने के लिए कई बार आइनिंग, कलरिंग, ब्लो ड्राइंग आदि करना बैड ब्यूटी हैबिट है.
क्या हो सकता है नुक़सान?
* बालों का विकास रुक सकता है.
* बाल झड़ने व टूटने लगते हैं.
* गंजेपन की शिकायत हो सकती है.
स्मार्ट टिप्स
* आइनिंग, कलरिंग, ब्लो ड्राइंग आदि हेयर ट्रीटमेंट किसी ख़ास अवसर पर ही करवाएं. रोज़ाना इनका इस्तेमाल बालों की जड़ों को नष्ट कर देता है.
* हर 28 दिन बाद कलर करने से बालों को नुक़सान नहीं पहुंचता.

10) त्वचा के अनुसार मेकअप प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल न करना
कौन-सा मेकअप प्रॉडक्ट आपकी स्किन के लिए अच्छा है और कौन-सा नहीं, यह जाने बगैर किसी भी ब्रांड या क्वॉलिटी के मेकअप प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल करना और मेकअप की ज़्यादा मात्रा को चेहरे पर अप्लाई करना बैड ब्यूटी हैबिट है.
क्या हो सकता है नुक़सान?
* चेहरे पर मेकअप की ज़्यादा मात्रा रोमछिद्रों को बंद कर देती है.
* स्किन टाइप के विपरीत और ख़राब क्वॉलिटी के मेकअप प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल करने से ब्लैक हैड्स, व्हाइट हैड्स, झुर्रियां, पिगमेंटेशन और स्किन एलर्जी की शिकायत हो सकती है.
स्मार्ट टिप्स
* अगर आप रोज़ मेकअप करती हैं तो कोशिश करें की मेकअप लाइट हो. रोज़ हैवी मेकअप करने से स्किन डैमेज हो सकती है.
* जिस ब्रैंड के ब्यूटी प्रॉडक्ट्स आपको सूट करते हैं उन्हीं का इस्तेमाल करें. नए ब्रांड के कॉस्मेटिक्स का इस्तेमाल बिना जांच पड़ताल किए न करें.

यह भी देखें: मुंहासों से छुटकारा दिलाते हैं 10 आसान घरेलू उपाय

बालों से जुड़ी कई समस्याएं बुरी आदतों के कारण भी होती हैं. आप इन आदतों से बचें ताकि आपके बाल रहें लॉन्ग एंड स्ट्रॉन्ग.

Bad Beauty Habits

* बहुत से लोग बालों में शैम्पू करते समय सिर की त्वचा और बालों को ज़ोर से रगड़ते हैं. ऐसा करने से न केवल बालों को नुक़सान पहुंचता है, बल्कि सिर में मौजूद सिबैसियस ग्लैंड भी उत्तेजित हो जाते है. सिबैसियस ग्लैंड बालों के लिए नेचुरल ऑयल बनाते हैं.
* बाल सुखाने के लिए बहुत से लोग बालों में कसकर टॉवल लपेटते हैं. इतना ही नहीं, उसी टॉवल से बालों को तेज़ी से पोंछना भी बुरी आदत में शुमार है. इससे बचें.
* बालों में बार-बार हाथ फेरना भी बुरी आदतों में से एक है. दिनभर हम न जाने कितनी धूल भरी और कीटाणुओं से युक्त चीज़ों को हाथ लगाते हैं और फिर वही हाथ चेहरे और बालों में लगा लेते हैं. यही कीटाणु और धूल बालों में डैंड्रफ का कारण और उनके टूटने की वजह बन जाते हैं.
* घर से बाहर निकलते समय बालों को यूं ही खुला छोड़ना, बालों को ड्राई बना देता है. सूरज की तेज़ किरणें बालों से नमी चुरा लेती हैं. अतः घर से निकलने से पहले बालों को स्कार्फ से कवर करें.
* स्मोकिंग से निकलने वाला धुआं बालों को ड्राई और बेजान बना देता है. स्मोकिंग करने से बालों के दोमुंहे होने की संभावना बढ़ जाती है. इसमें मौजूद निकोटीन बालों को नुक़सान पहुंचाता है.
* गीले बालों में कभी कंघी न करें. ये बुरी आदत बालों को कमज़ोर कर देती है.
* रात में सोते समय बालों का कसकर जूड़ा बनाना बुरी आदत में शुमार है. ऐसा करने से बाल टूटते हैं.
* गीले बालों को सुखाने के लिए ब्लो ड्रायर का यूज़ करने से भी बाल कमज़ोर बनते हैं.
* कभी-कभार हॉट शॉवर ठीक है, लेकिन हर दिन हॉट शॉवर से बाल रूखे और बेजान हो जाते हैं.
* बार-बार बालों में खुजली करना भी बुरी आदत है. इससे बाल टूटते हैं.

Bad Beauty Habits

मज़बूत बालों के लिए अपनाएं हेल्दी हैबिट्स: 
* हफ्ते में 3 से 4 बार बालों में तेल लगाकर अच्छी तरह मसाज करें.
* बालों को धोने के लिए अच्छी क्वालिटी के शैम्पू का इस्तेमाल करें.
* बालों को ड्रायर से सुखाने की बजाय प्राकृतिक तरी़के से सूखने दें.
* बालों को संवारने के लिए मोटे दांत वाली कंघी का इस्तेमाल करें.
* बहुत टाइट चोटी न बांधें, इससे भी बालों की जड़ें कमज़ोर होती हैं.
* हरी पत्तेदार सब्ज़ियां, फल, दूध व अन्य डेयरी प्रॉडक्ट, ड्रायफ्रूट्स आदि को अपनी डायट में शामिल करें.

shutterstock_274982186

ख़ूूबसूरत दिखना और खूबसूरती को मेंटेन करना, दोनों में बड़ा फ़र्क़ होता है. मेकअप करके आप अपनी ख़ूबसूरती को निखार तो सकती हैं, लेकिन ग़लत मेकअप हैबिट्स से आप अपने चेहरे के नूर को ख़त्म भी कर सकती हैं. आइए, हम आपको बताते हैं कुछ ऐसे ही बैड ब्यूटी हैबिट्स, जिन्हें इग्नोर करके आप हमेशा ख़ूबसूरत नज़र आ सकती हैं.

shutterstock_68598640

मेकअप रिमूव न करना

रोज़ाना रात को सोने से पहले मेकअप रिमूव करना बहुत ज़रूरी है, अगर आप आलस के कारण मेकअप रिमूव नहीं करतीं, तो रातभर आपकी त्वचा सांस नहीं ले पाती. मेकअप रोमछिद्रों के ज़रिए त्वचा के अंदर चला जाता है, जिससे आंखों के नीचे कालापन और मुंहासों जैसी समस्याएं हो सकती हैं. इसलिए रोज़ाना रात को सोने से पहले चेहरे को क्लींज़ करके मॉइश्‍चराइज़ ज़रूर करें.

shutterstock_100723099

चेहरे को बार-बार छूना

आदत से मजबूर कुछ लड़कियां बार-बार अपने चेहरे को छूती रहती हैं. उन्हें नहीं पता कि हमारे हाथ न जाने कितने बैक्टीरिया वाली जगहों व चीज़ों को छूते हैं. हाथों में चिपके बैक्टीरिया, धूल-मिट्टी, तेल और पसीने को आप अनजाने में ही अपने चेहरे तक पहुंचा देती हैं और फिर शुरू होती हैं त्वचा संबंधी समस्याएं. इस आदत को सुधारकर आप अपनी कई स्किन प्रॉब्लम्स को ख़ुद ख़त्म कर सकती हैं.

मुंहासों को फोड़ना

मुंहासों को फोड़ने से प्रॉब्लम और बढ़ सकती है. दरअसल, ऐसा करने से उसमें मौजूद बैक्टीरिया त्वचा के और भीतर चले जाते हैं, जिससे चेहरे पर दाग़-धब्बे पड़ जाते हैं. दाग़-धब्बों रहित त्वचा चाहती हैं, तो प्यूरिफाइंग फेस मास्क लगाएं. रात को सोते समय मुंहासों पर टूथपेस्ट लगाकर भी आप इनसे जल्द छुटकारा पा सकती हैं.

shutterstock_97362770

पुराने मेकअप ब्रश इस्तेमाल करना

अक्सर बहुत-सी लड़कियों का ध्यान इस ओर जाता ही नहीं कि पिछले कुछ समय से वो जो मेकअप ब्रश इस्तेमाल कर रही हैं, उन्हें न तो कभी साफ़ किया है, न ही बदला है. दरअसल, उन्हें मालूम ही नहीं कि लगातार इस्तेमाल से ब्रश में मेकअप प्रोडक्ट्स की परत जम जाती है, जिससे वहां बैक्टीरिया व फंफूदी पनपने लगते हैं. ऐसे ब्रशेज़ के इस्तेमाल से आप इंफेक्शन या डर्मटाइटिस की शिकार हो सकती हैं. इसके अलावा गंदे ब्रशेज़ से मेकअप करने पर फ्लॉलेस फिनिश भी नहीं मिलती और न ही त्वचा हेल्दी रहती है. इसलिए सप्ताह में एक बार अपने मेकअप ब्रश को ज़रूर साफ़ करें.

shutterstock_100184762

सनस्क्रीन लोशन न लगाना

आज भी ज़्यादातर लड़कियां घर से बाहर निकलते समय सनस्क्रीन लोशन नहीं लगातीं, जो ग़लत है. रोज़ाना सनस्क्रीन लोशन को नज़रअंदाज़ करके आप सनटैन और झुर्रियों को न्योता देती हैं, जो आपकी त्वचा के लिए बिल्कुल भी ठीक नहीं है. हर रोज़ घर से बाहर निकलने से पहले अच्छा एसपीएफयुक्त सनस्क्रीन लोशन ज़रूर लगाएं. साथ ही आप एसपीएफ युक्त मॉइश्‍चराइज़र भी इस्तेमाल कर सकती हैं.

shutterstock_108076307

बार-बार साबुन से चेहरा धोना

नर्म-मुलायम व सुंदर त्वचा की चाहत में बहुत-सी लड़कियां बार-बार साबुन से चेहरा धोने की ग़लती करती हैं. दरअसल, बार-बार साबुन से चेहरा धोने से त्वचा को प्राकृतिक रूप से सुरक्षा प्रदान करनेवाला तत्व सीबम निकलने लगता है, जिससे आप सनबर्न, ड्राई स्किन या असमय एजिंग की शुरुआत जैसी समस्याओं से परेशान हो सकती हैं. अपनी स्किन टाइप के अनुसार क्लींज़र चुनें और दिन में दो बार से ज़्यादा चेेहरा न धोएं.

बहुत ज़्यादा एक्सफोलिएट करना

एक्सफोलिएशन आपकी त्वचा से डेड सेल्स निकालकर उसे सॉफ्ट-स्मूद व हेल्दी बनाते हैैं, पर बहुत ज़्यादा स्क्रबिंग भी ठीक नहीं. यह आपको ओवर-सेंसिटिव और रेडिश स्किन के साथ-साथ त्वचा की गहराई में छोटे-छोटे व्हाइट हेड्स भी दे सकती है. इसलिए हफ़्ते में 1 या 2 बार ही एक्सफोलिएट करें और हेल्दी व ग्लोइंग त्वचा पाएं.

shutterstock_76417666

अक्सर बालों को आयरन या स्टाइल करना

आजकल मार्केट में कई हेयर स्टाइलिंग प्रोडक्ट्स मिलते हैं, जिनकी मदद से आप अपने बालों को बेहद आकर्षक व स्टाइलिश लुक दे सकती हैं. पर यह कभी-कभार किसी फंक्शन या पार्टी के लिए बढ़िया है, लेकिन अगर आप हर दूसरे दिन अपने बालों को हॉट ब्लो करेंगी या आयरन करेंगी, तो वो डैमेज होकर रूखे व बेजान होने लगेंगे. इसलिए ज़रूरत व ओकेज़न के अनुसार ही इनका इस्तेमाल करें.